क्या हर्ष पोद्दार ने अपनी पुलिस प्रशिक्षण अवधि का आनंद लिया? उन दिनों से उनका सबसे यादगार पल कौन सा था?...


play
user

Harssh A Poddar

Indian Police Service | Dy. Commissioner of Police, Nagpur

2:43

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आईपीएस की ट्रेनिंग होती है राष्ट्रीय पुलिस अकादमी बिल्कुल फ्री में घूमते हैं तो सबसे पहले आपकी दर्शन होती है संगमरमर के पत्थर की और उसके नीचे लिखा हुआ है कि आप ऐसे जीवन मूर्ति को क्ले कैसे बनाते हैं उन्होंने कहा था कि यह जो मूर्तियां है वह संगमरमर के अंदर ही रहती है मैं तो सोचता ही रहता है क्या सुना जा सकता है कभी कुंदन बन पाता है वही वाली बात है यहां यहां पर भी 3 इंच रहती है और आपको हर प्रकार की जाती है मनशक्ति और विस्तार है कि मैं यह कहना चाहूंगा कि मुझे पोस्ट किया कि अपनी लिमिट पहुंच और और समझो कि नहीं इसकी तफ्तीश करने के लिए और जाएगी जो जमीन है वह जॉब क्योंकि पुलिस में भी आपकी नहीं कर सकते हैं होनी चाहिए और दूसरी बातें पूछी की छाती संगीत बजाना शुरू की सुनते ही बदल जाओ अब खुद के बारे में नहीं सोचता बोलिंग प्वाइंट

ips ki training hoti hai rashtriya police academy bilkul free mein ghumte hain toh sabse pehle aapki darshan hoti hai sangemarmar ke patthar ki aur uske neeche likha hua hai ki aap aise jeevan murti ko clay kaise banate hain unhone kaha tha ki yah jo murtiya hai vaah sangemarmar ke andar hi rehti hai main toh sochta hi rehta hai kya suna ja sakta hai kabhi kundan ban pata hai wahi waali baat hai yahan yahan par bhi 3 inch rehti hai aur aapko har prakar ki jaati hai manshakti aur vistaar hai ki main yah kehna chahunga ki mujhe post kiya ki apni limit pahunch aur aur samjho ki nahi iski taftish karne ke liye aur jayegi jo jameen hai vaah job kyonki police mein bhi aapki nahi kar sakte hain honi chahiye aur dusri batein pucchi ki chhati sangeet bajana shuru ki sunte hi badal jao ab khud ke bare mein nahi sochta bowling point

आईपीएस की ट्रेनिंग होती है राष्ट्रीय पुलिस अकादमी बिल्कुल फ्री में घूमते हैं तो सबसे पहले

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  296
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!