#Diwali: जो कर्मचारी दिवाली पर घर नहीं जा पाते, वो दिवाली कैसे माना सकते हैं ताकि उन्हें घर की कमी महसूस ना हो?...


user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो कर्मचारी दिवाली पर नहीं जा पाते वह दिवाली कैसे बना सकते हैं ताकि उन्हें घर की कमी महसूस ना जी बहुत ही अच्छा सवाल है कि जो भी कर्मचारी हैं खासकर जैसे अगर बॉर्डर सीमा पर तैनात जा मर जवान वह एलओसी पर जो पहना है वह या कश्मीर में इस समय सीमा सुरक्षा बल है जो पहले हो या या किया वह सब को जरूर कमी लगेगी परिवार की तिथि वार पर अपने परिवार के साथ लाने का स्तर नहीं बना पा रहे हैं अब इतनी दूर घर से अपनों की याद तो जरूर आती है लेकिन दिवाली पर वह अपने दोस्तों के अपने शौक आचार्यों के साथ बैठकर और जो आतिशबाजी अगर होगी तो वह और एक दूसरे को शुभेच्छा संदेश देकर दिवाली अगर मनाएंगे तो वह उनको घर वाले की कमी महसूस तो जहां तक होगा होती है लेकिन कमी को थोड़ा पूरा जरूर कर सकेंगे भले ही हो कोने में जो आंसू अपने घर वालों के लिए बहाने ने किया तो चाय बच्चों की यादों से अपने माता-पिता की याद आती है विवाह के समय अपने परिवार की ओर से बहुत याद आती इसलिए जो भी सरकारी कर्मचारी हैं और जो लोग अपने परिवार से दूर हैं और दिवाली के समय वीडियो कॉल करके अपने परिवार के साथ दिवाली की शुभेच्छा संदेश और बातचीत करके मन बनाने का जरूर प्रयास कर सकते हैं बहुत-बहुत धन्यवाद और आप सबको दिवाली की बहुत सारी शुभकामनाएं

jo karmchari diwali par nahi ja paate vaah diwali kaise bana sakte hai taki unhe ghar ki kami mehsus na ji bahut hi accha sawaal hai ki jo bhi karmchari hai khaskar jaise agar border seema par tainat ja mar jawaan vaah loc par jo pehna hai vaah ya kashmir mein is samay seema suraksha bal hai jo pehle ho ya ya kiya vaah sab ko zaroor kami lagegi parivar ki tithi war par apne parivar ke saath lane ka sthar nahi bana paa rahe hai ab itni dur ghar se apnon ki yaad toh zaroor aati hai lekin diwali par vaah apne doston ke apne shauk acharyon ke saath baithkar aur jo aatishabaji agar hogi toh vaah aur ek dusre ko shubheccha sandesh dekar diwali agar manayenge toh vaah unko ghar waale ki kami mehsus toh jaha tak hoga hoti hai lekin kami ko thoda pura zaroor kar sakenge bhale hi ho kone mein jo aasu apne ghar walon ke liye bahaane ne kiya toh chai baccho ki yaadon se apne mata pita ki yaad aati hai vivah ke samay apne parivar ki aur se bahut yaad aati isliye jo bhi sarkari karmchari hai aur jo log apne parivar se dur hai aur diwali ke samay video call karke apne parivar ke saath diwali ki shubheccha sandesh aur batchit karke man banane ka zaroor prayas kar sakte hai bahut bahut dhanyavad aur aap sabko diwali ki bahut saree subhkamnaayain

जो कर्मचारी दिवाली पर नहीं जा पाते वह दिवाली कैसे बना सकते हैं ताकि उन्हें घर की कमी महसूस

Romanized Version
Likes  60  Dislikes    views  1210
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Nitish Kumar

RRB Railway JE

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिवाली जो कर्मचारी दिवाली पर घर नहीं जा पाते दिवाली कैसे मनाते हैं दिवाली मनाने के लिए उन्हें पास पड़ोस और दोस्त रहने वाले को प्यार होना चाहिए इतना मेल मिलाप कर लेना चाहिए आस-पास सट्टा

diwali jo karmchari diwali par ghar nahi ja paate diwali kaise manate hain diwali manane ke liye unhe paas pados aur dost rehne waale ko pyar hona chahiye itna male milap kar lena chahiye aas paas satta

दिवाली जो कर्मचारी दिवाली पर घर नहीं जा पाते दिवाली कैसे मनाते हैं दिवाली मनाने के लिए उन्

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  240
WhatsApp_icon
user

pervs

Tutor

0:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो और जो कर्मचारी दिवाली पर घर नहीं जा पाते वह दिवाली कैसे मना करते हैं ताकि उन्हें की कमी महसूस ना हो सबसे बड़े तो आप को भगा दो घर की कमी महसूस ना हो जहां घर की कमी महसूस होती है ना वह घर की पूर्ति कभी नहीं हो पाती आपको बता दें कि कभी महसूस होगी होगी और दिवाली नहीं बना सकते हैं अपने जो जिस डिपार्ट में भी बात करती हूं उनकी तारीफ के साथ बैठकर के उनके घर जाकर कि आपने यहां पर भी रहते हैं और आस पड़ोस में या घर पर रहती हूं दोस्त मकान वाले के घर मिलेंगे उसके घर में उनको जान करते हैं वह दीवाली की खुशियां बना सकते हैं आपस में कभी नहीं सकते हैं व्हाट्सएप पढ़ाई करके व्हाट्सएप पर

hello aur jo karmchari diwali par ghar nahi ja paate vaah diwali kaise mana karte hain taki unhe ki kami mehsus na ho sabse bade toh aap ko bhaga do ghar ki kami mehsus na ho jaha ghar ki kami mehsus hoti hai na vaah ghar ki purti kabhi nahi ho pati aapko bata de ki kabhi mehsus hogi hogi aur diwali nahi bana sakte hain apne jo jis depart mein bhi baat karti hoon unki tareef ke saath baithkar ke unke ghar jaakar ki aapne yahan par bhi rehte hain aur aas pados mein ya ghar par rehti hoon dost makan waale ke ghar milenge uske ghar mein unko jaan karte hain vaah diwali ki khushiya bana sakte hain aapas mein kabhi nahi sakte hain whatsapp padhai karke whatsapp par

हेलो और जो कर्मचारी दिवाली पर घर नहीं जा पाते वह दिवाली कैसे मना करते हैं ताकि उन्हें की क

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  458
WhatsApp_icon
play
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

2:34

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने कहा है कि जो कर्मचारी दिवाली पर करने का फैक्ट्री दिवाली कैसे बना सकते हैं अपने घर की कमी महसूस ना भाई इंसान की जिंदगी में घाट भी घर होता है और जहां वह कार्य करते हैं तब तक में वह भी उनका एक जीवन का घर होता है हम अपनी जिंदगी का अधिकांश समय कार्यस्थल पर गुजार देते हैं और क्या करना समझे ठीक है पांचवें वेतन मिलता अनुशासन में रहते हैं और वह घर से बढ़कर है क्या हमें हमारे कार्यालय में हमारी कार्यस्थल में खुशियां नहीं मिलती अरे सभी ट्रक किया जीवन की सभी खुशियां जीवन की सभी सफलताएं बच्चों की सफलताएं परिवार की सफलताएं और हर सफलता का आधार है हमारी नौकरी होती हमारे कार्यस्थल होता है और वहां हम यह सोचते हैं कि हम दिवाली कैसे मनाएं दिवाली खुशियों का त्यौहार है अपने मित्रों के साथ इनको बधाइयां देकर उनके साथ खुशियां बातें अपने जीवन की खुशियों का कुछ उनको उपहार के रूप में दे उपहार जरूरी नहीं होती तो हमारे विचार भी हमारे उपहार हो सकते हैं हमारी भावनाएं भी हमारी पारो तक कि हमारा प्यार भी हमारे ऊपर हो सकता है एक दूजे बादाम प्रदान करें एक दूसरे को बधाई संदेश दें और जहां कार्य कर रहे हैं घर से दूर हैं देखे हमारी सेना की कर्मचारियों और अधिकारियों से बहुत से विभागों में कर्मचारियों के अधिकारियों से जो घर नहीं पहुंच पाते तुमने उस दिवाली पर उस स्थान को ही घर समझ लेना चाहिए और अपने घरवालों को संदेश देना चाहिए कि हम यहां दिवाली बड़ी प्रसन्नता पूर्वक मना रहे हैं आप चिंता ना करिए जैसे ही अवसर मिलेगा हम अपने घर अवश्य आएंगे एक घर से दूसरे घर आएंगे जब परिवार वालों को ऐसा महसूस होगा तो शायद उनको भी बहुत खुशी होगी और वह भी चिंता से दूर हटकर आपकी इस कोचिंग में आपके सहयोग में वह भी भागीदार होंगे

aapne kaha hai ki jo karmchari diwali par karne ka factory diwali kaise bana sakte hain apne ghar ki kami mehsus na bhai insaan ki zindagi mein ghat bhi ghar hota hai aur jaha vaah karya karte hain tab tak mein vaah bhi unka ek jeevan ka ghar hota hai hum apni zindagi ka adhikaansh samay karyasthal par gujar dete hain aur kya karna samjhe theek hai panchwe vetan milta anushasan mein rehte hain aur vaah ghar se badhkar hai kya hamein hamare karyalay mein hamari karyasthal mein khushiya nahi milti are sabhi truck kiya jeevan ki sabhi khushiya jeevan ki sabhi safalataen baccho ki safalataen parivar ki safalataen aur har safalta ka aadhaar hai hamari naukri hoti hamare karyasthal hota hai aur wahan hum yah sochte hain ki hum diwali kaise manaaye diwali khushiyon ka tyohar hai apne mitron ke saath inko badhaiyan dekar unke saath khushiya batein apne jeevan ki khushiyon ka kuch unko upahar ke roop mein de upahar zaroori nahi hoti toh hamare vichar bhi hamare upahar ho sakte hain hamari bhaavnaye bhi hamari paro tak ki hamara pyar bhi hamare upar ho sakta hai ek dooje badam pradan kare ek dusre ko badhai sandesh de aur jaha karya kar rahe hain ghar se dur hain dekhe hamari sena ki karmachariyon aur adhikaariyo se bahut se vibhagon mein karmachariyon ke adhikaariyo se jo ghar nahi pohch paate tumne us diwali par us sthan ko hi ghar samajh lena chahiye aur apne gharwaalon ko sandesh dena chahiye ki hum yahan diwali badi prasannata purvak mana rahe hain aap chinta na kariye jaise hi avsar milega hum apne ghar avashya aayenge ek ghar se dusre ghar aayenge jab parivar walon ko aisa mehsus hoga toh shayad unko bhi bahut khushi hogi aur vaah bhi chinta se dur hatakar aapki is coaching mein aapke sahyog mein vaah bhi bhagidaar honge

आपने कहा है कि जो कर्मचारी दिवाली पर करने का फैक्ट्री दिवाली कैसे बना सकते हैं अपने घर की

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  1083
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत ही अच्छा प्रश्न है दिवाली जो कर्मचारी दिवाली पर घर नहीं जा पाते वह दिवाली कैसे बना सकते हैं ताकि उन्हें घर की कमी महसूस ना हो वह लोग दिवाली पर अपनी फैमिली से फोन पर बात कर सकते हैं ठीक है और वहां पर ही स्टाफ में दिवाली मना सकते हैं सबको जवाब दे दिवाली की बधाई विश कर सकते हैं ठीक है आपका दिन शुभ हो धन्यवाद गुड लक पर लाइव टेक केयर एंड एंज्वॉयज और उनको फिर घर की कमी महसूस नहीं होती है होती है लेकिन बहुत कम महसूस होती है ठीक है और या तो फिर वह अपने परिवार को वहां पर ही बुला दे जहां वह लोग रहते हैं 1 दिन के लिए या 2 दिन के लिए फिर मेरी वापस चली जाएगी तो परिवार की में कभी बिल्कुल महसूस नहीं होगी ठीक है आपका दिन शुभ हो

bahut hi accha prashna hai diwali jo karmchari diwali par ghar nahi ja paate vaah diwali kaise bana sakte hain taki unhe ghar ki kami mehsus na ho vaah log diwali par apni family se phone par baat kar sakte hain theek hai aur wahan par hi staff mein diwali mana sakte hain sabko jawab de diwali ki badhai wish kar sakte hain theek hai aapka din shubha ho dhanyavad good luck par live take care and enjwayaj aur unko phir ghar ki kami mehsus nahi hoti hai hoti hai lekin bahut kam mehsus hoti hai theek hai aur ya toh phir vaah apne parivar ko wahan par hi bula de jaha vaah log rehte hain 1 din ke liye ya 2 din ke liye phir meri wapas chali jayegi toh parivar ki mein kabhi bilkul mehsus nahi hogi theek hai aapka din shubha ho

बहुत ही अच्छा प्रश्न है दिवाली जो कर्मचारी दिवाली पर घर नहीं जा पाते वह दिवाली कैसे बना सक

Romanized Version
Likes  297  Dislikes    views  5181
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो कर्मचारी दिवाली पर घर नहीं जाते हैं वह कर्मचारी अपने साथ वाले कर्मचारियों के साथ दिवाली मना सकते तो था क्योंकि वह जहां पर काम करते हैं वह भी उनके साथ घर से ज्यादा टाइम पर लेते हैं तो वह भी उनका एक तरीके से देखकर तो फैमिली हो जाती है तो काम कर सकते हैं उन सभी लोगों के साथ काम कर सकते इसी प्रकार हम दिवाली मना सकता क्यों ना हो

jo karmchari diwali par ghar nahi jaate hain vaah karmchari apne saath waale karmachariyon ke saath diwali mana sakte toh tha kyonki vaah jaha par kaam karte hain vaah bhi unke saath ghar se zyada time par lete hain toh vaah bhi unka ek tarike se dekhkar toh family ho jaati hai toh kaam kar sakte hain un sabhi logo ke saath kaam kar sakte isi prakar hum diwali mana sakta kyon na ho

जो कर्मचारी दिवाली पर घर नहीं जाते हैं वह कर्मचारी अपने साथ वाले कर्मचारियों के साथ दिवाली

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  48
WhatsApp_icon
user

Dr. Dipak

sex specialist, Physiotherapist

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वह लोग अपने फ्रेंड्स के साथ बना सकते हैं कि फ्रेंड जैसे होते हैं साइंस में पापा आ गए घुमिया के फायदे हैं लेडीस सब लोग सब लोग आ गए दिवाली मनाने का भी मजा कुछ और ही होता है इसलिए जो जो का मजा लेकर नहीं जा पाते को अपने फ्रेंड के साथ बना सकते हैं या फिर वीडियो कॉल करके वीडियो कॉल करें फिर भी देख सकते हैं कि देखो मैं यहां एक गोली चलाई बोल रहा हूं दिवाली मना सकते हैं

vaah log apne friends ke saath bana sakte hain ki friend jaise hote hain science mein papa aa gaye ghumiya ke fayde ladies sab log sab log aa gaye diwali manane ka bhi maza kuch aur hi hota hai isliye jo jo ka maza lekar nahi ja paate ko apne friend ke saath bana sakte hain ya phir video call karke video call kare phir bhi dekh sakte hain ki dekho main yahan ek goli chalai bol raha hoon diwali mana sakte hain

वह लोग अपने फ्रेंड्स के साथ बना सकते हैं कि फ्रेंड जैसे होते हैं साइंस में पापा आ गए घुमिय

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  585
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!