कठुआ रेप केस: कोर्ट ने SIT के सदस्यों के खिलाफ FIR के दिए निर्देश, गवाहों से झूठे बयान दिलवाने का आरोप, आपकी राय?...


user

Dr. Ashwani Kumar Singh

Chairman & Director at VEMS

1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कठुआ रेप केस कोर्ट में शादी के सदस्यों की चुदाई व्यापार के लिए निर्देश के बावजूद राजनीतिक विचारधारा की सरकार रहती है उसके तथाकथित लंबरदार इस तरह के क्रियाकलापों में बराबर लिखते हैं और एक तरह की मानसिकता रहे जो तथाकथित सेट करवा दिया गया है तथाकथित बुद्धिजीवी वामपंथी नक्सलबाड़ी महामानव अधिकारी एक मिलाजुला छठ विचारधारा के लोग हैं और जिन जिन जो जो अब तक की सरकार रही है गैर एनडीए सरकार उसके बहुत बड़े पोषक रहे इन्होंने इतिहास के झूठे लेकिन से लेकर तथ्यों से छेड़छाड़ से लेकर तनातनी विचारधारा के विरुद्ध लगातार पिक्चर 70 भाषा का उपयोग कटिहार रेप केस में गवाहों को जूते गंवा देने के लिए बयान दिलवाने के लिए इस तरह का यह इसके जिसको कोर्ट ने संज्ञान लिया अरे भैया के निर्देश दिए

kathuaa rape case court mein shadi ke sadasyon ki chudai vyapar ke liye nirdesh ke bawajud raajnitik vichardhara ki sarkar rehti hai uske tathakathit lambaradar is tarah ke kriyaklapon mein barabar likhte hain aur ek tarah ki mansikta rahe jo tathakathit set karva diya gaya hai tathakathit buddhijeevi vampanthi naksalabadi mahamanav adhikari ek milajula chhath vichardhara ke log hain aur jin jin jo jo ab tak ki sarkar rahi hai gair nda sarkar uske bahut bade poshak rahe inhone itihas ke jhuthe lekin se lekar tathyon se chedchad se lekar tanatani vichardhara ke viruddh lagatar picture 70 bhasha ka upyog katihar rape case mein gavahon ko joote ganva dene ke liye bayan dilwane ke liye is tarah ka yah iske jisko court ne sangyaan liya arre bhaiya ke nirdesh diye

कठुआ रेप केस कोर्ट में शादी के सदस्यों की चुदाई व्यापार के लिए निर्देश के बावजूद राजनीतिक

Romanized Version
Likes  211  Dislikes    views  2789
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Mehnaz Amjad

Certified Life Coach

3:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए कठुआ रेप केस जिसमें कोर्ट ने खुद एसआईटी ने स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम के सदस्यों के खिलाफ f.i.r. करती है और साथ ही में जो है गवाहों से छूट बयान बुलवाने के लिए उन पर आरोप है तो मेरी राय में यह है कि सबसे पहली चीज इस केस को अगर आप देखें तो जो एक 8 साल की लड़की के साथ हुआ एयर इंडिया में वैसे भी और सुरक्षित नहीं है आज छोटे बच्चों से झूले में लेटे बच्चों से लेकर बूढ़ी औरतों तक तो यह बहुत ही शर्मनाक बात है हमारे समाज के लिए हमारे कंट्री के लिए दूसरी अब जिस तरह यह चीज की गई ऐसे निर्भया रेप केस में रेप तोहर अपने आप में क्रिमिनल ऑफेंस है लेकिन जिस तरह का जिसके कारण एक बहुत बड़ी टीम बिठाकर आ निर्भया आठ निकाला गया क्योंकि जिस तरह वह किया गया इस से मतलब लोगों के रोंगटे खड़े हो गए उनके उनको सिर्फ इमेजिन करके के क्या उस लड़की पर गुजरी होगी उसी तरह इस रेप केस में एक छोटी सी लड़की और वह भी मंदिर के अंदर तो यह एक बहुत ही बहुत ही अफसोस नाक और शर्मनाक बात है इसे सीमा सोच और कुछ नहीं कह सकते हम के हमारा देश जो जिससे लोग संस्कृति सीखने आते थे संस्कार और संस्कृति के 2 नाम हमारे देश के सबसे ज्यादा जुड़े हुए किसी भी पूरे पूरे वर्ल्ड में अगर कहीं संस्कार और संस्कृति की बात होती हो तो हम सबसे आगे थे देश में जहां बहू बेटियों की इज्जत होती थी उस देश में जहां माना कि कई मजहब है लेकिन हम सब एक साथ धर्म मजहब में इस हद तक नहीं गिरते थे मतलब हम जानवरों से बदतर हो चुके हैं और चेक शायद आप किसी भी धर्म से हूं कोई भी आप ईश्वर को मानते हो किसी भी तरह की आप सोच सकते हो यह हरकतें इतनी ज्यादा शर्मनाक है कि अपने आप में अगर हम इस चीज को पड़े हैं और देखें और इस केस की डिटेल्स पड़े तो रेप से हटकर जो सारे कुछ डिटेल्स है इस केस के उसको पढ़ के ही मन में लगता है कि पता नहीं हम किस दिशा में जा रहे हैं किस तरह की हमारी सोच हो गई है और इतनी हैवानियत हैवानियत हमारे अंदर है कि हम से शायद जानवर भी शर्मा जाए जिस तरह की हरकतों पर उतर आए हैं और जिस तरह के फेल कर रहे हैं तो मेरी राय तो यह है कि मैं तो बेहद अफसोस में हूं इसमें मजहब से ज्यादा मजाक तो है ही नहीं इसमें जो हम अपने हम अपनी कंट्री पर जो जो हमने हमारे संस्कारों पर हमारे कल्चर पर तहसील पर जिसके लिए एक समय पर सबको गर्व था शर्म से सर झुका हुआ है और यह ठीक तो है ही और उसे हटके जो शर्मनाक हरकतें जो असुरक्षित लड़कियां औरतें बूढ़े बच्चे अपने आपको महसूस करें एक ऐसे देश में तो हैरत होती है कि पता नहीं हम लोग किस तरह की सोच लो वैस्ट इन कांसेप्ट को हम कहते हैं कि उन्हें शर्म और हया नहीं है लेकिन हमें क्या है बस हम खुद इन चीजों को देखकर लगता है कि हम लोग शायद जानवरों से बदतर हो चुके हैं और हमें कहीं ना कहीं अपने अंदर सुधार लाने की जरूरत है

dekhiye kathuaa rape case jisme court ne khud SIT ne special investigation team ke sadasyon ke khilaf f i r karti hai aur saath hi mein jo hai gavahon se chhut bayan bulwaana ke liye un par aarop hai toh meri rai mein yah hai ki sabse pehli cheez is case ko agar aap dekhen toh jo ek 8 saal ki ladki ke saath hua air india mein waise bhi aur surakshit nahi hai aaj chhote bacchon se jhule mein lete bacchon se lekar budhi auraton tak toh yah bahut hi sharmnaak baat hai hamare samaaj ke liye hamare country ke liye dusri ab jis tarah yah cheez ki gayi aise Nirbhaya rape case mein rape tohar apne aap mein criminal offense hai lekin jis tarah ka jiske karan ek bahut badi team bithakar aa Nirbhaya aath nikaala gaya kyonki jis tarah vaah kiya gaya is se matlab logon ke rongate khade ho gaye unke unko sirf imejin karke ke kya us ladki par gujari hogi usi tarah is rape case mein ek choti si ladki aur vaah bhi mandir ke andar toh yah ek bahut hi bahut hi afasos nak aur sharmnaak baat hai ise seema soch aur kuch nahi keh sakte hum ke hamara desh jo jisse log sanskriti seekhne aate the sanskar aur sanskriti ke 2 naam hamare desh ke sabse zyada jude hue kisi bhi poore poore world mein agar kahin sanskar aur sanskriti ki baat hoti ho toh hum sabse aage the desh mein jahan bahu betiyon ki izzat hoti thi us desh mein jahan mana ki kai majahab hai lekin hum sab ek saath dharam majahab mein is had tak nahi girte the matlab hum jaanvaro se badataar ho chuke hain aur check shayad aap kisi bhi dharam se hoon koi bhi aap ishwar ko maante ho kisi bhi tarah ki aap soch sakte ho yah harakatein itni zyada sharmnaak hai ki apne aap mein agar hum is cheez ko pade hain aur dekhen aur is case ki details pade toh rape se hatakar jo saare kuch details hai is case ke usko padh ke hi man mein lagta hai ki pata nahi hum kis disha mein ja rahe hain kis tarah ki hamari soch ho gayi hai aur itni haivaniyat haivaniyat hamare andar hai ki hum se shayad janwar bhi sharma jaaye jis tarah ki harkaton par utar aaye hain aur jis tarah ke fail kar rahe hain toh meri rai toh yah hai ki main toh behad afasos mein hoon isme majahab se zyada mazak toh hai hi nahi isme jo hum apne hum apni country par jo jo humne hamare sanskaron par hamare culture par tehsil par jiske liye ek samay par sabko garv tha sharm se sir jhuka hua hai aur yah theek toh hai hi aur use hatake jo sharmnaak harakatein jo asurakshit ladkiyan auraten budhe bacche apne aapko mahsus karen ek aise desh mein toh hairat hoti hai ki pata nahi hum log kis tarah ki soch lo vaist in concept ko hum kehte hain ki unhe sharm aur haya nahi hai lekin hamein kya hai bus hum khud in chijon ko dekhkar lagta hai ki hum log shayad jaanvaro se badataar ho chuke hain aur hamein kahin na kahin apne andar sudhaar lane ki zaroorat hai

देखिए कठुआ रेप केस जिसमें कोर्ट ने खुद एसआईटी ने स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम के सदस्यों के खि

Romanized Version
Likes  234  Dislikes    views  4374
WhatsApp_icon
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

0:55

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कठुआ रेप केस कोर्ट में जीत के सदस्यों के खिलाफ f.i.r. के दिए निर्देश दवाओं के जूते बयान दिलवाने का आरोप आपकी राय किस बहुत ही बहुचर्चित केस था और बहुत ही उस समय सुर्खियां बटोर हुए था और जिस तरह से तुरंत ही जो अपराधी पकड़े गए उनका की नजरों से देखा जा रहा था और जिस तरह से गुनाह कबूल करवाया गया था वह भी बहुत ही संस्थापक था इसलिए अगर सीट के सदस्य खिलाफ f.i.r. श्रमिक बयान दिलवाने की हिम्मत आगे चलते कोई नहीं करेगा बहुत-बहुत शुभकामनाएं

kathuaa rape case court mein jeet ke sadasyon ke khilaf f i r ke diye nirdesh dawaon ke joote bayan dilwane ka aarop aapki rai kis bahut hi bahucharchit case tha aur bahut hi us samay surkhian bator hue tha aur jis tarah se turant hi jo apradhi pakde gaye unka ki najaron se dekha ja raha tha aur jis tarah se gunah kabool karvaya gaya tha vaah bhi bahut hi sansthapak tha isliye agar seat ke sadasya khilaf f i r shramik bayan dilwane ki himmat aage chalte koi nahi karega bahut bahut subhkamnaayain

कठुआ रेप केस कोर्ट में जीत के सदस्यों के खिलाफ f.i.r. के दिए निर्देश दवाओं के जूते बयान दि

Romanized Version
Likes  67  Dislikes    views  1331
WhatsApp_icon
user

Kesharram

Teacher

0:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रेप केस कोर्ट में सीट के सदस्य के खिलाफ अभियान के दिए निर्देश दिए बयान दिलवाने का आरोप गवाह बदलेगी जाते हो सकता है उनकी वजह से उनका विवाद भी हो सकता है जब कोर्ट ने निर्देश दे दिए होंगे इसलिए दोस्तों इसमें हो सकता है इसके स्कारूफ दूसरी ओर ध्यान सकता है क्योंकि जब तक दवा मिल जाते तब तक इस केस का खुलासा नहीं होगा धन्यवाद दोस्तों

rape case court mein seat ke sadasya ke khilaf abhiyan ke diye nirdesh diye bayan dilwane ka aarop gavah badalegi jaate ho sakta hai unki wajah se unka vivaad bhi ho sakta hai jab court ne nirdesh de diye honge isliye doston isme ho sakta hai iske skaruf dusri aur dhyan sakta hai kyonki jab tak dawa mil jaate tab tak is case ka khulasa nahi hoga dhanyavad doston

रेप केस कोर्ट में सीट के सदस्य के खिलाफ अभियान के दिए निर्देश दिए बयान दिलवाने का आरोप गवा

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  311
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!