शिक्षण सबसे महत्वपूर्ण पेशा क्यों है?...


play
user

Niraj Devani

PHILOSOPHER

1:44

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं एक शिक्षक हूं तो मैं तो इसके ऊपर बहुत अगर आप बोले तो मैं घंटों तक बोल सकता हूं लेकिन अगर बहुत शॉर्ट में बताया कि शिक्षण सबसे महत्वपूर्ण क्यों है पैसा तो मैं कहना चाहूंगा कि आप देखिए कोई भी एक शिक्षक के अलावा कोई भी हो या ही डॉक्टर हो वकील हो इंजीनियर हो कोई भी हो तू जो पढ़े-लिखे आगे बढ़ा है उसे मिली है क्या उससे पूछेगा कि आपके जीवन को इतनी बढ़िया तरीके से आप ने बनाया है उसके पीछे किसका हाथ है सबसे बड़ा तो किसी ना किसी शिक्षक का नाम वह अवश्य लेगा और आप अगर उससे पूछेंगे कि आपने आप अपने जीवन में किस से आपने इतना बढ़िया तरीके से जीवन जीना सिखा और इतना आगे बढ़े तो उसके पीछे गुरुजी उसके गुरु का हाथ अवश्य होगा तो शिक्षण शिक्षक एक ऐसी राह है जो खुद वही रहती लेकिन औरों को मंजिल तक पहुंचाती है इसी तरह से एक शिक्षक अपने बच्चों को अपने वर्ग में अपने क्लास में जितने भी बच्चे उनके पास आते हैं उनमें से अलग-अलग बच्चों को किस तरह से पढ़ाई कराना है उसे किस तरह से किस क्षेत्र में आगे बढ़ी होते ही करना है उनको सब उस तरह से तैयार करना है वह सब एक शिक्षक के हाथ में होता तो जितना बढ़िया शिक्षक उतना ही बढ़िया शिक्षण होगा और जितना बढ़िया शिक्षण होगा उतने ही देश के बच्चे और देश के युवा आगे बढ़ेंगे तो पूरे देश का भविष्य एक शिक्षक के हाथों नहीं होता है और कितना बढ़िया शिक्षक और शिक्षण होगा उतना ही वह देश आगे बढ़ेगा

main ek shikshak hoon toh main toh iske upar bahut agar aap bole toh main ghanto tak bol sakta hoon lekin agar bahut short mein bataya ki shikshan sabse mahatvapurna kyon hai paisa toh main kehna chahunga ki aap dekhiye koi bhi ek shikshak ke alava koi bhi ho ya hi doctor ho vakil ho engineer ho koi bhi ho tu jo padhe likhe aage badha hai use mili hai kya usse puchhega ki aapke jeevan ko itni badhiya tarike se aap ne banaya hai uske peeche kiska hath hai sabse bada toh kisi na kisi shikshak ka naam vaah avashya lega aur aap agar usse puchenge ki aapne aap apne jeevan mein kis se aapne itna badhiya tarike se jeevan jeena sikha aur itna aage badhe toh uske peeche guruji uske guru ka hath avashya hoga toh shikshan shikshak ek aisi raah hai jo khud wahi rehti lekin auron ko manjil tak pohchti hai isi tarah se ek shikshak apne baccho ko apne varg mein apne kashi mein jitne bhi bacche unke paas aate hain unmen se alag alag baccho ko kis tarah se padhai krana hai use kis tarah se kis kshetra mein aage badhi hote hi karna hai unko sab us tarah se taiyar karna hai vaah sab ek shikshak ke hath mein hota toh jitna badhiya shikshak utana hi badhiya shikshan hoga aur jitna badhiya shikshan hoga utne hi desh ke bacche aur desh ke yuva aage badhenge toh poore desh ka bhavishya ek shikshak ke hathon nahi hota hai aur kitna badhiya shikshak aur shikshan hoga utana hi vaah desh aage badhega

मैं एक शिक्षक हूं तो मैं तो इसके ऊपर बहुत अगर आप बोले तो मैं घंटों तक बोल सकता हूं लेकिन अ

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  429
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

3:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने कहा शिक्षण सबसे महत्वपूर्ण पैसा क्यों है शिक्षण का अर्थात टीचिंग अट ठाट किसी को ज्ञान देना नेटवर्क यहां से करता हूं इस संसार में जितने भी प्राणी है किसी भी पेशे में चाहे वह ट्रेडिशनल हो चाहे वह प्रोफेशनल हो चाहे वह केस ना लो चाहे वह टेक्निकल किसी भी क्षेत्र में उन्होंने नाम कमाया है चाहे वह खेलो इन सब के पीछे एक सफलता की भूमिका का आधार उनके गुरुजनों से इसीलिए अगर कोई विद्या की सफलता प्राप्त करता है चाय जो हमारे देश के चीफ जस्टिस गोगोई चरणों या हमारी देश की फार्मर आरबीआई गवर्नर राजन जी हो या पार्टनर प्राइम मिनिस्टर श्री मनमोहन सिंह जी हूं यह हमारे अब्दुल कलाम जीवन फॉर्मर प्रेसिडेंट अब्दुल कलाम की न्यू इस तरह बहुत से महान लोगों ने इन सब की सफलता में गुरुओं का नाटक विराट कोहली की बात ले लेते हैं दिल्ली की एक मैच चल रहा था दिल्ली टीम के साथ अरुण नेट में विराट कोहली की खेलने के बच्चा था जब यह उसी दौरान की पिताजी का तब वास हो गया था इनकी माताजी ने यह कहा कि बेटा जाओ पहले तुम दिल्ली के लिए मैच खेल कराओ और उसके बाद पेट्रोल अन्य कार्यक्रम में दुखों में शामिल हुए थे उन्होंने हिम्मत बनाकर इन्हें दिल्ली की टीम से खेलने का अवसर दिया और दिल्ली की टीम को इन्होंने फालना से बचाया आज वही विराट कोहली अब देखिए उसको जिन्हें विराट कोहली के अंदर एक अगली भर दी आज वही विराट कोहली विश्व के जाने-माने क्रिकेटर ने तो उन्होंने क्रिकेट का ज्ञान दिया क्रिकेट की शिक्षा दी तोहर अध्यापक अपने विषय अनुसार अपने ज्ञान उतार अपने विद्यार्थियों को ज्ञान देने का प्रयास करता है इसलिए मैं मान कर चलता हूं कि दुनिया के सभी परसों से अच्छा शिक्षण का पैसा है क्योंकि दुनिया का कोई भी पैसा केवल एक व्यक्ति तैयार कर सकता है लेकिन मैं आपको दावे से कहता हूं कि शिक्षा नहीं कैसा पैसा है पैसा है जो संसार के हर व्यक्ति को हर पेशे को तैयार करता है चाहे वो इंजीनियर हो चाहे वह जो चाहे वो डॉक्टर हो चाहे वह जाटों को चाहे वह आर्मी की कमांडेंट ऑफिसर कोई शिक्षक के सहयोग से ही तैयार होता है इसलिए यह पैसा बहुत महत्वपूर्ण है

aapne kaha shikshan sabse mahatvapurna paisa kyon hai shikshan ka arthat teaching attack thaat kisi ko gyaan dena network yahan se karta hoon is sansar mein jitne bhi prani hai kisi bhi peshe mein chahen vaah traditional ho chahen vaah professional ho chahen vaah case na lo chahen vaah technical kisi bhi kshetra mein unhone naam kamaya hai chahen vaah khelo in sab ke peeche ek safalta ki bhumika ka aadhaar unke gurujanon se isliye agar koi vidya ki safalta prapt karta hai chai jo hamare desh ke chief justice gogoi charno ya hamari desh ki farmer RBI governor rajan ji ho ya partner prime minister shri manmohan Singh ji hoon yah hamare abdul kalam jeevan former president abdul kalam ki new is tarah bahut se mahaan logo ne in sab ki safalta mein guruon ka natak virat kohli ki baat le lete hain delhi ki ek match chal raha tha delhi team ke saath arun net mein virat kohli ki khelne ke baccha tha jab yah usi dauran ki pitaji ka tab was ho gaya tha inki mataji ne yah kaha ki beta jao pehle tum delhi ke liye match khel karao aur uske baad petrol anya karyakram mein dukhon mein shaamil hue the unhone himmat banakar inhen delhi ki team se khelne ka avsar diya aur delhi ki team ko inhone falna se bachaya aaj wahi virat kohli ab dekhiye usko jinhen virat kohli ke andar ek agli bhar di aaj wahi virat kohli vishwa ke jaane maane cricketer ne toh unhone cricket ka gyaan diya cricket ki shiksha di tohar adhyapak apne vishay anusaar apne gyaan utar apne vidyarthiyon ko gyaan dene ka prayas karta hai isliye main maan kar chalta hoon ki duniya ke sabhi parso se accha shikshan ka paisa hai kyonki duniya ka koi bhi paisa keval ek vyakti taiyar kar sakta hai lekin main aapko daave se kahata hoon ki shiksha nahi kaisa paisa hai paisa hai jo sansar ke har vyakti ko har peshe ko taiyar karta hai chahen vo engineer ho chahen vaah jo chahen vo doctor ho chahen vaah jaaton ko chahen vaah army ki commandent officer koi shikshak ke sahyog se hi taiyar hota hai isliye yah paisa bahut mahatvapurna hai

आपने कहा शिक्षण सबसे महत्वपूर्ण पैसा क्यों है शिक्षण का अर्थात टीचिंग अट ठाट किसी को ज्ञा

Romanized Version
Likes  65  Dislikes    views  1291
WhatsApp_icon
user
0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें जन्मदिन है तो मां-बाप के हाथ में होता है अब को जन्म देते हैं जीवन के नियमों का पालन करें अपने आसपास के लोगों के लिए सामाजिक में अध्यापक का महत्व

dekhen janamdin hai toh maa baap ke hath mein hota hai ab ko janam dete hain jeevan ke niyamon ka palan kare apne aaspass ke logo ke liye samajik mein adhyapak ka mahatva

देखें जन्मदिन है तो मां-बाप के हाथ में होता है अब को जन्म देते हैं जीवन के नियमों का पालन

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  385
WhatsApp_icon
user

Usha Batra

Beauty Therapist

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पूरी जिंदगी को सेट करने का मकसद मकसद तो क्या पूरी लाइफ इस आरक्षण पर होती है सबसे सम्मानजनक फैशन जो आज के देश पर शिक्षण शिक्षण ही एक ऐसी प्रोसेस है जिसके तहत हम बड़ी ईमानदारी के साथ ईमानदारी का गुण रखते हुए रोजगार के साधन को बनाते हुए देश के अप्लाई कर सकते हैं

puri zindagi ko set karne ka maksad maksad toh kya puri life is aarakshan par hoti hai sabse sammanjanak fashion jo aaj ke desh par shikshan shikshan hi ek aisi process hai jiske tahat hum badi imaandaari ke saath imaandaari ka gun rakhte hue rojgar ke sadhan ko banate hue desh ke apply kar sakte hain

पूरी जिंदगी को सेट करने का मकसद मकसद तो क्या पूरी लाइफ इस आरक्षण पर होती है सबसे सम्मानजन

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  149
WhatsApp_icon
user

mukeshkoushal73

I am teacher

0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिक्षण एक महत्वपूर्ण पैसा क्यों है इससे पहले मैं यह बताना चाहूंगा कि दुनिया में बहुत सारे काम है जिन्हें व्यक्ति करके अपनी आजीविका प्राप्त करता है चाहे वह डॉक्टर बने चाहे वह इंजीनियर बने चाहे वह एक आर्मी मैन बने चाहे वह पायलट बने चाहे वो कोई राष्ट्रपति बने प्राप्त करें परंतु शिक्षा एक ऐसा है जो व्यक्ति को आज ही उपलब्ध कराता है साथ ही साथ एक अच्छे नागरिक बनाने की जिम्मेदारी भी उसके पास होती है एक अच्छे समाज का निर्माण बगैर शिक्षकों के संभव नहीं है इस दुनिया में जिन देशों की शिक्षण व्यवस्था सबसे अच्छी है उस देश का विकास सबसे आगे है

shikshan ek mahatvapurna paisa kyon hai isse pehle main yah bataana chahunga ki duniya mein bahut saare kaam hai jinhen vyakti karke apni aajiwika prapt karta hai chahen vaah doctor bane chahen vaah engineer bane chahen vaah ek army man bane chahen vaah pilot bane chahen vo koi rashtrapati bane prapt kare parantu shiksha ek aisa hai jo vyakti ko aaj hi uplabdh karata hai saath hi saath ek acche nagarik banane ki jimmedari bhi uske paas hoti hai ek acche samaj ka nirmaan bagair shikshakon ke sambhav nahi hai is duniya mein jin deshon ki shikshan vyavastha sabse achi hai us desh ka vikas sabse aage hai

शिक्षण एक महत्वपूर्ण पैसा क्यों है इससे पहले मैं यह बताना चाहूंगा कि दुनिया में बहुत सारे

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  140
WhatsApp_icon
user

Chandrawat sir

Teacher - Chemistry

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिक्षण सबसे महत्वपूर्ण पैसा इसलिए माना जाता है क्योंकि शिक्षण किसी भी व्यक्ति के अंदर छुपी प्रतिभा को निखार कर बाहर लाता है उसको नकारात्मकता से दूर ले जाकर सकारात्मकता की ओर बढ़ाता है शिक्षण प्रक्रिया के माध्यम से किसी व्यक्ति के अंदर उपस्थित सूचियों का विकास किया जाता है उसके अंदर छुपी प्रतिभा को बाहर निकाला जाता है जिससे वह अपने जीवन में इन सभी कामों को हासिल करता है जिसके लिए वह बना है

shikshan sabse mahatvapurna paisa isliye mana jata hai kyonki shikshan kisi bhi vyakti ke andar chhupee pratibha ko nikhaar kar bahar lata hai usko nakaratmakta se dur le jaakar sakaraatmakata ki aur badhata hai shikshan prakriya ke madhyam se kisi vyakti ke andar upasthit soochiyon ka vikas kiya jata hai uske andar chhupee pratibha ko bahar nikaala jata hai jisse vaah apne jeevan mein in sabhi kaamo ko hasil karta hai jiske liye vaah bana hai

शिक्षण सबसे महत्वपूर्ण पैसा इसलिए माना जाता है क्योंकि शिक्षण किसी भी व्यक्ति के अंदर छु

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  212
WhatsApp_icon
user

Karishma

Professor

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिक्षक सबसे महत्वपूर्ण पेशा क्यों है पहली बार तो वह पैसा नहीं है यह सर्विस से जो हम लोगों को प्रोवाइड कर रहे होते हैं हमारे ज्ञान से हम शिक्षक हैं हम ज्ञान बढ़ाते हैं लोगों का हम बांटते हैं तो यह कोई व्यवसाय नहीं है इसे व्यवसाई ना कहा जाए तो बहुत अच्छी बात है क्योंकि हम कहीं ना कहीं एक समाज सेवा करते हैं जान किसी को ज्ञान बांट रहे होते तो हम कहीं ना कहीं उस इंसान इंसान के ऊपर बहुत ज्यादा एक अपनी छाप छोड़ रहे होते हैं तो इसलिए यह सबसे ज्यादा एक सबसे महत्वपूर्ण सेवा है जो हम अपने देश के लिए करते हैं

shikshak sabse mahatvapurna pesha kyon hai pehli baar toh vaah paisa nahi hai yah service se jo hum logo ko provide kar rahe hote hain hamare gyaan se hum shikshak hain hum gyaan badhate hain logo ka hum bantate hain toh yah koi vyavasaya nahi hai ise vyavasai na kaha jaaye toh bahut achi baat hai kyonki hum kahin na kahin ek samaj seva karte hain jaan kisi ko gyaan baant rahe hote toh hum kahin na kahin us insaan insaan ke upar bahut zyada ek apni chhaap chod rahe hote hain toh isliye yah sabse zyada ek sabse mahatvapurna seva hai jo hum apne desh ke liye karte hain

शिक्षक सबसे महत्वपूर्ण पेशा क्यों है पहली बार तो वह पैसा नहीं है यह सर्विस से जो हम लोगों

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  2
WhatsApp_icon
user

Kesharram

Teacher

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिक्षण सबसे महत्वपूर्ण पैसा क्यों है दोस्तों हमारे जीवन में जो उतार-चढ़ाव आते हैं वह शिक्षण के वजह से ही आते हैं क्योंकि हमें शिक्षा मिलती है गुणवत्तापूर्ण मिलती है इससे हमारे व्यवहार में परिवर्तन आता है और दोस्तों हम क्या है कि शिक्षा के माध्यम से आज हमारे देश उन्नति की ओर बढ़ रहे हैं और इसलिए दोस्तों आपको पता है कि जिससे तरह से विकास होता है और उस विकास पर आपको पता है पैसा लगता है इसलिए दोस्तों शिक्षण सबसे महत्वपूर्ण पैसा इसलिए है कि हमारे जीवन में उन्होंने अमूल चूल परिवर्तन लाए हैं और हमें सही दिशा दी है सही सोच के साथ में आगे बढ़ाएं हैं हमारे ज्ञान वर्धन जो जो सहयोग किया है वह शिक्षण का कार्य है इसलिए दोस्तों शिक्षण हमारे जीवन में क्योंकि चोर उसको चुरा नहीं सकता और भाई उसको बंटवारा नहीं कर सकता और शिक्षा में किसी का साथ नहीं होता है जो शिक्षण शिक्षा ग्रहण करता है वह उसी की शिक्षा होती है और इसलिए दोस्तों शिक्षा सबसे बड़ा पैसा है महत्वपूर्ण कैसा है आशा करता हूं कैसे जी द्वारा दी गई जानकारी से आप संतुष्ट होंगे धन्यवाद दोस्तों

shikshan sabse mahatvapurna paisa kyon hai doston hamare jeevan mein jo utar chadhav aate hain vaah shikshan ke wajah se hi aate hain kyonki hamein shiksha milti hai gunavattaapoorn milti hai isse hamare vyavhar mein parivartan aata hai aur doston hum kya hai ki shiksha ke madhyam se aaj hamare desh unnati ki aur badh rahe hain aur isliye doston aapko pata hai ki jisse tarah se vikas hota hai aur us vikas par aapko pata hai paisa lagta hai isliye doston shikshan sabse mahatvapurna paisa isliye hai ki hamare jeevan mein unhone amul chula parivartan laye hain aur hamein sahi disha di hai sahi soch ke saath mein aage badhaye hain hamare gyaan vardhan jo jo sahyog kiya hai vaah shikshan ka karya hai isliye doston shikshan hamare jeevan mein kyonki chor usko chura nahi sakta aur bhai usko batwara nahi kar sakta aur shiksha mein kisi ka saath nahi hota hai jo shikshan shiksha grahan karta hai vaah usi ki shiksha hoti hai aur isliye doston shiksha sabse bada paisa hai mahatvapurna kaisa hai asha karta hoon kaise ji dwara di gayi jaankari se aap santusht honge dhanyavad doston

शिक्षण सबसे महत्वपूर्ण पैसा क्यों है दोस्तों हमारे जीवन में जो उतार-चढ़ाव आते हैं वह शिक्ष

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  297
WhatsApp_icon
user

Hari Om Mishra

Motivator/Teacher/SocialWorker

1:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिक्षक अपने आप में सबसे महत्वपूर्ण होता है क्यों क्योंकि एक शिक्षक अगर किसी को शिक्षा देता है तो वहीं शिक्षा अगला व्यक्ति अपने आने वाले दूसरे को इंसान को शिक्षा देता है तो 10 शिक्षक किसी दूसरे को गलत शिक्षा देगा तो उसके हिसाब से और उसके अनुसार सभी जगहों पर वह गलत ज्ञान बांटा जाएगा तो शिक्षक एक ऐसा है जो हमारे समाज को बना भी सकता है और हमारे समाज को बिगाड़ भी सकता है इसलिए शिक्षक की भूमिका सबसे अहम भूमिका है और विनम्र निवेदन है सभी शिक्षकों से ही अपने बच्चों से अपने छात्रों से रोटी बिहार ना करें फ्रेंडली बिहाव करें क्योंकि कुछ बच्चे अब से होते हैं जिन चीजों को एक जॉब कर लेते हैं आपके समझाई चीजो को लेकिन कुछ बच्चे समझ नहीं पाते हैं और आपसे एकदम उखड़ जाते हैं तू हर बच्चे से फ्रेंड करिए और पूछिए कि क्या आपके द्वारा पढ़ाई की चीजें उन्हें समझ आती है या नहीं अगर नहीं आती है तो किस लिए नहीं आती है आप उसकी वजह जानिए और हो सकता है कि आपकी पढ़ाई के तरीके से वह बच्चा कुछ अच्छा कर जाए और आपका नाम

shikshak apne aap mein sabse mahatvapurna hota hai kyon kyonki ek shikshak agar kisi ko shiksha deta hai toh wahi shiksha agla vyakti apne aane waale dusre ko insaan ko shiksha deta hai toh 10 shikshak kisi dusre ko galat shiksha dega toh uske hisab se aur uske anusaar sabhi jagaho par vaah galat gyaan baata jaega toh shikshak ek aisa hai jo hamare samaj ko bana bhi sakta hai aur hamare samaj ko bigad bhi sakta hai isliye shikshak ki bhumika sabse aham bhumika hai aur vinamra nivedan hai sabhi shikshakon se hi apne baccho se apne chhatro se roti bihar na kare friendly bihav kare kyonki kuch bacche ab se hote hai jin chijon ko ek job kar lete hai aapke samjhai cheejo ko lekin kuch bacche samajh nahi paate hai aur aapse ekdam ukhar jaate hai tu har bacche se friend kariye aur puchiye ki kya aapke dwara padhai ki cheezen unhe samajh aati hai ya nahi agar nahi aati hai toh kis liye nahi aati hai aap uski wajah janiye aur ho sakta hai ki aapki padhai ke tarike se vaah baccha kuch accha kar jaaye aur aapka naam

शिक्षक अपने आप में सबसे महत्वपूर्ण होता है क्यों क्योंकि एक शिक्षक अगर किसी को शिक्षा देता

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  407
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे सवाल है शिक्षण सबसे महत्वपूर्ण विषयों जैसे बहुत बड़े बड़े बिजनेसमैन होते हैं बड़े-बड़े उद्योगपतियों से वह बहुत सारे पैसे कमा लेकिन कुछ ऐसा व्यवसाय शिक्षण एक ऐसा व्यवसाय है जिसमें हम सू नागरिक तैयार करते हैं फिर चाहे वह कोई भी कैसा बिजनेस शिक्षण के माध्यम से हम एक अच्छे से अच्छा नागरिक तैयार करते हैं जिसका संपूर्ण विकास सर्वांगीण विकास श्याम के सर्वांगीण विकास करते हैं विकास है मानसिक विकास व बौद्धिक विकास प्रशिक्षण के माध्यम से ही होता है और शिक्षण एक मांधारी वाला व्यवसाय है इसमें किसी तरह का कोई भ्रष्टाचार वही रिश्वतखोरी ऐसे नहीं होते हैं और इससे हम आशिक बनते हैं समाज से जुड़े रहते हैं और जिसे अलग-अलग संस्कृतियों का परिचय हमारे रीति-रिवाजों के बारे में हम समाज का परिचय भी होता है इस प्रकार शिक्षण एक व्यवसाय बहुत अच्छा व्यवसाय है इमानदारी वाला व्यवसाई है और जिससे इज्जत भी बढ़ती है मान सम्मान बढ़ता है और एक ऐसे नागरिक का निर्माण कर देते हैं फिर चाहे वह कैसा भी बिजनेस चला सकते हैं इस प्रकार यह व्यवसाय बहुत अच्छा व्यवसाय इसलिए यह सबसे महत्वपूर्ण है धन्यवाद

dekhe sawaal hai shikshan sabse mahatvapurna vishyon jaise bahut bade bade bussinessmen hote hain bade bade udyogpatiyon se vaah bahut saare paise kama lekin kuch aisa vyavasaya shikshan ek aisa vyavasaya hai jisme hum su nagarik taiyar karte hain phir chahen vaah koi bhi kaisa business shikshan ke madhyam se hum ek acche se accha nagarik taiyar karte hain jiska sampurna vikas Sarvangiṇa vikas shyam ke Sarvangiṇa vikas karte hain vikas hai mansik vikas va baudhik vikas prashikshan ke madhyam se hi hota hai aur shikshan ek mandhari vala vyavasaya hai isme kisi tarah ka koi bhrashtachar wahi rishwat khori aise nahi hote hain aur isse hum aashik bante hain samaj se jude rehte hain aur jise alag alag sanskritiyon ka parichay hamare riti rivajon ke bare mein hum samaj ka parichay bhi hota hai is prakar shikshan ek vyavasaya bahut accha vyavasaya hai imaandari vala vyavasai hai aur jisse izzat bhi badhti hai maan sammaan badhta hai aur ek aise nagarik ka nirmaan kar dete hain phir chahen vaah kaisa bhi business chala sakte hain is prakar yah vyavasaya bahut accha vyavasaya isliye yah sabse mahatvapurna hai dhanyavad

देखे सवाल है शिक्षण सबसे महत्वपूर्ण विषयों जैसे बहुत बड़े बड़े बिजनेसमैन होते हैं बड़े-बड़

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
user
1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न में शिक्षण सबसे महत्वपूर्ण पैसा क्यों है कई प्रकार के होते हैं और समाज में कैसे दिखाई देता है सब कार्य है वास्तव में एक ही श्रेष्ठ कार्य हैं जिस तरह से चाकू की धार धीरे-धीरे करके देखी जाती है उसी प्रकार शिक्षक भी अपने कार्य के प्रति ध्यान रखें अपना को धीरे धीरे परिपूर्ण करता है परिपूर्ण करके वह समाज को एक नई दिशा देता है नई ऊंचाइयां देता है और बोलता है इस फैसले के परिणाम स्वरुप खुद का तो जो विकास बताइए विद्यार्थी का विकास होता है और वह विद्यार्थी भविष्य के नागरिक जो देश के नागरिक बने श्रेष्ठ उपलब्ध कराते हैं वहां भी अपने आप को परिपूर्ण रूप से समर्पित करते हैं इसलिए शिक्षा का जो कार्य है एक महत्वपूर्ण कार्य है अतः अन्यपों शिक्षण को अधिक महत्व दिया जाता है

aapka prashna mein shikshan sabse mahatvapurna paisa kyon hai kai prakar ke hote hain aur samaj mein kaise dikhai deta hai sab karya hai vaastav mein ek hi shreshtha karya hain jis tarah se chaku ki dhar dhire dhire karke dekhi jaati hai usi prakar shikshak bhi apne karya ke prati dhyan rakhen apna ko dhire dhire paripurna karta hai paripurna karke vaah samaj ko ek nayi disha deta hai nayi unchaiyan deta hai aur bolta hai is faisle ke parinam swarup khud ka toh jo vikas bataye vidyarthi ka vikas hota hai aur vaah vidyarthi bhavishya ke nagarik jo desh ke nagarik bane shreshtha uplabdh karate hain wahan bhi apne aap ko paripurna roop se samarpit karte hain isliye shiksha ka jo karya hai ek mahatvapurna karya hai atah anyapon shikshan ko adhik mahatva diya jata hai

आपका प्रश्न में शिक्षण सबसे महत्वपूर्ण पैसा क्यों है कई प्रकार के होते हैं और समाज में कैस

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  150
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!