अन्य तीसरी दुनिया के देशों की तुलना में भारत में अच्छी सड़कों की कमी क्यों है विश्वस्तरीय रोड इन्फ्रा होने से हमें क्या रोकता है?...


user

Anil Ramola

Yoga Instructor | Engineer

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में परिजनों में खर्च होता है काफी अधिक होता है लेकिन भारत में योगी सरकार में जो अधिकारी हैं अच्छे से कार्य करें जिसमें

bharat me parijanon me kharch hota hai kaafi adhik hota hai lekin bharat me yogi sarkar me jo adhikari hain acche se karya kare jisme

भारत में परिजनों में खर्च होता है काफी अधिक होता है लेकिन भारत में योगी सरकार में जो अधिका

Romanized Version
Likes  368  Dislikes    views  4210
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

1:08
Play

Likes  720  Dislikes    views  8996
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

* सेक्सी कि जहां तक बात रही है इंडिया की स्टील बहुत ज्यादा है और जहां तक आप देखे तो इंडिया एक ऐसी कंट्री है कि पहले अगर आप देखें और आपने तो बहुत फर्क आ गए इंटरेस्ट रखते में रोड इन फर्स्ट थर्ड कंट्री होते हुए और ज्यादा प्रॉब्लम आती है गवर्नेंस के साथ जो है वह स्टेटमेंट्स केबल केबल कनेक्शन नहीं है जो हमारी कोई आफ जूनियर इंजीनियर है सब डिविजनल इंजीनियर से उनकी क्या नियत है वह कैसे लगे हुए हैं क्वालिटी पटेरिया जी उस करवा रहे हैं नहीं करा रिमाइंडर बात नहीं बात है बहुत बोल तो स्ट्रक्चर आते आते बहुत टाइम लगता है हमारी रोज ले लिया हमारी यह लकड़ी रिक्वायरमेंट या और भी कुछ भी देखने जाना है पॉपुलेशन इतनी ज्यादा होते हुए कंस्ट्रेंट्स है और फिर गर्मी कितनी है उसी हिसाब से पढ़ना पड़ता है 10 की प्रॉब्लम प्रॉब्लम थी और बढ़ा देंगे तुमसे ज्यादा जल्दी अच्छा बताइए

sexy ki jaha tak baat rahi hai india ki steel bahut zyada hai aur jaha tak aap dekhe toh india ek aisi country hai ki pehle agar aap dekhen aur aapne toh bahut fark aa gaye interest rakhte mein road in first third country hote hue aur zyada problem aati hai Governance ke saath jo hai vaah statements keval keval connection nahi hai jo hamari koi of junior engineer hai sab divijanal engineer se unki kya niyat hai vaah kaise lage hue hain quality pateriya ji us karva rahe hain nahi kara reminder baat nahi baat hai bahut bol toh structure aate aate bahut time lagta hai hamari roj le liya hamari yah lakdi requirement ya aur bhi kuch bhi dekhne jana hai population itni zyada hote hue kanstrents hai aur phir garmi kitni hai usi hisab se padhna padta hai 10 ki problem problem thi aur badha denge tumse zyada jaldi accha bataiye

* सेक्सी कि जहां तक बात रही है इंडिया की स्टील बहुत ज्यादा है और जहां तक आप देखे तो इंडिया

Romanized Version
Likes  67  Dislikes    views  2231
WhatsApp_icon
play
user

Dr. Radha kant Singh

किसान

0:39

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

खराब सड़कों की बात अगर हम करते हैं तो खराब सड़कों के लिए हम नागरिक भी जिम्मेवार हैं जहां कहीं सरकारी रोड डालती हैं तो हम उन पर गंदगी फैलाना यह करना वह करना रोड को सजा कर देना रोड पर पानी छोड़ देना रोड पर कूड़ा करकट फैलाना अनावश्यक रूप से दूध डालना इनके लिए हम लोग भी ना लें दूसरी बात मिनिस्ट्री जिस मिनिस्ट्री से यह वोट पड़ते हैं वहां पर दलाली कमीशन पूरी कितनी ज्यादा है ठेकेदारी प्रथा खत्म करके सरकार को यह सीधे रोड डालने चाहिए

kharaab sadkon ki baat agar hum karte hain toh kharab sadkon ke liye hum nagarik bhi jimmewar hain jaha kahin sarkari road daalti hain toh hum un par gandagi faillana yah karna vaah karna road ko saza kar dena road par paani chod dena road par kooda karakat faillana anavashyak roop se doodh dalna inke liye hum log bhi na le dusri baat ministry jis ministry se yah vote padate hain wahan par dalali commision puri kitni zyada hai thekedari pratha khatam karke sarkar ko yah sidhe road dalne chahiye

खराब सड़कों की बात अगर हम करते हैं तो खराब सड़कों के लिए हम नागरिक भी जिम्मेवार हैं जहां क

Romanized Version
Likes  80  Dislikes    views  975
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

4:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने जी सी दुनिया के देशों की तुलना भारत में अच्छी चरणों की कमी को ध्यान में रखते हुए यह पहली दुनिया दूसरी दुनिया के दुनिया कहां है आपकी बात करने इस पृथ्वी पर कोई भी जो देश है वह इन रूपों में पाया जाता है या तो विकसित देश या विकासशील देश या अविकसित देश एकदम से पिछड़ा हुआ देश पीटीसी दुनिया दूसरी दुनिया की बात करने की वजह अगर हम इस विषय पर बात करें कि कुछ एडवांस कंट्रीज हैं उनकी तुलना में भारत की लड़कियों के हैं वह कमजोर हैं टूटी फूटी है और उन सड़कों का विदेशों की सड़कों की तुलना में बहुत सी करनी है तो हमारी सड़कों का दोष नहीं है दोस्त हमारी सरकारों का है सरकार भी बैठी हुई सही अफसरों का मंत्रियों का है जब चुनाव जीतने के लिए वादा तो करते हैं जितने के बाद किस का वादा और किसने किया वादा किसके लिए किया वादा परिणाम क्या होता है यह पता होना चाहिए मैंने ट्रांसपोर्ट में पढ़ा था तांत्रिक विषय होता था मारे ग्रेजुएशन में मैंने पढ़ा था किचन के जो है किसी भी देश की अंतरात्मा होती हैं क्योंकि सड़कों से यातायात के साधनों का गुजरना होता है जितनी अच्छी सड़कें होगी उतना शुभम शुभम अरुणा आनंद में यातायात होगा सामान्य स्थान से दूसरे स्थान पर यात्री एक स्थान से दूसरे स्थान पर यात्रा कर सकेंगे तो इससे हमारी ट्रांसपोर्टेशन का यात्रा का विस्तार भी होगा और हमारे देश की अर्थव्यवस्था की अंतरात्मा भी लगेगी इसलिए क्यों है हमें क्या डॉक्टर कौन रोकता है हमारा सोच हमारी अंतरात्मा हमारी योजना जो मोदी सरकार की है तू कि सबकुछ सरकार की हाथ में एक घंटा क्या कर सकती है उनकी नींद ही नहीं खुलती उनकी योजनाएं केवल कागजों तक सीमित रह जाती चुनाव तक सीमित रह जाती है इसलिए हम आगे नहीं बढ़ पाते और जल चालाक भाइयों यह तीनों यातायात के साधन है तीनों ही साधन किसी भी देश की तरक्की में बहुत अहम भूमिका रखते हैं सड़कों का जो है ट्रेनों की तुलना में उपयोगिता बहुत है मूल कारण अच्छी सड़कें न होने के कारण दुर्घटनाएं बहुत होती हैं लोगों का जीवन खतरे में पड़ता है बहुत से लोग मृत्यु को प्राप्त होते हैं और परिवारों पर भोज बढ़ता है और गरीबी दुख दरिद्रता और संघर्ष का स्थिति का सामना करना पड़ता है लड़कों का बेस्ट स्टेरिंग होना इस देश की शान मानी जाती है और सबसे बड़ी सरकार की सफलता और सरकार का एक टेस्टी नजरिया माना जाता है

aapne ji si duniya ke deshon ki tulna bharat mein achi charno ki kami ko dhyan mein rakhte hue yah pehli duniya dusri duniya ke duniya kahaan hai aapki baat karne is prithvi par koi bhi jo desh hai vaah in roopon mein paya jata hai ya toh viksit desh ya vikasshil desh ya avikasit desh ekdam se pichda hua desh PTC duniya dusri duniya ki baat karne ki wajah agar hum is vishay par baat kare ki kuch advance countries hain unki tulna mein bharat ki ladkiyon ke hain vaah kamjor hain tuti phooti hai aur un sadkon ka videshon ki sadkon ki tulna mein bahut si karni hai toh hamari sadkon ka dosh nahi hai dost hamari sarkaro ka hai sarkar bhi baithi hui sahi afsaron ka mantriyo ka hai jab chunav jitne ke liye vada toh karte hain jitne ke baad kis ka vada aur kisne kiya vada kiske liye kiya vada parinam kya hota hai yah pata hona chahiye maine transport mein padha tha tantrika vishay hota tha maare graduation mein maine padha tha kitchen ke jo hai kisi bhi desh ki antaraatma hoti hain kyonki sadkon se yatayat ke saadhano ka gujarana hota hai jitni achi sadaken hogi utana subham subham aruna anand mein yatayat hoga samanya sthan se dusre sthan par yatri ek sthan se dusre sthan par yatra kar sakenge toh isse hamari transportation ka yatra ka vistaar bhi hoga aur hamare desh ki arthavyavastha ki antaraatma bhi lagegi isliye kyon hai hamein kya doctor kaun rokta hai hamara soch hamari antaraatma hamari yojana jo modi sarkar ki hai tu ki sabkuch sarkar ki hath mein ek ghanta kya kar sakti hai unki neend hi nahi khulti unki yojanaye keval kagazo tak simit reh jaati chunav tak simit reh jaati hai isliye hum aage nahi badh paate aur jal chalak bhaiyo yah tatvo yatayat ke sadhan hai tatvo hi sadhan kisi bhi desh ki tarakki mein bahut aham bhumika rakhte hain sadkon ka jo hai traino ki tulna mein upayogita bahut hai mul karan achi sadaken na hone ke karan durghatanaen bahut hoti hain logo ka jeevan khatre mein padta hai bahut se log mrityu ko prapt hote hain aur parivaron par bhoj badhta hai aur garibi dukh daridrata aur sangharsh ka sthiti ka samana karna padta hai ladko ka best stering hona is desh ki shan maani jaati hai aur sabse badi sarkar ki safalta aur sarkar ka ek tasty najariya mana jata hai

आपने जी सी दुनिया के देशों की तुलना भारत में अच्छी चरणों की कमी को ध्यान में रखते हुए यह प

Romanized Version
Likes  69  Dislikes    views  1344
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!