महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद पर जारी खींचतान के बीच शिवसेना की चेतावनी- 'BJP हमें विकल्प तलाशने के लिए मजबूर नहीं करे' - आपकी राय?...


user
0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राजनीति में सत्ता की लड़ाई है कुर्सी की लड़ाई है और यह सब चलता रहता है जब दोनों पार्टियों में समझौता हो जाएगा तो दोनों आपस में मिल जाएंगे और दोनों एक दूसरे की तारीफ करने लग जाएंगे जब तक सत्ता का समीकरण नहीं बैठता है तब तक दोनों एक दूसरे को इसी प्रकार से आगे दिखाते रहेंगे अगर दोनों मान गए सरकार बनी तो ठीक अन्यथा अगले भी कर सकते हो

raajneeti mein satta ki ladai hai kursi ki ladai hai aur yah sab chalta rehta hai jab dono partiyon mein samjhauta ho jaega toh dono aapas mein mil jaenge aur dono ek dusre ki tareef karne lag jaenge jab tak satta ka samikaran nahi baithta hai tab tak dono ek dusre ko isi prakar se aage dikhate rahenge agar dono maan gaye sarkar bani toh theek anyatha agle bhi kar sakte ho

राजनीति में सत्ता की लड़ाई है कुर्सी की लड़ाई है और यह सब चलता रहता है जब दोनों पार्टियों

Romanized Version
Likes  104  Dislikes    views  2075
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

3:26

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद पर भारी जारी खींचतान के बीच शिवसेना की चेतावनी बीजेपी विकल्प तलाशने के लिए मजबूर नहीं करें आपकी राय जो शिवसेना चेतावनी दे रही है लेकिन उसे अपनी जो लिमिटेशंस का पान है या नहीं है उसे हम नहीं करेंगे कि अगर शिवसेना एनसीपी और कांग्रेस का भी सहारा मिले जो कि अभी तक नहीं हुआ है आज तक तो भी वह सरकार बनाने में सक्षम होंगे होगी उसके पीछे भी शंका है क्योंकि कांग्रेस शिवसेना के साथ सरकार करना पसंद ना करें या शिवसेना भी पसंद न करें कि कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार में जाए ऐसी पिक अभी इसी तरह वीर भैया फिर भी शिवसेना उद्धव ठाकरे इस तरह का बयान बाजी करते वह शिवसेना के साथ कोई नुकसान इतना दुराग्रह करना राजकरण में ठीक नहीं होता है और उनको चाहिए कि अपने पुराने साथी के साथ ही वह सरकार बनाएं बीजेपी शिवसेना का गठबंधन इतने सालों से पिछले 30 सालों से चल रहा है और उसी को आगे बढ़ाने में दोनों की भलाई है ऐसा वक्त भी कर रहे हैं क्योंकि आदित्य ठाकरे उनके पुत्र चुनाव वर्ली सीट से जीत गए हैं अब वह पीटी पीटी करने का उनका मकसद यह है कि ढाई साल मुख्यमंत्री और नेता उद्धव ठाकरे के पुत्र आदित्य ठाकरे मुख्यमंत्री यहीं पर वह उद्धव ठाकरे पुत्र मोह में फूल करने की गुंजाइश रख रहे उद्धव ठाकरे के पुत्र आदित्य ठाकरे का अनुभव और बैकग्राउंड कितना है वह उद्धव ठाकरे तभी मालूम होगा सिर्फ ठाकरे को तुमने पैदा होने से ऑस्ट्रेलिया तक के लायक कोई इंसान अगर बन जाता है तो फिर बाद में राहुल गांधी भी प्रधानमंत्री पद के दावेदार हो सकते हैं परिवारवाद वंशवाद इस की दुहाई देने वाले अगर खुद ही ऐसा काम करेंगे तो फिर बाद में आगे जनता क्या सोचेंगे इसका उन्हें जरूर सोचना चाहिए कि वह क्या कर रहे हैं क्या बोल रहे हैं और किसके विरुद्ध बोलते हैं इसलिए शिवसेना को समझना जरूरी है और आशा है वह समझ जाएंगे और 5050 के जो 4 मिनट पर उपचार जरूर करें ऐसी आशा करते हैं धन्यवाद

maharashtra mein mukhyamantri pad par bhari jaari khinchtan ke beech shivsena ki chetavani bjp vikalp talashane ke liye majboor nahi kare aapki rai jo shivsena chetavani de rahi hai lekin use apni jo Limitations ka pan hai ya nahi hai use hum nahi karenge ki agar shivsena ncp aur congress ka bhi sahara mile jo ki abhi tak nahi hua hai aaj tak toh bhi vaah sarkar banane mein saksham honge hogi uske peeche bhi shanka hai kyonki congress shivsena ke saath sarkar karna pasand na kare ya shivsena bhi pasand na kare ki congress ke saath milkar sarkar mein jaaye aisi pic abhi isi tarah veer bhaiya phir bhi shivsena uddhav thakare is tarah ka bayan baazi karte vaah shivsena ke saath koi nuksan itna duragrah karna rajyakaran mein theek nahi hota hai aur unko chahiye ki apne purane sathi ke saath hi vaah sarkar banaye bjp shivsena ka gathbandhan itne salon se pichle 30 salon se chal raha hai aur usi ko aage badhane mein dono ki bhalai hai aisa waqt bhi kar rahe hain kyonki aditya thakare unke putra chunav warli seat se jeet gaye hain ab vaah PT PT karne ka unka maksad yah hai ki dhai saal mukhyamantri aur neta uddhav thakare ke putra aditya thakare mukhyamantri yahin par vaah uddhav thakare putra moh mein fool karne ki gunjaiesh rakh rahe uddhav thakare ke putra aditya thakare ka anubhav aur background kitna hai vaah uddhav thakare tabhi maloom hoga sirf thakare ko tumne paida hone se austrailia tak ke layak koi insaan agar ban jata hai toh phir baad mein rahul gandhi bhi pradhanmantri pad ke davedaar ho sakte hain parivaarvaad vanshavad is ki duhaai dene waale agar khud hi aisa kaam karenge toh phir baad mein aage janta kya sochenge iska unhe zaroor sochna chahiye ki vaah kya kar rahe kya bol rahe hain aur kiske viruddh bolte hain isliye shivsena ko samajhna zaroori hai aur asha hai vaah samajh jaenge aur 5050 ke jo 4 minute par upchaar zaroor kare aisi asha karte hain dhanyavad

महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री पद पर भारी जारी खींचतान के बीच शिवसेना की चेतावनी बीजेपी विकल्प

Romanized Version
Likes  59  Dislikes    views  1180
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!