इंसान जीवन में क्या नहीं कर सकता है?...


user

S Bajpay

Yoga Expert | Beautician & Gharelu Nuskhe Expert

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम राम जी की देखी इंसान जीवन में अपनी क्षमता के अंदर सब कुछ काम कर सकता है क्षमता से बाहर इंसान चाहने पर भी कोई काम नहीं कर सकता लेकिन हर इंसान चाहता है वह सर्वोच्च ओपन करें तू हर व्यक्ति प्रधानमंत्री क्यों नहीं बन सकता लेकिन हां असंभव भी इसके अतिरिक्त अपनी क्षमता से बाहर की चीज के अतिरिक्त इंसान चाह ले ठान ले तो सब कुछ कर सकता है बस वह चीजों की छमता के अंदर

ram ram ji ki dekhi insaan jeevan me apni kshamta ke andar sab kuch kaam kar sakta hai kshamta se bahar insaan chahne par bhi koi kaam nahi kar sakta lekin har insaan chahta hai vaah sarvoch open kare tu har vyakti pradhanmantri kyon nahi ban sakta lekin haan asambhav bhi iske atirikt apni kshamta se bahar ki cheez ke atirikt insaan chah le than le toh sab kuch kar sakta hai bus vaah chijon ki kshamta ke andar

राम राम जी की देखी इंसान जीवन में अपनी क्षमता के अंदर सब कुछ काम कर सकता है क्षमता से बाह

Romanized Version
Likes  345  Dislikes    views  3888
KooApp_icon
WhatsApp_icon
30 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
kar sakta ; kuchh nahin kar sakta ; nahin kar sakta ; क्या नहीं कर सकते ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!