क्या आपके LBSNAA प्रशिक्षण के दौरान ऐसे क्षण थे जब आपको छोड़ने का मन हुआ?...


user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने कहा क्या खेल प्रशिक्षण के गाना एप्स चलते अब आपको छोड़ने का मन देखिए अगर छोड़ने का मन हुआ तो फिर से चलकर नेट खत्म हो गया प्रशिक्षण का मतलब होता है और तकलीफ और कष्ट और कष्ट के साथ आनंद की अनुभूति जितना प्रशिक्षण तक होता जाता है अपने आनंद की अनुभूति बढ़ती जाती है सफलता की याद आती आती है और प्रशिक्षित होकर उसके प्रयोग करने की लालसा बढ़ती जाती है और सबसे बड़ी खुशी मिलती है यहां पे योग्य योग्य शिक्षक इंसान बन गए जिससे कि आप ना जाने कितनों की जीवन में मांग चर्चा करेंगे और जब मन हो जाए हमें छोड़ देना चाहिए इसका मतलब आपके मन में नकारात्मक भावों ने जन्म ले लिया है कमजोरियां पर हावी हो गई है अब प्रशिक्षण का मकसद तुला आनंद धाम

aapne kaha kya khel prashikshan ke gaana apps chalte ab aapko chodne ka man dekhiye agar chodne ka man hua toh phir se chalkar net khatam ho gaya prashikshan ka matlab hota hai aur takleef aur kasht aur kasht ke saath anand ki anubhuti jitna prashikshan tak hota jata hai apne anand ki anubhuti badhti jaati hai safalta ki yaad aati aati hai aur prashikshit hokar uske prayog karne ki lalasa badhti jaati hai aur sabse badi khushi milti hai yahan pe yogya yogya shikshak insaan ban gaye jisse ki aap na jaane kitano ki jeevan me maang charcha karenge aur jab man ho jaaye hamein chhod dena chahiye iska matlab aapke man me nakaratmak bhavon ne janam le liya hai kamajoriyan par haavi ho gayi hai ab prashikshan ka maksad tula anand dhaam

आपने कहा क्या खेल प्रशिक्षण के गाना एप्स चलते अब आपको छोड़ने का मन देखिए अगर छोड़ने का मन

Romanized Version
Likes  403  Dislikes    views  2508
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Anil Ramola

Yoga Instructor | Engineer

0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारी ट्रेनिंग पलते कब किए हैं हमारे देश के

hamari training palate kab kiye hain hamare desh ke

हमारी ट्रेनिंग पलते कब किए हैं हमारे देश के

Romanized Version
Likes  413  Dislikes    views  2720
WhatsApp_icon
play
user

Dr Devansh Yadav

Additional Deputy Commissioner at ADC Bordumsa, Government of Arunachal Pradesh

0:31

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी घटक जंक्शन में सर्विस में आया हूं तब से तो अभी तक ऐसा कोई भी सेंड नहीं है जब तक मेरे को मन किया हो कि मैं सर्विस को छोड़ दो बीच-बीच में हो सकता है कोई काम करा रहे हो उसमें देरी आ रही हो या फिर थोड़ा सा आप तो बोले कि चीजें अपने हिसाब से नहीं हो पा रही लगता है कि आप जो भी कार्य कर लोगों को फायदा होता है आपके पास मेरे सामने मौका नहीं आया कि मेरे को लगे कि मैं

ji ghatak junction mein service mein aaya hoon tab se toh abhi tak aisa koi bhi send nahi hai jab tak mere ko man kiya ho ki main service ko chod do beech beech mein ho sakta hai koi kaam kara rahe ho usme deri aa rahi ho ya phir thoda sa aap toh bole ki cheezen apne hisab se nahi ho paa rahi lagta hai ki aap jo bhi karya kar logo ko fayda hota hai aapke paas mere saamne mauka nahi aaya ki mere ko lage ki main

जी घटक जंक्शन में सर्विस में आया हूं तब से तो अभी तक ऐसा कोई भी सेंड नहीं है जब तक मेरे को

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  2443
WhatsApp_icon
user

Nikhil Dhanraj Nippanikar

IAS 2018 Batch, BIHAR Cadre

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अजमेर इतना एक्सट्रीम तो कभी पूरा नहीं कर पाऊंगी मैं सबको छोड़ दूंगी हटाने के लिए मेहनत करो मेहनत कभी भूल नहीं सकता और छोड़ के लोग बता रहे हैं जो अपने विचारों को छोड़कर दिन ऐसे होते कि आपकी फ्रेंड जो कॉलेज में ऑफिस आफ थे वो कहीं और फौरन कंट्री घूम रहे हैं कोई जवाब नहीं है क्या यार हम भी फैजाबाद जिला जगोल लाइफ का देखते हैं कि आपकी समझ में आई थिंक पॉजिटिव लोगों की लाइफ मोटा मोटी बाकी तो ठीक रहता है

ajmer itna extreme toh kabhi pura nahi kar paungi main sabko chod dungi hatane ke liye mehnat karo mehnat kabhi bhool nahi sakta aur chod ke log bata rahe hain jo apne vicharon ko chhodkar din aise hote ki aapki friend jo college mein office of the vo kahin aur phauran country ghum rahe hain koi jawab nahi hai kya yaar hum bhi faizabad jila jagol life ka dekhte hain ki aapki samajh mein I think positive logo ki life mota moti baki toh theek rehta hai

अजमेर इतना एक्सट्रीम तो कभी पूरा नहीं कर पाऊंगी मैं सबको छोड़ दूंगी हटाने के लिए मेहनत करो

Romanized Version
Likes  100  Dislikes    views  1406
WhatsApp_icon
user

Dhananjay Kumar

government

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लवर्स ना एक ऐसा केंपस है ऐसा प्रांगण है जो कि यहां अद्भुत होता है वहां पर तो यदि कोई शिक्षक ले रहा है और वहां से वहां से यहां वहां से आपने आपको छोड़ने का कभी सोच नहीं सकता है इतनी खूबसूरत वादियां उसमें खूबसूरत कैंपस खूबसूरत थोड़ा आप मुझ पर और जो शिक्षक लोग होते हैं उनका कमीशन मिलता है तो उसमें छोड़ने का तो कहीं मतलब नहीं बनता है रही बात की जॉब में आने के उपरांत छोड़ने का मन बना सकते हैं और लोग बनाते भी हैं और चोट पर भी हैं और अलग मुकाम हासिल करने के लिए अलग निशान सुनते हैं धन्यवाद आभार आभार

lovers na ek aisa campus hai aisa prangan hai jo ki yahan adbhut hota hai wahan par toh yadi koi shikshak le raha hai aur wahan se wahan se yahan wahan se aapne aapko chodne ka kabhi soch nahi sakta hai itni khoobsurat vadiyan usme khoobsurat campus khoobsurat thoda aap mujhse par aur jo shikshak log hote hain unka commision milta hai toh usme chodne ka toh kahin matlab nahi banta hai rahi baat ki job me aane ke uprant chodne ka man bana sakte hain aur log banate bhi hain aur chot par bhi hain aur alag mukam hasil karne ke liye alag nishaan sunte hain dhanyavad abhar abhar

लवर्स ना एक ऐसा केंपस है ऐसा प्रांगण है जो कि यहां अद्भुत होता है वहां पर तो यदि कोई शिक्ष

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  443
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सोने के बाद आदमी मर जाता है या अपने सपने में खोए रहते हैं जब वह सोकर जागते हैं तो उसे कुछ याद रहता है यह हकीकत है या कल अपनी

sone ke baad aadmi mar jata hai ya apne sapne me khoe rehte hain jab vaah sokar jagte hain toh use kuch yaad rehta hai yah haqiqat hai ya kal apni

सोने के बाद आदमी मर जाता है या अपने सपने में खोए रहते हैं जब वह सोकर जागते हैं तो उसे कुछ

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!