#KamleshTiwari: क्या पैग़म्बर पर विवादित बयान देने के लिए हिंदू महासभा के नेता कमलेश तिवारी को गोली मारी गई? आपकी क्या राय है?...


user

Vedachary Pathak Singrauli

सनातन सुरक्षा परिषद् संस्थापक

4:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो मित्र नमस्कार देखिए आपने पूछा है कमलेश तिवारी जी को क्या पैगंबर पर विवादित बयान देने के लिए हिंदू महासभा के नेता जो थे क्या इस कारण से उन्हें गोली मारी गई तो दिखी बिल्कुल हो सकता है और सिर्फ विवादित बयान देने से नहीं उनकी कार्यशैली उनकी लोकप्रियता उनके सनातन और हिंदू की प्रचार शैली के भी खिलाफ में लोग जाकर के और उनके खिलाफ साजिश रच सकते हैं हालांकि कुछ साल पहले उन्होंने कुछ बयान ऐसे दिए थे बिजनौर के एक मौलाना द्वारा उनके सर कलम करने के लिए एग्जाम ₹100000 राशि का ऐलान किया था उसी केस को लेकर के तो हो सकता है कि कहीं ना कहीं वह मुख्य कारण रहा हो लेकिन अगर इस प्रकार से देश में होगा तो बहुत से ऐसे मौलाना मौलवी या मुस्लिम या मुस्लिम नेता है जो हिंदी देवी देवताओं को सरेआम भरे मंच पर गलत शब्दों का प्रयोग करते रहते हैं और धैर्य आप सोची कि हिंदू समाज सनातन समाज कितना धैर्य उसके पास होता है किसी प्रकार से हत्या करने में या इस प्रकार की प्रतिक्रिया करने में कभी बुआ के कभी नहीं उठा रहा है तो यहां तो स्पष्ट तौर पर उसी समय का दिया गया था कि कमलेश तिवारी क्या सर लाने पर एग्जाम ₹100000 दिए जाएंगे तो आपका सकते हैं कि यही कारण रहा होगा जिससे कि गोली मारी गई लेकिन याद रहे खाली गोली नहीं मारी गई उनकी हत्या निर्मम हत्या की गई चाकू से गला काट कर उनका हत्या किया गया जिस प्रकार से एक बोलतन हलाल करना तो इंसानियत को मारा गया ना कि इंसान को मारा गया है वहां का दूसरा सबसे बड़ा सवाल होता है अखिलेश सरकार में उनकी सुरक्षा के लिए 17 गार्ड दिए गए थे जबकि बीजेपी सरकार में 4 कार्ड दे गए थे और उस दिन पहले शायद कहीं ना कहीं से प्रायोजित घटना भी कह सकते हैं क्योंकि उस दिन पहले 4 में से भी इनसिक्योरिटी विद्रोह कर ले गए थे सिर्फ एक ही गार्डन के पास था और वह भी रिटायर्ड अवस्था का था और उसके पास कोई हथियार नहीं होता था सिर्फ और चौकीदार जॉब सिक्योरिटी गार्ड डंडे लेकर चौकी कर चौकीदारी करते हैं सिर्फ वही डंडा उसके पास था और अंदर जाकर उन अपराधियों ने हत्या किया उनका वह बाहर भी भाग गए और नीचे बैठे उस सिक्योरिटी को पता भी नहीं चला कि क्या हुआ हालांकि जो कुछ भी हुआ इसका निष्पक्ष जांच होनी चाहिए जिनके भी तारो से जुड़े हैं जन संगठन जन संस्था जिन मौलाना जनमुक्ति हिंदूवादी संगठन जिस राजनेता नेता इसके भी ऐसे केसों से किसी भी प्रकार का लिंक होता है सबसे बड़ा दोषी करार उसे देखकर उसके ऊपर अभियोग चलाकर उसे उचित दंड देकर उनके परिजनों को न्याय दिलाने का प्रयास उत्तर प्रदेश सरकार अर्थात योगी जी को करना चाहिए धन्यवाद

hello mitra namaskar dekhiye aapne poocha hai kamlesh tiwari ji ko kya paigambar par vivaadit bayan dene ke liye hindu mahasabha ke neta jo the kya is karan se unhe goli mari gayi toh dikhi bilkul ho sakta hai aur sirf vivaadit bayan dene se nahi unki karyashaili unki lokpriyata unke sanatan aur hindu ki prachar shaili ke bhi khilaf mein log jaakar ke aur unke khilaf saajish rach sakte hain halanki kuch saal pehle unhone kuch bayan aise diye the bijnor ke ek maulana dwara unke sir kalam karne ke liye exam Rs rashi ka elaan kiya tha usi case ko lekar ke toh ho sakta hai ki kahin na kahin vaah mukhya karan raha ho lekin agar is prakar se desh mein hoga toh bahut se aise maulana maulavi ya muslim ya muslim neta hai jo hindi devi devatao ko sareaam bhare manch par galat shabdon ka prayog karte rehte hain aur dhairya aap sochi ki hindu samaaj sanatan samaaj kitna dhairya uske paas hota hai kisi prakar se hatya karne mein ya is prakar ki pratikriya karne mein kabhi buaa ke kabhi nahi utha raha hai toh yahan toh spasht taur par usi samay ka diya gaya tha ki kamlesh tiwari kya sir lane par exam Rs diye jaenge toh aapka sakte hain ki yahi karan raha hoga jisse ki goli mari gayi lekin yaad rahe khaali goli nahi mari gayi unki hatya nirmam hatya ki gayi chaku se galaa kaat kar unka hatya kiya gaya jis prakar se ek bolatan halal karna toh insaniyat ko mara gaya na ki insaan ko mara gaya hai wahan ka doosra sabse bada sawaal hota hai akhilesh sarkar mein unki suraksha ke liye 17 guard diye gaye the jabki bjp sarkar mein 4 card de gaye the aur us din pehle shayad kahin na kahin se prayojeet ghatna bhi keh sakte hain kyonki us din pehle 4 mein se bhi inasikyoriti vidroh kar le gaye the sirf ek hi garden ke paas tha aur vaah bhi retired avastha ka tha aur uske paas koi hathiyar nahi hota tha sirf aur chaukidaar job Security guard dande lekar chowki kar chaukidari karte hain sirf wahi danda uske paas tha aur andar jaakar un apradhiyon ne hatya kiya unka vaah bahar bhi bhag gaye aur neeche baithe us Security ko pata bhi nahi chala ki kya hua halanki jo kuch bhi hua iska nishpaksh jaanch honi chahiye jinke bhi taroon se jude hain jan sangathan jan sanstha jin maulana janmukti hinduvaadi sangathan jis raajneta neta iske bhi aise keson se kisi bhi prakar ka link hota hai sabse bada doshi karar use dekhkar uske upar abhiyog chalakar use uchit dand dekar unke parijanon ko nyay dilaane ka prayas uttar pradesh sarkar arthat yogi ji ko karna chahiye dhanyavad

हेलो मित्र नमस्कार देखिए आपने पूछा है कमलेश तिवारी जी को क्या पैगंबर पर विवादित बयान देने

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  535
KooApp_icon
WhatsApp_icon
6 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
kuchh aisa kar kamateraho jaan ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!