हमें एक ऐसे देश के रूप में क्या क्षमताएँ बनानी चाहिए जो दुनिया आयात करना चाहेगी? आज हम एक सॉफ्टवेयर दिग्गज हैं लेकिन क्या यह अगले कुछ दशकों के लिए पर्याप्त क्षमता है?...


user

Anil Ramola

Yoga Instructor | Engineer

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिहार देश की अर्थव्यवस्था में डिपेंड करती है कि उसमें आया तो नहीं आता समझो लेकिन आज इस देश का निर्यात ज्यादा होता है उसकी सोच अच्छी होती है उसकी जो 19 में काफी छुपाती है अजी देश विदेश की जानकारी

bihar desh ki arthavyavastha me depend karti hai ki usme aaya toh nahi aata samjho lekin aaj is desh ka niryat zyada hota hai uski soch achi hoti hai uski jo 19 me kaafi chupati hai aji desh videsh ki jaankari

बिहार देश की अर्थव्यवस्था में डिपेंड करती है कि उसमें आया तो नहीं आता समझो लेकिन आज इस देश

Romanized Version
Likes  334  Dislikes    views  2977
WhatsApp_icon
13 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमें कैसी जिस रूप में क्या छूट है बनानी चाहिए कि दुनिया याद करना चाहेगी आजमगढ़ में शिक्षा के क्षेत्र में रोजगार के क्षेत्र में हमेशा चाय के क्षेत्र में तकनीक के क्षेत्र में कदम उठाने चाहिए नए नए उत्पाद करनी चाहिए जिससे कि दुनिया हमारे देश के उत्पादों को नई देश की सीमाओं को हमारे देश के युवाओं को अपनी मां आयात करें और हमारे दुनिया में हमारा नाम 1962 में बनी हुई दवाई आज समिति शपथ की जरूरत है आर यह भारत का सौभाग्य कि भारत को नव वर्ष की गंभीर बीमारी में अपनी दवाइयों से लोगों को जीवन दान देने की कोशिश करता है

hamein kaisi jis roop me kya chhut hai banani chahiye ki duniya yaad karna chahegi azamgarh me shiksha ke kshetra me rojgar ke kshetra me hamesha chai ke kshetra me taknik ke kshetra me kadam uthane chahiye naye naye utpaad karni chahiye jisse ki duniya hamare desh ke utpado ko nayi desh ki seemaon ko hamare desh ke yuvaon ko apni maa ayat kare aur hamare duniya me hamara naam 1962 me bani hui dawai aaj samiti shapath ki zarurat hai R yah bharat ka saubhagya ki bharat ko nav varsh ki gambhir bimari me apni dawaiyo se logo ko jeevan daan dene ki koshish karta hai

हमें कैसी जिस रूप में क्या छूट है बनानी चाहिए कि दुनिया याद करना चाहेगी आजमगढ़ में शिक्षा

Romanized Version
Likes  378  Dislikes    views  5292
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम एक ऐसे देश के रूप में क्या क्षमताएं बनानी चाहिए यह दुनिया याद करना चाहेगी आज हम एक इंडिया भारत में शिक्षण संस्थान आईआईटी सेक्टर आईआईएमसी ट्रैक्टर के विद्यार्थी और प्रतिभावान विद्यार्थी निकलते हैं भारत में जाना है आप हैदराबाद में कि आप बैंगलोर देखिए आप के लोड़े की आप मुंबई हैदराबाद के माध्यम से दुनिया को सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के मामलों में विकसित करती है हमारा स्पेस साइंस मरने के लिए प्रमाण राज करेंगे

hum ek aise desh ke roop me kya kshamataen banani chahiye yah duniya yaad karna chahegi aaj hum ek india bharat me shikshan sansthan IIT sector IIMC tractor ke vidyarthi aur pratibhavan vidyarthi nikalte hain bharat me jana hai aap hyderabad me ki aap bangalore dekhiye aap ke lode ki aap mumbai hyderabad ke madhyam se duniya ko software computer ke mamlon me viksit karti hai hamara space science marne ke liye pramaan raj karenge

हम एक ऐसे देश के रूप में क्या क्षमताएं बनानी चाहिए यह दुनिया याद करना चाहेगी आज हम एक इंडि

Romanized Version
Likes  340  Dislikes    views  2934
WhatsApp_icon
user

Ansh jalandra

Motivational speaker & criminal lawyer

0:22
Play

Likes  122  Dislikes    views  2200
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

1:24
Play

Likes  577  Dislikes    views  7213
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दो आपको एरियाज बताऊंगा जो बहुत रिकॉर्डिंग भेजो इंडिया एंड यूटिलाइज कर रही तो टूरिज्म टूरिज्म जी बहुत ही कम टूरिस्ट आते हैं जिससे इंडिया में टेंशन है सिंगापुर में सिंगापुर की पापुलेशन से डबल नंबर ऑफ टूरिज्म हमारी अगर हम पापुलेशन बहुत ही ज्यादा गर्म देखे 0.5 परसेंट भी नहीं आते होंगे 2 साल में तो क्या जाने के लिए हमें अपने जितने भी स्टेट में टूरिस्ट को टेंशन है उन सभी ने है को टेंशन हमारी कल्चर हेरिटेज हमारे टूरिस्ट स्पॉट्स ओं माउंटेन सोच एक बहुत ही अच्छे टूरिज्म सेक्टर को अगर हम स्ट्रांग करेंगे एंप्लॉयमेंट ऑफिस भी आएंगी इकनोमिक रेवोलुशन भी होगा और हमारे काफी ज्यादा बोल्ड हो गए हमारे पास इनकम भी आएगी रेवेन्यू बोर्ड इंडिया टूरिस्ट जो अभी जा रहे हैं सिंगापुर थाईलैंड इंडोनेशिया उनके कम-से-कम उसने मिलाकर इंडिया में आ जाने चाहिए बहुत फर्क पड़ेगा सेक्टर डिवेलप कर सकते फ्रेंडशिप फ्रेंडशिप करके हम बहुत सारे गोल्ड की कंट्रीज को पेंशन से ध्यान से देख सकते हैं उसे यहीं पर बैठे हुए उनके सबके बैक ऑफिस सिर धो सकते हैं यहां के हम सिकंदर को बिठा सकते हैं वह सारी इनफार्मेशन या जो भी उनको करना है वह कर सकते हैं उनको दे सकते हैं कि 2 सेक्टर्स बड़ी प्रॉब्लम

do aapko areas bataunga jo bahut recording bhejo india and utilize kar rahi toh tourism tourism ji bahut hi kam tourist aate hain jisse india mein tension hai singapore mein singapore ki population se double number of tourism hamari agar hum population bahut hi zyada garam dekhe 0 5 percent bhi nahi aate honge 2 saal mein toh kya jaane ke liye hamein apne jitne bhi state mein tourist ko tension hai un sabhi ne hai ko tension hamari culture heritage hamare tourist spots on mountain soch ek bahut hi acche tourism sector ko agar hum strong karenge employment office bhi aayengi economic revolution bhi hoga aur hamare kaafi zyada bold ho gaye hamare paas income bhi aayegi revenue board india tourist jo abhi ja rahe hain singapore thailand indonesia unke kam se kam usne milakar india mein aa jaane chahiye bahut fark padega sector develop kar sakte friendship friendship karke hum bahut saare gold ki countries ko pension se dhyan se dekh sakte hain use yahin par baithe hue unke sabke back office sir dho sakte hain yahan ke hum sikandar ko bitha sakte hain vaah saree information ya jo bhi unko karna hai vaah kar sakte hain unko de sakte hain ki 2 sectors badi problem

दो आपको एरियाज बताऊंगा जो बहुत रिकॉर्डिंग भेजो इंडिया एंड यूटिलाइज कर रही तो टूरिज्म टूरिज

Romanized Version
Likes  84  Dislikes    views  2788
WhatsApp_icon
user

M S Aditya Pandit

Entrepreneur | Politician

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमें एक ऐसे देश के रूप में उभर के सामने आना चाहिए जो तकनीकी रूप से चयनित टेक्नोलॉजी शिक्षा में सक्षम हो इंफ्रास्ट्रक्चर से सक्षम हो एग्रीकल्चर से शुरू हुई अनूपपुर सेक्टर का हेल्प सेक्टर शिक्षक उसके बाद सांस्कृतिक रूप से आध्यात्मिक रूप से इंसानियत रूप से सक्षम होना चाहिए मानवता और इंसानियत सबसे बड़ी चीज है जो सबसे बड़ी दौलत है ही हिंदुस्तान को हर बार विसर्जन करता है वह पूरी दुनिया को एक नया चीज सकते थे एक समाचार चैनल ने वापस इंडिया को भी डेवलप किया उस लेवल पर ले जाते रखे सिर्फ अपने ज्ञान की वजह से वह चीजें होना चाहिए मेन चीज इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट होगा वह सबसे बड़ा क्यों है हुनर है तो उसी को लेकर हमें साथ में चलना चाहिए यह जो टैलेंट है यह कुदरत का सबसे अलग टैलेंट है और इसको लेकर चलना चाहिए

hamein ek aise desh ke roop mein ubhar ke saamne aana chahiye jo takniki roop se chayanit technology shiksha mein saksham ho infrastructure se saksham ho agriculture se shuru hui anuppur sector ka help sector shikshak uske baad sanskritik roop se aadhyatmik roop se insaniyat roop se saksham hona chahiye manavta aur insaniyat sabse badi cheez hai jo sabse badi daulat hai hi Hindustan ko har baar visarjan karta hai vaah puri duniya ko ek naya cheez sakte the ek samachar channel ne wapas india ko bhi develop kiya us level par le jaate rakhe sirf apne gyaan ki wajah se vaah cheezen hona chahiye main cheez infrastructure development hoga vaah sabse bada kyon hai hunar hai toh usi ko lekar hamein saath mein chalna chahiye yah jo talent hai yah kudrat ka sabse alag talent hai aur isko lekar chalna chahiye

हमें एक ऐसे देश के रूप में उभर के सामने आना चाहिए जो तकनीकी रूप से चयनित टेक्नोलॉजी शिक्ष

Romanized Version
Likes  157  Dislikes    views  1886
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चार मित्र देश के रूप में क्षमता का बहुत सारी है इनके क्षमता बढ़ाने की बात करेंगे उनको बहुत ज्यादा बनाए जाने की आवश्यकता है हमें हमारे यहां रिसर्च को बहुत ज्यादा जन्मदिन की सख्त आवश्यकता है क्षेत्र के जो आइटम है वही करो बहुत सारी ऐसी क्षमता है अभी भारत को $15 इकोनामी बनना है भारत को अपना कल्चर 301 राजकोषीय घाटे को हटाना है बहुत ज्यादा सख्त आवश्यकता है कि भारतीय क्षेत्र में टीचिंग क्योंकि हमारी जो एजुकेशन क्वालिटी है वह बहुत ज्यादा पड़ोसी देशों से पीछे एमएमआर जो इंडिया में भक्ति दादा की दुनिया के अच्छे-अच्छे यूनिवर्सिटी पुरी दुनिया से पढ़ने आते थे लेकिन अभी हमारे इंप्लायूसिबल करनी है सबसे बड़ा फिल्म भारत को भी अपनी

char mitra desh ke roop mein kshamta ka bahut saree hai inke kshamta badhane ki baat karenge unko bahut zyada banaye jaane ki avashyakta hai hamein hamare yahan research ko bahut zyada janamdin ki sakht avashyakta hai kshetra ke jo item hai wahi karo bahut saree aisi kshamta hai abhi bharat ko 15 economy bana hai bharat ko apna culture 301 rajkoshiya ghate ko hatana hai bahut zyada sakht avashyakta hai ki bharatiya kshetra mein teaching kyonki hamari jo education quality hai vaah bahut zyada padosi deshon se peeche MMR jo india mein bhakti dada ki duniya ke acche acche university puri duniya se padhne aate the lekin abhi hamare implayusibal karni hai sabse bada film bharat ko bhi apni

चार मित्र देश के रूप में क्षमता का बहुत सारी है इनके क्षमता बढ़ाने की बात करेंगे उनको बहुत

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  183
WhatsApp_icon
play
user

Dr. Radha kant Singh

किसान

1:02

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम कहीं पर भी अपलोड हो जाएं लेकिन भारत एक कृषि प्रधान देश है तो हमारा प्रधान व्यवसाय है अगर हम उसी को बढ़ावा दें तो दुनियाभर हम से आयात करना चाहते हम पहले भी चाय गरम मसाले कहवा नारियल चीनी इन चीजों का निर्यात करते चले आए हैं अगर हम इनकी गुणवत्ता को और सुधार के साथ में बहुत से देशों में टमाटर प्याज लहसुन दलहन भी आयात करते हैं तो हम अपने मूल व्यवसाय को जो हमारा कृषि प्रधान देश है अगर हम इसी की गुणवत्ता को सुधारने तो मैं विश्वास दिलाता हूं कि दुनिया का हर देश हमसे आयात करना चाहता है और

hum kahin par bhi upload ho jayen lekin bharat ek krishi pradhan desh hai toh hamara pradhan vyavasaya hai agar hum usi ko badhawa de toh duniyabhar hum se ayat karna chahte hum pehle bhi chai garam masale kahwa nariyal chini in chijon ka niryat karte chale aaye hain agar hum inki gunavatta ko aur sudhaar ke saath mein bahut se deshon mein tamatar pyaaz lehsun dalhan bhi ayat karte hain toh hum apne mul vyavasaya ko jo hamara krishi pradhan desh hai agar hum isi ki gunavatta ko sudhaarne toh main vishwas dilata hoon ki duniya ka har desh humse ayat karna chahta hai aur

हम कहीं पर भी अपलोड हो जाएं लेकिन भारत एक कृषि प्रधान देश है तो हमारा प्रधान व्यवसाय है अग

Romanized Version
Likes  55  Dislikes    views  788
WhatsApp_icon
user

Harish Chand

Social Worker

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी तो हमारी शुरुआत है यह जवाब का सवाल है कि मैं बता दूं भी तो हमारे देश का युवा जागृति नहीं हुआ है और जिस जिस देश का युवा जागृत हो जाएगा और युवाओं के मुताबिक सरकारी आ जाएंगे इस देश में सुपर पावर होगा यह आप नोटिस कर लेना ठीक है क्योंकि अभी तो शुरुआत भी नहीं हुई है ढंग से अभी तो जस्ट लाइक दैट शुरू होने वाला है कि मित्रों को जय सियाराम

abhi toh hamari shuruat hai yah jawab ka sawaal hai ki main bata doon bhi toh hamare desh ka yuva jagriti nahi hua hai aur jis jis desh ka yuva jagrit ho jaega aur yuvaon ke mutabik sarkari aa jaenge is desh me super power hoga yah aap notice kar lena theek hai kyonki abhi toh shuruat bhi nahi hui hai dhang se abhi toh just like that shuru hone vala hai ki mitron ko jai siyaram

अभी तो हमारी शुरुआत है यह जवाब का सवाल है कि मैं बता दूं भी तो हमारे देश का युवा जागृति नह

Romanized Version
Likes  118  Dislikes    views  1483
WhatsApp_icon
user
2:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आप का सवाल है हमें एक ऐसे देश के रूप में क्या क्षमता है बनानी चाहिए जो दुनिया याद करना चाहेगी आज हम एक साथ लेकिन पूरी दुनिया में चाइना क्यों छाया हुआ है चाइना यह पता लगाता है कि किसानों को किस चीज की जरूरत है और यह तो सभी जानते हैं कि सामान अच्छा रहे हो सकता तो नहीं बनाने की कोशिश करता है और कौन तैयार करता है जैसा वो क्या होता है क्या नहीं कर सकते हमारे यहां हमारे हो बदकिस्मती से अनुपात लेट लिए एक इंजीनियर या डॉक्टर से निकलते तो है और अपने मूल के पैसे से उनकी पढ़ाई होती है लेकिन भारत ने दूसरे लोगों की सेवा करते हैं वह बहुत स्लो करते हैं तो है लेकिन इसमें जो है यहां कुछ भेजते भी नहीं करते यहां होती है जरूरत भी नहीं होती क्या कहते हैं

dekhiye aap ka sawaal hai hamein ek aise desh ke roop me kya kshamta hai banani chahiye jo duniya yaad karna chahegi aaj hum ek saath lekin puri duniya me china kyon chhaya hua hai china yah pata lagaata hai ki kisano ko kis cheez ki zarurat hai aur yah toh sabhi jante hain ki saamaan accha rahe ho sakta toh nahi banane ki koshish karta hai aur kaun taiyar karta hai jaisa vo kya hota hai kya nahi kar sakte hamare yahan hamare ho badakismati se anupat late liye ek engineer ya doctor se nikalte toh hai aur apne mul ke paise se unki padhai hoti hai lekin bharat ne dusre logo ki seva karte hain vaah bahut slow karte hain toh hai lekin isme jo hai yahan kuch bhejate bhi nahi karte yahan hoti hai zarurat bhi nahi hoti kya kehte hain

देखिए आप का सवाल है हमें एक ऐसे देश के रूप में क्या क्षमता है बनानी चाहिए जो दुनिया याद कर

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  229
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  6  Dislikes    views  128
WhatsApp_icon
user
0:31
Play

Likes  6  Dislikes    views  126
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!