नोटबंदी से क्या नुकसान हुआ है देश के लोगों को?...


user

Janhwee Mall

Teacher (B.com)

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अबे क्वेश्चंस है कि नोटबंदी से क्या नुकसान हुआ है देश को या लोगों को तो मैं बता दूं नोटबंदी हमेशा अर्थव्यवस्था के हित में किया जाता है नोटबंदी का जो देश होता है पहला तो भ्रष्टाचार को खत्म करना होता है जो उसमें मार्केट में काला धन होते हैं उनको रोक ना होता है उसके बाद हमारा मुद्दा पर जब कंट्रोल नहीं हो पाता हमें पता नहीं चल पाता है कि हमारी मार्केट में किस मार्केट में कितने पैसे हैं लेकिन जो लोग टैक्स नहीं चुका पाते हैं जो अपने सोर्स छुपाते हैं उन लोगों का पैसा हमें पता ही नहीं चल पाता लेकिन वह मार्केट में रहता है तो ऐसे में क्या होता है मुद्रा स्पीड काफी बढ़ने लगती है और विदेशों के मुकाबले हमारे जो रुपए की वैल्यू रहती है वह घटने लगती है तो यह हमारे देश के लिए हानि होने लगती है कि हमारी वैल्यू घटने लगती है तो ऐसे में हम क्या करते हैं नोटबंदी लेती नोटबंदी का सहारा लेते हैं जिससे वह अपने पैसे यदि कहीं स्टोर करके जमा करके रखे हुए हैं तो उन्हें वहां से निकली हो जाएंगे ऐसा किया जाता है कि ताकि ब्लैक धन को यहां से खत्म करके मार के कुछ सोच बनाया जा सके हालांकि जब नोट बंदी की गई तो कुछ समय प्रॉब्लम होती है लेकिन फिर से अर्थव्यवस्था में वह चलने लगती है और नोटबंदी इतिहास में पहली बार नहीं था 1946 में भी किया गया था कि कई बार अवमूल्यन भी किया गया था मनमोहन सिंह के द्वारा भी किया गया था तो नोटबंदी में अब तक का जो इतिहास फायदे होते हैं और इस बारे में फायदा हुआ है थोड़ा सा हमारी अर्थव्यवस्था डाउन चली है तू जीएसटी और गलत इन इसकी वजह से चली है बाकी मैं नहीं कह सकती कि नोटबंदी से हमारी अर्थव्यवस्था को कोई नुकसान हुआ है

abe questions hai ki notebandi se kya nuksan hua hai desh ko ya logo ko toh main bata doon notebandi hamesha arthavyavastha ke hit me kiya jata hai notebandi ka jo desh hota hai pehla toh bhrashtachar ko khatam karna hota hai jo usme market me kaala dhan hote hain unko rok na hota hai uske baad hamara mudda par jab control nahi ho pata hamein pata nahi chal pata hai ki hamari market me kis market me kitne paise hain lekin jo log tax nahi chuka paate hain jo apne source chhupaate hain un logo ka paisa hamein pata hi nahi chal pata lekin vaah market me rehta hai toh aise me kya hota hai mudra speed kaafi badhne lagti hai aur videshon ke muqable hamare jo rupaye ki value rehti hai vaah ghatane lagti hai toh yah hamare desh ke liye hani hone lagti hai ki hamari value ghatane lagti hai toh aise me hum kya karte hain notebandi leti notebandi ka sahara lete hain jisse vaah apne paise yadi kahin store karke jama karke rakhe hue hain toh unhe wahan se nikli ho jaenge aisa kiya jata hai ki taki black dhan ko yahan se khatam karke maar ke kuch soch banaya ja sake halaki jab note bandi ki gayi toh kuch samay problem hoti hai lekin phir se arthavyavastha me vaah chalne lagti hai aur notebandi itihas me pehli baar nahi tha 1946 me bhi kiya gaya tha ki kai baar avamulyan bhi kiya gaya tha manmohan Singh ke dwara bhi kiya gaya tha toh notebandi me ab tak ka jo itihas fayde hote hain aur is bare me fayda hua hai thoda sa hamari arthavyavastha down chali hai tu gst aur galat in iski wajah se chali hai baki main nahi keh sakti ki notebandi se hamari arthavyavastha ko koi nuksan hua hai

अबे क्वेश्चंस है कि नोटबंदी से क्या नुकसान हुआ है देश को या लोगों को तो मैं बता दूं नोटबंद

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  97
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Rahul kumar

Junior Volunteer

0:37

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नोटबंदी से हमें कोई नुकसान तो बिल्कुल भी नहीं हुआ सिर्फ हमें अभी तक कुछ चेंजेस जो अचानक से जैसे नहीं होते इंपॉर्टेंट डिसीजन होते हैं उसके लिए हमें थोड़ा सा मुश्किल तो उठाना पड़ता है लेकिन उसको उसके अलावा देश की जो भलाई है इसमें उसे हमें समर्थन करना चाहिए तो नोटबंदी से कोई नुकसान नहीं हुआ जो भी पूंजीपति के पास जो काला धन जमा था भारत में या भारत के बाहर उनकी जो नोट की वैधता है वह तो कैंसिल हो गई उस वक्त और बिल्कुल जो हम कभी भी चेंज होता है नोट के बाद जो नोट बंद होने के बाद तो बिल्कुल फायदा लोगों को ही मिलता है

notebandi se hamein koi nuksan toh bilkul bhi nahi hua sirf hamein abhi tak kuch changes jo achanak se jaise nahi hote important decision hote hain uske liye hamein thoda sa mushkil toh uthana padta hai lekin usko uske alava desh ki jo bhalai hai isme use hamein samarthan karna chahiye toh notebandi se koi nuksan nahi hua jo bhi poonjipati ke paas jo kaala dhan jama tha bharat mein ya bharat ke bahar unki jo note ki vaidhata hai vaah toh cancel ho gayi us waqt aur bilkul jo hum kabhi bhi change hota hai note ke baad jo note band hone ke baad toh bilkul fayda logo ko hi milta hai

नोटबंदी से हमें कोई नुकसान तो बिल्कुल भी नहीं हुआ सिर्फ हमें अभी तक कुछ चेंजेस जो अचानक से

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  27
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
note bandi ke nuksan ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!