कुए को काला क्यों कहा जाता है?...


play
user
1:06

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कौवे का रंग काला क्यों है इसका तो सही तौर पर एक जानकारी नहीं मिलता है लेकिन ऐसा कहा बातों से पता चलता है पौराणिक कथाओं से एक ऋषि ने कौवे को अमृत खोजने भेजा उन्होंने उन्होंने इतना भी दी कि सिर्फ अमृत की जानकारी ही लेना उसे पीना नहीं है 1 वर्ष के परिश्रम के पश्चात सफेद कौवे को अमृत की जानकारी मिली एक और पीने की लालसा कवर को रोक नहीं पाया और वह अमृत पीलिया ऋषि को आकर सरकारी सारी जानकारी दी इस पर इसी ने आवेश में आ गया और शराब दिया कि तूने मेरे वचन को बंद करके आप पवित्र द्वारा पवित्र अमित को भ्रष्ट किया है इस प्राणी मात्र में तो मैं कृष्णा आप अच्छी माना जाएगा और अशोक पक्षी की तरह मानव जाति हमेशा तुम्हारी निंदा करेंगे लेकिन तुमने अमृत पान किया है इसलिए तुम्हारी स्वाभाविक मृत्यु कभी नहीं होगी तो कोई भी हमारी नहीं होगी या एवं वृद्धावस्था भी नहीं आएगी

kauve ka rang kaala kyon hai iska toh sahi taur par ek jaankari nahi milta hai lekin aisa kaha baaton se pata chalta hai pouranik kathao se ek rishi ne kauve ko amrit khojne bheja unhone unhone itna bhi di ki sirf amrit ki jaankari hi lena use peena nahi hai 1 varsh ke parishram ke pashchat safed kauve ko amrit ki jaankari mili ek aur peene ki lalasa cover ko rok nahi paya aur vaah amrit peeliya rishi ko aakar sarkari saree jaankari di is par isi ne aavesh mein aa gaya aur sharab diya ki tune mere vachan ko band karke aap pavitra dwara pavitra amit ko bhrasht kiya hai is prani matra mein toh main krishna aap achi mana jaega aur ashok pakshi ki tarah manav jati hamesha tumhari ninda karenge lekin tumne amrit pan kiya hai isliye tumhari swabhavik mrityu kabhi nahi hogi toh koi bhi hamari nahi hogi ya evam vriddhavastha bhi nahi aaegi

कौवे का रंग काला क्यों है इसका तो सही तौर पर एक जानकारी नहीं मिलता है लेकिन ऐसा कहा बातों

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  12
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!