क्या यह सच है कि मंगल में इंसान जी सकता है? क्या इसका मतलब यह है कि दुनिया का अंत होने वाला है?...


user

Awdhesh Singh

Former IRS, Top Quora Writer, IAS Educator

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस बात का ऐसा कोई प्रमाण तो मुझे किसी भी जगह नहीं दिखाकर मंगल पर इंसान रह रहे हैं या वहां पर इंसान जी सकता है और अगर मंगल पर वाले इंसान जीत सकता है तो उसका धरती पर दुनिया का अंत होने वाला इस से क्या लिंक है तो मैं नहीं तुम दोनों चीजों में कोई भी लिंक है और अभी जो जहां तक धरती पर जो जीवन का सवाल अभी मैं समझता हूं हजारों साल तक यहां पर जीवन आराम से चल सकता है और मंगलमय इंसान जाएं वहां पर रहे हैं तो मैं समझता हूं यह भी एक ऐसी चीज है जिसमें भी टिकट लगेंगे बहुत सारे साल लगेंगे तब पता चलेगा में मंगल पर इंसान का रहना उचित रहेगा कि नहीं रहेगा

is baat ka aisa koi pramaan to mujhe kisi bhi jagah nahi dikhakar mangal par insaan rah rahe hain ya wahan par insaan ji sakta hai aur agar mangal par wale insaan jeet sakta hai to uska dharti par duniya ka ant hone wala is se kya link hai to main nahi tum dono chijon mein koi bhi link hai aur abhi jo jahan tak dharti par jo jeevan ka sawal abhi main samajhata hoon hajaron saal tak yahan par jeevan aaram se chal sakta hai aur mangalmay insaan jayen wahan par rahe hain to main samajhata hoon yeh bhi ek aisi cheez hai jisme bhi ticket lagenge bahut sare saal lagenge tab pata chalega mein mangal par insaan ka rehna uchit rahega ki nahi rahega

इस बात का ऐसा कोई प्रमाण तो मुझे किसी भी जगह नहीं दिखाकर मंगल पर इंसान रह रहे हैं या वहां

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  519
WhatsApp_icon
13 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Masoom

Teacher

0:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या यह सच है कि मंगल में इंसान जी सकता है क्या इसका मतलब यह है कि दुनिया का अंत होने वाला है

kya yah sach hai ki mangal me insaan ji sakta hai kya iska matlab yah hai ki duniya ka ant hone vala hai

क्या यह सच है कि मंगल में इंसान जी सकता है क्या इसका मतलब यह है कि दुनिया का अंत होने वाला

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  607
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

1:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ठीक है मैं मंगल ग्रह के बारे में बात की एक इमारत जो प्लेनेट है उस पर बहुत समय से इसरो दुनियाभर के साइंटिस्ट जो है वह खोज में जुटे हुए हैं क्या वहां पर जीवन संभव है क्या वहां पर अपनी पृथ्वी की अर्थ की ही तरह वहां पर भी लाइव पॉसिबल है कि नहीं है इस बारे में खोज हो रही है और आज से नहीं बहुत सालों से हो रही है और इस बात के प्रमाण आए हैं सामने कि काफी हद तक वहां पर इस चीजों का प्रूफ हुआ है कि वहां पर लाइव पॉसिबल है लेकिन अभी भी वह हंड्रेड परसेंट वेरीफाई नहीं हुई उसकी लगातार उसकी को चल रही है दुनियाभर के बड़े से बड़ी एजेंसी इसरो और यह साधना सा यह सभी इस में जुटे हुए हैं तो अगर वहां पर पॉसिबल हो पाती है इन केस अगर ऐसा होता है उसके मतलब यह नहीं हुआ कि यहां पर दुनिया का अंत होने वाला है या हमारी पृथ्वी पर जीवन है उसका अंत होने वाला है वह एक अल्टरनेटर यानी कि भारत पर तो हम जी रहे हैं मौजूदा सच में लेकिन उसके अलावा यह आशंका जताई जा रही है कि शायद मंगल में भी इंसान फ्यूचर में लाइफ पॉसिबल हो सकती है वहां भी जा सकता है रह सकता है घूम सकता है जैसे हम अर्थ पर घूमते हैं ठीक उसी प्रकार वहां पर जाकर बस सकते हैं लेकिन इसकी खोज चल रही है इसके प्रमाण सामने आ रहे हैं लेकिन यह पूरी तरीके से नहीं है और वहां पर लाइफ का मतलब यह खत्म होना नहीं है बजाएं वहां पर लाइफ का मतलब दोनों जगह अर्थ और मार्ग दोनों जगह जीवन होगा

theek hai main mangal grah ke baare mein baat ki ek imarat jo planet hai us par bahut samay se isro duniyabhar ke scientist jo hai wah khoj mein jute hue hain kya wahan par jeevan sambhav hai kya wahan par apni prithvi ki arth ki hi tarah wahan par bhi live possible hai ki nahi hai is baare mein khoj ho rahi hai aur aaj se nahi bahut salon se ho rahi hai aur is baat ke pramaan aaye hain samane ki kafi had tak wahan par is chijon ka proof hua hai ki wahan par live possible hai lekin abhi bhi wah hundred percent verifai nahi hui uski lagatar uski ko chal rahi hai duniyabhar ke bade se badi agency isro aur yeh sadhna sa yeh sabhi is mein jute hue hain to agar wahan par possible ho pati hai in case agar aisa hota hai uske matlab yeh nahi hua ki yahan par duniya ka ant hone wala hai ya hamari prithvi par jeevan hai uska ant hone wala hai wah ek altaranetar yani ki bharat par to hum ji rahe hain maujuda sach mein lekin uske alava yeh ashanka jatai ja rahi hai ki shayad mangal mein bhi insaan future mein life possible ho sakti hai wahan bhi ja sakta hai rah sakta hai ghum sakta hai jaise hum arth par ghumte hain theek ussi prakar wahan par jaakar bus sakte hain lekin iski khoj chal rahi hai iske pramaan samane aa rahe hain lekin yeh puri tarike se nahi hai aur wahan par life ka matlab yeh khatam hona nahi hai bajaen wahan par life ka matlab dono jagah arth aur marg dono jagah jeevan hoga

ठीक है मैं मंगल ग्रह के बारे में बात की एक इमारत जो प्लेनेट है उस पर बहुत समय से इसरो दुनि

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  29
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अभी मार्च पर जो भी रिसोर्ट चल रही है मांस पर मंगलयान भारत ने भी भेजा इसके बाद जो सामने आए हैं वह यह कि सोलर सिस्टम में अगर कोई प्लांट है जो थोड़ा बहुत वल्नरेबल है जो थोड़ी बहुत लाइक की पॉसिबिलिटी है वह मारती है हालांकि अभी ऐसा कुछ पॉसिबल नहीं है करीबन 24 से 30 साल लगेंगे जब कोई पहला व्यक्ति मार्च पर जाकर रहना और रहेगा मतलब रहना हमारे लिए पॉसिबल हो पाएगा और अभिमान से बहुत अच्छी रोबोट पिक्चर भेजो बहुत सारे सालगिरह लेकर आ रहे हैं सामने कि पॉसिबल है कि नहीं है हालांकि वहां पर वोट मिला है आज से ही शुरु होती है कि शादी उमरलाई मां पॉसिबल हो पर वहां रहने के लिए अगर इंसान में बसेंगे तो वह एक स्पेशल सूट पहनकर हमेशा रहना पड़ेगा और वह कैप्सूल में रह पाएंगे सुनाओ Mali नहीं रह पाएंगे वहां पर खेती बगैरा पॉसिबल नहीं है वह तो इंदौर ही जॉब स्टेशन होगी वही पॉसिबल हो पाएगी वहां पर ऐसे जैसे हमारे यहां अपील सोते बजे सब पॉसिबल नहीं है हां और दुनिया के खत्म होने के बाद सही तो देखिए दुनिया ऐसी कोई यह जो बाबाओं के जो विकसित होती है उसे दुनिया खत्म नहीं होती अगर कोई जैसे डायनासोर भी खत्म हुए थे टाइम पर ऐसा कुछ हो सकता है कि कोई साजिश एकदम टेक्स्ट टू जयपुर चीज पॉसिबल बैठी है साइंटिफिक चीज़ होगी कोई ऐसे ही और नहीं हो जाएगी और हम अपने एनवायरनमेंट इतना खराब कर रहे हैं उस हिसाब से तो यह चीज जल्दी हो भी सकती है

dekhie abhi march par jo bhi resort chal rahi hai maans par mangalyaan bharat ne bhi bheja iske baad jo samane aaye hain wah yeh ki solar system mein agar koi plant hai jo thoda bahut valnarebal hai jo thodi bahut like ki pasibiliti hai wah marati hai halanki abhi aisa kuch possible nahi hai kariban 24 se 30 saal lagenge jab koi pehla vyakti march par jaakar rehna aur rahega matlab rehna hamare liye possible ho payega aur abhimaan se bahut acchi robot picture bhejo bahut sare salgirah lekar aa rahe hain samane ki possible hai ki nahi hai halanki wahan par vote mila hai aaj se hi shuru hoti hai ki shadi umaralai maa possible ho par wahan rehne ke liye agar insaan mein basenge to wah ek special suit pehankar hamesha rehna padega aur wah capsule mein rah paenge sunao Mali nahi rah paenge wahan par kheti bagera possible nahi hai wah to indore hi job station hogi wahi possible ho payegi wahan par aise jaise hamare yahan appeal sote baje sab possible nahi hai haan aur duniya ke khatam hone ke baad sahi to dekhie duniya aisi koi yeh jo babaon ke jo viksit hoti hai use duniya khatam nahi hoti agar koi jaise dinosaur bhi khatam hue the time par aisa kuch ho sakta hai ki koi sajish ekdam text to jaipur cheez possible baithi hai scientific cheese hogi koi aise hi aur nahi ho jayegi aur hum apne environment itna kharab kar rahe hain us hisab se to yeh cheez jaldi ho bhi sakti hai

देखिए अभी मार्च पर जो भी रिसोर्ट चल रही है मांस पर मंगलयान भारत ने भी भेजा इसके बाद जो साम

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  169
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज देखिए अगर वाकई इंसान रहता है तो हो सकता है कि कुछ 20 साल बाद में 25 साल बाद जो है वहां पर प्रॉपर कुछ ऐसा बनाई जाए रोज बनाया जाए ऐसा कैसे ठीक किया जाए जैसे इंसान जो है वो जाके आसमा को धरती का अंत होने वाला है क्या है तो इसे क्या कहते नहीं तो दूसरी सेक्स है उसकी उनके भी बहुत बड़े-बड़े प्लेनेट देखते हैं आने वाले दिनों में क्या होता है

aaj dekhie agar vaakai insaan rehta hai to ho sakta hai ki kuch 20 saal baad mein 25 saal baad jo hai wahan par proper kuch aisa banai jaye roj banaya jaye aisa kaise theek kiya jaye jaise insaan jo hai vo jake asama ko dharti ka ant hone wala hai kya hai to ise kya kehte nahi to dusri sex hai uski unke bhi bahut bade bade planet dekhte hain aane wale dinon mein kya hota hai

आज देखिए अगर वाकई इंसान रहता है तो हो सकता है कि कुछ 20 साल बाद में 25 साल बाद जो है वहां

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  157
WhatsApp_icon
user

Sefali

Media-Ad Sales

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पिछले 50 सालों में नासा ने कई सारे जो है रिसर्च किए हैं यह पता लगाने की कीमत में आना इस पॉसिबल है या नहीं तो काफी सारे जो है अभियान हो रहे कारपोरेशन किए जा रहे हैं सन 2000 साल में पता चला था कि मार्च में जो है पानी अवेलेबल है उस टाइम में पानी मिला था मार्च में अगर उसके बाद यह क्वेश्चन आ गया कि वह पानी है वह उतनी ही क्वांटिटी में तभी अवेलेबल था था या फिर मार्च में ऑलरेडी पहले से पानी था और वह जो है अभी सुखी बंजर जमीन बन गई है और क्या-क्या पॉसिबिलिटी इस है और जो है मार्च में लाइफ क्रिएट करने की और क्या-क्या जो है और कितने साल लगेंगे तो काफी सारे काम जो है अभी चल रहे हैं तो अभी तक कुछ क्लैरिटी नहीं है कि कब तक हो पाएगा और कब तक यह पॉसिबल है काफी साल मेरे हिसाब से लगने 20 साल से ज्यादा लगने वाले हैं तो यह दुनिया खत्म होने वाली है देखिए हम अपनी दुनिया को नहीं खोना चाहते हम जिस प्लानेट में रह रहे हैं उससे इमेजिंग करना कि वह कभी खत्म होगा वही इस सेल्फ बहुत गहरी वाली थॉट है तो उसका भी पता नहीं पर जिस तरह से हमारी पृथ्वी गरम हो रही है जिस तरह से वातावरण बदल रहा है और जो है लेट हो रहे हैं अब डिफोरेस्टेशन तो काफी प्लानेट में चेंज आए हैं तो यह सब को देखते हुए तो लग रहा है मैं भी काफी सालों बाद सदियों बाद जो शायद अंत पर हम नहीं चाहते कि ऐसा हो वह अलग बात है

pichle 50 salon mein nasa ne kai sare jo hai research kiye hain yeh pata lagane ki kimat mein aana is possible hai ya nahi to kafi sare jo hai abhiyan ho rahe corporation kiye ja rahe hain sun 2000 saal mein pata chala tha ki march mein jo hai pani available hai us time mein pani mila tha march mein agar uske baad yeh question aa gaya ki wah pani hai wah utani hi quantity mein tabhi available tha tha ya phir march mein already pehle se pani tha aur wah jo hai abhi sukhi banjar jameen ban gayi hai aur kya kya pasibiliti is hai aur jo hai march mein life create karne ki aur kya kya jo hai aur kitne saal lagenge to kafi sare kaam jo hai abhi chal rahe hain to abhi tak kuch clarity nahi hai ki kab tak ho payega aur kab tak yeh possible hai kafi saal mere hisab se lagne 20 saal se jyada lagne wale hain to yeh duniya khatam hone wali hai dekhie hum apni duniya ko nahi khona chahte hum jis planet mein rah rahe hain usse imaging karna ki wah kabhi khatam hoga wahi is self bahut gehri wali thought hai to uska bhi pata nahi par jis tarah se hamari prithvi garam ho rahi hai jis tarah se vatavaran badal raha hai aur jo hai let ho rahe hain ab diforesteshan to kafi planet mein change aaye hain to yeh sab ko dekhte hue to lag raha hai main bhi kafi salon baad sadiyon baad jo shayad ant par hum nahi chahte ki aisa ho wah alag baat hai

पिछले 50 सालों में नासा ने कई सारे जो है रिसर्च किए हैं यह पता लगाने की कीमत में आना इस पॉ

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  159
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदित्य पिछले हफ्ते टेस्ला कंपनी के सीईओ एलोन मस्क ने जो इस प्रकार से मिशन माफ किया था और जिस प्रकार से मार्च में पानी पाया जा चुका है तो उसे देखकर यही लगता है कि क्या मार्च में इंसान जी सकता है या नहीं जी सकता है और मेरे हिसाब से मुझे नहीं लगता है कि इंसान जो है मार्च में जी सकता है और सब यही नहीं क्योंकि अगर हम देखें तो जिस प्रकार से अभी तक कोई भी ऐसा इंसान नहीं है जिससे मास की तरफ जो है अपनी जर्नी की हो सीबीआई ने अभी तक ऐसे कोई भी मिशंस अभी तक हमने देखे नहीं गए हैं जहां पर एक इंसान को समाज की तरफ भेजा गया वह सिर्फ यही नहीं इस प्रकार से लाए जितने लाइट यस लगते हैं माल जाने के लिए तो मुझे नहीं लगता कि उसने लाइट और कोई भी इंसान जी पाएगा और सिर्फ यही नहीं नासा खुद काम कर रही है यह बताने वाला देखने के लिए 21 मार्च पर जिंदगी है या नहीं और 19168 सीट बाकी सारे ऐसे कंट्रीज है जो कि अपने चीज कब भेज रही है और हमेशा यही पाया जा चुका है कि मंगल पर जो है इंसान जी नहीं सकता क्योंकि और जो है एक जॉइंट माइंड की तरह काम करता हूं और जो है वैसा नहीं है तो खाना कहां पर खा लिए कि दुनिया का अंत होने वाला मुझे नहीं लगता दुनिया का अंत होने वाला है हां जिस प्रकार से हो नेचुरल रिसोर्सेज को पिपरवा के जैसे यूज कर रहे हो सर मैं भी मतलब कि यूज कर रहा है तो नेचुरल रिसोर्सेज जय भारत में कम हो चुके हैं लेकिन मुझे नहीं लगता कि दुनिया का जवाई अंत होने आया है अगर हम वापस से दुनिया को एक अच्छे तरीके से रखे या फिर आज कैसा रहेगा इन्वायरमेंटल बदलाव लाया 6 मिनट में बदलाव लाए तो हम दुनिया को मन से नहीं देख सकते हैं

aditya pichle hafte Tesla company ke ceo elon musk ne jo is prakar se mission maaf kiya tha aur jis prakar se march mein pani paya ja chuka hai to use dekhkar yahi lagta hai ki kya march mein insaan ji sakta hai ya nahi ji sakta hai aur mere hisab se mujhe nahi lagta hai ki insaan jo hai march mein ji sakta hai aur sab yahi nahi kyonki agar hum dekhen to jis prakar se abhi tak koi bhi aisa insaan nahi hai jisse mass ki taraf jo hai apni journey ki ho cbi ne abhi tak aise koi bhi mishans abhi tak humne dekhe nahi gaye hain jahan par ek insaan ko samaaj ki taraf bheja gaya wah sirf yahi nahi is prakar se laye jitne light yash lagte hain maal jaane ke liye to mujhe nahi lagta ki usne light aur koi bhi insaan ji payega aur sirf yahi nahi nasa khud kaam kar rahi hai yeh batane wala dekhne ke liye 21 march par zindagi hai ya nahi aur 19168 seat baki sare aise countries hai jo ki apne cheez kab bhej rahi hai aur hamesha yahi paya ja chuka hai ki mangal par jo hai insaan ji nahi sakta kyonki aur jo hai ek joint mind ki tarah kaam karta hoon aur jo hai waisa nahi hai to khana Kahan par kha liye ki duniya ka ant hone wala mujhe nahi lagta duniya ka ant hone wala hai haan jis prakar se ho natural resources ko piparava ke jaise use kar rahe ho sar main bhi matlab ki use kar raha hai to natural resources jai bharat mein kum ho chuke hain lekin mujhe nahi lagta ki duniya ka jawai ant hone aaya hai agar hum wapas se duniya ko ek acche tarike se rakhe ya phir aaj kaisa rahega inwayaramental badlav laya 6 minute mein badlav laye to hum duniya ko man se nahi dekh sakte hain

आदित्य पिछले हफ्ते टेस्ला कंपनी के सीईओ एलोन मस्क ने जो इस प्रकार से मिशन माफ किया था और ज

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  111
WhatsApp_icon
user

Yogesh Sharma

M.Com Graduate

1:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

टिक्की इस सवाल का जवाब मेरे पास बहुत ही अच्छा जवाब है नींद आपको पसंद आएगा कि जो वैज्ञानिक है वह मंगल ग्रह पर इंसानों के लिए जगह बनाने की कोशिश कर रहे हैं कहने का मतलब एक और नई धरती की खोज कर रहा है तो आप जरा सोचिए इस धरती पर ही वह कुछ नहीं मतलब इस धरती में कुछ डेवलपमेंट नहीं लाने की या फिर कुछ कमियां हैं वह पूरी करने की कोशिश नहीं कर रहे हैं दूसरी जगह पर निवास ढूंढने की कोशिश कर रहे हैं दूसरे ग्रह पर ज्यादा जोर दे रहे हैं उन्हें बस यह पक्का पता है कि यह धरती नष्ट होगी वह यहां पर कुछ नहीं करते तो उन्हें यह शक या विश्वास है कि धरती के सारे लोग हम वहां पर ले जाएंगे तो मेरे ख्याल से उन सभी को यहां पर कुछ करना चाहिए जो कमियां हैं जो प्राकृतिक है हमारी प्रकृति मां है मेरे ख्याल से भगवान से पहले हमें प्रकृति की पूजा करनी चाहिए प्रकृति की रक्षा करनी चाहिए वह इस चीज को नहीं समझ रहे हैं और बाकी ज्यादा जोर उसी स्थान पर दे रहे हैं तो उनको मेरे ख्याल से यहां भी कुछ करना चाहिए अगर यही हाल रहा तो दुनिया खान तो तो निश्चित है भाई थैंक यू

tikki is sawal ka jawab mere paas bahut hi accha jawab hai neend aapko pasand aayega ki jo vaigyanik hai wah mangal grah par insanon ke liye jagah banane ki koshish kar rahe hain kehne ka matlab ek aur nayi dharti ki khoj kar raha hai to aap jara sochie is dharti par hi wah kuch nahi matlab is dharti mein kuch development nahi lane ki ya phir kuch kamiyan hain wah puri karne ki koshish nahi kar rahe hain dusri jagah par niwas dhundhane ki koshish kar rahe hain dusre grah par jyada jor de rahe hain unhen bus yeh pakka pata hai ki yeh dharti nasht hogi wah yahan par kuch nahi karte to unhen yeh shaq ya vishwas hai ki dharti ke sare log hum wahan par le jaenge to mere khayal se un sabhi ko yahan par kuch karna chahiye jo kamiyan hain jo prakritik hai hamari prakriti maa hai mere khayal se bhagwan se pehle hume prakriti ki puja karni chahiye prakriti ki raksha karni chahiye wah is cheez ko nahi samajh rahe hain aur baki jyada jor ussi sthan par de rahe hain to unko mere khayal se yahan bhi kuch karna chahiye agar yahi haal raha to duniya khan to to nishchit hai bhai thank you

टिक्की इस सवाल का जवाब मेरे पास बहुत ही अच्छा जवाब है नींद आपको पसंद आएगा कि जो वैज्ञानिक

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  226
WhatsApp_icon
user

Ambuj Singh

Media Professional

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस बात की अभी पूरी तरह से नहीं कहा जा सकता है कि भारत ने मंगल पर इंसान जीत सकता है या नहीं हां जी सकता है आना था नहीं कुछ मैसेज तो जैसे वहां पानी पाया गया है और कुछ ऐसे मछलियों से जो पृथ्वी पर इंसान को जरूरत होता है लेकिन जस्ट जीना और वहां पृथ्वी जैसा नॉर्मल जीवन जीना बस फर्क है अभी उतना आसान नहीं है और अभी बहुत वक्त लगेगा क्योंकि हम लोगों को जीने के लिए पांच कम से कम बेसिक नेट से हैं हमारे जैसे कि पानी हो गया ऑक्सीजन हो गए फायर हो गए एयर हो गए फेल हो गए तो इन सभी चीज का समावेश अभी मार्च पर उत्तर नहीं है हां ना जाने कुछ पिक्चर रिलीज किया और अभी हमारे मंगलयान रही है ठीक है वहां वाटर कुछ हैं और कुछ पॉसिबिलिटी है लेकिन किसी भी सबूत नहीं है और जहां तक यह बात है कि क्या पृथ्वी खत्म होने वाला है हमारा यह तो नहीं खत्म नहीं होगा क्योंकि नेचर का एक सिंपल फार्मूला है कि नहीं सर बैलेंस तो यह है बैलेंस इसका मतलब है कि पृथ्वी खत्म हो गया बहुत ज्यादा जिस निकले दो पल के सभी कर लेते हैं तो नया सुनामी आ जाता है क्योंकि बहुत ज्यादा इसलिए आता है क्योंकि ग्लोबल वार्मिंग बढ़ रहा है यह तो उसमें में नहीं था जो बैलेंस करता है खुद को इसमें हम लोगों का काफी नुकसान भी होता है वह हो सकता है लेकिन पृथ्वी खत्म नहीं होगा और मंगल पर अभी जिंदगी इतना आसान भी नहीं होगा बहुत वक्त लगेगा और आगे देखना हो गया क्या क्योंकि जीने के लिए जो आराम है जो बेसिक लेट है वहां मंगल पर अभी उतना हॉस्पिटल नहीं है

is baat ki abhi puri tarah se nahi kaha ja sakta hai ki bharat ne mangal par insaan jeet sakta hai ya nahi haan ji sakta hai aana tha nahi kuch massage to jaise wahan pani paya gaya hai aur kuch aise machhliyon se jo prithvi par insaan ko zaroorat hota hai lekin just jeena aur wahan prithvi jaisa normal jeevan jeena bus fark hai abhi utana aasan nahi hai aur abhi bahut waqt lagega kyonki hum logon ko jeene ke liye paanch kum se kum basic net se hain hamare jaise ki pani ho gaya oxygen ho gaye fire ho gaye air ho gaye fail ho gaye to in sabhi cheez ka samavesh abhi march par uttar nahi hai haan na jaane kuch picture release kiya aur abhi hamare mangalyaan rahi hai theek hai wahan water kuch hain aur kuch pasibiliti hai lekin kisi bhi sabut nahi hai aur jahan tak yeh baat hai ki kya prithvi khatam hone wala hai hamara yeh to nahi khatam nahi hoga kyonki nature ka ek simple formula hai ki nahi sar balance to yeh hai balance iska matlab hai ki prithvi khatam ho gaya bahut jyada jis nikale do pal ke sabhi kar lete hain to naya tsunami aa jata hai kyonki bahut jyada isliye aata hai kyonki global warming badh raha hai yeh to usamen mein nahi tha jo balance karta hai khud ko isme hum logon ka kafi nuksan bhi hota hai wah ho sakta hai lekin prithvi khatam nahi hoga aur mangal par abhi zindagi itna aasan bhi nahi hoga bahut waqt lagega aur aage dekhna ho gaya kya kyonki jeene ke liye jo aaram hai jo basic let hai wahan mangal par abhi utana hospital nahi hai

इस बात की अभी पूरी तरह से नहीं कहा जा सकता है कि भारत ने मंगल पर इंसान जीत सकता है या नहीं

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  161
WhatsApp_icon
user

nickysarvaiya

#brave_heart #confidence

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां यह सच है कि मंगलमय इंसान जी सकता है पर इसका मतलब यह नहीं कि दुनिया का अंत होने वाला है यार यह तो एक ऑप्शन भी हो सकता है अपनी टेक्नोलॉजी कहां कहां तक पहुंची है तो उसका मेन रीजन यही है आज अपने टेक्नोलॉजी यहां और उसके बाद मंगल तक पहुंच चुकी है तो वहां पर एक्सपेरिमेंट होगा वहां भी कुछ ना कुछ हम बनाएंगे हो सकता है अगर वह सब पॉसिबल हुआ तो यहां जैसी दुनिया है शिवम वह दुनिया बना पाएंगे तो वह तो एक बहुत बड़ी अच्छी बात हो गई ना उसका मतलब यह तो नहीं सोच सकते कि दुनिया का अंत होगा मंगल पर जीवन पॉसिबल है और उसका दुनिया के अंत से कोई लेना देना नहीं है

haan yeh sach hai ki mangalmay insaan ji sakta hai par iska matlab yeh nahi ki duniya ka ant hone wala hai yaar yeh to ek option bhi ho sakta hai apni technology Kahan Kahan tak pahunchi hai to uska main reason yahi hai aaj apne technology yahan aur uske baad mangal tak pahunch chuki hai to wahan par experiment hoga wahan bhi kuch na kuch hum banayenge ho sakta hai agar wah sab possible hua to yahan jaisi duniya hai shivam wah duniya bana paenge to wah to ek bahut badi acchi baat ho gayi na uska matlab yeh to nahi soch sakte ki duniya ka ant hoga mangal par jeevan possible hai aur uska duniya ke ant se koi lena dena nahi hai

हां यह सच है कि मंगलमय इंसान जी सकता है पर इसका मतलब यह नहीं कि दुनिया का अंत होने वाला है

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  77
WhatsApp_icon
play
user

Garvita

Influencer

1:60

Likes    Dislikes    views  48
WhatsApp_icon
user

Rajsi

Sports Commentator & Reporter

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिस चीज की शुरुआत हुई है उसका अंत तो होगा ही हर एक चीज है अनंत है नहीं भगवान की तरह तो बिल्कुल सही कहा अगर व्यक्ति की शुरुआत हुई है तो उसका अंत भी होगा लेकिन अभी हो गया बहुत सालों बाद होगा यह कोई नहीं कह सकता और रही बात पर मंगल पर इंसान जी सकता है कि नहीं इस सवाल की तो मंगल पर प्रयोग जारी है और जिस तरह से पानी की खोज हुई है और पानी से हमें पता है हमारी तो जिंदगी है इसका सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा पानी उसके पांच तत्व मिलते हैं जिनसे इंसान जिससे इंसान की जिंदगी के लिए बहुत इंपॉर्टेंट है पानी ऑक्सीजन आग और मिट्टी तो हवा तो बहुत कुछ संकेत मंगल से हमें मिले तो उम्मीद तो पूरी है कि वहां पर इंसानी जीवन पूरी तरह से व्यतीत हो सिक्योरिटी नहीं है कि आप कंप्लीटली अभी साइंटिस्ट के अचूक अप्रूवल आया नहीं है तो लेकिन हां यह क्या अनुमान है कि वही पर हूं अभी टेंपरेचर vice बीमार है वह अवधी करेक्ट पाया जा रहा है हिंदू लाइफ के लिए तो अगर ऐसा कुछ होता है तो जब आपको जीवन तो वही मिलेगा इंसानों को लेकिन वहां पर कब मिलेगा और है कि नहीं है इसकी शादी अभी तक नहीं

jis cheez ki shuruvat hui hai uska ant to hoga hi har ek cheez hai anant hai nahi bhagwan ki tarah to bilkul sahi kaha agar vyakti ki shuruvat hui hai to uska ant bhi hoga lekin abhi ho gaya bahut salon baad hoga yeh koi nahi keh sakta aur rahi baat par mangal par insaan ji sakta hai ki nahi is sawal ki to mangal par prayog jaari hai aur jis tarah se pani ki khoj hui hai aur pani se hume pata hai hamari to zindagi hai iska sabse mahatvapurna hissa pani uske paanch tatva milte hain jinse insaan jisse insaan ki zindagi ke liye bahut important hai pani oxygen aag aur mitti to hawa to bahut kuch sanket mangal se hume mile to ummid to puri hai ki wahan par insani jeevan puri tarah se vyatit ho Security nahi hai ki aap completely abhi scientist ke achuk approval aaya nahi hai to lekin haan yeh kya anumaan hai ki wahi par hoon abhi temperature vice bimar hai wah awadhi correct paya ja raha hai hindu life ke liye to agar aisa kuch hota hai to jab aapko jeevan to wahi milega insanon ko lekin wahan par kab milega aur hai ki nahi hai iski shadi abhi tak nahi

जिस चीज की शुरुआत हुई है उसका अंत तो होगा ही हर एक चीज है अनंत है नहीं भगवान की तरह तो बिल

Romanized Version
Likes  44  Dislikes    views  637
WhatsApp_icon
user

Ishita Seth

Obstinate Programmer

1:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अगर हमें अपना कहीं पर भी लाइफ जो है उसके ऊपर लाइफ को पॉसिबल करना है और हमें अपना जीवन है वह किसी भी स्थान पर बनाना है तो उसके लिए तो 5 एलिमेंट है जो पांच तत्व है वह है पानी हवा आग मिट्टी और सोना तुझे देखे जहां पर कोई भी ऐसी जगह जब कोई पैसा प्लानेट हां पर मेरे पास पैसे मिल जाएंगे वहां पर लाइफ ऐसे भी हो जाएगी तो यही जांच पड़ताल चल रही है मंगल पर कि यह सारी चीजें हैं जो इस एलिमेंट है लाइफ के यह सारी चीजें जो मांगते हैं वह भी पॉसिबल है या नहीं और तुम हमें पानी और हवा जैसे काफी चीजें मिल गई है पर वहां पर लाइट की पॉसिबिलिटी है या नहीं इतना समय ज्यादा रिसर्च कर रही है और देखिए अगर हम इस बात की बात करेगी दुनिया का अंत होने वाला है या नहीं तो दिखे तू चीज बड़ी है तू चीज पैदा हुई है या जो चीज आई है जहां में अरे निश्चय होगा ही होगा कोई भी चीज भगवान के जैसा आनंद नहीं होती हर एक इसका अर्थ आता है तो बस देखना यह है कि यह अंत इतनी जल्दी आएगा अभी आज बहुत ज्यादा पास है अब दुनिया का अंत या अभी बहुत दूर है एनी हाउ आर हर चीज का आएगा और दुनिया काफी

dekhie agar hume apna kahin par bhi life jo hai uske upar life ko possible karna hai aur hume apna jeevan hai wah kisi bhi sthan par banana hai to uske liye to 5 element hai jo paanch tatva hai wah hai pani hawa aag mitti aur sona tujhe dekhe jahan par koi bhi aisi jagah jab koi paisa planet haan par mere paas paise mil jaenge wahan par life aise bhi ho jayegi to yahi janch padatal chal rahi hai mangal par ki yeh saree cheezen hain jo is element hai life ke yeh saree cheezen jo mangate hain wah bhi possible hai ya nahi aur tum hume pani aur hawa jaise kafi cheezen mil gayi hai par wahan par light ki pasibiliti hai ya nahi itna samay jyada research kar rahi hai aur dekhie agar hum is baat ki baat karegi duniya ka ant hone wala hai ya nahi to dikhe tu cheez badi hai tu cheez paida hui hai ya jo cheez eye hai jahan mein arre nishchay hoga hi hoga koi bhi cheez bhagwan ke jaisa anand nahi hoti har ek iska arth aata hai to bus dekhna yeh hai ki yeh ant itni jaldi aayega abhi aaj bahut jyada paas hai ab duniya ka ant ya abhi bahut dur hai any how r har cheez ka aayega aur duniya kafi

देखिए अगर हमें अपना कहीं पर भी लाइफ जो है उसके ऊपर लाइफ को पॉसिबल करना है और हमें अपना जीव

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  167
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!