#bangalorerains: क्यूँ आज भी भारत के सबसे बढ़े शहरों में बारिश होने से सब ठप पड़ जाता है?...


user

Dr. Ashwani Kumar Singh

Chairman & Director at VEMS

3:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत के सबसे बड़े शहर में बारिश होने की कब तक हो जाता है छप होने के बहुत सारे कारण 1000 स्क्वायर फीट में अगर 10 आदमी रहने चाहिए और वहां 1000 आदमी रहेंगे ताकि कौन सी व्यवस्था करवाई करें शहरों में एक जनसंख्या का बोल संभालने का परसेंटेज नंबर है उस नंबर पर बात कर जाने के बाद आपका सीवरेज आपका पानी आपका हवा आकाश सारा चीज जो पानी पड़ेगा तो दूसरा जितने भी बड़े जितने भी शहर में अगर आप तो सारे नाल नाल ऊपर या तो जाम करके या उनको डर कर उसके ऊपर बूचड़खाना है लेकर मुर्गी खाना से लेकर अभी जितने भी दुकानें हैं चाय पान बीड़ी दुनिया जहान के पूरे हिंदुस्तान में इस तरह के पानी जाम कर दिया का नाला जाम कर दिया तो आप उसी का समस्या तो आपके सामने आ जाएगा अगर उन्होंने नहीं किया तो इतना पूरा करके डाला कि उसके बाद उसका प्रॉब्लम ना हो जाए तो इस पर जब आप काबू नहीं पाएगा कि ब्रिज के ऊपर उसको अगर कोई हटा तो दूसरे गरीब गुरुजी मारना एक गरीब के चक्कर में पूरे रूम मर जाएंगे कि यह कौन सी 8 तरीके हैं कि उस चीज को करने के लिए और उपाय लेकिन यह उपाय नहीं है जिसके लिए क्या नाम है पढ़कर पार्टियां नाटक की आवादी केवल अपने वोट के लिए अपने अपने राजनीतिक फायदे के लिए अपने को व्यस्तता को व्यवस्था में बदलने के लिए अपने को बचाने के लिए इशारा करते हैं इनके साथ का कार्रवाई होना चाहिए कि जिससे कि अगला कोई आदमी का आदमी के रूप में देश की व्यवस्था संभालने के लिए सचमुच लेवल पर है वहां से किराया सुल्तानपुर सुल्तानपुर सी जगह अपने खुद आता है उसके 10 बच्चे हैं तो उनको उनको वहां पर काबिज करा देते शारीरिक से आप को बदलना है करना है तो आप इस चीज पर जब फोकस करेगा तभी शहरों का नगरों का अच्छा व्यवस्था हो सकेगा और पानी यह बरसात के एग्जाम में कम से कम डिस्टर्ब लिए परेशान होगा शुक्रिया

bharat ke sabse bade shehar mein barish hone ki kab tak ho jata hai chhap hone ke bahut saare karan 1000 square feet mein agar 10 aadmi rehne chahiye aur wahan 1000 aadmi rahenge taki kaun si vyavastha karwai kare shaharon mein ek jansankhya ka bol sambhalne ka percentage number hai us number par baat kar jaane ke baad aapka sewerage aapka paani aapka hawa akash saara cheez jo paani padega toh doosra jitne bhi bade jitne bhi shehar mein agar aap toh saare naal naal upar ya toh jam karke ya unko dar kar uske upar buchadakhana hai lekar murgi khana se lekar abhi jitne bhi dukanein hain chai pan bidi duniya jahaan ke poore Hindustan mein is tarah ke paani jam kar diya ka nala jam kar diya toh aap usi ka samasya toh aapke saamne aa jaega agar unhone nahi kiya toh itna pura karke dala ki uske baad uska problem na ho jaaye toh is par jab aap kabu nahi payega ki bridge ke upar usko agar koi hata toh dusre garib guruji marna ek garib ke chakkar mein poore room mar jaenge ki yah kaun si 8 tarike hain ki us cheez ko karne ke liye aur upay lekin yah upay nahi hai jiske liye kya naam hai padhakar partyian natak ki aavadi keval apne vote ke liye apne apne raajnitik fayde ke liye apne ko vyastata ko vyavastha mein badalne ke liye apne ko bachane ke liye ishara karte hain inke saath ka karyawahi hona chahiye ki jisse ki agla koi aadmi ka aadmi ke roop mein desh ki vyavastha sambhalne ke liye sachmuch level par hai wahan se kiraaya sultanpur sultanpur si jagah apne khud aata hai uske 10 bacche hain toh unko unko wahan par kabij kara dete sharirik se aap ko badalna hai karna hai toh aap is cheez par jab focus karega tabhi shaharon ka nagaron ka accha vyavastha ho sakega aur paani yah barsat ke exam mein kam se kam disturb liye pareshan hoga shukriya

भारत के सबसे बड़े शहर में बारिश होने की कब तक हो जाता है छप होने के बहुत सारे कारण 1000 स्

Romanized Version
Likes  231  Dislikes    views  2923
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

3:24

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेंगलुरु व्हेन यू आर टी भारत के सबसे बड़े शहरों में बारिश होने से थप्पड़ जाता है भारत में जितने बड़े उसमें एनफोर्समेंट के ज्यादा बढ़ गए हैं कि उसके ऊपर लोकल बॉडीज का जो कमांड बहुत कम बिना अनुमति के बिल्डिंग की बिल्डिंग खड़ी हो जाती जब बिल्डिंग बन बनती है तब आंख मूंद कर बैठे रहते हैं और करप्शन भी बहुत बड़ा है लाडो लगा करता है और जो पानी जाने की जगह है वह ब्लॉक कर दी जाती है कोई भी अर्बन सिटी जो होते हैं हमारे उसमें प्रावधान होता है कि कहां पर किस तरह कितने क्षेत्रफल में बिल्डिंग ताकि पानी जाने का बैनर सिस्टम पूरी तरह कार्य कर सकते हैं उसी तरह अग्निशमन का भी इसी तरह o2movie आकर जाता है उसके चरण होते हैं लेकिन इन सब बातों को दरकिनार कर लो कल बस अपना ढोल चित्र वेकेशन निभा नहीं रही और इसके अलावा तो हमारे जितने बड़े शहर है इसमें ड्रेनेज सिस्टम उपकरणों में तो इतना पुराना हो चुका है कि उसको आधुनिकीकरण करने की जरूरत है लेकिन वह अपने बजट के हिसाब से या उनकी सोच के कारण देना सबको बोलो लेटेस्ट बनाने से बच्चे रहते हैं इसकी वजह से जो बड़े शहरों में बारिश होने से सब छत पर जाता है और एकदम निस्सहाय अवस्था में हेल्पलेस कंडीशन में वह स्कूल जाता है हां इसमें प्रत्येक की भी अपना रोल जरूर करती है जैसे कि मुंबई में टीचर हाई टाइड का समय होता है तो पानी एक्सेप्ट नहीं करता है सब और सिस्टम ठप पड़ी हुई है वह मानवीय और समुद्र पानी छत नहीं करता है वह प्राकृतिक कारण को गिना जा सकता है लेकिन हम जो कर सकते हैं मानवी बोल दो हम को सुधारने की जरूरत है वह जो हमारे कंट्रोल में है उसे जरूर सुधारना चाहिए ताकि आम जनता जैसी मुसीबतों से बच पाए धन्यवाद

bengaluru when you R T bharat ke sabse bade shaharon mein barish hone se thappad jata hai bharat mein jitne bade usme enaforsament ke zyada badh gaye hain ki uske upar local bodies ka jo command bahut kam bina anumati ke building ki building khadi ho jaati jab building ban banti hai tab aankh mund kar baithe rehte hain aur corruption bhi bahut bada hai lado laga karta hai aur jo paani jaane ki jagah hai vaah block kar di jaati hai koi bhi urban city jo hote hain hamare usme pravadhan hota hai ki kahaan par kis tarah kitne kshetrafal mein building taki paani jaane ka banner system puri tarah karya kar sakte hain usi tarah agnishaman ka bhi isi tarah o2movie aakar jata hai uske charan hote hain lekin in sab baaton ko darakinar kar lo kal bus apna dhol chitra vacation nibha nahi rahi aur iske alava toh hamare jitne bade shehar hai isme drainage system upkarnon mein toh itna purana ho chuka hai ki usko adhunikikaran karne ki zarurat hai lekin vaah apne budget ke hisab se ya unki soch ke karan dena sabko bolo latest banane se bacche rehte hain iski wajah se jo bade shaharon mein barish hone se sab chhat par jata hai aur ekdam nissahaye avastha mein helpless condition mein vaah school jata hai haan isme pratyek ki bhi apna roll zaroor karti hai jaise ki mumbai mein teacher high tide ka samay hota hai toh paani except nahi karta hai sab aur system thap padi hui hai vaah manviya aur samudra paani chhat nahi karta hai vaah prakirtik karan ko gina ja sakta hai lekin hum jo kar sakte hain manvi bol do hum ko sudhaarne ki zarurat hai vaah jo hamare control mein hai use zaroor sudharna chahiye taki aam janta jaisi musibaton se bach paye dhanyavad

बेंगलुरु व्हेन यू आर टी भारत के सबसे बड़े शहरों में बारिश होने से थप्पड़ जाता है भारत में

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1409
WhatsApp_icon
user

Raghuveer Singh

👤Teacher & Advisor🙏

1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्यों आज भी भारत के सबसे बड़े शहरों में बारिश होने से सब थप्पड़ जाता है तो इसका मूल बेसिक कारण यह है कि जो ड्रम ड्रेनेज व्यवस्था है जो पानी को बाहर निकालने की व्यवस्था है वह सही ढंग से ठीक नहीं है प्राचीनकाल से ही इसकी व्यवस्था नहीं की गई अब शहर बड़े हो गए हैं उनकी खुदाई करना काफी महंगा पड़ जाता है रोड़े टूट जाते हैं उनका पुनर्निर्माण करना आओ वाहनों की अधिकता आवाजाही के कारण है ड्रेनेज सिस्टम सही ढंग से नहीं बनाया जा रहा है और इतने भारी मात्रा में पानी को बाहर निकालना भी काफी मुश्किल होता है तो ड्रेनेज व्यवस्था ठीक करनी पड़ेगी जो नालियों की व्यवस्था है जो अकाउंट वोटर को बाहर निकालने की व्यवस्था है उसको और खासतौर से एक नया सिस्टम अपनाया जा रहा है हम अपने घर में ही एक खुदाई करके हैं उस पानी को है यह जमीन के भीतर डांस तेजी से जो जल स्तर है भूजल स्तर यानी जमीन के नीचे का पानी किस तरह बढ़ जाएगा लेने व्यवस्था को भी मेंशन कर सकते हैं इन सब की कमियों की वजह से बड़े सर में बारिश होने पर सब काम ठप हो जाते हैं

kyon aaj bhi bharat ke sabse bade shaharon mein barish hone se sab thappad jata hai toh iska mul basic karan yah hai ki jo drum drainage vyavastha hai jo paani ko bahar nikalne ki vyavastha hai vaah sahi dhang se theek nahi hai prachinkal se hi iski vyavastha nahi ki gayi ab shehar bade ho gaye hain unki khudai karna kaafi mehnga pad jata hai rode toot jaate hain unka punarnirman karna aao vahanon ki adhikata avajahi ke karan hai drainage system sahi dhang se nahi banaya ja raha hai aur itne bhari matra mein paani ko bahar nikalna bhi kaafi mushkil hota hai toh drainage vyavastha theek karni padegi jo naliyon ki vyavastha hai jo account voter ko bahar nikalne ki vyavastha hai usko aur khaasataur se ek naya system apnaya ja raha hai hum apne ghar mein hi ek khudai karke hain us paani ko hai yah jameen ke bheetar dance teji se jo jal sthar hai bhujal sthar yani jameen ke niche ka paani kis tarah badh jaega lene vyavastha ko bhi mention kar sakte hain in sab ki kamiyon ki wajah se bade sir mein barish hone par sab kaam thap ho jaate hain

क्यों आज भी भारत के सबसे बड़े शहरों में बारिश होने से सब थप्पड़ जाता है तो इसका मूल बेसिक

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
o2movies in ; बारिश ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!