मंत्री को अधिकार होता है जनता को गौ सेवा प्रदान करना, फिर वो ऐसा क्यों नहीं करती है?...


user

Surender

Career Counsellor

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मंत्री को जनता को प्रदान करने का और तिलहन तक निकल सकता है कोई जनपद से कोई भी इंसान अच्छा कार्यकर्ताओं से पूर्व प्रधान कर सकते हैं

mantri ko janta ko pradan karne ka aur tilhan tak nikal sakta hai koi janpad se koi bhi insaan accha karyakartaon se purv pradhan kar sakte hain

मंत्री को जनता को प्रदान करने का और तिलहन तक निकल सकता है कोई जनपद से कोई भी इंसान अच्छा क

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  144
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Lokendra

Farmer

1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

घोसी जगह गोवा शिवांगी बनाई गई है गौशाला भी को ली गई हैं मंत्री के द्वारा ही हुआ है और उद्घाटन भी किया गया है गौ सेवा करने वाले होना चाहिए गौशाला तो बहुत है पर वह सेवा करने वाले नहीं है इसीलिए गौ सेवा करने वालों को बढ़ावा देना चाहिए मैं मंत्री जी से भी आग्रह करना चाहूंगा कि वह किसानों को जिस तरह जिस तरह किस्तों के द्वारा पैसा प्रदान कर रहे हैं इसी प्रकार गौ सेवा करने वालों की गौशाला में योगदान ने उनको भी पैसा प्रदान करें जिससे गौशाला को गौ माता के रूप में पूजी जा सके और गौशाला को अस्तित्व बना रहे

ghosi jagah goa shivangi banai gayi hai gaushala bhi ko li gayi hain mantri ke dwara hi hua hai aur udghatan bhi kiya gaya hai gau seva karne waale hona chahiye gaushala toh bahut hai par vaah seva karne waale nahi hai isliye gau seva karne walon ko badhawa dena chahiye main mantri ji se bhi agrah karna chahunga ki vaah kisano ko jis tarah jis tarah kiston ke dwara paisa pradan kar rahe hain isi prakar gau seva karne walon ki gaushala mein yogdan ne unko bhi paisa pradan kare jisse gaushala ko gau mata ke roop mein pooji ja sake aur gaushala ko astitva bana rahe

घोसी जगह गोवा शिवांगी बनाई गई है गौशाला भी को ली गई हैं मंत्री के द्वारा ही हुआ है और उद्घ

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  161
WhatsApp_icon
user

Ansu Dubey

Student

1:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका जवाब आपका सवाल बिल्कुल ही हूं आपका सवाल बिल्कुल ही उचित है आपने सवाल में जो पूछा है मंत्री को अधिकार होता है जनता को गौ सेवा प्रदान करना फिर ऐसा क्यों नहीं करती देखिए जो भारत का संविधान है भारत के संविधान के भाग 4 अर्थात राज्य के नीति निर्देशक तत्वों में लिखा गया है राज्य के नीति निदेशक तत्व अनुच्छेद नंबर 48 में स्पष्ट व्याख्या की गई है गौ रक्षा की सेवा की लेकिन जो राज्य के नीति निदेशक तत्व है इसके हनन पर आप सीधे सुप्रीम कोर्ट नहीं जा सकते अर्थात जब राज्य की मर्जी होगी तब राजे इसे कानून बनाएगा और जाफरानी से कौन बनाएगा तब जाकर आप इसको अधिकार प्राप्त हो गया था मर्जी के ऊपर डिपेंड करता है कि इस कानून को लागू करें इसके लिए जो हमारे मंत्री महोदय होते हैं या जो सरकार होती है कि बिहार में बिहार में सरकार को ऐसा लगा कि जहां पर जो है शराब को बंद कर देना चाहिए तो यह राज्य के नीति निदेशक तत्व लिखा हुआ है तो बिहार की सरकार ने ऐसा कानून पास किया और फिर वह कानून जो है वह हमारा संवैधानिक अधिकार बना इसके तब उसे बंद किया गया गौ रक्षक संबंधित विषय जो है संविधान के निदेशक तत्व हैं लेकिन भारत के सरकार ने या राज्य सरकार ने ऐसा कोई कानून बनाया नहीं है जिसके तहत गौ रक्षा संबंधी कोई विधेयक अधिकार बने और आपको इस अधिकार मिले

aapka jawab aapka sawaal bilkul hi hoon aapka sawaal bilkul hi uchit hai aapne sawaal me jo poocha hai mantri ko adhikaar hota hai janta ko gau seva pradan karna phir aisa kyon nahi karti dekhiye jo bharat ka samvidhan hai bharat ke samvidhan ke bhag 4 arthat rajya ke niti nirdeshak tatvon me likha gaya hai rajya ke niti nideshak tatva anuched number 48 me spasht vyakhya ki gayi hai gau raksha ki seva ki lekin jo rajya ke niti nideshak tatva hai iske hanan par aap sidhe supreme court nahi ja sakte arthat jab rajya ki marji hogi tab raje ise kanoon banayega aur jafrani se kaun banayega tab jaakar aap isko adhikaar prapt ho gaya tha marji ke upar depend karta hai ki is kanoon ko laagu kare iske liye jo hamare mantri mahoday hote hain ya jo sarkar hoti hai ki bihar me bihar me sarkar ko aisa laga ki jaha par jo hai sharab ko band kar dena chahiye toh yah rajya ke niti nideshak tatva likha hua hai toh bihar ki sarkar ne aisa kanoon paas kiya aur phir vaah kanoon jo hai vaah hamara samvaidhanik adhikaar bana iske tab use band kiya gaya gau rakshak sambandhit vishay jo hai samvidhan ke nideshak tatva hain lekin bharat ke sarkar ne ya rajya sarkar ne aisa koi kanoon banaya nahi hai jiske tahat gau raksha sambandhi koi vidhayak adhikaar bane aur aapko is adhikaar mile

आपका जवाब आपका सवाल बिल्कुल ही हूं आपका सवाल बिल्कुल ही उचित है आपने सवाल में जो पूछा है

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  58
WhatsApp_icon
user
0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मंत्री लोग पूर्व सरकार के अंदर होता है तो सरकार सारा मिलकर सब करती है लोगों को सेवा प्रदान करती है गौ सेवा प्रदान करती है और इसी तरीके से चलता है देखिए सब जगह पर और हर स्टेट हर डिस्ट्रिक्ट के अंदर तो सबके साथ ऐसा ही होता है और देखिए पॉलिटिक्स के अंदर यह सब चलता है अगर आपके आसपास अच्छा नहीं हो रहा है गोसेवा और यह सब आपको प्रदान नहीं की जा रही है तो आप जाकर जो है बात कर सकते हैं मुंशी पार्टी में बात कर सकते हैं नहीं तो आप अरबी लिख सकता है अपने डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट को ऐसा कर सकते हैं

dekhiye mantri log purv sarkar ke andar hota hai toh sarkar saara milkar sab karti hai logo ko seva pradan karti hai gau seva pradan karti hai aur isi tarike se chalta hai dekhiye sab jagah par aur har state har district ke andar toh sabke saath aisa hi hota hai aur dekhiye politics ke andar yah sab chalta hai agar aapke aaspass accha nahi ho raha hai goseva aur yah sab aapko pradan nahi ki ja rahi hai toh aap jaakar jo hai baat kar sakte hain munshi party mein baat kar sakte hain nahi toh aap rb likh sakta hai apne district magistrate ko aisa kar sakte hain

देखिए मंत्री लोग पूर्व सरकार के अंदर होता है तो सरकार सारा मिलकर सब करती है लोगों को सेवा

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  2
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!