खुफिया एजेंसियों ने दिल्ली पुलिस को आतंकवादी हमले का एक अलर्ट दिया है। क्या आपको लगता है कोई हमला होगा?...


user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब भी किसी राजकीय से की सुरक्षा बढ़ाई जाती है तो उसके पीछे यह कारण होता है कि खुफिया एजेंसी इसके द्वारा इंटेलिजेंस ब्यूरो के द्वारा कुछ रिपोर्ट मिली है जिसमें की शेर की जो कुछ महत्वपूर्ण इलाके हैं जहां भीलवाड़ा देख लेती है या जहां पर होने लगती है यानी कि थोड़ी विकनेस है तो टाइप किया जाता कि कोई असामाजिक तत्वों द्वारा अपनी - की जा सके इसके लिए जरूरी के हमला के लिए हो अगर आपको पुलिस की जगह पर जाता दिखाई देती है तो मैनेजमेंट के लिए भी हो सकती है क्योंकि दिल्ली एक अक्षर किस देश की राजधानी है और वहां पर कुछ भी अगर अपनी होता है तो डेफिनेटली न सिर्फ दिल्ली के लिए खराब होगा बल्कि देश की छवि को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी थोड़ा खराब करने का काम कर सकता है इसलिए माना जा सकता है कि जो जितनी भी ट्रेन सागर रिपोर्ट दे दी है तू जल्दी को रखा जाता है इसमें भी यही हुआ था कश्मीर की एमपी 17 टाइगर थी तभी दिल्ली को आज नेटवर्क आ गया तो डरने वाली बात नहीं है आप सुरक्षित हैं आप मैं आराम से मार्केट में घूमी है आप जहां जाना चाहते हो जा सकते हैं कोई ऐसी परेशानी वाली बात नहीं धन्यवाद

jab bhi kisi rajkiya se ki suraksha badhai jaati hai toh uske peeche yah karan hota hai ki khufiya agency iske dwara intelligence bureau ke dwara kuch report mili hai jisme ki sher ki jo kuch mahatvapurna ilaake hain jaha bhilwara dekh leti hai ya jaha par hone lagti hai yani ki thodi weakness hai toh type kiya jata ki koi asamajik tatvon dwara apni ki ja sake iske liye zaroori ke hamla ke liye ho agar aapko police ki jagah par jata dikhai deti hai toh management ke liye bhi ho sakti hai kyonki delhi ek akshar kis desh ki rajdhani hai aur wahan par kuch bhi agar apni hota hai toh definetli na sirf delhi ke liye kharab hoga balki desh ki chhavi ko antararashtriya sthar par bhi thoda kharab karne ka kaam kar sakta hai isliye mana ja sakta hai ki jo jitni bhi train sagar report de di hai tu jaldi ko rakha jata hai isme bhi yahi hua tha kashmir ki mp 17 tiger thi tabhi delhi ko aaj network aa gaya toh darane wali baat nahi hai aap surakshit hain aap main aaram se market mein ghumi hai aap jaha jana chahte ho ja sakte hain koi aisi pareshani wali baat nahi dhanyavad

जब भी किसी राजकीय से की सुरक्षा बढ़ाई जाती है तो उसके पीछे यह कारण होता है कि खुफिया एजेंस

Romanized Version
Likes  50  Dislikes    views  997
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!