सब रिश्तो को परख लिया बस नतीजा एक ही निकला कि ज़रूरत ही सब कुछ है, रिश्ते तो कुछ भी नहीं हैं, क्या यह बात सही है?...


user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सब रिश्तो को परख लिया बस नतीजा एक ही निकला की जरूरत ही सब कुछ है रिश्ते तो खुशी नहीं क्या यह बात सही बिल्कुल सही आप जो कहना चाहते हैं बिल्कुल है आप किसी की तरफ से ही रख कर देख लीजिए लेकिन मैं जहां जहां पर होती है वहीं रिश्ते बनते हैं लेकिन कुछ होता कि आप सही मानकर चलता हूं और इसके लिए

sab rishto ko parakh liya bus natija ek hi nikala ki zarurat hi sab kuch hai rishte toh khushi nahi kya yah baat sahi bilkul sahi aap jo kehna chahte hain bilkul hai aap kisi ki taraf se hi rakh kar dekh lijiye lekin main jaha jaha par hoti hai wahi rishte bante hain lekin kuch hota ki aap sahi maankar chalta hoon aur iske liye

सब रिश्तो को परख लिया बस नतीजा एक ही निकला की जरूरत ही सब कुछ है रिश्ते तो खुशी नहीं क्या

Romanized Version
Likes  330  Dislikes    views  3779
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

1:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है सब रिश्ते को परख लिया बस नतीजा एक ही निकला की जरूरत ही सब कुछ है रिश्ते तो कुछ भी नहीं है क्या यह बात सही है देखिए बात छुट्टी लोगों 15 लोगों के लिए लागू पड़ती और 15 लोगों के लिए लागू नहीं पड़ती है यह सच है यह सच नहीं है ठीक है कुछ आपको यह अनुभव हुआ है इसलिए जो अनुभव नहीं हुआ है तो वह आगे बढ़ता ही जा रहा है और अपनी पुलिस पूरी लाइफ निकाल देता है फिर भी वह उसे सबसे हीरा है ठीक है तो हर हर रिश्ता जो होता है वह जरूरत नहीं बनाता हां कुछ रिश्ते जरूरत से बने होते हैं ठीक है बाकी मां बाप भाई बहन वह सब रिश्ते इतने जरूरत नहीं बनाते गर्लफ्रेंड बॉयफ्रेंड पति पत्नी यह सारे रिश्ते जरूरत ही बना है ठीक है जरूरत पर ही टिके हैं और दूसरे जो रिश्ते है वह भी जरूरत पर ही ठीक है ठीक है किसी जरूरत पैदा होती है किसी की जरूरत कब होती है

aapka prashna hai sab rishte ko parakh liya bus natija ek hi nikala ki zarurat hi sab kuch hai rishte toh kuch bhi nahi hai kya yah baat sahi hai dekhiye baat chhutti logo 15 logo ke liye laagu padti aur 15 logo ke liye laagu nahi padti hai yah sach hai yah sach nahi hai theek hai kuch aapko yah anubhav hua hai isliye jo anubhav nahi hua hai toh vaah aage badhta hi ja raha hai aur apni police puri life nikaal deta hai phir bhi vaah use sabse heera hai theek hai toh har har rishta jo hota hai vaah zarurat nahi banata haan kuch rishte zarurat se bane hote hain theek hai baki maa baap bhai behen vaah sab rishte itne zarurat nahi banate girlfriend boyfriend pati patni yah saare rishte zarurat hi bana hai theek hai zarurat par hi tike hain aur dusre jo rishte hai vaah bhi zarurat par hi theek hai theek hai kisi zarurat paida hoti hai kisi ki zarurat kab hoti hai

आपका प्रश्न है सब रिश्ते को परख लिया बस नतीजा एक ही निकला की जरूरत ही सब कुछ है रिश्ते तो

Romanized Version
Likes  303  Dislikes    views  4372
WhatsApp_icon
user

Mehnaz Amjad

Certified Life Coach

2:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि सब रिश्तो को परख लिया और नतीजा एक ही निकला के जरूरत ही सब कुछ है रिश्ते रिश्ते स्टे तो कुछ भी नहीं है क्या आप क्या यह बात सही है ठीक है ऐसा नहीं है इसे इस तरह की सोच रखना के रिश्ते जरूरत के तहत लोग इस्तेमाल करते हैं और हर कोई यही करता है यह सोच रखना थोड़ा गलत अप्रोच है इसको साईं कॉलेज भी मैं कॉग्निटिविस्ट ऑप्शन कहते हैं मतलब एक एक्सट्रीम तरह की सोच जिसमें आप एक ऐसे नतीजे पर आ गए कि सारी दुनिया को आप एक ही रंग से रंग रहे हैं कि जो भी रिश्ता है जहां भी है टीचर का रिश्ता दोस्तों मां बाप का हो पति पत्नी कहां हो औलाद का हो मतलब हर रिश्ते सिर्फ जरूरत के तहत ऐसा रियल लाइफ में नहीं होता हां ज्यादातर दुनिया में लोग सच्चा रिश्ता सिंसियर कम होता है लेकिन हड़ताल जरूर है तो यह मानना कि पूरी तरह हर रिश्ता सिर्फ जरूरत पर ही टिका हुआ है और और कुछ नहीं है उसमें ऐसा मानना एक तरह की गलत सोच और एक एक्सट्रीम सोच का आज का एग्जांपल एक उदाहरण है तो ऐसा प्रोत सही नहीं है लेकिन बिल्कुल भी ऐसा नहीं होता यह सोचना भी गलत है एक मजदूर ग्राउंड पर आइए रिश्ते अच्छे भी होते हैं बुरे भी होते हैं भूत होते हैं कॉन्प्लेक्स होते हैं कुछ वजू हाथ से जीवन में कुछ परिस्थितियां ऐसी भी आती है जिसमें स्टोर में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं तो उस उतार-चढ़ाव सही है जीवन बनता है आप भी तरह से पूरी तरह बिगड़े हुए रिश्ते नहीं होते इससे एक बीच में एक ग्रे एरिया होता है ना पूरी तरह सफेद ना पूरी तरह आई काला तो इस जो बीच का एरिया है इससे ही रिश्ते चलते हैं निपटे हैं कभी हम किसी को माफ करते हैं कभी खुद माफी मांगते हैं और इसी तरह जीवन चलता और इसी तरह रिश्ते निभाए और चलाए जाते हैं धन्यवाद

aapka sawaal hai ki sab rishto ko parakh liya aur natija ek hi nikala ke zarurat hi sab kuch hai rishte rishte stay toh kuch bhi nahi hai kya aap kya yah baat sahi hai theek hai aisa nahi hai ise is tarah ki soch rakhna ke rishte zarurat ke tahat log istemal karte hain aur har koi yahi karta hai yah soch rakhna thoda galat approach hai isko sai college bhi main kagnitivist option kehte hain matlab ek extreme tarah ki soch jisme aap ek aise natije par aa gaye ki saree duniya ko aap ek hi rang se rang rahe hain ki jo bhi rishta hai jaha bhi hai teacher ka rishta doston maa baap ka ho pati patni kahaan ho aulad ka ho matlab har rishte sirf zarurat ke tahat aisa real life mein nahi hota haan jyadatar duniya mein log saccha rishta sinsiyar kam hota hai lekin hartal zaroor hai toh yah manana ki puri tarah har rishta sirf zarurat par hi tika hua hai aur aur kuch nahi hai usme aisa manana ek tarah ki galat soch aur ek extreme soch ka aaj ka example ek udaharan hai toh aisa prot sahi nahi hai lekin bilkul bhi aisa nahi hota yah sochna bhi galat hai ek majdur ground par aaiye rishte acche bhi hote hain bure bhi hote hain bhoot hote hain kanpleks hote hain kuch vaju hath se jeevan mein kuch paristhiyaann aisi bhi aati hai jisme store mein utar chadhav aate rehte hain toh us utar chadhav sahi hai jeevan baata hai aap bhi tarah se puri tarah bigade hue rishte nahi hote isse ek beech mein ek grey area hota hai na puri tarah safed na puri tarah I kaala toh is jo beech ka area hai isse hi rishte chalte hain nipte hain kabhi hum kisi ko maaf karte hain kabhi khud maafi mangate hain aur isi tarah jeevan chalta aur isi tarah rishte nibhaye aur chalaye jaate hain dhanyavad

आपका सवाल है कि सब रिश्तो को परख लिया और नतीजा एक ही निकला के जरूरत ही सब कुछ है रिश्ते र

Romanized Version
Likes  274  Dislikes    views  3441
WhatsApp_icon
user

Dr. Preeti Bhatt Tiwari

Life Coach and Psychologist

2:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सब रिश्तो को परख लिया बस नतीजा एक ही निकला कुछ जॉब वर्क इन सब कुछ रिश्ते तो कुछ भी नहीं है यह बात सही है यह बात तो हंड्रेड परसेंट सही नहीं डिपेंड करता क्या आपके रिलेशन इस तरह के हैं और सामने वाला व्यक्ति उस सलूशन को किस तरह से ले रहा है पता नहीं तुम आकर ऐसा है जो निस्वार्थ होता है जो मैं अपने अनुभवों से भी कह सकते कि बाकी सारे रिश्तो में कहीं ना कहीं कुछ ना कुछ एक दूसरे से होती है और उन्हें समझना पड़ेगा कि हमारा रिश्ता किस तरह का है एक फ्रेंड का है एक प्यार करता है कि सामने भाई बहन का रिश्ता है कि सामने कोई भी रिश्ता है रिश्ता कितना मजबूत है कितना ईमानदार है इतनी वफादारी के साथ आप निभा रहे हैं यह देखना पड़ेगी और फिर निकल गया आगे बढ़ गए फिर आपको पहचानते भी नहीं है तो आप ऑप्शन करके उसके बाद अपने रिश्ते को आगे बढ़ाइए यह मैं अपने यह रिश्ता ही अच्छा है और अगर आपको बहुत मतलबी रिश्ते तो आप एक बात और आप उस बात को सोच सोच कर परेशान हूं कि मैं सामने वाले व्यक्ति और इसने मतलब अपना निकाल के निकल गया तो मैं तो कहता हूं कि अपने मन को शांत करने के लिए एक बार उससे बात करेगी क्यों ऐसा किया तुम मैं तो अपनी दोस्ती या जो भी रिश्ता मत रखना रखना और खुश रखे

sab rishto ko parakh liya bus natija ek hi nikala kuch job work in sab kuch rishte toh kuch bhi nahi hai yah baat sahi hai yah baat toh hundred percent sahi nahi depend karta kya aapke relation is tarah ke hain aur saamne vala vyakti us salution ko kis tarah se le raha hai pata nahi tum aakar aisa hai jo niswarth hota hai jo main apne anubhavon se bhi keh sakte ki baki saare rishto mein kahin na kahin kuch na kuch ek dusre se hoti hai aur unhe samajhna padega ki hamara rishta kis tarah ka hai ek friend ka hai ek pyar karta hai ki saamne bhai behen ka rishta hai ki saamne koi bhi rishta hai rishta kitna majboot hai kitna imaandaar hai itni wafadaaree ke saath aap nibha rahe hain yah dekhna padegi aur phir nikal gaya aage badh gaye phir aapko pehchante bhi nahi hai toh aap option karke uske baad apne rishte ko aage badhaiye yah main apne yah rishta hi accha hai aur agar aapko bahut matlabi rishte toh aap ek baat aur aap us baat ko soch soch kar pareshan hoon ki main saamne waale vyakti aur isne matlab apna nikaal ke nikal gaya toh main toh kahata hoon ki apne man ko shaant karne ke liye ek baar usse baat karegi kyon aisa kiya tum main toh apni dosti ya jo bhi rishta mat rakhna rakhna aur khush rakhe

सब रिश्तो को परख लिया बस नतीजा एक ही निकला कुछ जॉब वर्क इन सब कुछ रिश्ते तो कुछ भी नहीं है

Romanized Version
Likes  156  Dislikes    views  2229
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे को खड़ा किया एक नतीजा एक ही निकला की जरूरत ही सब कुछ है ही नहीं हम सच है लेकिन उसमें कह रहा हूं कि जो हमारे जो माता-पिता के रिश्ते होते हुए जरूरत के माता-पिता ने पैदा किया संयुक्त परिवार परिवार पिक्चर इसलिए अपने परिवार को से अलग रखें माता-पिता भाई-बहन के रिश्ते को महत्तम इंसान की जरूरत है और किस तरह की कमाई के कारण समय किसी के पास कम है सब के पास कमाई कम है महंगाई ज्यादा कमाई के मौके कम है और सब को तेजी से आगे बढ़ना है यह सब की आमदनी सब जरूरत के हिसाब से रिश्ते रखते हैं और लोग स्वार्थी होते जा रहे हैं इसलिए अभी वर्तमान समय से एक इंसान है कि आपको भी और भी फ्रेंड चला है आपका इस्तेमाल कर लिया इसी तरह से हमें आगे बढ़ना पड़ता है यह समय की मांग है और जहां परिवार की सबकी सोच के साथ कदम मिलाकर चल निकल गई

sabse ko khada kiya ek natija ek hi nikala ki zarurat hi sab kuch hai hi nahi hum sach hai lekin usme keh raha hoon ki jo hamare jo mata pita ke rishte hote hue zarurat ke mata pita ne paida kiya sanyukt parivar parivar picture isliye apne parivar ko se alag rakhen mata pita bhai behen ke rishte ko mahattam insaan ki zarurat hai aur kis tarah ki kamai ke karan samay kisi ke paas kam hai sab ke paas kamai kam hai mahangai zyada kamai ke mauke kam hai aur sab ko teji se aage badhana hai yah sab ki aamdani sab zarurat ke hisab se rishte rakhte hain aur log swaarthi hote ja rahe hain isliye abhi vartaman samay se ek insaan hai ki aapko bhi aur bhi friend chala hai aapka istemal kar liya isi tarah se hamein aage badhana padta hai yah samay ki maang hai aur jaha parivar ki sabki soch ke saath kadam milakar chal nikal gayi

सबसे को खड़ा किया एक नतीजा एक ही निकला की जरूरत ही सब कुछ है ही नहीं हम सच है लेकिन उसमें

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  1126
WhatsApp_icon
user

ANIL SINGH

Business Man | Ex-Teacher

2:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखना तो एक बात बता दूं इस तरह माता-पिता को यह बच्चों का या पति पत्नी का किसी प्रकार का कोई सकता है लेकिन के जीवन को ज्ञापन करना पढ़ाई दुर्गा सकते उसकी दुर्दशा हो जाती है दुर्गति हो जाती है इसके माता-पिता जो भी फोटो है क्या प्लानिंग है चेक करना पड़ता शेयर करें क्या होता है कि रिश्ते की बात नहीं है क्या कि हर व्यक्ति को आप की ज्योत में सोती क्यों क्या आपकी शादी हो गई और आपसे भी काम धाम नहीं करेगा खेमा देता कोई दो कार्य करते हैं खुद को इतना सक्षम बना ले के लोग को आप तक पहुंचने का प्रयास करें खुद को आप दूसरे को किस कैसे फिट करते हैं विद्यार्थियों को ज्यादा मौसम परेशानी

dekhna toh ek baat bata doon is tarah mata pita ko yah baccho ka ya pati patni ka kisi prakar ka koi sakta hai lekin ke jeevan ko gyapan karna padhai durga sakte uski durdasha ho jaati hai durgati ho jaati hai iske mata pita jo bhi photo hai kya planning hai check karna padta share kare kya hota hai ki rishte ki baat nahi hai kya ki har vyakti ko aap ki jyot mein soti kyon kya aapki shadi ho gayi aur aapse bhi kaam dhaam nahi karega khema deta koi do karya karte hain khud ko itna saksham bana le ke log ko aap tak pahuchne ka prayas kare khud ko aap dusre ko kis kaise fit karte hain vidyarthiyon ko zyada mausam pareshani

देखना तो एक बात बता दूं इस तरह माता-पिता को यह बच्चों का या पति पत्नी का किसी प्रकार का को

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  491
WhatsApp_icon
play
user

Kesharram

Teacher

1:06

Likes  17  Dislikes    views  348
WhatsApp_icon
user

Rihan Shah

I want to become An IAS Officer (Love Realationship Full Experience)

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मेरा मानना है कि आपके पास अगर आपकी जरूरत है तो आगरा की पूरी कर रहे हैं अपनी जरूरत के साथ शादी तो क्या आपके पास अभी नहीं तो काम नहीं करना चाहिए आप अपने काम निकालने का नहीं बात सुनी जा नहीं तो अगर उनका काम नहीं निकल रहे थे कि वह आपको पूछेंगे नहीं पूरी दुनिया मेरा यह मानना है या दुनिया का यह मानना है कि अगर मैं अपना काम निकालता हूं आप अपना काम निकालता लेकिन हां आप उनकी नजर में अच्छे हो जाओ

lekin mera manana hai ki aapke paas agar aapki zarurat hai toh agra ki puri kar rahe hain apni zarurat ke saath shadi toh kya aapke paas abhi nahi toh kaam nahi karna chahiye aap apne kaam nikalne ka nahi baat suni ja nahi toh agar unka kaam nahi nikal rahe the ki vaah aapko puchenge nahi puri duniya mera yah manana hai ya duniya ka yah manana hai ki agar main apna kaam nikalata hoon aap apna kaam nikalata lekin haan aap unki nazar mein acche ho jao

लेकिन मेरा मानना है कि आपके पास अगर आपकी जरूरत है तो आगरा की पूरी कर रहे हैं अपनी जरूरत के

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  584
WhatsApp_icon
user

munmun

Volunteer

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बात जो है बिल्कुल सही है क्योंकि रिश्ते जो है सिर्फ आजकल जहन्नाम के रह गए और रिश्ते तभी निभाए जाते हैं जब जरूरत होती है और जरूरत के बेस पर ही गया है आजकल जो रिश्ते जो है उस पर लोग जो है अपने रिश्ते चला रहे हैं और जब बात करते हैं और वह कभी भी जो मुसीबत में साथ नहीं देता

yah baat jo hai bilkul sahi hai kyonki rishte jo hai sirf aajkal jahannam ke reh gaye aur rishte tabhi nibhaye jaate hain jab zarurat hoti hai aur zarurat ke base par hi gaya hai aajkal jo rishte jo hai us par log jo hai apne rishte chala rahe hain aur jab baat karte hain aur vaah kabhi bhi jo musibat mein saath nahi deta

यह बात जो है बिल्कुल सही है क्योंकि रिश्ते जो है सिर्फ आजकल जहन्नाम के रह गए और रिश्ते तभी

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुछ रिश्ते ऐसे होते हैं बहुत अच्छे होते हैं खुश रिश्ता बहुत गलत होता है तो मुझे लगता है यह डिपेंड होता है फैमिली के ऊपर तो इसमें कोई बड़ी बात नहीं है कि रिश्ता कुछ नहीं है रिश्ता बहुत अच्छा है खूबसूरत है यह आपके ऊपर डिपेंड करता है आप फैमिली मेंबर्स के ऊपर डिपेंड होता है थैंक यू

kuch rishte aise hote hain bahut acche hote hain khush rishta bahut galat hota hai toh mujhe lagta hai yah depend hota hai family ke upar toh isme koi badi baat nahi hai ki rishta kuch nahi hai rishta bahut accha hai khoobsurat hai yah aapke upar depend karta hai aap family members ke upar depend hota hai thank you

कुछ रिश्ते ऐसे होते हैं बहुत अच्छे होते हैं खुश रिश्ता बहुत गलत होता है तो मुझे लगता है यह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
kuch nahi nikala ; rishte ki zaroorat hai ; zaroorat rishte ; एक ही रिश्ता ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!