पूर्व PM मनमोहन सिंह ने अर्थव्यवस्था पर जताई चिंता, आपकी राय?...


user

Vikas Singh

Political Analyst

2:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें डॉ मनमोहन सिंह साहब कांग्रेस पार्टी से ताल्लुक रखते हैं इसलिए भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ वह अपनी आवाज को बुलंद कर रहे हैं इकोनॉमिकल स्थिति हमारे देश की अच्छी है आज हमारे देश में पूरा विश्व बिजनेस का स्कोप देख रहा है हमारे देश में जीएसटी लागू किया गया हमारे देश नोटबंदी किया गया हमारे देश से धारा 370 को खत्म किया गया तो थोड़ी सी स्थिति खराब हुई है लेकिन अब स्थिति सही हो रही है 7.5% की डेट से हमारे देश में जीडीपी पहली बार बड़ी थी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में जीडीपी ऊपर नीचे होती रहती है इकोनॉमिकल स्थिति भी ऊपर नीचे होती रहती है तो इसमें घबराने की कोई जरूरत नहीं है मैं आप सभी भारतवासियों से बताना चाहता हूं आज हिंदुस्तान तरक्की कर रहा है हिंदुस्तान दुनिया का वह विकासशील देश है जो सबसे तेजी से आगे बढ़ रहा है सबसे तेजी से हरेक क्षेत्र में विकसित बन रहा है और आने वाले समय में बहुत जल्दी हमारा देश विकसित देश बोला जाएगा विकसित देश का बोला जाएगा तो हमारे देश गरीबी का भी खात्मा हो गया होगा बेरोजगारी का भी खात्मा हो गया होगा और हमारे देश की एक-एक व्यवस्था अच्छी हो जाएगी आज के डेट में हमारे देश के लोग दूसरे कंट्री में नौकरी करने जाते हैं क्योंकि दूसरे कंट्री का जो करेंसी है वह थोड़ा उसका महत्व ज्यादा है लेकिन आने वाले टाइम में हमारे रुपए का कीमत ज्यादा हो जाएगा प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी अगर 2024 से 2029 तक देश के प्रधानमंत्री रहेंगे तो 2029 तक भारत दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश बन जाएगा और पूरी दुनिया में सबसे अच्छी इकोनॉमिकल स्थिति भारत की होगी आप सभी भारत वासियों से निवेदन करना चाहता हूं आप कांग्रेस पार्टी पार्टी के बांकावे में बताइए डॉक्टर मनमोहन सिंह साहब हम सभी भारतवासियों को भ्रमित करने की कोशिश कर रहे हैं हम लोगों को बिना भ्रमित हुए भारतीय जनता पार्टी का समर्थन करना है प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी का समर्थन करना है प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के पक्ष में वार्तालाप करना है और वह हमेशा कमल के फूल पर देना है हमारे देश की स्थिति अच्छी हो जाएगी और हमारे देश को एक बार फिर से सोने की चिड़िया बोला जाएगा धन्यवाद

dekhen Dr. manmohan Singh saheb congress party se talluk rakhte hain isliye bharatiya janta party ke khilaf vaah apni awaaz ko buland kar rahe hain economical sthiti hamare desh ki achi hai aaj hamare desh mein pura vishwa business ka scope dekh raha hai hamare desh mein gst laagu kiya gaya hamare desh notebandi kiya gaya hamare desh se dhara 370 ko khatam kiya gaya toh thodi si sthiti kharab hui hai lekin ab sthiti sahi ho rahi hai 7 5 ki date se hamare desh mein gdp pehli baar badi thi pradhanmantri shri narendra modi ji ke netritva mein gdp upar niche hoti rehti hai economical sthiti bhi upar niche hoti rehti hai toh isme ghabrane ki koi zarurat nahi hai aap sabhi bharatvasiyon se bataana chahta hoon aaj Hindustan tarakki kar raha hai Hindustan duniya ka vaah vikasshil desh hai jo sabse teji se aage badh raha hai sabse teji se harek kshetra mein viksit ban raha hai aur aane waale samay mein bahut jaldi hamara desh viksit desh bola jaega viksit desh ka bola jaega toh hamare desh garibi ka bhi khatma ho gaya hoga berojgari ka bhi khatma ho gaya hoga aur hamare desh ki ek ek vyavastha achi ho jayegi aaj ke date mein hamare desh ke log dusre country mein naukri karne jaate hain kyonki dusre country ka jo currency hai vaah thoda uska mahatva zyada hai lekin aane waale time mein hamare rupaye ka kimat zyada ho jaega pradhanmantri shri narendra modi ji agar 2024 se 2029 tak desh ke pradhanmantri rahenge toh 2029 tak bharat duniya ka sabse shaktishali desh ban jaega aur puri duniya mein sabse achi economical sthiti bharat ki hogi aap sabhi bharat vasiyo se nivedan karna chahta hoon aap congress party party ke bankave mein bataye doctor manmohan Singh saheb hum sabhi bharatvasiyon ko bharmit karne ki koshish kar rahe hain hum logo ko bina bharmit hue bharatiya janta party ka samarthan karna hai pradhanmantri shri narendra modi ji ka samarthan karna hai pradhanmantri shri narendra modi ji ke paksh mein vartalaap karna hai aur vaah hamesha kamal ke fool par dena hai hamare desh ki sthiti achi ho jayegi aur hamare desh ko ek baar phir se sone ki chidiya bola jaega dhanyavad

देखें डॉ मनमोहन सिंह साहब कांग्रेस पार्टी से ताल्लुक रखते हैं इसलिए भारतीय जनता पार्टी के

Romanized Version
Likes  188  Dislikes    views  3759
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

4:38

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने अर्थव्यवस्था पर जताई चिंता हकीकत पूर्व पीएम मोदी और प्रखर अर्थशास्त्री उन्होंने अगर चिंता जताई है तो यह बहुत ही गंभीर भगत है पूरी चाहिए हमारे वर्तमान प्राइम मिनिस्टर मोदी को की गंभीरता से लेना चाहिए और हो सके तो मनमोहन सिंह की सलामती राखी अवश्य करना चाहिए क्योंकि पूरे देश की अर्थव्यवस्था को कैसे अच्छे तरीके से मैनेज किया जाए प्लांट कैसे हो तो फिर आज लेनी चाहिए गाइडेंस लेने से कोई बुरी बात नहीं है क्योंकि इसका सर्वाधिक फायदा देश को ही मिलने वाला व्यक्ति जनता कोई मिलने वाला है इसके पहले ही रघुराम राजन जी पूर्व आरबीआई गवर्नर की चिंता अपनी यह सब कोई देशद्रोही है कि नहीं यह सब भारत देश के वासी हैं और संवैधानिक पदों पर रह चुके हैं 1995 में 93 में नर्सिंग पी वी नरसिंह राव की सरकार ने मनमोहन सिंह जी ने जो मंदी का सामना किया था और रुपए की जो हालत थी उसके चित्र से निर्मित किया था हैंडल किया था वह अपने आप में एक बहुत ही अच्छा इतिहास है पूरे विश्व में 2008 की बनी थी और उस समय भारत में मंदी को इतना प्रभाव नहीं हुआ था क्योंकि उस समय से हमारे मनमोहन सिंह जी इसलिए विशेषता को संभालना यह कोई छोटी मोटी बात नहीं है इतना बड़ा देश है इतना बड़ा बजट है और इसको किस तरह से चलाना है अर्पिता को किससे कंट्रोल करना है दीदी जी को किस तरह से बढ़ाना है और हमारे देश के जो ऐसे नहीं ऐसे में और साथ में उपयोग और जो हमारा है और सब लोगों को साथ में रखकर कैसे मैनेज करना है यह गंभीरतापूर्वक जरूर सोचना चली कॉरपोरेट सेक्टर को दे दिया है उन्होंने कम से कम वह उसकी असर कौन-कौन से आएगी फायदा मिलेगा जयपुर में कम किया है सीताराम जी ने इसका पूरा फायदा उठा रही हैं उन्होंने पूरे टू कम किया है उसका फायदा अभी तक ग्राहकों को नहीं दिया है यानी कि आम जनता तक रेपो रेट तक का जो फायदा नहीं मिला वह सब बैंक के यहां पास में उसका फायदा उठा देना तो रेपो रेट कम करना अच्छी बात है वर्तमान समय में लेकिन उसका फायदा जब तक आम जनता की एमआई में इंटरेस्ट रेट में नहीं पड़ेगा तो फिर वह देखो वेट कम करने का मतलब क्या है यह सब बातें भी सीताराम जी को और मोदी जी को जरूर गौर करनी चाहिए इंपोर्ट एक्सपोर्ट को भी बढ़ोतरी मिलनी चाहिए और कैसे अच्छा हो इतने बड़े उसके ऊपर जरूर जान देना चाहिए और आशा करता हूं ध्यान रख और इंडस्ट्रियल करेंगे धन्यवाद जय

purv pm manmohan Singh ne arthavyavastha par jatai chinta haqiqat purv pm modi aur prakhar arthshastri unhone agar chinta jatai hai toh yah bahut hi gambhir bhagat hai puri chahiye hamare vartaman prime minister modi ko ki gambhirta se lena chahiye aur ho sake toh manmohan Singh ki salamati rakhi avashya karna chahiye kyonki poore desh ki arthavyavastha ko kaise acche tarike se manage kiya jaaye plant kaise ho toh phir aaj leni chahiye guidance lene se koi buri baat nahi hai kyonki iska sarvadhik fayda desh ko hi milne vala vyakti janta koi milne vala hai iske pehle hi raghuram rajan ji purv RBI governor ki chinta apni yah sab koi deshdrohi hai ki nahi yah sab bharat desh ke waasi hain aur samvaidhanik padon par reh chuke hain 1995 mein 93 mein nursing p va narsingh rav ki sarkar ne manmohan Singh ji ne jo mandi ka samana kiya tha aur rupaye ki jo halat thi uske chitra se nirmit kiya tha handle kiya tha vaah apne aap mein ek bahut hi accha itihas hai poore vishwa mein 2008 ki bani thi aur us samay bharat mein mandi ko itna prabhav nahi hua tha kyonki us samay se hamare manmohan Singh ji isliye visheshata ko sambhaalna yah koi choti moti baat nahi hai itna bada desh hai itna bada budget hai aur isko kis tarah se chalana hai arpita ko kisse control karna hai didi ji ko kis tarah se badhana hai aur hamare desh ke jo aise nahi aise mein aur saath mein upyog aur jo hamara hai aur sab logo ko saath mein rakhakar kaise manage karna hai yah gambhiratapurvak zaroor sochna chali corporate sector ko de diya hai unhone kam se kam vaah uski asar kaun kaunsi aayegi fayda milega jaipur mein kam kiya hai sitaram ji ne iska pura fayda utha rahi hain unhone poore to kam kiya hai uska fayda abhi tak grahakon ko nahi diya hai yani ki aam janta tak repo rate tak ka jo fayda nahi mila vaah sab bank ke yahan paas mein uska fayda utha dena toh repo rate kam karna achi baat hai vartaman samay mein lekin uska fayda jab tak aam janta ki MI mein interest rate mein nahi padega toh phir vaah dekho wait kam karne ka matlab kya hai yah sab batein bhi sitaram ji ko aur modi ji ko zaroor gaur karni chahiye import export ko bhi badhotari milani chahiye aur kaise accha ho itne bade uske upar zaroor jaan dena chahiye aur asha karta hoon dhyan rakh aur Industrial karenge dhanyavad jai

पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने अर्थव्यवस्था पर जताई चिंता हकीकत पूर्व पीएम मोदी और प्रखर अर्थशा

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1393
WhatsApp_icon
user

Mehmood Alum

Law Student

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए पिछले 5 वर्षों में देश की जीडीपी की औसत विकास दर 7:30 प्रतिशत थी लेकिन अगर केवल पिछले वर्ष की यानी दो हजार अट्ठारह उन्नीस के वित्तीय वर्ष की बात की जाए तो यह 6.8% रह गई थी और मौजूदा वित्त वर्ष की अगर बात की जाए या t2019 20 की तो इसकी दर घटकर और भी कम यानी केवल 6.1% रहने का अनुमान है जिससे साफ जाहिर होता है कि भारत की अर्थव्यवस्था मंदी की तरफ जा रही है ऐसा केवल भारत में ही नहीं बल्कि विश्व भर में हो रहा है और इसका सबसे बड़ा कारण अमेरिका और चीन के बीच जारी ट्रेड बार है जब यह ट्रेडमार्क खत्म होगा तब उम्मीद है कि फिर से विश्वभर की अर्थव्यवस्था में तेजी की तरफ जाएंगे

dekhiye pichle 5 varshon mein desh ki gdp ki ausat vikas dar 7 30 pratishat thi lekin agar keval pichle varsh ki yani do hazaar attharah unnis ke vittiy varsh ki baat ki jaaye toh yah 6 8 reh gayi thi aur maujuda vitt varsh ki agar baat ki jaaye ya t2019 20 ki toh iski dar ghatakar aur bhi kam yani keval 6 1 rehne ka anumaan hai jisse saaf jaahir hota hai ki bharat ki arthavyavastha mandi ki taraf ja rahi hai aisa keval bharat mein hi nahi balki vishwa bhar mein ho raha hai aur iska sabse bada karan america aur china ke beech jaari trade baar hai jab yah trademark khatam hoga tab ummid hai ki phir se vishwabhar ki arthavyavastha mein teji ki taraf jaenge

देखिए पिछले 5 वर्षों में देश की जीडीपी की औसत विकास दर 7:30 प्रतिशत थी लेकिन अगर केवल पिछल

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  850
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!