कमलेश तिवारी की लखनऊ में गला रेतकर हत्या कर दी गई थी, इतने बड़े नेता के लिए कोई सुरक्षा नहीं थी?...


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तों हमारे देश में हमारे देश के लिए हमारे धर्म के लिए चीनी वाला व्यक्ति सुरक्षित नहीं है हमारे देश हमारे धर्म का ठेका लेने वाले व्यवसाई लोग ही सुरक्षित है कमलेश तिवारी जैसे लोग सुरक्षित नहीं है हमारे देश में धर्म की आवाज उठाने वाला सुरक्षित नहीं है वास्तविकता देश के प्रति इसकी आवाज उठाने वाला पास्ता में हमारे देश सुरक्षित नहीं है असतो हमारे देश में आज माफिया वर्क हावी हो गया है हिमाचल वर्क ना किसी की जाती है ना किसी का कर न किसी का बंधु और ना ही यह देश का विशिष्ट अपने व्यवसाय का ऐसा कर रहा है आज से मर जाए जाति धर्म को लेकर ख्याल रखता चलाई जाती है वैमनस्यता फैलाई आती है आज हमारे देश सत्ता के लिए लोग जाति धर्म को गुमराह करते हैं फेसबुक आज समाज में समाज की आवाज को दबा दें एक पाठ कमलेश तिवारी जैसा बड़ा नेता एक पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष एक फर्म का उपासक अपने ही देश अपने ही घर में सुरक्षित नहीं यह विडंबना ही तो है क्यों के हत्यारे पकड़े नहीं आते वास्तविक हत्यारे जो आज खुले और इधर-उधर क्रिमिनल उठाई उन पर आरोप साबित कि देश की जनता को गुमराह करती है जनता को जवाब देकर के यही हो रहा है मेरिट लिस्ट नहीं हमारे देश में शिक्षा है शिक्षा स्वास्थ्य और ना ही रोजगार और है तो इन पर काबिज हमारा नेता उसका परिवार उसका रिश्तेदार एक आवेश है परिवारवाद चल रहा च

doston hamare desh me hamare desh ke liye hamare dharm ke liye chini vala vyakti surakshit nahi hai hamare desh hamare dharm ka theka lene waale vyavasai log hi surakshit hai kamlesh tiwari jaise log surakshit nahi hai hamare desh me dharm ki awaaz uthane vala surakshit nahi hai vastavikta desh ke prati iski awaaz uthane vala pasta me hamare desh surakshit nahi hai asto hamare desh me aaj mafia work haavi ho gaya hai himachal work na kisi ki jaati hai na kisi ka kar na kisi ka bandhu aur na hi yah desh ka vishisht apne vyavasaya ka aisa kar raha hai aaj se mar jaaye jati dharm ko lekar khayal rakhta chalai jaati hai vaimanasyata failai aati hai aaj hamare desh satta ke liye log jati dharm ko gumrah karte hain facebook aaj samaj me samaj ki awaaz ko daba de ek path kamlesh tiwari jaisa bada neta ek party ka rashtriya adhyaksh ek firm ka upasak apne hi desh apne hi ghar me surakshit nahi yah widambana hi toh hai kyon ke hatyare pakde nahi aate vastavik hatyare jo aaj khule aur idhar udhar criminal uthayi un par aarop saabit ki desh ki janta ko gumrah karti hai janta ko jawab dekar ke yahi ho raha hai merit list nahi hamare desh me shiksha hai shiksha swasthya aur na hi rojgar aur hai toh in par kabij hamara neta uska parivar uska rishtedar ek aavesh hai parivaarvaad chal raha ch

दोस्तों हमारे देश में हमारे देश के लिए हमारे धर्म के लिए चीनी वाला व्यक्ति सुरक्षित नहीं

Romanized Version
Likes  54  Dislikes    views  950
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Vedachary Pathak Singrauli

सनातन सुरक्षा परिषद् संस्थापक

2:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हर दोस्त नमस्कार दे क्या आपने पूछा है कमलेश तिवारी की लखनऊ में गला रेत कर हत्या कर दी गई थी इतने बड़े नेता के लिए कोई सुरक्षा नहीं थी देखिए यह दुखद घटना है और हिंदुस्तान में जिस प्रकार से आए दिन हिंदूवादी संगठनों के नेताओं का का हत्या चार्जेस भी प्रकार से हो रही है या दुखद है दूसरी बात आप इसे कहीं ना कहीं पर आयोजित घटना भी कह सकते हैं और यह सत्तासीन दलों यहां पार्टियों या संगठनों के द्वारा दूसरी चीज अखिलेश सरकार में 17 सुरक्षा गार्ड मुहैया कराए गए थे लेकिन बीजेपी सरकार में 4 और कुछ दिन पहले 4 में से सिर्फ एक ही सुरक्षा गार्ड ने दिया गया था जिस व्यक्ति को जो सनातन और हिंदुत्व का प्रचारक था 17 कार्ड जहां पर दिए गए थे से घटाकर चार करना फिर 4:00 से 1:00 करना और वह भी तो रिटायर्ड इंसान था जो सुरक्षा गार्ड था जो होमगार्ड डंडे लेकर चलते हैं तो डंडा धारी उनको अच्छा कार्य कराया गया था तो ऐसा लगता है कहीं ना कहीं क्योंकि उनकी एक चुनावी पार्टी भी थी हिंदू रक्षक हिंदू सेना पार्टी ऐसा पोस्ट करके था तो कहीं ना कहीं सत्ताधारी पार्टियों को भी अभियां पर नाम देना थोड़ा सा अच्छा नहीं लग रहा है कहीं ना कहीं डर था और कहीं ना कहीं चर्चा उनकी माता का तो सीधा आरोप है कि यह बीजेपी की सरकार और खासतौर पर योगी जी स्वयं उनसे चढ़ते थे आखिर कारण क्या रहा कि आपने इस इतने बड़े लीडर का सुरक्षा गार्ड पहले बड़ी तादाद में दिया गया था और फिर से अपने घटा दिया और आने वाले समय में चुनाव भी सारे नजदीक है तू ही कहीं ना कहीं से यह प्रायोजित है यह जिस तरह से पुलवामा का हमला हुआ था टेक हुआ था उसे प्रकाश जी अभी प्रायोजित घटना थी धन्यवाद

har dost namaskar de kya aapne poocha hai kamlesh tiwari ki lucknow mein gala ret kar hatya kar di gayi thi itne bade neta ke liye koi suraksha nahi thi dekhiye yah dukhad ghatna hai aur Hindustan mein jis prakar se aaye din hinduvaadi sangathano ke netaon ka ka hatya Charges bhi prakar se ho rahi hai ya dukhad hai dusri baat aap ise kahin na kahin par ayojit ghatna bhi keh sakte hai aur yah sattasin dalon yahan partiyon ya sangathano ke dwara dusri cheez akhilesh sarkar mein 17 suraksha guard muhaiya karae gaye the lekin bjp sarkar mein 4 aur kuch din pehle 4 mein se sirf ek hi suraksha guard ne diya gaya tha jis vyakti ko jo sanatan aur hindutv ka prachar tha 17 card jaha par diye gaye the se ghatakar char karna phir 4 00 se 1 00 karna aur vaah bhi toh retired insaan tha jo suraksha guard tha jo homeguard dande lekar chalte hai toh danda dhari unko accha karya karaya gaya tha toh aisa lagta hai kahin na kahin kyonki unki ek chunavi party bhi thi hindu rakshak hindu sena party aisa post karke tha toh kahin na kahin sattadhari partiyon ko bhi abhiyan par naam dena thoda sa accha nahi lag raha hai kahin na kahin dar tha aur kahin na kahin charcha unki mata ka toh seedha aarop hai ki yah bjp ki sarkar aur khaasataur par yogi ji swayam unse chadhte the aakhir karan kya raha ki aapne is itne bade leader ka suraksha guard pehle baadi tadad mein diya gaya tha aur phir se apne ghata diya aur aane waale samay mein chunav bhi saare nazdeek hai tu hi kahin na kahin se yah prayojeet hai yah jis tarah se pulwama ka hamla hua tha take hua tha use prakash ji abhi prayojeet ghatna thi dhanyavad

हर दोस्त नमस्कार दे क्या आपने पूछा है कमलेश तिवारी की लखनऊ में गला रेत कर हत्या कर दी गई थ

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  617
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कमलेश तिवारी की लखनऊ में गला रेत कर हत्या कर दी गई थी इतने बड़े नेता के लिए कोई सुरक्षा नहीं थी कमलेश तिवारी की लखनऊ में जो गला रेत कर भेजो अखिलेश यादव की सरकार की उस समय उनके सुरक्षाकर्मी से करीबन उनकी संख्या 17 थी और जब योगी आदित्यनाथ जी चीफ मिनिस्टर बनने के बाद उन्होंने संख्या घटाकर बहुत कम कर दी थी यहां तक कि सिर्फ एक या दो से चार सेल चिकित्सा कर्मियों के पास अजीब था और वह भी काफी व्यस्त हो इसलिए कहा जाता है कि अपने प्यार की पिक्चर भी मिलीभगत और जानी सोची समझी कि यह हत्या राजनीतिक हत्या से कहा जाएगा कि पुलिस प्रशासन इतना कमजोर हो कृष्णा पंडित नहीं हो सकता कहीं न कहीं उनका भी इसमें अहम रोल है क्योंकि इस तरह से स्टेटमेंट टीवी पर आ रही है और उनकी माताजी कमलेश तिवारी की और उनकी पत्नी जी जिस तरह का स्टेटमेंट दे रही है वह जिस तरफ से अक्षर हो रहा है जो खुद एक मित्र के ऊपर भी हो रहा है और पुलिस प्रशासन के ऊपर भेज रहा है इसलिए बहुत ही गंभीर बात है और ऐसा हमारे देश में होता है यह जानकर हमें बहुत दुख होता हम चाहते हैं इस तरह से किसी को भी किसी धर्म विशेष के बारे में बोलने का कोई भी धार्मिक आस्था को फिर से ऐसी कोई विधि विधान नहीं करना चाहिए और इस तरह की हत्या करना को बिल्कुल गलत है और कोई उम्मीद नहीं है और इसकी हम कड़े शब्दों में निंदा करेंगे और यह एक राजनीतिक हत्या है और राजनीति में कुछ भी हो सकता है

kamlesh tiwari ki lucknow mein gala ret kar hatya kar di gayi thi itne bade neta ke liye koi suraksha nahi thi kamlesh tiwari ki lucknow mein jo gala ret kar bhejo akhilesh yadav ki sarkar ki us samay unke surakshakarmi se kariban unki sankhya 17 thi aur jab yogi adityanath ji chief minister banne ke baad unhone sankhya ghatakar bahut kam kar di thi yahan tak ki sirf ek ya do se char cell chikitsa karmiyon ke paas ajib tha aur vaah bhi kaafi vyast ho isliye kaha jata hai ki apne pyar ki picture bhi milibhagat aur jani sochi samjhi ki yah hatya raajnitik hatya se kaha jaega ki police prashasan itna kamjor ho krishna pandit nahi ho sakta kahin na kahin unka bhi isme aham roll hai kyonki is tarah se statement TV par aa rahi hai aur unki mataji kamlesh tiwari ki aur unki patni ji jis tarah ka statement de rahi hai vaah jis taraf se akshar ho raha hai jo khud ek mitra ke upar bhi ho raha hai aur police prashasan ke upar bhej raha hai isliye bahut hi gambhir baat hai aur aisa hamare desh mein hota hai yah jaankar hamein bahut dukh hota hum chahte hai is tarah se kisi ko bhi kisi dharm vishesh ke bare mein bolne ka koi bhi dharmik astha ko phir se aisi koi vidhi vidhan nahi karna chahiye aur is tarah ki hatya karna ko bilkul galat hai aur koi ummid nahi hai aur iski hum kade shabdon mein ninda karenge aur yah ek raajnitik hatya hai aur raajneeti mein kuch bhi ho sakta hai

कमलेश तिवारी की लखनऊ में गला रेत कर हत्या कर दी गई थी इतने बड़े नेता के लिए कोई सुरक्षा नह

Romanized Version
Likes  65  Dislikes    views  1302
WhatsApp_icon
play
user
0:23

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कमलेश तिवारी की लखनऊ में हत्या हो गई है और इसके मामले में पुलिस ने अभी तक 2 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है उतना बड़े नेता की सुरक्षा में पहले गुज्जू भविष्य लेकिन अब पुलिस ने 2 लोगों को गिरफ्तार किया है ऐसी खबरें प्राप्त हो रही है

kamlesh tiwari ki lucknow mein hatya ho gayi hai aur iske mamle mein police ne abhi tak 2 logo ko giraftar kar liya hai utana bade neta ki suraksha mein pehle gujju bhavishya lekin ab police ne 2 logo ko giraftar kiya hai aisi khabren prapt ho rahi hai

कमलेश तिवारी की लखनऊ में हत्या हो गई है और इसके मामले में पुलिस ने अभी तक 2 लोगों को गिरफ्

Romanized Version
Likes  81  Dislikes    views  1628
WhatsApp_icon
user

En Rajendra Kumar Joshi

Life Coach, Motivator

2:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कमलेश तिवारी की लखनऊ में की गई हत्या शराब दर्शाती है कि अल्पसंख्यक उन्हें अब आप को रोक लेना आरंभ कर दिया है उसी को रेल यात्री को अपनाने लगे हैं जो कि आज तक कश्मीर में अपनाया जाता रहा कमलेश तिवारी ने तथाकथित मामासाहेब के ऊपर कुछ अपाचे आपत्तिजनक टिप्पणियां की थी जिसके चलते कुछ मौला राम ने उन को मारने का फतवा जारी किया था यह सब उसी कट्टरवाद का परिणाम है जो कि कमलेश तिवारी नहीं रहे कांग्रेस सरकार के होते हुए अगर ऐसा होता तो भाजपा नेता आरोप लगाते तुष्टिकरण का अब यही चीज भाजपा के राज मोदी राज में होने के बाद आज भाजपा तो है न तो कांग्रेस ने भाजपा न कोई तीसरा मोर्चा इन चीजों को रोक सकते हैं यह दो संप्रदायों की आपस में खूनी रंजिश है जो बिना किसी राजनीति प्रभाव के कायम है और लगता है आगे भी कायम रहेगी हिंदू संगठित नहीं है मुस्लिम वोट संगठित है और आज भी अपनी व आदम युग को बनाए रखने के लिए संघर्षशील है जबकि दूसरी ओर हिंदू लोग अपने आप को सुधारो में सुधारों में लाते हुए अपने समाज में सुधार लाते हुए हर धर्म की चीजों को अपना रहे हैं वही मुस्लिम अपनी शरीयत को एक कोना पकड़े हुए आज भी उसी पुराने युग को संत नदियों को कायम करने और उसी प्रकार से रहने के लिए विवश सब को विवश करना चाहते हैं यह एक विधान स्वच्छ ईंधन स्वच्छ सभ्यता और एक सर्जनात्मक सभ्यता के बीच की लड़ाई है इसका क्या अंजाम होगा यह भविष्य ही जानता है धन्यवाद

kamlesh tiwari ki lucknow mein ki gayi hatya sharab darshatee hai ki alpsankhyak unhe ab aap ko rok lena aarambh kar diya hai usi ko rail yatri ko apnane lage hain jo ki aaj tak kashmir mein apnaya jata raha kamlesh tiwari ne tathakathit mamasaheb ke upar kuch apache aapattijanak tippaniyaan ki thi jiske chalte kuch maula ram ne un ko maarne ka fatwa jaari kiya tha yah sab usi kattarvad ka parinam hai jo ki kamlesh tiwari nahi rahe congress sarkar ke hote hue agar aisa hota toh bhajpa neta aarop lagate Tustikaran ka ab yahi cheez bhajpa ke raj modi raj mein hone ke baad aaj bhajpa toh hai na toh congress ne bhajpa na koi teesra morcha in chijon ko rok sakte hain yah do sampradayon ki aapas mein khuni Ranjish hai jo bina kisi raajneeti prabhav ke kayam hai aur lagta hai aage bhi kayam rahegi hindu sangathit nahi hai muslim vote sangathit hai aur aaj bhi apni va aadam yug ko banaye rakhne ke liye sangharshashil hai jabki dusri aur hindu log apne aap ko sudharo mein sudharo mein laate hue apne samaj mein sudhaar laate hue har dharm ki chijon ko apna rahe hain wahi muslim apni shareeyat ko ek kona pakde hue aaj bhi usi purane yug ko sant nadiyon ko kayam karne aur usi prakar se rehne ke liye vivash sab ko vivash karna chahte hain yah ek vidhan swachh indhan swachh sabhyata aur ek sarjnaatmak sabhyata ke beech ki ladai hai iska kya anjaam hoga yah bhavishya hi jaanta hai dhanyavad

कमलेश तिवारी की लखनऊ में की गई हत्या शराब दर्शाती है कि अल्पसंख्यक उन्हें अब आप को रोक ले

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  341
WhatsApp_icon
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी कमलेश तिवारी जी की जो गला रेत कर हत्या कर दी गई थी लखनऊ में हो एक पोलिटिकल एसोसिएशन था यानी कि पॉलिटिकल रूप से मर्डर किया गया था यह पुलिस कप्तान रूप से कहना है कि यह जो हत्या की गई है वह एक साजिश के तौर पर की गई है कि उनकी सुरक्षा अगर थी भी तो उसे एक षड्यंत्र का रूप से उनके परिवार को ईश्वर शांति दे और पुलिस अपना काम कर रही है उम्मीद है जल्दी से जल्दी आरोपी पकड़ा जाए हम यही उम्मीद कर सकते हैं

vicky kamlesh tiwari ji ki jo gala ret kar hatya kar di gayi thi lucknow mein ho ek political association tha yani ki political roop se murder kiya gaya tha yah police captain roop se kehna hai ki yah jo hatya ki gayi hai vaah ek saajish ke taur par ki gayi hai ki unki suraksha agar thi bhi toh use ek shadyantra ka roop se unke parivar ko ishwar shanti de aur police apna kaam kar rahi hai ummid hai jaldi se jaldi aaropi pakada jaaye hum yahi ummid kar sakte hain

विकी कमलेश तिवारी जी की जो गला रेत कर हत्या कर दी गई थी लखनऊ में हो एक पोलिटिकल एसोसिएशन थ

Romanized Version
Likes  52  Dislikes    views  1052
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
kuchh aisa kar kamateraho ; retakar ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!