PM मोदी ने EU सांसदों से कहा - आतंकियों के समर्थक देशों पर तुरंत हो कार्रवाई, क्या आप इस से सहमत हैं?...


user

Abhishek Shekher Gaur

Civil Engineer

0:51
Play

Likes  92  Dislikes    views  2418
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr. Ashwani Kumar Singh

Chairman & Director at VEMS

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पीएम मोदी ने सांसदों के समर्थन में खूनी राजनीति और धर्म के नाम पर सत्ता बनाने की जानकारी

pm modi ne sansadon ke samarthan mein khuni raajneeti aur dharm ke naam par satta banane ki jaankari

पीएम मोदी ने सांसदों के समर्थन में खूनी राजनीति और धर्म के नाम पर सत्ता बनाने की जानकारी

Romanized Version
Likes  221  Dislikes    views  3188
WhatsApp_icon
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:48

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यू सांसदों के पीएम मोदी ने कहा आतंकियों के समर्थक देशों का क्रम तो कार्रवाई क्या किसी सहमत हैं इससे सहमत तो सब लोग होंगे लेकिन हमारे जो विश्व के देश हैं जो मुस्लिम देश है खास करके अक्सर ऐसा देखा गया है कि बोलते कुछ और है करते कुछ और है ऊपर से दिखावा करते हैं कि वह आतंकवाद को नेस्तनाबूद करना चाहते हैं और उनको भीतर ही भीतर अंदर से अंदर खाने को फंडिंग करते रहते हैं यह दोहरा चेहरा दोहरे मापदंड इन लोग की तरफ से होते हैं सऊदी अरेबिया के क्राउन प्रिंस वह आतंकवाद के विरोध में खड़े होते हैं मोदी जी के साथ लेकिन पाकिस्तान को इतनी फंडिंग कहां से आती है यह भी एक सोचने का विषय है मोदी जी जो बोलते हैं वह बिल्कुल सही बोलते हैं कि समस्त देश क्यों हैं आतंकवाद के समर्थक पर उनको तुरंत अपना हाथ खींच लेना चाहिए आतंक क्योंकि समर्थन बिल्कुल नहीं होना चाहिए और जो समर्थक देश है उनके ऊपर कार्यवाही भी होगी लेकिन इसकी असल बहुत ज्यादा होने की गुंजाइश नहीं लगती है क्योंकि उनके दोहरे मानदंड के मापदंड हैं उन देशों के इसलिए ऊपर से समर्थन सब लोग करेंगे और अंदर से फंडिंग भी करेंगे लेकिन फिर भी जो ऊपर से जो है तो कम से कम यह तो मानने को तैयार है कि आतंकवादी के समर्थक देश हैं उनका बहिष्कार होना चाहिए और वापस कौन से फंडिंग को रोकना चाहिए वेट एंड वॉच हो सकता है कि आने वाले समय में यह सब जो आतंकवादी के समर्थक देश है वह अपने आप खुल पर जाएंगे और विश्व के समक्ष सब लिया होता जाएगा इस तरह से आतंकवाद को खत्म करने में सब देश सामने आएंगे साथ मिलकर आतंकवाद को नेस्तनाबूद करें

you sansadon ke pm modi ne kaha atankiyo ke samarthak deshon ka kram toh karyawahi kya kisi sahmat hain isse sahmat toh sab log honge lekin hamare jo vishwa ke desh hain jo muslim desh hai khaas karke aksar aisa dekha gaya hai ki bolte kuch aur hai karte kuch aur hai upar se dikhawa karte hain ki vaah aatankwad ko nestanabud karna chahte hain aur unko bheetar hi bheetar andar se andar khane ko funding karte rehte hain yah dohra chehra dohre maapdand in log ki taraf se hote hain saudi arabia ke crown prince vaah aatankwad ke virodh mein khade hote hain modi ji ke saath lekin pakistan ko itni funding kahaan se aati hai yah bhi ek sochne ka vishay hai modi ji jo bolte hain vaah bilkul sahi bolte hain ki samast desh kyon hain aatankwad ke samarthak par unko turant apna hath khinch lena chahiye aatank kyonki samarthan bilkul nahi hona chahiye aur jo samarthak desh hai unke upar karyavahi bhi hogi lekin iski asal bahut zyada hone ki gunjaiesh nahi lagti hai kyonki unke dohre manadand ke maapdand hain un deshon ke isliye upar se samarthan sab log karenge aur andar se funding bhi karenge lekin phir bhi jo upar se jo hai toh kam se kam yah toh manne ko taiyar hai ki aatankwadi ke samarthak desh hain unka bahishkar hona chahiye aur wapas kaun se funding ko rokna chahiye wait and watch ho sakta hai ki aane waale samay mein yah sab jo aatankwadi ke samarthak desh hai vaah apne aap khul par jaenge aur vishwa ke samaksh sab liya hota jaega is tarah se aatankwad ko khatam karne mein sab desh saamne aayenge saath milkar aatankwad ko nestanabud karen

यू सांसदों के पीएम मोदी ने कहा आतंकियों के समर्थक देशों का क्रम तो कार्रवाई क्या किसी सहमत

Romanized Version
Likes  71  Dislikes    views  1413
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!