#AyodhyaCase: पूरे मामले की जड़ आख़िर क्या है जिस पर अयोध्या मामला टिका हुआ है?...


play
user
0:28

Likes  200  Dislikes    views  1722
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

3:18

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अयोध्या के पूरे मामले की जड़ आखिर क्या है जिस पर अयोध्या मामला टिका हुआ है अयोध्या का जो मामला है हिंदू जो आराध्य देव हैं श्रीराम उनकी वह जन्म स्थान है वह जन्म स्थान जो है राम जन्म उसको इतिहास में मुगलों ने कहा जाता है कि बाबर ने उसको मस्जिद और वर्तमान समय में सुप्रीम कोर्ट में केस चल रहा है और आज उसका अंतिम दिन है हिरन का उसके बाद सुप्रीम कोर्ट 1 महीने में अपना फैसला सुना सकती है 5 जजों की पीठ है उसमें 5 दिन मिलकर फैसला सुनाएंगे और जिस तरह से जो सामने पक्ष के वकील थे उन्होंने राम मंदिर का नक्शा फाड़ के फेंक दिया कोर्ट ने जिस किसी का कुछ सुप्रीम कोर्ट के जज को करनी पड़ी कि आपका व्यवहार बिल्कुल अनुचित है कोटेशन के विरुद्ध आपने यह काम किया है और ऐसी बातें जो है हिंदुओं को ठेस पहुंचा सकती है यह उनके वकील को भी समझना चाहिए था ऐसा कार्य उनको नहीं करना चाहिए क्योंकि ओप्पो की विशेषता लिया गया था जो कि अति प्राचीन है तो दूसरे भी उसकी कॉपी मिल जाएगी लेकिन इस तरह से किसी की धार्मिक भावनाओं को सरेआम कोर्ट में नहीं हर्ट करना चाहिए अब जो है वह सुन्नी मुस्लिम को तैयार हुए हैं उनके एक नेता के हमको नमाज के लिए दूसरी जगह लूट कर दी जाए तो हम अपना जो केस वापस लेंगे ताकि वहां पर राम जन्मभूमि का मंदिर श्री राम का वंशज आज की सुनवाई के बाद चित्र थोड़ा थोड़ा स्पष्ट होने की संभावना है चुकी है मामला बहुत ही संवेदनशील है इसलिए पूरे देश की निगाहें इस पर टिकी हुई है पूरे विश्व के निगाहें टिकी हुई है कि श्री राम फल का यह मामला किस तरह से कोर्ट अपना आर्डर और अपना सुनाइए आता है दोनों पक्षों को शांति से सर्वश्री कार्य जो फैसला हो उसका स्वागत करेंगे धन्यवाद

ayodhya ke poore mamle ki jad aakhir kya hai jis par ayodhya maamla tika hua hai ayodhya ka jo maamla hai hindu jo aradhya dev hain shriram unki vaah janam sthan hai vaah janam sthan jo hai ram janam usko itihas mein mugalon ne kaha jata hai ki babar ne usko masjid aur vartaman samay mein supreme court mein case chal raha hai aur aaj uska antim din hai hiran ka uske baad supreme court 1 mahine mein apna faisla suna sakti hai 5 judgon ki peeth hai usme 5 din milkar faisla sunaenge aur jis tarah se jo saamne paksh ke vakil the unhone ram mandir ka naksha faad ke fenk diya court ne jis kisi ka kuch supreme court ke judge ko karni padi ki aapka vyavhar bilkul anuchit hai quotation ke viruddh aapne yah kaam kiya hai aur aisi batein jo hai hinduon ko thes pohcha sakti hai yah unke vakil ko bhi samajhna chahiye tha aisa karya unko nahi karna chahiye kyonki oppo ki visheshata liya gaya tha jo ki ati prachin hai toh dusre bhi uski copy mil jayegi lekin is tarah se kisi ki dharmik bhavnao ko sareaam court mein nahi heart karna chahiye ab jo hai vaah sunni muslim ko taiyar hue hain unke ek neta ke hamko namaz ke liye dusri jagah loot kar di jaaye toh hum apna jo case wapas lenge taki wahan par ram janmbhoomi ka mandir shri ram ka vanshaj aaj ki sunvai ke baad chitra thoda thoda spasht hone ki sambhavna hai chuki hai maamla bahut hi samvedansheel hai isliye poore desh ki nigahen is par tiki hui hai poore vishwa ke nigahen tiki hui hai ki shri ram fal ka yah maamla kis tarah se court apna order aur apna sunaiye aata hai dono pakshon ko shanti se sarvashri karya jo faisla ho uska swaagat karenge dhanyavad

अयोध्या के पूरे मामले की जड़ आखिर क्या है जिस पर अयोध्या मामला टिका हुआ है अयोध्या का जो म

Romanized Version
Likes  69  Dislikes    views  1330
WhatsApp_icon
user

Yogacharya Aaditya

Yoga Instructor

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सुप्रीम कोर्ट में जो है मामला है यह सिर्फ भूमि के स्वामित्व का है यह भूमि बाबर की है या यह भूमि राम के वंशजों की है या उनके पूर्वजों की है इसी बात का केस है जिसकी जमीन है उसी को मिल जाएगी और वह वहां पर नया ले को फैसला सिर्फ इतना ही करना है कि वह जमीन श्रीराम की है या बाबर की है अब इसमें क्या मामला टिका हुआ है कोई इसमें जटिलता है क्या है कुछ भी तो हो नहीं है सिंपल है विश्व में विश्व को पता है पूरी रामायण यही कहती है रामायण को भी उन्होंने काल्पनिक बना दिया है कि श्री राम का संबंध अयोध्या से है बाबर का वहां एक आक्रांता का संबंध होता है कटेरी का संबंध होता है तो वहां कोई नहीं बनता है बाबर का को संबंध होने का उसने लूटते को इकट्ठा की थी वहां हमला करके कब्जा करके उसने वहां पर मस्जिद बनवाई थी उसको हटा करके श्रीराम की जो उनकी भूमि है उनको वापस करनी है उसके उनका एक मंदिर बनाना

supreme court mein jo hai maamla hai yah sirf bhoomi ke swamitwa ka hai yah bhoomi babar ki hai ya yah bhoomi ram ke vanshajon ki hai ya unke purvajon ki hai isi baat ka case hai jiski jameen hai usi ko mil jayegi aur vaah wahan par naya le ko faisla sirf itna hi karna hai ki vaah jameen shriram ki hai ya babar ki hai ab isme kya maamla tika hua hai koi isme jatilata hai kya hai kuch bhi toh ho nahi hai simple hai vishwa mein vishwa ko pata hai puri ramayana yahi kehti hai ramayana ko bhi unhone kalpnik bana diya hai ki shri ram ka sambandh ayodhya se hai babar ka wahan ek akranta ka sambandh hota hai kateri ka sambandh hota hai toh wahan koi nahi banta hai babar ka ko sambandh hone ka usne lootate ko ikattha ki thi wahan hamla karke kabza karke usne wahan par masjid banwaai thi usko hata karke shriram ki jo unki bhoomi hai unko wapas karni hai uske unka ek mandir banana

सुप्रीम कोर्ट में जो है मामला है यह सिर्फ भूमि के स्वामित्व का है यह भूमि बाबर की है या यह

Romanized Version
Likes  110  Dislikes    views  1373
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पूरे मामले की प्रसाद की झड़ी है क्या अयोध्या का मामला टीका राम मंदिर बनाएंगे राम मंदिर बनाएंगे अब मंदिर बनेगा साला युद्ध में हम रहते महाराष्ट्र औरंगाबाद रहते राजस्थान यूपी बिहार में तो क्या रोज सुबह सुबह में उठकर के अपना विद्या जाकर के राम जी का दर्शन लेंगे अरे यार मंदिर बने आज बनेगा कल बनेगा यह राज करने लोग उसको मंदिर को बढ़ावा दे दे कर दे दे कि आप मंदिर बनेगा वह मंदिर बनेगा यह लक्ष्य होने के बाद मंदिर मंदिर को इन्होंने राजनीति करें असल में वहां मंदिर भी नहीं होना मस्जिद भी नहीं होना या बढ़ाए खान का बड़ा हॉस्पिटल हो ना कि जो अपने देश के जितने गरीब गरीब लोग रहेंगे जो जरूरतमंद है बीमार लोग आए उनका इलाज करने के लिए वहां बड़ा से बड़ा हॉस्पिटल बन जाए अभी दूसरा 11 ने सवाल वैसे ही पूछा था कि बोले चारों के चारों जय हिंदू है तो हिंदुओं के निर्णय लिए जाएंगे हिंदुओं के बाजू में उन्होंने तेजाजी में जाया मुसलमान के निर्णय बाजू में जाए सवाल तो यह होता है जो इंडिया ने जो भारत में रहता है वह भारतीय है चाहे हिंदू हो मुसलमान रहो और दूसरे कौन से समाज जात पात का धर्म का पंथ का रहो अब गरीब लोगों से और राम मंदिर से लेना-देना नहीं अब गरीब लोगों से उम्मीद से लेना-देना नहीं यह तो राजकीय स्टंट स्टंट को बड़ा बड़ा करके यह राजनीति खेलते हैं उनकी सरकार को लाते हैं सरकार आने के बाद में बनाएंगे तो नहीं बनाएंगे वह उनका सवाल होता है ना सवाल यह जनता को उनका मुस्कान होता है मंदिर का मामला पिछले कई सालों से चल रहा है अभी भी मंदिर नहीं बना बनेगा नहीं क्योंकि इलेक्शन आएगा वह मुद्दा तो होना था वह मुद्दा उठा कर के तो यह चुनाव चुनाव लड़ते हैं ना वह चुनाव में जीत जाते हिंदू भाई क्या करते ही उनको चुनाव में जीता करके देते कि चलोगे आने वाले दिन में राम मंदिर बनेगा असल में गरीब को यह पता नहीं ना यह सीधी सीधी बात है गरीब को मंदिर के नाम पर गुमराह करके गरीबों को वोट ले करके उनकी सत्ता को प्रस्तावित करने का यह षड्यंत्र षड्यंत्र हमारे देश में नहीं होना चाहिए कि देश को हमें आगे बढ़ाना है देश को हमें बड़ा करना है देश को हमारे हमारे भारत देश को सब विश्व के देश से हमको बड़ा करना है तो यह से देश के देश के मामले में या मंदिर मस्जिद के मामले में हमें जगाना नहीं चाहिए वह मंदिर बनो या मस्जिद दोनों दोनों नहीं बना तो बड़ा हॉस्पिटल बनना चाहिए कि हमारे देशवासी का वह मंदिर की मस्जिद के नाम पर झगड़े के अलावा इलाज तो हो पाएगा

poore mamle ki prasad ki jhadi hai kya ayodhya ka maamla tika ram mandir banayenge ram mandir banayenge ab mandir banega sala yudh mein hum rehte maharashtra aurangabad rehte rajasthan up bihar mein toh kya roj subah subah mein uthakar ke apna vidya jaakar ke ram ji ka darshan lenge are yaar mandir bane aaj banega kal banega yah raj karne log usko mandir ko badhawa de de kar de de ki aap mandir banega vaah mandir banega yah lakshya hone ke baad mandir mandir ko inhone raajneeti kare asal mein wahan mandir bhi nahi hona masjid bhi nahi hona ya badhae khan ka bada hospital ho na ki jo apne desh ke jitne garib garib log rahenge jo jaruratmand hai bimar log aaye unka ilaj karne ke liye wahan bada se bada hospital ban jaaye abhi doosra 11 ne sawaal waise hi poocha tha ki bole charo ke charo jai hindu hai toh hinduon ke nirnay liye jaenge hinduon ke baju mein unhone tejaji mein jaya muslim ke nirnay baju mein jaaye sawaal toh yah hota hai jo india ne jo bharat mein rehta hai vaah bharatiya hai chahen hindu ho muslim raho aur dusre kaunsi samaj jaat pat ka dharm ka panth ka raho ab garib logo se aur ram mandir se lena dena nahi ab garib logo se ummid se lena dena nahi yah toh rajkiya stunt stunt ko bada bada karke yah raajneeti khelte hai unki sarkar ko laate hai sarkar aane ke baad mein banayenge toh nahi banayenge vaah unka sawaal hota hai na sawaal yah janta ko unka muskaan hota hai mandir ka maamla pichle kai salon se chal raha hai abhi bhi mandir nahi bana banega nahi kyonki election aayega vaah mudda toh hona tha vaah mudda utha kar ke toh yah chunav chunav ladte hai na vaah chunav mein jeet jaate hindu bhai kya karte hi unko chunav mein jita karke dete ki chaloge aane waale din mein ram mandir banega asal mein garib ko yah pata nahi na yah seedhi seedhi baat hai garib ko mandir ke naam par gumrah karke garibon ko vote le karke unki satta ko prastavit karne ka yah shadyantra shadyantra hamare desh mein nahi hona chahiye ki desh ko hamein aage badhana hai desh ko hamein bada karna hai desh ko hamare hamare bharat desh ko sab vishwa ke desh se hamko bada karna hai toh yah se desh ke desh ke mamle mein ya mandir masjid ke mamle mein hamein jagaana nahi chahiye vaah mandir bano ya masjid dono dono nahi bana toh bada hospital banna chahiye ki hamare deshvasi ka vaah mandir ki masjid ke naam par jhagde ke alava ilaj toh ho payega

पूरे मामले की प्रसाद की झड़ी है क्या अयोध्या का मामला टीका राम मंदिर बनाएंगे राम मंदिर बना

Romanized Version
Likes  103  Dislikes    views  1266
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!