#KRNarayananBirthday: क्या राष्ट्रपति के.आर. नारायणन के दलित परिवार से होने से मुश्किलों का सामना करना पड़ा था?...


user

Manish Bhargava

Trainer/ Mentor in Delhi education deptt.

2:19
Play

Likes  103  Dislikes    views  2941
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

3:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

के आर नारायण गरीब परिवार से थे और एक विद्वान व्यक्ति हैं उनको अपनी जीवन यापन में बहुत सी समस्याओं का सामना करना पड़ा है मुश्किलों का सामना करना पड़ा है यह हमने अध्ययन के दौरान जाना और उनके विषय में जानकारी प्राप्त किसी भी महान व्यक्ति को उसकी जाति विशेष से संबोधित करना मैं अच्छा नहीं मानता अभी शब्द आपने कहा है कि दलित परिवार या शोभ नियम बात है वह भी एक परिवार है गरीब है निम्न जाति का है इसका मतलब हम उसे जाति से संबोधित करने में थोड़ा अचानक हटकर सिर्फ हम भी यह कहे कि नारायण जी का परिवार गरीब परिवार था और गरीबी के कारण को संघर्ष करना पड़ा वाले लाल बहादुर शास्त्री के प्रधानमंत्री थे उन्होंने भी गरीबी में जीवन गुजारा महान नेता ऐसे हैं जिन्होंने संघर्ष करते हुए देश के विकास में योगदान दिया खैर अब यह तो बीते हुए समय की बात हो गई आज के युग में तो सबसे अच्छा व्यवसाय राजनीति जो कहीं नहीं सफल हो सकता वह राजनीति में सफल हो सकता है इसलिए नारायण जी जैसे या शास्त्री जी जैसे क्या कलाम जी जैसे आपने देखा कि कलाम जी के पिताजी रामेश्वरम की समुद्र में मछलियों को निकालने का कार्य करते थे जो वहां की भाषा में मछुआरा कहा जाता है लेकिन अब्दुल जी ने अब्दुल कलाम जी ने केवल अपने परिवार ने इस भारत का नाम पूरे विश्व में रोशन कर दिया तो देखिए कलाम जी एक आदर्श जब महान व्यक्ति थे जिस दिन कन्याकुमारी में हमने परवाज की बात सुनी संजोग से हम उनकी जो संकलन रहता हम अपने शिष्यों के साथ भाग गए हुए थे और वह देखकर बड़े प्रभावी में उनका बड़ा सम्मान करता हूं मैं बड़े उन्हें एक अध्यापक के रूप से एक गया महान आदर्श व्यक्ति के रूप से उनके आदर्शों का सम्मान करता हूं तो ट्रेन के अंदर हमें यह समाचार सुनने को मिला कि अब्दुल कलाम जी को दिल का दौरा पड़ा और उनका स्वर्गवास हो गया मन को बहुत दुख हुआ क्योंकि महान लोग वही बनते हैं जो संघर्षों को पार करके सफल जीवन पाते

ke R narayan garib parivar se the aur ek vidhwaan vyakti hain unko apni jeevan yaapan mein bahut si samasyaon ka samana karna pada hai mushkilon ka samana karna pada hai yah humne adhyayan ke dauran jana aur unke vishay mein jaankari prapt kisi bhi mahaan vyakti ko uski jati vishesh se sambodhit karna main accha nahi manata abhi shabd aapne kaha hai ki dalit parivar ya shobh niyam baat hai vaah bhi ek parivar hai garib hai nimn jati ka hai iska matlab hum use jati se sambodhit karne mein thoda achanak hatakar sirf hum bhi yah kahe ki narayan ji ka parivar garib parivar tha aur garibi ke karan ko sangharsh karna pada waale laal bahadur shastri ke pradhanmantri the unhone bhi garibi mein jeevan gujara mahaan neta aise hain jinhone sangharsh karte hue desh ke vikas mein yogdan diya khair ab yah toh bite hue samay ki baat ho gayi aaj ke yug mein toh sabse accha vyavasaya raajneeti jo kahin nahi safal ho sakta vaah raajneeti mein safal ho sakta hai isliye narayan ji jaise ya shastri ji jaise kya kalam ji jaise aapne dekha ki kalam ji ke pitaji rameshwaram ki samudra mein machliyo ko nikalne ka karya karte the jo wahan ki bhasha mein machuaara kaha jata hai lekin abdul ji ne abdul kalam ji ne keval apne parivar ne is bharat ka naam poore vishwa mein roshan kar diya toh dekhiye kalam ji ek adarsh jab mahaan vyakti the jis din kanyakumari mein humne parvaj ki baat suni sanjog se hum unki jo sankalan rehta hum apne shishyon ke saath bhag gaye hue the aur vaah dekhkar bade prabhavi mein unka bada sammaan karta hoon main bade unhe ek adhyapak ke roop se ek gaya mahaan adarsh vyakti ke roop se unke aadarshon ka sammaan karta hoon toh train ke andar hamein yah samachar sunne ko mila ki abdul kalam ji ko dil ka daura pada aur unka swargavas ho gaya man ko bahut dukh hua kyonki mahaan log wahi bante hain jo sangharshon ko par karke safal jeevan paate

के आर नारायण गरीब परिवार से थे और एक विद्वान व्यक्ति हैं उनको अपनी जीवन यापन में बहुत स

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  1141
WhatsApp_icon
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

1:47

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नारायण मूर्ति का बर्थडे है क्या औरत के नारायण का सामना करना पड़ा वाइस प्रेसिडेंट ऑफ इंडिया के राष्ट्रपति से 1997 रूम थाना डिस्ट्रिक्ट जौनपुर में जन्म हुआ था 1921 की मुसीबतों से स्कूल जाते थे बोलो कि जब वह कॉलेज में खून की कमी रहती थी इसके लिए उन्हें नहीं करने दिया जाता था अब्बू क्लास के बाहर ही खड़े होकर और वो लिख कर सुनते थे और अध्ययन करते थे फिर बाद में मदद मिलने पर उसकी पढ़ाई फ्री हो जब राष्ट्रपति पद पर पहुंचे थे और 50 साल की उम्र में दिल्ली का देहांत

narayan murti ka birthday hai kya aurat ke narayan ka samana karna pada voice president of india ke rashtrapati se 1997 room thana district jaunpur mein janam hua tha 1921 ki musibaton se school jaate the bolo ki jab vaah college mein khoon ki kami rehti thi iske liye unhe nahi karne diya jata tha abbu class ke bahar hi khade hokar aur vo likh kar sunte the aur adhyayan karte the phir baad mein madad milne par uski padhai free ho jab rashtrapati pad par pahuche the aur 50 saal ki umr mein delhi ka dehant

नारायण मूर्ति का बर्थडे है क्या औरत के नारायण का सामना करना पड़ा वाइस प्रेसिडेंट ऑफ इंडिया

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  1321
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!