एक तरफ़ जहाँ विमन एमपावरमेंट की बात होती है वही दूसरी तरफ़ सैनिक स्कूल में लड़कियाँ दाख़िला क्यूँ नहीं ले सकती?...


user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बहुत अच्छा प्रश्न है एक तरफ जहां विमल इनफॉर्मेंट की बात होती है वहीं दूसरी तरफ सैनिक स्कूल में लड़कियों का किला क्यों नहीं देती है उसका प्रचार ही नहीं हो रहा है उसमें अगर उसका भी प्रचार होगा ठीक है बहुत सारा जोर जोर से कैसे से प्रकारों प्रचार होगा तो लड़कियां सनी तुम्हें हंड्रेड पर्सेंट दाखवा लेंगे ठीक है एक इंक्रीमेंट कोई चीज एडवर्टाइजमेंट करनी तो पड़ेगी ठीक है हर स्कूल में हर जगह करनी पड़ेगी कोई कॉलेज हर जगह तभी तो हो पाएगा लेकिन आपका दिन शुभ हो धन्यवाद

yah bahut accha prashna hai ek taraf jaha vimal inafarment ki baat hoti hai wahi dusri taraf sainik school mein ladkiyon ka kila kyon nahi deti hai uska prachar hi nahi ho raha hai usme agar uska bhi prachar hoga theek hai bahut saara jor jor se kaise se prakaro prachar hoga toh ladkiyan sunny tumhe hundred percent dakhava lenge theek hai ek increment koi cheez advertisement karni toh padegi theek hai har school mein har jagah karni padegi koi college har jagah tabhi toh ho payega lekin aapka din shubha ho dhanyavad

यह बहुत अच्छा प्रश्न है एक तरफ जहां विमल इनफॉर्मेंट की बात होती है वहीं दूसरी तरफ सैनिक स्

Romanized Version
Likes  397  Dislikes    views  4960
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी एक या दो व मिलिट्री कॉलेज में पब्लिक स्कूल में लड़कियों के प्रवेश की शुरुआत की गई है और यह फैसला थोड़ा देर से लिया गया लेकिन लिया गया और अब मिलिट्री स्कूल में भी लड़कियों का एडमिशन हो सकता है धन्यवाद

abhi ek ya do va miltary college mein public school mein ladkiyon ke pravesh ki shuruat ki gayi hai aur yah faisla thoda der se liya gaya lekin liya gaya aur ab miltary school mein bhi ladkiyon ka admission ho sakta hai dhanyavad

अभी एक या दो व मिलिट्री कॉलेज में पब्लिक स्कूल में लड़कियों के प्रवेश की शुरुआत की गई है औ

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  130
WhatsApp_icon
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

0:48

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक तरफ जहां वुमन एंपावरमेंट की बात होती है वहीं दूसरी तरफ समीप स्कूल में लड़कियां दाखिला क्यों नहीं ले सकते कि कल के न्यूज़ के मुताबिक विमेन एंपावरमेंट की जो बात आप पहले से होती है तो उस भूल को जो सैनिक स्कूल में नहीं महिलाओं को लड़कियों को प्रवेश नहीं मिलता है वह भूल को सुधार लिया गया और हमारे राजनाथ सिंह जी के मंत्री हैं उन्होंने घोषणा की है कि सभी सैनिक स्कूल स्कूल सैनिक स्कूल है उसमें लड़कियों को भी प्रवेश दिया जाएगा यह कोई बहुत ही अच्छी बात है और स्वागत योग्य यह घोषणा की गई है जिसका हम सबको स्वागत करना चाहिए धन्यवाद

ek taraf jaha woman empowerment ki baat hoti hai wahi dusri taraf sameep school mein ladkiyan dakhila kyon nahi le sakte ki kal ke news ke mutabik vimen empowerment ki jo baat aap pehle se hoti hai toh us bhool ko jo sainik school mein nahi mahilaon ko ladkiyon ko pravesh nahi milta hai vaah bhool ko sudhaar liya gaya aur hamare rajnath Singh ji ke mantri hai unhone ghoshana ki hai ki sabhi sainik school school sainik school hai usme ladkiyon ko bhi pravesh diya jaega yah koi bahut hi achi baat hai aur swaagat yogya yah ghoshana ki gayi hai jiska hum sabko swaagat karna chahiye dhanyavad

एक तरफ जहां वुमन एंपावरमेंट की बात होती है वहीं दूसरी तरफ समीप स्कूल में लड़कियां दाखिला क

Romanized Version
Likes  65  Dislikes    views  1306
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रचना राजपूत जिद्दी समान होती हमारी पूंजी की समान होती है इसलिए उनको सेंड को पहले कम सैनिक स्कूल में लड़कियां दांत की नई लेटेस्ट थी और यह ऐसा बात है तो हमारी संस्था लड़कियों का सम्मान करो मारी क्या है के बॉर्डर पर उनको भेजा जाए तो उनके साथ दुष्कर्म भी हो सकता है

rachna rajput jiddi saman hoti hamari punji ki saman hoti hai isliye unko send ko pehle kam sainik school mein ladkiyan dant ki nayi latest thi aur yah aisa baat hai toh hamari sanstha ladkiyon ka sammaan karo mari kya hai ke border par unko bheja jaaye toh unke saath dushkarm bhi ho sakta hai

रचना राजपूत जिद्दी समान होती हमारी पूंजी की समान होती है इसलिए उनको सेंड को पहले कम सैनिक

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  7
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!