आपके अनुसार क्या कदम हमारे देश में लाखों नौकरियां पैदा कर सकते हैं, लेकिन नहीं किए जा रहे हैं?...


user

Ansh jalandra

Motivational speaker & criminal lawyer

0:23
Play

Likes  136  Dislikes    views  3101
WhatsApp_icon
8 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

0:57
Play

Likes  334  Dislikes    views  3727
WhatsApp_icon
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

1:11
Play

Likes  175  Dislikes    views  5843
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

0:34
Play

Likes  600  Dislikes    views  7500
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क P1 चीज बनाई जा सकती है इंडियास कंट्री हमारे यहां सबसे ज्यादा चर्चे जो भी प्रोजेक्ट सदर लगाएं इन्वेस्टमेंट अगर बाहर से और इंडिया से भी उसमें रूरल एरियाज में दूरदराज क्षेत्रों में तकरीर लगे बैंकिंग सर्विसेज सेक्टर और लौटा तो अभी सबसे सेक्टर कि कॉल मी बहुत घूम कर रही है एग्रीकल्चर सेक्टर में ज्यादा लोग लगे हुए हैं अबाउट 67% ऑफ द पॉपुलेशन एग्रीकल्चर का जीडीपी में जो कॉन्ट्रिब्यूशन है वह 25 परसेंट से ज्यादा नहीं है और भी कप 20 को सेंड किया उसका सॉरी फैक्चर रिंग मूवमेंट और जो सेट किया जाए जुल्मी है जब दिल्ली में तो सारी शोरूम बंद होकर वहां पर क्या फेस बन जाते हैं जैसे सिक्योरिटी है कृत्रिम है पुलिस ऑफिसर है यह लो लेवल पर कमेंट कर सकते एजुकेशनल बहुत ही ज्यादा सॉन्ग

k P1 cheez banai ja sakti hai indiayas country hamare yahan sabse zyada charche jo bhi project sadar lagaen investment agar bahar se aur india se bhi usmein rural areas mein durdaraj kshetro mein takrir lage banking services sector aur lauta toh abhi sabse sector ki call me bahut ghum kar rahi hai agriculture sector mein zyada log lage hue hain about 67 of the population agriculture ka gdp mein jo contribution hai vaah 25 percent se zyada nahi hai aur bhi cup 20 ko send kiya uska sorry facture ring movement aur jo set kiya jaaye julmi hai jab delhi mein toh saree showroom band hokar wahan par kya face ban jaate hain jaise Security hai kritrim hai police officer hai yah lo level par comment kar sakte educational bahut hi zyada song

क P1 चीज बनाई जा सकती है इंडियास कंट्री हमारे यहां सबसे ज्यादा चर्चे जो भी प्रोजेक्ट सदर ल

Romanized Version
Likes  79  Dislikes    views  1857
WhatsApp_icon
play
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:28

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके अनुसार क्या कदम हमारे देश में पैदा कर सकते हैं ओके लेकिन नहीं किए जा रहे हैं जी हां यह भी चेक नहीं किया जा रहा है पता नहीं क्यों इतने सारे उनको इनका मारे बेनिफिट हो रहे फिर भी नौकरी हो तो नहीं जा रहे हैं कि सिर्फ और सिर्फ गवर्मेंट जॉब की प्रिपरेशन एग्जाम करके ही सबसे फोन के पैसे लूटी जा रही लूटी ठीक है धन्यवाद

aapke anusaar kya kadam hamare desh mein paida kar sakte hain ok lekin nahi kiye ja rahe hain ji haan yah bhi check nahi kiya ja raha hai pata nahi kyon itne saare unko inka maare benefit ho rahe phir bhi naukri ho toh nahi ja rahe hain ki sirf aur sirf government job ki preparation exam karke hi sabse phone ke paise looti ja rahi looti theek hai dhanyavad

आपके अनुसार क्या कदम हमारे देश में पैदा कर सकते हैं ओके लेकिन नहीं किए जा रहे हैं जी हां य

Romanized Version
Likes  341  Dislikes    views  4878
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

5:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने कहा कि आप के अनुसार क्या कदम उठाए जाएं हमारे देश में हजारों नौकरियां पैदा कर सकते हैं लेकिन नहीं किए जाने को यह सरकार की नीतियां हिंदुस्तान में कितनी जनसंख्या है क्योंकि रोजगार नवानी ने सरकार की गलत नीतियां सरकार की गलत बोल सिया और सरकार का गलत नजरिया हमारी देश में रोजगार को उत्पन्न ही नहीं होने दे रहा बल्कि रोजगार के लोगों को भी बेरोजगार बनाया जाए शिक्षा का विस्तार इतना किया जाए और भांजे की टेक्निक में इतना बदलाव लाया जाए कि वह तकनीक उत्पादक हो वह तकनीक केवल उत्पादन करने के लिए नहीं उपयोगी हो शिक्षा में अगर बदलाव आएगा शिक्षा कर मारी जा गोरखपुर शिक्षा अगर हमारी उत्पादकों की शिक्षा अगर हमारी समाज के लिए लाभकारी होगी तो लाखों लोगों को रोजगार मिलेगा सड़क निर्माण बांधों का निर्माण एयरपोर्ट का निर्माण पुलों का निर्माण बहुत सी हमारे यहां ऐसे ट्रैक्टर ने जहां प्रवर्तन करके हम लाखों लोगों को रोजगार दे सकते हैं लेकिन प्रश्न यह प्रयास नहीं किए जा रहे प्रयासों विदेश घूमने के लिए जा रहे हैं तो फ्री प्रयास करने होंगे भाई आप तो आप देशवासियों के लिए कुछ करने कौन कहता है इतनी नौकरियां नहीं है देश में नौकरी हुआ कॉल क्यों पढ़ना है सरकार की नीति बैंकों का विलय करण बैंकों को प्राइवेट करना कंपनियों को छोटा करना यह किस बात का संकेत यह चंकी बुद्धिमानी करनी है यह संकेत देश की अर्थव्यवस्था को चौपट करने का है अगर देश की अर्थव्यवस्था हमारी मजबूत हो तो यकीन मानिए हर उद्योग धंधा क्या गवर्नमेंट काव्य प्राइवेट फॉर्म गवर्नमेंट जॉब प्राइवेट सेक्टर रोजगार देगा क्योंकि आर्थिक दृष्टिकोण जा मजबूत होता है और चीनी चावा दु होती हैं दुनिया के देश हमारे देश में निवेश करने को तैयार होते हैं निवेश करते हैं और उसका फायदा हमारे देश के युवाओं को रोजगार के रूप में मीटर के अंदर लेकिन सरकार के अंदर साइड की नजर नहीं आता तो दुनिया का कोई देश जोखिम लेने को तैयार नहीं होता और वह हमारे देश में निवेश करने को तैयार नहीं है तो रोजगार कहां से एक पार्टी धन्यवाद नीति वाट और राष्ट्रवाद पूरी समय विश्व आदमी लगी रहेगी तो बताओ जो दूसरा देश है क्या का कोई धर्म नहीं है क्या उसका कोई रास्ता नहीं है बताओ वह क्या सोच के हमारे देश में इन्वेस्टमेंट करेगा आप तो क्या निमाचें विचार करने वाली बातें दुनिया के बहुत से देशों में मुस्लिम परिवार रहते हैं उस देश में अगर हम मुस्लिमों के खिलाफ अपने देश में आचरण करेंगे तो देश के मुस्लिम समुदाय के लोग हमारे क्यों करेंगे निवेश अगर हम चाहते कि हमारा घर अच्छा हो तो मैं पड़ोसी के घर पर छा रखना पड़ेगा अगर हम शक्तिशाली हो तो हमें पड़ोसी को हमेशा साथ देना पड़ेगा लेकिन पॉलिसी का आधार बनाकर उसको गलत साबित करने के चक्कर में हम अपने आप को ताकतवर का वेट कर रहे हो ही नहीं सकता भूकंप आए और पुरुषों की दीवार गिरी और हमारी सुरक्षित आ जाए कोई नहीं सकता जब भूकंप आता है तो जवानी नहीं हैं पश्चिमी कंपन नहीं आता है बल्कि इंसान की विचारधारा में कंपन आता है वह विचारधारा इंसान को पथभ्रष्ट भी कर सकती

aapne kaha ki aap ke anusaar kya kadam uthye jayen hamare desh mein hazaron naukriyan paida kar sakte hain lekin nahi kiye jaane ko yah sarkar ki nitiyan Hindustan mein kitni jansankhya hai kyonki rojgar nawani ne sarkar ki galat nitiyan sarkar ki galat bol sia aur sarkar ka galat najariya hamari desh mein rojgar ko utpann hi nahi hone de raha balki rojgar ke logon ko bhi berozgaar banaya jaaye shiksha ka vistaar itna kiya jaaye aur bhanje ki technique mein itna badlav laya jaaye ki vaah takneek utpadak ho vaah takneek keval utpadan karne ke liye nahi upyogi ho shiksha mein agar badlav aayega shiksha kar mari ja gorakhpur shiksha agar hamari utpadakon ki shiksha agar hamari samaaj ke liye labhakari hogi toh laakhon logon ko rojgar milega sadak nirmaan bandhon ka nirmaan airport ka nirmaan pulon ka nirmaan bahut si hamare yahan aise tractor ne jahan pravartan karke hum laakhon logon ko rojgar de sakte hain lekin prashna yah prayas nahi kiye ja rahe prayaso videsh ghoomne ke liye ja rahe hain toh free prayas karne honge bhai aap toh aap deshvasiyon ke liye kuch karne kaun kahata hai itni naukriyan nahi hai desh mein naukri hua call kyon padhna hai sarkar ki niti bankon ka vilay karan bankon ko private karna companion ko chota karna yah kis baat ka sanket yah chinki budhhimani karni hai yah sanket desh ki arthavyavastha ko chowpat karne ka hai agar desh ki arthavyavastha hamari mazboot ho toh yakin maniye har udyog dhandha kya government kavya private form government job private sector rojgar dega kyonki aarthik drishtikon ja mazboot hota hai aur chini chava du hoti hain duniya ke desh hamare desh mein nivesh karne ko taiyar hote hain nivesh karte hain aur uska fayda hamare desh ke yuvaon ko rojgar ke roop mein meter ke andar lekin sarkar ke andar side ki nazar nahi aata toh duniya ka koi desh jokhim lene ko taiyar nahi hota aur vaah hamare desh mein nivesh karne ko taiyar nahi hai toh rojgar kahaan se ek party dhanyavad niti watt aur rashtravad puri samay vishwa aadmi lagi rahegi toh batao jo doosra desh hai kya ka koi dharam nahi hai kya uska koi rasta nahi hai batao vaah kya soch ke hamare desh mein investment karega aap toh kya nimachen vichar karne waali batein duniya ke bahut se deshon mein muslim parivar rehte hain us desh mein agar hum muslimo ke khilaf apne desh mein aacharan karenge toh desh ke muslim samuday ke log hamare kyon karenge nivesh agar hum chahte ki hamara ghar accha ho toh main padosi ke ghar par cha rakhna padega agar hum shaktishali ho toh hamein padosi ko hamesha saath dena padega lekin policy ka aadhaar banakar usko galat saabit karne ke chakkar mein hum apne aap ko takatwar ka wait kar rahe ho hi nahi sakta bhukamp aaye aur purushon ki deewaar giri aur hamari surakshit aa jaaye koi nahi sakta jab bhukamp aata hai toh jawaani nahi hain pashchimi kanpan nahi aata hai balki insaan ki vichardhara mein kanpan aata hai vaah vichardhara insaan ko path bhrasht bhi kar sakti

आपने कहा कि आप के अनुसार क्या कदम उठाए जाएं हमारे देश में हजारों नौकरियां पैदा कर सकते हैं

Romanized Version
Likes  55  Dislikes    views  1106
WhatsApp_icon
user

Prakhar Srivastava

IAS Aspirant

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए कोई स्पेशल कदम उठाने की जरूरत नहीं है कई विभागों में वैसे भी बहुत सारी सीटें खाली हैं लेकिन उनको भरा नहीं जाता पता नहीं क्यों नहीं भरा जाता है रेलवे में भी लाखों नौकरियां है शिक्षकों की कितनी सारी कमी है स्कूलों में आप गांव में चले जाएं तो देखेंगे एक या दो शिक्षक होते हैं इसको पूरे स्कूल में जबकि कितने सारे लोग ट्रेनों करके बैठे हुए हैं B.Ed पास में सीटेट कर लिया है लेकिन सरकारी टीचर की नौकरी आई नहीं आ रही है ऐसी दर कॉलेजों में प्रोफेसर नहीं है लेकिन उनकी भी आपूर्ति नहीं की जा रही डिग्री ले ले के बैठे हुए हैं तो हर सेक्टर में जितने भी गवर्नमेंट सेक्टर है बैंक है रेलवे है एजुकेशन है हर जगह रोजगार काफी मात्रा में है लेकिन दिया नहीं जा रहा नौकरियां निकलने नहीं है तो कदम अगर उठाना है तो यही करना कि भाई जितनी भी जगह खाली है उनको फटाफट सुधारा जाए तो आधी बेरोजगारी तो यूं ही खत्म हो जाएगी ठीक है थैंक यू

dekhiye koi special kadam uthane ki zaroorat nahi hai kai vibhagon mein waise bhi bahut saree seaten khaali hain lekin unko bhara nahi jata pata nahi kyon nahi bhara jata hai railway mein bhi laakhon naukriyan hai shikshakon ki kitni saree kami hai schoolon mein aap gaon mein chale jayen toh dekhenge ek ya do shikshak hote hain isko poore school mein jabki kitne saare log traino karke baithe hue hain B Ed paas mein sitet kar liya hai lekin sarkari teacher ki naukri I nahi aa rahi hai aisi dar collegeon mein professor nahi hai lekin unki bhi aapurti nahi ki ja rahi degree le le ke baithe hue hain toh har sector mein jitne bhi government sector hai bank hai railway hai education hai har jagah rojgar kafi matra mein hai lekin diya nahi ja raha naukriyan nikalne nahi hai toh kadam agar uthaana hai toh yahi karna ki bhai jitni bhi jagah khaali hai unko phataphat sudhara jaaye toh aadhi berojgari toh yun hi khatam ho jayegi theek hai thank you

देखिए कोई स्पेशल कदम उठाने की जरूरत नहीं है कई विभागों में वैसे भी बहुत सारी सीटें खाली है

Romanized Version
Likes  61  Dislikes    views  1516
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!