भारत में कार्तिक स्नान को क्यों पवित्र माना जाता है?...


play
user

महेश दुबे

कवि साहित्यकार

0:32

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे शास्त्रों और पुराणों ने जैसी व्यवस्था दी है उसके अनुसार चिंतन मनन करने पर ही प्राप्त पता चलता है कि कार्तिक मास में स्नान ध्यान आदि का विशेष महत्व है और माघ मास में भी लोग कल वास करते हैं संगम तट पर जाकर महीने भर नहाते हैं हमारे यहां तरह के कर्मकांड सनातन धर्म में आदिकाल से ही चले आ रहे हैं और लोगों की आस्था है कि यह बहुत पवित्र कर्म है

hamare shastron aur purano ne jaisi vyavastha di hai uske anusaar chintan manan karne par hi prapt pata chalta hai ki kartik mass mein snan dhyan aadi ka vishesh mahatva hai aur magh mass mein bhi log kal was karte hain sangam tat par jaakar mahine bhar nahaate hain hamare yahan tarah ke karmakand sanatan dharm mein aadikaal se hi chale aa rahe hain aur logo ki astha hai ki yah bahut pavitra karm hai

हमारे शास्त्रों और पुराणों ने जैसी व्यवस्था दी है उसके अनुसार चिंतन मनन करने पर ही प्राप्त

Romanized Version
Likes  43  Dislikes    views  1060
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कार्तिक मास को पवित्र माना जाता है और शरद पूर्णिमा के अवसर से दिन से कार्य शुरू हो जाता है और लोग पूरे 1 महीने कार्तिक का स्नान करते हैं कार्तिक की परिक्रमा ओं के लिए देव तीर्थ स्थानों को जाते हैं पवित्र नदियों में स्नान करते हैं इसी मार्च में दीपावली का बड़ा त्यौहार आता है और कार्तिक पूर्णिमा स्नान की बताएं और लोक दीपदान करते हैं और इसी महीने में भगवान उड़ जा काले कावा

kartik mass ko pavitra mana jata hai aur sharad poornima ke avsar se din se karya shuru ho jata hai aur log poore 1 mahine kartik ka snan karte hain kartik ki parikrama on ke liye dev tirth sthano ko jaate hain pavitra nadiyon mein snan karte hain isi march mein deepawali ka bada tyohar aata hai aur kartik poornima snan ki bataye aur lok deepdaan karte hain aur isi mahine mein bhagwan ud ja kaale kawa

कार्तिक मास को पवित्र माना जाता है और शरद पूर्णिमा के अवसर से दिन से कार्य शुरू हो जाता है

Romanized Version
Likes  94  Dislikes    views  1788
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में कार्तिक स्नान को क्यों पवित्र माना जाता है अभी तक मन मानता है आत्मा तो हमेशा ही पवित्र होती है लेकिन सूचना यह है कि इस्लाम कर कॉल रहा है शरीर कर रहा है या मन कर रहा है क्या कर रही है कृष्णा और शरीर का शिकार और मन का स्नान तीनों फतवा स्नान कर रही है बहुत शुभ स्नान कर रहा है पप्पा बढ़ा देता है और अगर स्नान कर रहा है तो सिर्फ अपनी सफाई कर रहा है

bharat me kartik snan ko kyon pavitra mana jata hai abhi tak man maanta hai aatma toh hamesha hi pavitra hoti hai lekin soochna yah hai ki islam kar call raha hai sharir kar raha hai ya man kar raha hai kya kar rahi hai krishna aur sharir ka shikaar aur man ka snan tatvo fatwa snan kar rahi hai bahut shubha snan kar raha hai pappa badha deta hai aur agar snan kar raha hai toh sirf apni safaai kar raha hai

भारत में कार्तिक स्नान को क्यों पवित्र माना जाता है अभी तक मन मानता है आत्मा तो हमेशा ही प

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  128
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बासिया और कार्तिक पूर्णिमा जो कि 15 दिन कुल्लू लड़के जो है वह सितंबर में मनाया जाता है जिसका हिंदू जैन और सिख धर्म में बहुत ज्यादा महत्त्व है इसको जो है सीमा ने जब बहुत कोई तुम्हारा जाता है क्योंकि यह जो है भगवान शिव के पहले पुत्र कार्तिकेय के लिए मनाई जाती आस्था में मनाया जाता है

basiya aur kartik poornima jo ki 15 din kullu ladke jo hai vaah september mein manaya jata hai jiska hindu jain aur sikh dharm mein bahut zyada mahatva hai isko jo hai seema ne jab bahut koi tumhara jata hai kyonki yah jo hai bhagwan shiv ke pehle putra kartikey ke liye manai jaati astha mein manaya jata hai

बासिया और कार्तिक पूर्णिमा जो कि 15 दिन कुल्लू लड़के जो है वह सितंबर में मनाया जाता है जिस

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!