विजय माल्या मामले के बाद कई लोन धोखाधड़ी हुए। इसे रोकने का सही तरीका क्या है?...


play
user

Awdhesh Singh

Former IRS, Top Quora Writer, IAS Educator

1:14

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए इस तरीके के घोटाले जो हैं वह तो होते ही रहेंगे जब तक कि हम सिस्टम ऐसा नहीं बनाते हैं कि जिस में इस तरीके के घोटालों को रोकने की पूरी तरीके से व्यवस्था सबसे दुर्भाग्य की बात यह होती है कि जो हमारे देश के नेता हैं वह इलेक्शंस में हजारों करोड़ों रुपया खर्चा करते हैं और यह जो हजारों करोड़ रुपया है यह ज्यादातर ब्लैक मनी के माध्यम से इंडस्ट्रियलिस्ट विजय माल्या या नीरव मोदी जैसे लोगों के द्वारा उनको मिलता है और उनके साथ में बड़ी होती है बड़ी क्लास होती है और वह इनको बचाने की भी कोशिश करते हैं जब तक कि स्कैंडल बहुत बुरी तरीके से बढ़ ना जाए तो इसको हमें अगर दूर करना है तो सबसे पहले हमें सिस्टम को ट्रांसफर एंड बनाना होगा फुल प्रूफ सिस्टम बनाना होगा और जो पॉलिटिक्स है उसको हमें तीन करना होगा और इसके लिए जरूरी है कि हम स्टेट फंडिंग की बात करें तो पॉलिटिक्स में खर्चा होता है उसको बजाय इसके कि ऐसे बेईमान बिजनेसमैन उसे लिया जाए बल्कि उसको ईमानदार इमानदारी से उनको टैक्स का जो पैसा है उसमें से उनको पेश किया जाए ताकि उसकी उनकी जिम्मेदारी हो और उनको गलत काम ना करना पड़े

dekhie chahiye is tarike ke ghotale jo hain wah to hote hi rahenge jab tak ki hum system aisa nahi banate hain ki jis mein is tarike ke ghotalo ko rokne ki puri tarike se vyavastha sabse durbhagya chahiye ki baat yeh hoti hai ki jo hamare desh ke neta hain wah ilekshans mein hajaron chahiye karodo rupya kharcha karte hain aur yeh jo hajaron chahiye crore rupya hai yeh jyadatar black money ke maadhyam se industrialist vijay malya ya neerav modi jaise logo chahiye ke dwara unko milta hai aur unke saath mein badi hoti hai badi class hoti hai aur wah inko bachane ki bhi koshish karte hain jab tak ki scandal bahut buri tarike se badh na jaye to isko hume agar dur karna hai to sabse pehle hume system ko transfer end banana hoga full proof system banana hoga aur jo politics hai usko hume teen karna hoga aur iske liye zaroori hai ki hum state funding ki baat kare chahiye to politics mein kharcha hota hai usko bajay iske ki aise beiiman bussinessmen use liya jaye balki usko imandar imaandari se unko tax ka jo paisa hai usamen chahiye se unko pesh kiya jaye taki uski unki jimmedari ho aur unko galat kaam na karna pade

देखिए इस तरीके के घोटाले जो हैं वह तो होते ही रहेंगे जब तक कि हम सिस्टम ऐसा नहीं बनाते हैं

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  362
KooApp_icon
WhatsApp_icon
9 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
शस्त्र परवाना नियम ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!