क्या PG में रहना सुरक्षित विकल्प है या होस्टल में रहना सुरक्षित विकल्प है?...


play
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:23

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

Wikipedia क्षण में रहने की तुलना करें सुरक्षा के विकल्प में तू मेरे हिसाब से PG में रहना ज्यादा सुरक्षित विकल्प है क्योंकि अगर आप हॉस्टल में रहते हो तो आपको हॉस्टल में का नियमों के हिसाब से रहना पड़ता आप कितने बजे ही आना पड़ता है इतने बजे ही जाना पड़ता कर बाहर जा रहे हो तो आपको बता कर जाना होता है तो खाना कहां पर आपको हिंदी पढ़ने सेलिब्रिटी नहीं मिलती है जो की सुरक्षा में बहुत बड़ा रोल खेलती है आपका नंबर बिजी में ऐसा नहीं होता पीछे में आप जो आपको असली बॉडी बहुत होती है आप कभी भी जा सकते कभी भी आ सकते कान्हा कहां पर है इसके लिए प्लीज में रहना चाहते सुरक्षित है क्योंकि पीछे मैं आपको ध्यान रखने वाले होते हैं और नहीं आप को बढ़ने से कोई नहीं हो तो ध्यान रखना अभी जो क्रिकेट करो तो बहुत ही अच्छे होते हैं और फिर वही नहीं अगर आपको पढ़ना है तो पढ़ते समय होटल की पढ़ाई नहीं हो पाते क्योंकि आपको तीन चार लोग थे और रूम में शेयर करना पड़ता है जबकि पीछे में शनि हो तो प्लीज आप आराम से पढ़ सकते हो तो कहो ना कहो पर पीछे में रहना ज्यादा सुरक्षित विकल्प है और भाई नहीं हॉस्टल में जो है आपको कई सालों की तरफ करो चेक करना पड़ता बातों से करना पड़ता है तो कानों का पर आपको इंडिपेंडेंस सेलिब्रिटी वह नहीं मिल पाते जबकि PG में ऐसा नहीं होता पीछे मैं आपको पूरी तरीके से रोटी मिल पाती है जो कि बहुत ही महत्व की चीज है जब भी आप बाहर रहते हो तो मेरे सबसे प्यारी सबसे पीछे में रहना ज्यादा सुरक्षित है

Wikipedia kshan mein rehne ki tulna kare suraksha ke vikalp mein tu mere hisab se PG mein rehna zyada surakshit vikalp hai kyonki agar aap hostel mein rehte ho toh aapko hostel mein ka niyamon ke hisab se rehna padta aap kitne baje hi aana padta hai itne baje hi jana padta kar bahar ja rahe ho toh aapko bata kar jana hota hai toh khana kahaan par aapko hindi padhne celebrity nahi milti hai jo ki suraksha mein bahut bada roll khelti hai aapka number busy mein aisa nahi hota peeche mein aap jo aapko asli body bahut hoti hai aap kabhi bhi ja sakte kabhi bhi aa sakte kanha kahaan par hai iske liye please mein rehna chahte surakshit hai kyonki peeche main aapko dhyan rakhne waale hote hain aur nahi aap ko badhne se koi nahi ho toh dhyan rakhna abhi jo cricket karo toh bahut hi acche hote hain aur phir wahi nahi agar aapko padhna hai toh padhte samay hotel ki padhai nahi ho paate kyonki aapko teen char log the aur room mein share karna padta hai jabki peeche mein shani ho toh please aap aaram se padh sakte ho toh kaho na kaho par peeche mein rehna zyada surakshit vikalp hai aur bhai nahi hostel mein jo hai aapko kai salon ki taraf karo check karna padta baaton se karna padta hai toh kanon ka par aapko Independence celebrity vaah nahi mil paate jabki PG mein aisa nahi hota peeche main aapko puri tarike se roti mil pati hai jo ki bahut hi mahatva ki cheez hai jab bhi aap bahar rehte ho toh mere sabse pyaari sabse peeche mein rehna zyada surakshit hai

Wikipedia क्षण में रहने की तुलना करें सुरक्षा के विकल्प में तू मेरे हिसाब से PG में रहना ज

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  170
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!