धनतेरस पर लोग सोना चाँदी ख़रीदने पर ज़ोर क्यूँ देते हैं?...


user

Nitish Kumar

RRB Railway JE

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धनतेरस पर सोना चांदी खरीदने पर जोर देते हैं कुछ झूठ भी मिल जाता है पल्स में सोना चांदी खरीदने से कोई परेशानी आती है ज्यादा ही डाल देता है इसलिए जरूरत पड़ने पर

dhanteras par sona chaandi kharidne par jor dete hain kuch jhuth bhi mil jata hai pulse mein sona chaandi kharidne se koi pareshani aati hai zyada hi daal deta hai isliye zarurat padane par

धनतेरस पर सोना चांदी खरीदने पर जोर देते हैं कुछ झूठ भी मिल जाता है पल्स में सोना चांदी खरी

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  316
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Jeet Dholakia

Anchor and Media Professional

1:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धनतेरस एक ऐसा त्यौहार है कि वहां जिस दिन अगर आपको कुछ नहीं खरीदारी करते हैं या तो फिर कोई प्रॉपर्टी खरीदते हैं या तो फिर सोना खरीदते हैं तो अच्छा माना जाता है कि कई लोग ऐसा मानते हैं कि धनतेरस के दिन ना जब हम पूजा करते हैं तो उसमें सोने की चीज रखते हैं या फिर चांदी की चीज रखते हैं या तो फिर नहीं कुछ खरीदारी करते हैं कि जिससे घर में आने वाले साल में बरकत बनी रहे धनतेरस के दिन हम धन की पूजा करते हैं और ऐसा माना जाता है कि अगर धनतेरस के दिन आपको धन की पूजा करते हो तो पूरे साल आपके यहां कभी धन की कमी नहीं रहती और लक्ष्मी का वास है आपके घर पर रहता है होती है और अगर वह खरीदते हैं या फिर उसकी पूजा करते हैं तो ऐसा माना जाता है कि वह 1 दिन के बराबर ही है और हम जब हमारे पास धन होता है तो ही हम सोना चांदी खरीद पाते हैं जिसके कारण ही सोना चांदी को इतना महत्व दिया गया है और उस दिन भी हम सोना चांदी को रखकर जो जो जो लड़की होती है उसकी हम पूजा करते हैं साथ में धन की भी पूजा करते हैं तो मेरे ख्याल से यह जो मैंने भी पता है कि सोना चांदी को भी हमने कहा धन का प्रतीक मानते हैं तो इसलिए सोना चांदी अगर हम खरीदेंगे तो वह धनतेरस के लिए दिन के लिए अच्छा साबित होगा आने वाले साल के लिए इसलिए धनतेरस के दिन सोना चांदी की खरीदी पर ज्यादा जोर दिया जाता है

dhanteras ek aisa tyohar hai ki wahan jis din agar aapko kuch nahi kharidari karte hain ya toh phir koi property kharidte hain ya toh phir sona kharidte hain toh accha mana jata hai ki kai log aisa maante hain ki dhanteras ke din na jab hum puja karte hain toh usme sone ki cheez rakhte hain ya phir chaandi ki cheez rakhte hain ya toh phir nahi kuch kharidari karte hain ki jisse ghar mein aane waale saal mein barkat bani rahe dhanteras ke din hum dhan ki puja karte hain aur aisa mana jata hai ki agar dhanteras ke din aapko dhan ki puja karte ho toh poore saal aapke yahan kabhi dhan ki kami nahi rehti aur laxmi ka was hai aapke ghar par rehta hai hoti hai aur agar vaah kharidte hain ya phir uski puja karte hain toh aisa mana jata hai ki vaah 1 din ke barabar hi hai aur hum jab hamare paas dhan hota hai toh hi hum sona chaandi kharid paate hain jiske karan hi sona chaandi ko itna mahatva diya gaya hai aur us din bhi hum sona chaandi ko rakhakar jo jo jo ladki hoti hai uski hum puja karte hain saath mein dhan ki bhi puja karte hain toh mere khayal se yah jo maine bhi pata hai ki sona chaandi ko bhi humne kaha dhan ka prateek maante hain toh isliye sona chaandi agar hum khareedenge toh vaah dhanteras ke liye din ke liye accha saabit hoga aane waale saal ke liye isliye dhanteras ke din sona chaandi ki kharidi par zyada jor diya jata hai

धनतेरस एक ऐसा त्यौहार है कि वहां जिस दिन अगर आपको कुछ नहीं खरीदारी करते हैं या तो फिर कोई

Romanized Version
Likes  156  Dislikes    views  2497
WhatsApp_icon
play
user

Dr. Ashwani Kumar Singh

Chairman & Director at VEMS

1:39

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धनतेरस से लोग सोना चांदी क्यों खरीदें धनतेरस पर खरीदारी लक्ष्मी का संगम होता है एकता एकता पर आधारित है और पूरे दसारा के बाद मनाया जाता है और दशहरा और दिवाली के बीच में और करने के बाद रामचंद्र जी और सीता जी और लक्ष्मण जी हनुमान जी अपने और सेनापतियों के साथ अयोध्या पधारे खुशी और उत्साह के के रूप में दीवाली मनाई दिवाली से पहले क्या है कि विष्णु जी और लक्ष्मी जी को राम और सीता के रूप में अवतार के रूप में अवतरित हैं वह लक्ष्मी कहीं धूप में पालक का ही रूप हैं तो उनके उनके स्थिति पर खरीदारी करने से सरोवर समृद्धि मुन्ना घर और परिवार में बना था विश्लेषण चानी खरीदने के लिए जो देखें

dhanteras se log sona chaandi kyon khariden dhanteras par kharidari laxmi ka sangam hota hai ekta ekta par aadharit hai aur poore dasara ke baad manaya jata hai aur dussehra aur diwali ke beech mein aur karne ke baad ramachandra ji aur sita ji aur lakshman ji hanuman ji apne aur senaptiyon ke saath ayodhya padhare khushi aur utsaah ke ke roop mein diwali manai diwali se pehle kya hai ki vishnu ji aur laxmi ji ko ram aur sita ke roop mein avatar ke roop mein avtarit hain vaah laxmi kahin dhoop mein paalak ka hi roop hain toh unke unke sthiti par kharidari karne se sarovar samridhi munna ghar aur parivar mein bana tha vishleshan chani kharidne ke liye jo dekhen

धनतेरस से लोग सोना चांदी क्यों खरीदें धनतेरस पर खरीदारी लक्ष्मी का संगम होता है एकता एकता

Romanized Version
Likes  186  Dislikes    views  2778
WhatsApp_icon
user

Dr. P. N. Jha

TOPPERS IAS app. Sr.Facuty, IAS Coaching.

4:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदू धर्म शास्त्र में आज का दिन बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि आज के दिन का जो पूजन है वह आदमी को दो थानों से अलग अलग करता है आपूर्तिकर्ता दुकानों का एक बार ओगी का धन और दूसरा निर्धन है वह भौतिक धन लक्ष्मी जी के द्वारा प्रदत धन कुबेर जी के द्वारा प्रदत कहानी यह है कि आज ही के दिन आरोग्य के देवता आयुर्वेद के देवता धनवंतरी का आज प्रकट दिवस है तो आज आयुर्वेद में आरोग्य के देवताओं का भात का पूजन पाठ का बहुत महत्व है आज सभी लोगों को अपने स्वास्थ्य की चिंता करनी बहुत आवश्यक है कि आखिर वह कहां है कैसे हैं और साथी इसके साथ ही साथ शाम के समय में कुबेर की पूजा और लक्ष्मी जी की पूजा दोनों ही की पूजा अलग अलग तरीके से अलग अलग की जाति और यह दोनों ही हमारे हिंदू माइथॉलजी में धन से जुड़े हुए देवी देवता हैं तो कुबेर का जिनका आशीर्वाद है वह आज सफल है और अब इस भौतिक दुनिया में वह आगे बढ़ते चले जाते हैं और लक्ष्मी जी के साथ जिनका लक्ष्मी जी की जिन पर कृपा है वह धन के साथ है जो बाकी जो हैप्पीनेस है लाइफ की जो उनसे हुए पुल से परिपूर्ण है तो यह एक बहुत महत्वपूर्ण दिवस है और स्पेशली भारतवर्ष के सभी हिंदू धर्मावलंबी जो है वह आज इसलिए कुछ न कुछ लोग खरीद करते हैं कुछ ना कुछ सोना चांदी के बाजार में जाकर आज कोई करते हैं कि आज का दिन आज का दिन अगर वह धन्यवाद और धन से संबंधित चीजों को प्रसन्न चित्त करते हैं और तो सारा का सारा जो पूरा का पूरा वर्ष है वह पूरा का पूरा वर्ष वह कहीं ना कहीं डांस करते रहेंगे और उनका ऐश्वर्या बना रहेगा लेकिन यहां पर एक जैसा हम किस प्लेटफार्म पर हम बात कर रहे हैं और यह प्लेटफार्म में कैसे विचार को का प्लेटफार्म है जहां पर किसी भी समिति द्वारा मी सर्विस के बारे में जिज्ञासा रखने वाले छात्रों की बड़ी जमात है और साथ में इस पर विचार एक्सपोर्ट्स जो देने वाले बड़े लोगों का एक बहुत बड़ा पुल भी है यहां आज के दिन में हमें यह भी चिंता करनी चाहिए अगर हम समकालीन दृष्टि से देखते हैं भारतीय महिलाएं जो सोना चांदी खरीदने के प्रति आज बहुत सजग हैं सभी ज्वेलर्स के आपको भारतीय महिलाओं की बड़ी लंबी कतार लग जाएंगी और धकाधक सोना चांदी बिक्री होते हो आपको नजर आएंगे क्या उसके दाम बढ़ जाए घट जाए उससे कोई फर्क नहीं पड़ता उसके साथ-साथ चाहे वह कोई भी मत लो बर्तन की दुकान में हो या कोई भी सब से आग्रह करना चाहता हूं कि आज भारतीय महिलाएं की बहुत बड़ी प्रतिशतता विशेषकर दलित महिलाएं विशेषकर जो ऐसी महिलाएं जो हमारे आदिवासी क्षेत्रों में जनजातीय क्षेत्रों में रहती हैं उनकी से सबसे बड़ी बीमारी का कारण है वह है रक्ताल्पता है निमिया और एनीमिया की जो कमी है एनीमिया के जो रोग है वह है उसके पीछे सबसे बड़ा कारण है लौह तत्व की कमी तो खून में लौह तत्वों की कमी होने से एनीमिया एनीमिया से फिर जो हमारी महिलाएं उनका स्वास्थ्य खराब होता है और तमाम प्रकार से खराब होता है बाद में जब वह मां बनती है तो अपने तो स्वास्थ्य खराब रखती है करती ही है साथ में जो आने वाले बच्चे उसका भी स्वास्थ खराब होता है कम वजन का पैदा होता और साथ में जॉन्डिस के साथ बहुत सारी समस्याओं को वह आमंत्रण देता है तो इस प्रकार से देखें तो पूरा का पूरा स्वास्थ्य वाले निमिया के दुष्प्रभाव से बिल्कुल बुरी तरीके से कराह रहा है तो मेरी यह सब से गुजारिश कई लोगों की गुजारिश है और पूरा यह वातावरण बना हुआ है कि सोना और चांदी पर गौर ना कर के लौह तत्व पर गौर करना चाहिए भारत की महिलाओं को ऐसे चीजों को ग्रहण करना चाहिए जिससे लौह तत्वों के खून में बड़े वह कुपोषण से मुक्ति पाएं पोषण की तरफ बढ़े पर्याप्त मात्रा में दूध फल सब्जियां तमाम ऐसी चीजों को ले जिनसे उनका यह कुपोषण दूर हो तो इसको भी ध्यान में रखकर हम पूजा पाठ करें तो काफी महत्वपूर्ण है और इस प्रकार से मुझको सेलिब्रेट करें तो एक नए प्रकार का सेलिब्रेशन हमारे सामने ऑल द वेरी बेस्ट

hindu dharm shastra mein aaj ka din bahut mahatvapurna hai kyonki aaj ke din ka jo pujan hai vaah aadmi ko do thanon se alag alag karta hai apurtikarta dukaano ka ek baar ogi ka dhan aur doosra nirdhan hai vaah bhautik dhan laxmi ji ke dwara pradat dhan kuber ji ke dwara pradat kahani yah hai ki aaj hi ke din aarogya ke devta ayurveda ke devta dhanavantari ka aaj prakat divas hai toh aaj ayurveda mein aarogya ke devatao ka bhat ka pujan path ka bahut mahatva hai aaj sabhi logo ko apne swasthya ki chinta karni bahut aavashyak hai ki aakhir vaah kahaan hai kaise hai aur sathi iske saath hi saath shaam ke samay mein kuber ki puja aur laxmi ji ki puja dono hi ki puja alag alag tarike se alag alag ki jati aur yah dono hi hamare hindu maithalji mein dhan se jude hue devi devta hai toh kuber ka jinka ashirvaad hai vaah aaj safal hai aur ab is bhautik duniya mein vaah aage badhte chale jaate hai aur laxmi ji ke saath jinka laxmi ji ki jin par kripa hai vaah dhan ke saath hai jo baki jo Happiness hai life ki jo unse hue pool se paripurna hai toh yah ek bahut mahatvapurna divas hai aur speshli bharatvarsh ke sabhi hindu dharmavalambi jo hai vaah aaj isliye kuch na kuch log kharid karte hai kuch na kuch sona chaandi ke bazaar mein jaakar aaj koi karte hai ki aaj ka din aaj ka din agar vaah dhanyavad aur dhan se sambandhit chijon ko prasann chitt karte hai aur toh saara ka saara jo pura ka pura varsh hai vaah pura ka pura varsh vaah kahin na kahin dance karte rahenge aur unka aishwarya bana rahega lekin yahan par ek jaisa hum kis platform par hum baat kar rahe hai aur yah platform mein kaise vichar ko ka platform hai jaha par kisi bhi samiti dwara me service ke bare mein jigyasa rakhne waale chhatro ki baadi jamaat hai aur saath mein is par vichar exports jo dene waale bade logo ka ek bahut bada pool bhi hai yahan aaj ke din mein hamein yah bhi chinta karni chahiye agar hum samkalin drishti se dekhte hai bharatiya mahilaye jo sona chaandi kharidne ke prati aaj bahut sajag hai sabhi jewellers ke aapko bharatiya mahilaon ki baadi lambi katar lag jayegi aur dhakadhak sona chaandi bikri hote ho aapko nazar aayenge kya uske daam badh jaaye ghat jaaye usse koi fark nahi padta uske saath saath chahen vaah koi bhi mat lo bartan ki dukaan mein ho ya koi bhi sab se agrah karna chahta hoon ki aaj bharatiya mahilaye ki bahut baadi pratishatataa visheshkar dalit mahilaye visheshkar jo aisi mahilaye jo hamare adiwasi kshetro mein janjatiya kshetro mein rehti hai unki se sabse baadi bimari ka karan hai vaah hai raktalpata hai nimiya aur enimiya ki jo kami hai enimiya ke jo rog hai vaah hai uske peeche sabse bada karan hai loha tatva ki kami toh khoon mein loha tatvon ki kami hone se enimiya enimiya se phir jo hamari mahilaye unka swasthya kharab hota hai aur tamaam prakar se kharab hota hai baad mein jab vaah maa banti hai toh apne toh swasthya kharab rakhti hai karti hi hai saath mein jo aane waale bacche uska bhi swaasth kharab hota hai kam wajan ka paida hota aur saath mein jaundice ke saath bahut saree samasyaon ko vaah aamantran deta hai toh is prakar se dekhen toh pura ka pura swasthya waale nimiya ke dushprabhav se bilkul buri tarike se karah raha hai toh meri yah sab se gujarish kai logo ki gujarish hai aur pura yah vatavaran bana hua hai ki sona aur chaandi par gaur na kar ke loha tatva par gaur karna chahiye bharat ki mahilaon ko aise chijon ko grahan karna chahiye jisse loha tatvon ke khoon mein bade vaah kuposhan se mukti paen poshan ki taraf badhe paryapt matra mein doodh fal sabjiyan tamaam aisi chijon ko le jinse unka yah kuposhan dur ho toh isko bhi dhyan mein rakhakar hum puja path kare toh kaafi mahatvapurna hai aur is prakar se mujhko celebrate kare toh ek naye prakar ka celebration hamare saamne all the very best

हिंदू धर्म शास्त्र में आज का दिन बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि आज के दिन का जो पूजन है वह आदम

Romanized Version
Likes  107  Dislikes    views  2460
WhatsApp_icon
user
0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धनतेरस पर रोक सोना चांदी का युद्ध किस दिन खरीदा गया था अविनाश नहीं होता है इसलिए लोग धनतेरस पर अधिकांश सोना-चांदी बर्तन इलेक्ट्रॉनिक सामान खरीद बनी रहे और घर में लक्ष्मी का आगमन

dhanteras par rok sona chaandi ka yudh kis din kharida gaya tha avinash nahi hota hai isliye log dhanteras par adhikaansh sona chaandi bartan electronic saamaan kharid bani rahe aur ghar mein laxmi ka aagaman

धनतेरस पर रोक सोना चांदी का युद्ध किस दिन खरीदा गया था अविनाश नहीं होता है इसलिए लोग धनतेर

Romanized Version
Likes  61  Dislikes    views  1670
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धनतेरस पर लोग सोना चांदी खरीदने पर जोर देते हैं धनतेरस में जो लोग मानते हैं कि मुख्य लक्ष्य का शुभ योग होता है और उस दिन में पीली धातु मुझे सोना चांदी पीतल के बर्तन हो या तांबे के बर्तन है उसका खरीदारी करें भाई जी खिलाकर दिन उसकी पूजा करते हैं लक्ष्मी की पूजा करते हैं

dhanteras par log sona chaandi kharidne par jor dete hain dhanteras mein jo log maante hain ki mukhya lakshya ka shubha yog hota hai aur us din mein pili dhatu mujhe sona chaandi pital ke bartan ho ya tambe ke bartan hai uska kharidari kare bhai ji khilakar din uski puja karte hain laxmi ki puja karte hain

धनतेरस पर लोग सोना चांदी खरीदने पर जोर देते हैं धनतेरस में जो लोग मानते हैं कि मुख्य लक्ष्

Romanized Version
Likes  61  Dislikes    views  1172
WhatsApp_icon
user

Girijakant Singh

Founder/ President Yog Bharati Foundation Trust

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है धनतेरस पर लोग सोना चांदी खरीदने का क्यों जोड़ देते हैं देखिए धनत्रयोदशी जो है यह भगवान धन्वंतरी का जन्मदिन है और स्वास्थ्य को लेकर है तो इसीलिए इसमें जो है आयुर्वेद के जो जन्मदाता हैदर मंत्री उनका युग में भी योगदान माना जाता है तो उनका जन्मदिन विशेष बनाते हैं और रही बात सोना या चांदी खरीदने का अपना पर्सनल विचार है कोई भी त्यौहार बना है उस पर बिक्री ज्यादा हो व्यापार ज्यादा बढ़े इसके लिए लोग धनतेरस मनाते हैं उसका प्रचार प्रसार करते हैं इससे ज्यादा मुझे और कुछ नहीं लगता धन्यवाद

aapka prashna hai dhanteras par log sona chaandi kharidne ka kyon jod dete hain dekhiye dhanatrayodshi jo hai yah bhagwan dhanwantari ka janamdin hai aur swasthya ko lekar hai toh isliye isme jo hai ayurveda ke jo janmadata haider mantri unka yug mein bhi yogdan mana jata hai toh unka janamdin vishesh banate hain aur rahi baat sona ya chaandi kharidne ka apna personal vichar hai koi bhi tyohar bana hai us par bikri zyada ho vyapar zyada badhe iske liye log dhanteras manate hain uska prachar prasaar karte hain isse zyada mujhe aur kuch nahi lagta dhanyavad

आपका प्रश्न है धनतेरस पर लोग सोना चांदी खरीदने का क्यों जोड़ देते हैं देखिए धनत्रयोदशी जो

Romanized Version
Likes  145  Dislikes    views  1817
WhatsApp_icon
user

Vimla Bidawatka

Spiritual Thinker

1:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

धनतेरस पर लोग सोना चांदी खरीदने पर जोर इसलिए देते हैं क्योंकि पहले के लोगों का कहना था कि सोना चांदी बहुत गुड इन्वेस्टमेंट है यह सच है तो बाकी की कोई भी चीज हम खरीदे तो तुरंत उसको खर्च कर सकते हैं लेकिन ही ऐसी चीज है जो पड़ी रहती है तो जमा होती है और इसकी वैल्यू बढ़ती है कुछ ऐसा नहीं है कि सोना खरीदने से बहुत पैसा आएगा या कई लोग बोलते सोना खरीदना चाहिए लक्ष्मी आती है तो लक्ष्मी आती है मतलब सोना खरीदोगे तो लक्ष्मी तो ऑलरेडी आ गई है उसकी वैल्यू कुछ ना कुछ बढ़ेगी लेकिन मुझे लगता है यह पहले की बात थी अब आजकल ऐसी बात नहीं रही है कि कोई बहुत ज्यादा यह इन सब चीजों की सोना चांदी की वैल्यू बढ़ती है पर ठीक है पहले के लोगों का बस सिर्फ इसीलिए कहना था कि यह एक चीज धीरे-धीरे करके जमा होती जाती है ऐसा के रूप में इनकी वैल्यू बढ़ती है और इसका मुझे नहीं लगता है ऐसा कोई खास अपनी हैसियत के अनुसार आप सोना खरीदो तो सोना है या चांदी अब आजकल कई लोग हैं जो बोलते हैं कि अगर वह भी सोना चांदी है फोन नहीं कर सकते हैं तो वह बर्तन खरीद लेते हैं पर यह चीज है कि तुरंत खत्म नहीं होती है ना एक तरह का इन्वेस्टमेंट है घर में काम आती है तो बस इसीलिए जोर देते हैं कि इस बहाने फेस्टिवल के बहाने हम कोई चीज खरीदे और खरीद के फिजूलखर्ची करने की बजाय यह सब चीजें खरीद के रखे तो इनकी वैल्यू बढ़ेगी थैंक यू हैप्पी धनतेरस

dhanteras par log sona chaandi kharidne par jor isliye dete hain kyonki pehle ke logo ka kehna tha ki sona chaandi bahut good investment hai yah sach hai toh baki ki koi bhi cheez hum kharide toh turant usko kharch kar sakte hain lekin hi aisi cheez hai jo padi rehti hai toh jama hoti hai aur iski value badhti hai kuch aisa nahi hai ki sona kharidne se bahut paisa aayega ya kai log bolte sona kharidna chahiye laxmi aati hai toh laxmi aati hai matlab sona kharidoge toh laxmi toh already aa gayi hai uski value kuch na kuch badhegi lekin mujhe lagta hai yah pehle ki baat thi ab aajkal aisi baat nahi rahi hai ki koi bahut zyada yah in sab chijon ki sona chaandi ki value badhti hai par theek hai pehle ke logo ka bus sirf isliye kehna tha ki yah ek cheez dhire dhire karke jama hoti jaati hai aisa ke roop mein inki value badhti hai aur iska mujhe nahi lagta hai aisa koi khaas apni haisiyat ke anusaar aap sona kharido toh sona hai ya chaandi ab aajkal kai log hain jo bolte hain ki agar vaah bhi sona chaandi hai phone nahi kar sakte hain toh vaah bartan kharid lete hain par yah cheez hai ki turant khatam nahi hoti hai na ek tarah ka investment hai ghar mein kaam aati hai toh bus isliye jor dete hain ki is bahaane festival ke bahaane hum koi cheez kharide aur kharid ke fijulakharchi karne ki bajay yah sab cheezen kharid ke rakhe toh inki value badhegi thank you happy dhanteras

धनतेरस पर लोग सोना चांदी खरीदने पर जोर इसलिए देते हैं क्योंकि पहले के लोगों का कहना था कि

Romanized Version
Likes  57  Dislikes    views  1315
WhatsApp_icon
user
0:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्योंकि लोगों का मानना है कि धनतेरस पर सोना चांदी खरीदने से घर में खुशहाली आती है

kyonki logo ka manana hai ki dhanteras par sona chaandi kharidne se ghar mein khushahali aati hai

क्योंकि लोगों का मानना है कि धनतेरस पर सोना चांदी खरीदने से घर में खुशहाली आती है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  22
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!