लेखक बनने के लिए विवेक अत्रे को किसने प्रेरित किया?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं विवेक आदमी हूं मुझे लेखक बनने के लिए प्रेरणा काफी चीजों से मिली पहले में काफी किताबें पढ़ता था जब बड़ा हुआ स्कूल में तो काफी किताबें पढ़ते पढ़ते ही बड़ा हुआ तो कॉलेज में जो पहुंचा तो राइटिंग की कैपेबिलिटी आ गई थी पढ़ने से तो कुछ मेरे जो फ्रेंड्स थे स्टूडेंट्स इस टाइम फेलो स्टूडेंट्स उन्होंने मुझे इनकार किया कि मैं लिखूं और उसके अलावा फिर लिखने से प्रैक्टिस बनती गई और पीजी गुण हाउस जैसे बहुत ही बढ़िया लेखकों को मैं पढ़ता रहा और बाद में जो शादी हो गई करियर की शुरुआत मेरी वाइफ नीना ने बहुत ही खारिज किया मुझे कि मैं लिखूं और परमहंस योगानंद जी की जो ऑटोमेटिक हो गई होगी सबसे जबरदस्त सबसे उच्च कोटि की किताब सबसे अमेजिंग बुक चुकानी पड़ी है वह है तो उसको मैं पढ़ पढ़ थे और मुझे प्रेरणा होती रहती है लेकिन कि वह सिर्फ इतनी अच्छी की हुई है लेकिन उसमें बात जो उन्होंने की है वह बहुत ही स्पिरिचुअल हायर लेवल की बात है तो सभी को पढ़नी चाहिए तो इन चीजों से मुझे परिणाम

main vivek aadmi hoon mujhe lekhak banne ke liye prerna kafi chijon se mili pehle mein kafi kitaben padhata tha jab bada hua school mein toh kafi kitaben padhte padhte hi bada hua toh college mein jo pahuncha toh writing ki capability aa gayi thi padhne se toh kuch mere jo friends the students is time fellow students unhone mujhe inkar kiya ki main likhun aur uske alava phir likhne se practice banti gayi aur PG gun house jaise bahut hi badhiya lekhkon ko main padhata raha aur baad mein jo shadi ho gayi career ki shuruaat meri wife nina ne bahut hi khareej kiya mujhe ki main likhun aur paramhans yoganand ji ki jo Automatic ho gayi hogi sabse jabardast sabse ucch koti ki kitab sabse amazing book chukani padi hai vaah hai toh usko main padh padh the aur mujhe prerna hoti rehti hai lekin ki vaah sirf itni achi ki hui hai lekin usmein baat jo unhone ki hai vaah bahut hi Spiritual hire level ki baat hai toh sabhi ko padhani chahiye toh in chijon se mujhe parinam

मैं विवेक आदमी हूं मुझे लेखक बनने के लिए प्रेरणा काफी चीजों से मिली पहले में काफी किताबें

Romanized Version
Likes  72  Dislikes    views  2365
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!