अवधेश सिंह सर टीएन कैडर के IPS अधिकारी के बारे में क्या सोचते हैं जो UPSC परीक्षा में धोखाधड़ी के लिए पकड़े गए थे?...


play
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. [email protected]

2:46

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अवधेश सिंह सेटिंग कैडर के आईपीएस अधिकारी के बारे में क्या सोचते हैं जो यूपी परीक्षा में धोखाधड़ी पकड़े गए थे अवधेश सिंह जी के विषय में कुछ कहना या ना करना एक उचित रूप नहीं है उसका मूल कारण कि यूपीएससी परीक्षा में यूपीएससी परीक्षा में धोनी के लिए पकड़े गए नीचे अगर कोई भी व्यक्ति एग्जामिनेशन हॉल में या एग्जामिनेशन के अंतर्गत या एग्जामिनेशन के बाद एग्जामिनेशन के पहले किसी प्रकार का किसी प्रकार की गलत कार्रवाई या किसी गलत तरीके से एग्जामिनेशन क्लियर करना क्यों मिसकंडक्ट नहीं है बल्कि अपराध अपराध होने के साथ आने से क्या होता है कि बहुत से जो अधिकारी होते हैं उनके ऊपर भी उंगलियां उठने लगती है मुझे सिंह ने निसंदेह जैसा भी उनका आचरण टिप्पणी करने का कोई फायदा नीमच कॉमेंट टिप्पणी करना चाहूंगा कि कोई भी आई पर्स क्या या आईपीएस आईएएस अधिकारी या किसी भी किस्म का अधिकारी नौकरी को ज्वाइन करने के लिए नौकरी में सफलता पाने के लिए या उसे हासिल करने के लिए परीक्षा में या परीक्षा के दौरान या परीक्षा के पश्चात चेप्पनाम को तब साबित करने की वजह से जो कुछ भी करते हैं वह अनुचित है वह अपराध है और वह हर तरह से अस्वीकार्य कि ऐसे किसी भी प्रत्याशियों को चाहे वह किसी भी बैंक में हूं वह प्रत्याशी की सूची में प्रत्याशी के बाद में उन्हें हर हालत में इस स्थिति से बाहर का रास्ता दिखाना चाहिए क्योंकि यह सेटिंग जो है कि हमारी कोड आफ कंडक्ट के बाहर है और साथ साथ में हमारे देश की मान सामी के भी खिलाफ हैं

awdhesh Singh setting cadre ke ips adhikari ke bare mein kya sochte hain jo up pariksha mein dhokhadhari pakde gaye the awdhesh Singh ji ke vishay mein kuch kehna ya na karna ek uchit roop nahi hai uska mul karan ki upsc pariksha mein upsc pariksha mein dhoni ke liye pakde gaye niche agar koi bhi vyakti examination hall mein ya examination ke antargat ya examination ke baad examination ke pehle kisi prakar ka kisi prakar ki galat karyawahi ya kisi galat tarike se examination clear karna kyon misconduct nahi hai balki apradh apradh hone ke saath aane se kya hota hai ki bahut se jo adhikari hote hain unke upar bhi ungaliyan uthane lagti hai mujhe Singh ne nisandeh jaisa bhi unka aacharan tippani karne ka koi fayda neemuch comment tippani karna chahunga ki koi bhi I purse kya ya ips IAS adhikari ya kisi bhi kism ka adhikari naukri ko join karne ke liye naukri mein safalta paane ke liye ya use hasil karne ke liye pariksha mein ya pariksha ke dauran ya pariksha ke pashchat cheppanam ko tab saabit karne ki wajah se jo kuch bhi karte hain vaah anuchit hai vaah apradh hai aur vaah har tarah se aswikarya ki aise kisi bhi pratyashiyon ko chahen vaah kisi bhi bank mein hoon vaah pratyashi ki suchi mein pratyashi ke baad mein unhe har halat mein is sthiti se bahar ka rasta dikhana chahiye kyonki yah setting jo hai ki hamari code of conduct ke bahar hai aur saath saath mein hamare desh ki maan shami ke bhi khilaf hain

अवधेश सिंह सेटिंग कैडर के आईपीएस अधिकारी के बारे में क्या सोचते हैं जो यूपी परीक्षा में धो

Romanized Version
Likes  278  Dislikes    views  1781
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!