कुछ गलत धारणाएं हैं जो लोगों को एक IAS अधिकारी के जीवन के बारे में हैं जिन्हें आप स्पष्ट करना चाहेंगे?...


user

Anil Ramola

Yoga Instructor | Engineer

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आयुक्त के पद होता है बहुत सम्मान नहीं होता और बहुत ही महत्वपूर्ण पद होता है और एक विद्यार्थी के जीवन का लक्ष्य होता है क्योंकि एकदम टाइट कर के आईएएस अधिकारी के सामने आ जाता राजनीतिक दल होते हैं उनका बहुत अधिक होता है आयुष के ऊपर कंट्रोलिंग कंट्रोल करने के लिए लेकिन उनके अंदर का जो मनोबल टूट जाता है और वह सोचते हैं कि पढ़ाई कितना कुछ दिया लेकिन एक सामान्य आदमी है सामान्य से राज्य में अनुपालन में पड़ी है स्त्री के कुछ एक सवाल सितारों की तारीख को परेशान कर सकते हैं लेकिन कहानी के विरोध में आता है काफी संबंध काफी सक्षम होता है

aayukt ke pad hota hai bahut sammaan nahi hota aur bahut hi mahatvapurna pad hota hai aur ek vidyarthi ke jeevan ka lakshya hota hai kyonki ekdam tight kar ke IAS adhikari ke saamne aa jata raajnitik dal hote hain unka bahut adhik hota hai ayush ke upar controlling control karne ke liye lekin unke andar ka jo manobal toot jata hai aur vaah sochte hain ki padhai kitna kuch diya lekin ek samanya aadmi hai samanya se rajya me anupaalan me padi hai stree ke kuch ek sawaal sitaron ki tarikh ko pareshan kar sakte hain lekin kahani ke virodh me aata hai kaafi sambandh kaafi saksham hota hai

आयुक्त के पद होता है बहुत सम्मान नहीं होता और बहुत ही महत्वपूर्ण पद होता है और एक विद्यार्

Romanized Version
Likes  379  Dislikes    views  3352
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

0:37
Play

Likes  581  Dislikes    views  7264
WhatsApp_icon
user

S Bajpay

Yoga Expert | Beautician & Gharelu Nuskhe Expert

5:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम राम जी की जी की आपका प्रश्न कुछ गलत धारणा है जो लोगों को एक आईएएस अधिकारी की जीवन के बारे में जिन्हें आप स्पष्ट करना चाहिए लिखिए आईएएस अधिकारी के बारे में जनता की कुछ धारणाएं हैं जिनमें से कुछ धारणाएं बिल्कुल सही हैं कुछ बिल्कुल गलत है कुछ गलत भी है सही भी डाकू तीनों प्रकार की कैटेगरी बताऊंगा आमतौर पर आईएएस अधिकारी के बारे में जनता की धारणा है कि आईएएस अधिकारी का पद जो है यह पिछली में प्रारंभिक जिले में एकता का प्रतीक होता है आईएएस अधिकारी पर यह कर्तव्य होता है या यह सरकारी का कार्य क्यों शासन की नीतियों शासन द्वारा निर्धारित किए नीतियों को लागू करें शासन की योजनाओं का विस्तार करें आईएएस अधिकारी का कारण होता है यह जनता की धारणा निधि है तो सही जानकारी दें पागल बदतमीज जिला अधिकारी के रूप में आईएएस अधिकारी जिले में शासन सत्ता का प्रतीक होता है तब प्रतिनिधि होता है शासन की योजनाओं को शासन की योजनाओं को पूरी तरह से जिले में लागू करता है शासन की जो गरीबों की योजनाएं उनको लागू करवाता है उसकी रिपोर्ट शासन को करता है उसकी मॉनिटरिंग करता है समय-समय पर शासन भी मॉनिटरिंग करती है इस प्रकार शासन हो सकता का प्रतिनिधि आईएएस अधिकारियों का यहां तक तो जाता लेकिन उस धारणा ऐसी भी है कि आईएएस अधिकारी अपने को अच्छे पद पर बनी रखने के लिए महत्त्व के पदों पर बनाए रखने के लिए सरकार की गलत तरह से समझौता करते हैं सरकार की बल्कि विशेष रूप से राजनीतिक दलों की गलत नीतियों का पालन करते ही अच्छी पदों पर बने रहने के लिए जनप्रतिनिधियों के सामने झुक जाते हैं उनकी उल्टे सीधे काम करते हैं इनमें से 70% सही है कोई भी आइए संताली न्यू ब्रांड में नहीं रहना चाहता सब आईएस अवतारी लाइमलाइट में रहना चाहती हैं अच्छे पदों पर ना चाहते हैं कि मी पदों पर रहना चाहते मलाईदार पदों पर देना चाहती हैं इसलिए वह शासक दल जो होता है प्रदेश में उसकी उसकी नीतियों पर उसकी नीतियों पर यस सर यस सर न सिर्फ कहती हैं बल्कि अक्सर वाले कार्य करते हैं उनकी सभी उल्टी-सीधी कामों को गलत सही कामों को अंजाम देते हैं सही ढंग से सही आगरा पहनाकर उनकी गलत नीतियों को लागू करते हैं गलत उनके काम को करते हैं यह धारणा 70% आईएस अंतरिया सीकर 23 तारीख के बारे में जीवनी आम धारणा जनता में के बहुत पैसा कमाती हैं बहुत भ्रष्टाचार करते हैं तो मैं आपको बता दूं यह धारणा भी काफी खुश तक सही है लेकिन हर घड़ी के बारे में शिकायत अधिकारी मैंने अपने जीवन में बहुत सी ईमानदार आईएएस अधिकारी देकर जो किसी को कोई मिठाई उनके पास लेकर जाएगा तो मिठाई का पैकेट भी वापस नहीं मैं तो मुझे चुका है मेरी खता मीठा ही ऐसे होते हैं यह धारणा सही है और इसको इस तरह से दिखाया दिखाइए आने के लिए एक परंपरा शुरू की दया से 20 साल 15 साल पहले करती थी कि उनकी नहीं है लेकिन कि उनकी खुशियां हंड्रेड परसेंट सही होती है तो इस तरह की सूची जारी करते हैं वह पैसे भ्रष्ट अधिकारियों की सूची जारी करते हैं और इस पर भ्रष्ट अधिकारी कोई कार्रवाई भी नहीं करते जो है वह मैं मानता हूं 75% आईएस पुजारी प्रस्तुत किए हैं 20:25 पर्सेंट बेहद ईमानदार ऊंची और इन्हीं के बल पर आईएस एसुस इमानदारी का पूरा है

ram ram ji ki ji ki aapka prashna kuch galat dharana hai jo logo ko ek IAS adhikari ki jeevan ke bare me jinhen aap spasht karna chahiye likhiye IAS adhikari ke bare me janta ki kuch dharnae hain jinmein se kuch dharnae bilkul sahi hain kuch bilkul galat hai kuch galat bhi hai sahi bhi daku tatvo prakar ki category bataunga aamtaur par IAS adhikari ke bare me janta ki dharana hai ki IAS adhikari ka pad jo hai yah pichali me prarambhik jile me ekta ka prateek hota hai IAS adhikari par yah kartavya hota hai ya yah sarkari ka karya kyon shasan ki nitiyon shasan dwara nirdharit kiye nitiyon ko laagu kare shasan ki yojnao ka vistaar kare IAS adhikari ka karan hota hai yah janta ki dharana nidhi hai toh sahi jaankari de Pagal badtameez jila adhikari ke roop me IAS adhikari jile me shasan satta ka prateek hota hai tab pratinidhi hota hai shasan ki yojnao ko shasan ki yojnao ko puri tarah se jile me laagu karta hai shasan ki jo garibon ki yojanaye unko laagu karwata hai uski report shasan ko karta hai uski monitoring karta hai samay samay par shasan bhi monitoring karti hai is prakar shasan ho sakta ka pratinidhi IAS adhikaariyo ka yahan tak toh jata lekin us dharana aisi bhi hai ki IAS adhikari apne ko acche pad par bani rakhne ke liye mahatva ke padon par banaye rakhne ke liye sarkar ki galat tarah se samjhauta karte hain sarkar ki balki vishesh roop se raajnitik dalon ki galat nitiyon ka palan karte hi achi padon par bane rehne ke liye janapratinidhiyon ke saamne jhuk jaate hain unki ulte sidhe kaam karte hain inmein se 70 sahi hai koi bhi aaiye santali new brand me nahi rehna chahta sab ias AVTARI limelight me rehna chahti hain acche padon par na chahte hain ki me padon par rehna chahte malaidar padon par dena chahti hain isliye vaah shasak dal jo hota hai pradesh me uski uski nitiyon par uski nitiyon par Yes sir Yes sir na sirf kehti hain balki aksar waale karya karte hain unki sabhi ulti seedhi kaamo ko galat sahi kaamo ko anjaam dete hain sahi dhang se sahi agra pahnakar unki galat nitiyon ko laagu karte hain galat unke kaam ko karte hain yah dharana 70 ias antariya sikar 23 tarikh ke bare me jeevni aam dharana janta me ke bahut paisa kamati hain bahut bhrashtachar karte hain toh main aapko bata doon yah dharana bhi kaafi khush tak sahi hai lekin har ghadi ke bare me shikayat adhikari maine apne jeevan me bahut si imaandaar IAS adhikari dekar jo kisi ko koi mithai unke paas lekar jaega toh mithai ka packet bhi wapas nahi main toh mujhe chuka hai meri khata meetha hi aise hote hain yah dharana sahi hai aur isko is tarah se dikhaya dikhaiye aane ke liye ek parampara shuru ki daya se 20 saal 15 saal pehle karti thi ki unki nahi hai lekin ki unki khushiya hundred percent sahi hoti hai toh is tarah ki suchi jaari karte hain vaah paise bhrasht adhikaariyo ki suchi jaari karte hain aur is par bhrasht adhikari koi karyawahi bhi nahi karte jo hai vaah main maanta hoon 75 ias pujari prastut kiye hain 20 25 percent behad imaandaar unchi aur inhin ke bal par ias asus imaandari ka pura hai

राम राम जी की जी की आपका प्रश्न कुछ गलत धारणा है जो लोगों को एक आईएएस अधिकारी की जीवन के ब

Romanized Version
Likes  356  Dislikes    views  4476
WhatsApp_icon
user

Ansh jalandra

Motivational speaker

0:27
Play

Likes  140  Dislikes    views  3104
WhatsApp_icon
play
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

3:14

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पेट में कुछ गलत धारणा है जो लोगों को दिखाइए सरकारी की जीवनी के बारे में बिना पर स्पष्ट करना चाहेंगे देखिए ब्यूटी ब्यूटी आमतौर पर आजकल लोग आईएस ऑफिसर को रिश्वतखोर मानते हैं सरकार का पिट्ठू मांगते हैं सरकार का सिपाही मानते हैं सरकार जैसा चाहिए वैसा इन आईएएस ऑफिसर के द्वारा अपनी मनमानी फैसले करवाती है और सरकार इन आयतों को अपनी मनमर्जी से अपॉइंटमेंट देती है जहां सरकार को जिससे जो काम लेना होता है उस काम को उसे अवधारणा के साथ सरकार संबंधित एक्टिवा 5G है सरकार इसमें कोई संदेह नहीं है कि कुछ लोग कुछ लोग कुछ लोग अपने पति के लिए त्याग देंगे लेकिन स्वाभिमान नहीं होंगे बेमानी का भ्रष्टाचार का अनुसरण नहीं करेंगे और कुछ लोग अपने धर्म अपने कर्तव्य को भेज सकें और सरकार के शागिर्द बन जाते तो कुछ गलत धारणाएं अफवाह क्यों कुछ गलत धारणाएं वार्षिक है और जो गठबंधन ने लोगों के मन में आई है उसके पीछे कोई ना कोई तो कारण है अगर उन कारणों को हमारी आईडी सरकारी या आईपीएस अधिकारी ईमानदारी के साथ परिचय दें तो यह गलत धारणाओं का सफाया किया जा सकता है लेकिन सचिन की दूध और पानी दूर से नजर आता है यूट्यूब पानी मिले तू बता देती है कि सच्चाई क्या है हम मान कर चलते हैं छोटा कटप्पा एंड होता है कितने परिश्रम के बाद कितने तकनीकों के बाद में कोई पद मिलता है और कोई भी समझदार व्यक्ति पद की गरिमा को खोना नहीं चाहेगा कुछ पैसे के कारण कुछ लालच के कारण देखा गया है इसमें ऐसा महसूस होता कि नहीं होना चाहिए कि उनकी जो आए उससे कई गुना उनके पास संपत्ति खट्टी होती है कहीं ना कहीं तो इंसान को सोचने के लिए मजबूर करता और यहीं से दुआ की गलती की सजा हमारे अधिकारी समाज पर अधिकारियों के ऊपर जब पढ़ते तो बड़ा दुख दर्द होता है हम ही लोगों को मिलकर इन अधिकारियों को मिलता है इन समस्याओं से बाहर निकलना होगा और लोगों को विश्वास दिलाना होगा कि आपकी भावनाएं निर्मूल आपको कोई अधिकारी ऐसा अब भविष्य करता हुआ आप उसके कारनामे हमेशा अच्छे रूप में देखेंगे

aapka pet mein kuch galat dharana hai jo logo ko dikhaiye sarkari ki jeevni ke bare mein bina par spasht karna chahenge dekhiye beauty beauty aamtaur par aajkal log ias officer ko rishwatkhor maante hain sarkar ka pitthu mangate hain sarkar ka sipahi maante hain sarkar jaisa chahiye waisa in IAS officer ke dwara apni manmani faisle karwati hai aur sarkar in ayaton ko apni manmarzi se appointment deti hai jaha sarkar ko jisse jo kaam lena hota hai us kaam ko use avdharna ke saath sarkar sambandhit activa 5G hai sarkar isme koi sandeh nahi hai ki kuch log kuch log kuch log apne pati ke liye tyag denge lekin swabhiman nahi honge bemani ka bhrashtachar ka anusaran nahi karenge aur kuch log apne dharm apne kartavya ko bhej sake aur sarkar ke shagird ban jaate toh kuch galat dharnae afavah kyon kuch galat dharnae vaarshik hai aur jo gathbandhan ne logo ke man mein I hai uske peeche koi na koi toh karan hai agar un karanon ko hamari id sarkari ya ips adhikari imaandaari ke saath parichay de toh yah galat dharnaon ka safaya kiya ja sakta hai lekin sachin ki doodh aur paani dur se nazar aata hai youtube paani mile tu bata deti hai ki sacchai kya hai hum maan kar chalte hain chota katappa and hota hai kitne parishram ke baad kitne taknikon ke baad mein koi pad milta hai aur koi bhi samajhdar vyakti pad ki garima ko khona nahi chahega kuch paise ke karan kuch lalach ke karan dekha gaya hai isme aisa mehsus hota ki nahi hona chahiye ki unki jo aaye usse kai guna unke paas sampatti khatti hoti hai kahin na kahin toh insaan ko sochne ke liye majboor karta aur yahin se dua ki galti ki saza hamare adhikari samaj par adhikaariyo ke upar jab padhte toh bada dukh dard hota hai hum hi logo ko milkar in adhikaariyo ko milta hai in samasyaon se bahar nikalna hoga aur logo ko vishwas dilana hoga ki aapki bhaavnaye nirmul aapko koi adhikari aisa ab bhavishya karta hua aap uske kaarname hamesha acche roop mein dekhenge

आपका पेट में कुछ गलत धारणा है जो लोगों को दिखाइए सरकारी की जीवनी के बारे में बिना पर स्पष्

Romanized Version
Likes  315  Dislikes    views  4376
WhatsApp_icon
user

Pragti Tripathi

UPSC Aspirant

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

के दोस्तों जिनको लगता है कि आई बनने के बाद में हमरा जाओ जैसी जिंदगी जिएंगे बढ़िया आराम से घूमेंगे लेंगे जहां जाएंगे वहां जाएंगे सच बताऊं तो 1 ईयर की जॉब की ट्रेनिंग होती है ठीक है उसके बाद जवाब भारत दर्शन करते हो तो जितना आपको घूमना और समझना होता है आप घूम समझ लेते हो उसके बाद जब आपकी लग जाती है ड्यूटी ड्यूटी नहीं पोस्टिंग हो जाती है आपकी उसके बाद सारी खुशियां आपके खत्म फिर आपको सिर्फ फाइल फाइल और सिर्फ फाइल उन्हीं के बीचो में रहना है उन्हीं से दोस्ती करनी है उन्हीं से बात करनी है और काम ही काम ठीक है तो ऐसी होती है आप किसी भी डिस्ट्रिक्ट में चले जाओगे जहां आपकी पोस्टिंग होगी ठीक है वहां पर जाकर वहां के नियम कानून आप देखोगे ठीक है वहां पर क्या हो रहा है क्या नहीं हो रहा है ठीक है आप काम करोगे दिन रात ठीक ही ऐसी होती है लाइफ जिनको यह लगता है कि आप जिनको यह लगता हो कि मैं आईएस सिर्फ इसलिए बनना चाहता हूं कि बढ़िया मजे से करूंगा कोई काम नहीं कर दूंगा आराम कर दूंगा उसके बाद जिंदगी की तैयारी करना चाहते हो तो मत करो क्योंकि यह बिल्कुल भी रिलैक्स वाली जॉब नहीं है कि आपको इसमें फ्लेक्स मिलने वाला है तो जो लोग इस प्रेरणा को लेकर चल रहे हैं घूमना फिरना तो उनके वह प्लीज इस जॉब को भी नहीं छोड़ते एंड तैयारी अभी से छोड़ दें तो आप अपने लिए जॉब ढूंढो जिसमें आपको चेक करने को मिले

ke doston jinako lagta hai ki I banne ke baad me hamara jao jaisi zindagi jeeenge badhiya aaram se ghumenga lenge jaha jaenge wahan jaenge sach bataun toh 1 year ki job ki training hoti hai theek hai uske baad jawab bharat darshan karte ho toh jitna aapko ghumana aur samajhna hota hai aap ghum samajh lete ho uske baad jab aapki lag jaati hai duty duty nahi posting ho jaati hai aapki uske baad saari khushiya aapke khatam phir aapko sirf file file aur sirf file unhi ke beechon me rehna hai unhi se dosti karni hai unhi se baat karni hai aur kaam hi kaam theek hai toh aisi hoti hai aap kisi bhi district me chale jaoge jaha aapki posting hogi theek hai wahan par jaakar wahan ke niyam kanoon aap dekhoge theek hai wahan par kya ho raha hai kya nahi ho raha hai theek hai aap kaam karoge din raat theek hi aisi hoti hai life jinako yah lagta hai ki aap jinako yah lagta ho ki main ias sirf isliye banna chahta hoon ki badhiya maje se karunga koi kaam nahi kar dunga aaram kar dunga uske baad zindagi ki taiyari karna chahte ho toh mat karo kyonki yah bilkul bhi relax wali job nahi hai ki aapko isme flex milne vala hai toh jo log is prerna ko lekar chal rahe hain ghumana phirna toh unke vaah please is job ko bhi nahi chodte and taiyari abhi se chhod de toh aap apne liye job dhundho jisme aapko check karne ko mile

के दोस्तों जिनको लगता है कि आई बनने के बाद में हमरा जाओ जैसी जिंदगी जिएंगे बढ़िया आराम से

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  186
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!