पाकिस्तान में एक ज़िला स्टाइलिश दाढ़ी पर प्रतिबंध लगा रहा है क्योंकि यह इस्लाम के खिलाफ है। क्या उनके लिए ऐसा करना सही है?...


play
user

महेश हिन्दू

विधार्थी

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार राष्ट्रवादी देखिए जो यह प्रशन है यह बड़ा उठ पटांग अजीबोगरीब पर्सन देखिए आपने कहा कि क्या यह पाकिस्तान के लिए ठीक है लेकिन पाकिस्तान के लिए ठीक क्या है आंतकवाद ठीक है पाकिस्तान के लिए ठीक क्या है कश्मीर में हिंदू मुक्त बनाना है वह पाकिस्तान को ठीक लगता है पाकिस्तान में भारत में कांगरे साथ करें वह ठीक है ता है पाकिस्तान को भारत कभी हिंदू राष्ट्र ना बने वह ठीक लगता है पाकिस्तान एक रूढ़िवादी देश है जो अरब से ही जरूरी वाली 10 समाज चला आ रहा है इस्लामी समाज उसका अनुसरण करता है वहां के 99% पापुलेशन है वह इस्लाम का नुकसान करने लेकिन आप यह तो दाढ़ी की बात है यहां तो यह मुसलमानों में अगर सब्जी में थोड़ा-सा नमक डाल दिया है इतनी छोटी सी बात पर भी वह पत्नी का परित्याग कर देते हैं फिर ना जाने क्या-क्या करवाते और फिर निका होता है तूने यह तो सब उनके तौर-तरीके नियम कायदे हैं इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है वह उनके लिए ठीक है जरूरी वाली लोग हैं बाकी हमारे लिए भी ठीक नहीं है क्योंकि हम उस सभ्यता और उस उन महापुरुषों के वंशज हैं

namaskar rashtrawadi dekhie jo yeh prashn hai yeh bada uth patang ajeebogarib person dekhie aapne kaha ki kya yeh pakistan ke liye theek hai lekin pakistan ke liye theek kya hai aatankwad theek hai pakistan ke liye theek kya hai kashmir mein hindu mukt banana hai wah pakistan ko theek lagta hai pakistan mein bharat mein kangare saath karein wah theek hai ta hai pakistan ko bharat kabhi hindu rashtra na bane wah theek lagta hai pakistan ek rudhivadi desh hai jo arab se hi zaroori wali 10 samaj chala aa raha hai islami samaj uska anusaran karta hai wahan ke 99% population hai wah islam ka nuksan karne lekin aap yeh toh dadhi ki baat hai yahan toh yeh musalmanon mein agar sabzi mein thoda sa namak daal diya hai itni choti si baat par bhi wah patni ka parityag kar dete hai phir na jaane kya kya karwaate aur phir nika hota hai tune yeh toh sab unke taur tarike niyam kayade hai ismein koi aashcharya ki baat nahi hai wah unke liye theek hai zaroori wali log hai baki hamare liye bhi theek nahi hai kyonki hum us sabhyata aur us un mahapurushon ke vanshaj hain

नमस्कार राष्ट्रवादी देखिए जो यह प्रशन है यह बड़ा उठ पटांग अजीबोगरीब पर्सन देखिए आपने कहा क

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  506
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज के हिसाब में जो है वह दाढ़ी रखा जाता है लेकिन कई लोग रखते हैं कई लोग नहीं रखते हैं कई लोग छोटे रखते हैं रखते हैं तो यह इंडिविजुअल के ऊपर डिपेंड करता है कि वह कैसी उलझन को फॉलो करना चाहता है तो कोई भी राज्य या कोई भी दे जो है उस पर प्रतिबंध नहीं लगा सकता कि नहीं तो मैं छोटी दाढ़ी नहीं रख सकते तुम स्टाइलिश नहीं रख सके तुमको वैसे ही रखना है जैसे सब कोई रखते तो ऐसा प्रतिमा लगाने में समाचार बिल्कुल भी सही नहीं है और यह इंडिविजुअल पर डिपेंड होना चाहिए कि वह कैसे इंसान को जरूर फॉलो करना चाहता है

aaj ke hisab mein jo hai vaah dadhi rakha jata hai lekin kai log rakhte hain kai log nahi rakhte hain kai log chote rakhte hain rakhte hain toh yah individual ke upar depend karta hai ki vaah kaisi uljhan ko follow karna chahta hai toh koi bhi rajya ya koi bhi de jo hai us par pratibandh nahi laga sakta ki nahi toh main choti dadhi nahi rakh sakte tum stylish nahi rakh sake tumko waise hi rakhna hai jaise sab koi rakhte toh aisa pratima lagane mein samachar bilkul bhi sahi nahi hai aur yah individual par depend hona chahiye ki vaah kaise insaan ko zaroor follow karna chahta hai

आज के हिसाब में जो है वह दाढ़ी रखा जाता है लेकिन कई लोग रखते हैं कई लोग नहीं रखते हैं कई ल

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  11
WhatsApp_icon
user

Ambuj Singh

Media Professional

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह तो सवाल है यह काफी हास्यप्रद है क्योंकि पाकिस्तान में एक जिला में स्टाइलिश दाढ़ी पर प्रतिबंध लगा दी गई है पर सही पूछो इसका लॉजिक क्या है यह समझ नहीं आता क्योंकि दाढ़ी रखने का कोई सही पैमाना क्या हो सकता है क्योंकि सभी के अलग-अलग मर्जी है ठीक है दाढ़ी रखना मैं किसी धर्म के खिलाफ नहीं होना ही धर्म में कमेंट कर रहा हूं इतना आसान नहीं होगा और इस छोटी सी बात के लिए कोई फतवा जारी कर देते हैं कोई रोक लगा देते हैं तो कहीं ना कहीं लॉजिकल नहीं है और इसमें कोई प्रैक्टिकल बातें व्यवहारिक बातें नहीं दिखती हैं तो वैसे तो पाकिस्तान एक कंज़र्वेटिव देश है और वहां कुछ भी किसी भी चीज बिना लॉजिक के लोग वहां फतवा जारी कर देते हैं तो

yah toh sawaal hai yah kaafi hasyaprad hai kyonki pakistan mein ek jila mein stylish dadhi par pratibandh laga di gayi hai par sahi pucho iska logic kya hai yah samajh nahi aata kyonki dadhi rakhne ka koi sahi paimaana kya ho sakta hai kyonki sabhi ke alag alag marji hai theek hai dadhi rakhna main kisi dharm ke khilaf nahi hona hi dharm mein comment kar raha hoon itna aasaan nahi hoga aur is choti si baat ke liye koi fatwa jaari kar dete hain koi rok laga dete hain toh kahin na kahin logical nahi hai aur isme koi practical batein vyavaharik batein nahi dikhti hain toh waise toh pakistan ek kanzarvetiv desh hai aur wahan kuch bhi kisi bhi cheez bina logic ke log wahan fatwa jaari kar dete hain toh

यह तो सवाल है यह काफी हास्यप्रद है क्योंकि पाकिस्तान में एक जिला में स्टाइलिश दाढ़ी पर प्र

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  213
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे साथी तो बहुत गलत है क्योंकि यह जस्टिफाई डांसर नहीं है और कोई सी चीज पर लागू लगा देना और फिर बोलना कि यह रिलीज इनके खिलाफ होता है यह और अभी सीजन नहीं है जस्टिस 500000 ग्रेड रिवीजन नहीं है ऐसा तो फिर अगर आप करते जाओगे तो क्या हर चीज में आप बंदगी लगाते जाओगे और ऐसा तो फिर आप एक इंसान से अंदर ही अंदर एक जैसी फीलिंग ऑपरेशन कैसा फीलिंग हो जाएगा उन पर तो यह जिनके नाम पर इतना रेगुलेशन जरूर लगाना मेरे साथ बहुत ही गलत है यह जस्टिफाई आदमी नहीं है

mere sathi toh bahut galat hai kyonki yah justify dancer nahi hai aur koi si cheez par laagu laga dena aur phir bolna ki yah release inke khilaf hota hai yah aur abhi season nahi hai justice 500000 grade revision nahi hai aisa toh phir agar aap karte jaoge toh kya har cheez mein aap bandagi lagate jaoge aur aisa toh phir aap ek insaan se andar hi andar ek jaisi feeling operation kaisa feeling ho jaega un par toh yah jinke naam par itna regulation zaroor lagana mere saath bahut hi galat hai yah justify aadmi nahi hai

मेरे साथी तो बहुत गलत है क्योंकि यह जस्टिफाई डांसर नहीं है और कोई सी चीज पर लागू लगा देना

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  12
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!