कुछ लोग इस तथ्य को क्यों छिपाते हैं कि वे IAS की तैयारी कर रहे हैं?...


user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

0:39
Play

Likes  569  Dislikes    views  6504
WhatsApp_icon
21 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार के साथ में पोस्ट किया है कुछ लोग इस तथ्य को छुपाते हैं कि आई एस की तैयारी करें अब आप यह समझ ले कि जो लोग ऐसा करते हैं हमको समझ लीजिए कि वह अपने केस मुकेश को मिलेंगे कल बहुत स्ट्रांग नहीं है तथा उनको अपने ऊपर विश्वास नहीं होता कि वह आईएएस परीक्षा करेक्ट कर सकेंगे ऐसे व्यक्ति जो इस प्रकार से करते हैं उनको इस प्रकार की परीक्षाएं करने में दिक्कत का सामना करना पड़ता है क्योंकि उन्हें लेकर कॉन्फिडेंट पर्याप्त मात्रा में रहता है कोई विश्वास नहीं होता कि हम सबको इस एग्जाम में सक्सेस हो सकते हैं धन्यवाद

namaskar ke saath me post kiya hai kuch log is tathya ko chhupaate hain ki I S ki taiyari kare ab aap yah samajh le ki jo log aisa karte hain hamko samajh lijiye ki vaah apne case mukesh ko milenge kal bahut strong nahi hai tatha unko apne upar vishwas nahi hota ki vaah IAS pariksha correct kar sakenge aise vyakti jo is prakar se karte hain unko is prakar ki parikshaen karne me dikkat ka samana karna padta hai kyonki unhe lekar confident paryapt matra me rehta hai koi vishwas nahi hota ki hum sabko is exam me success ho sakte hain dhanyavad

नमस्कार के साथ में पोस्ट किया है कुछ लोग इस तथ्य को छुपाते हैं कि आई एस की तैयारी करें अब

Romanized Version
Likes  61  Dislikes    views  1191
WhatsApp_icon
user

Manish Bhargava

Trainer/ Mentor in Delhi education deptt.

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कुछ लोग इस तत्व को क्यों छुपाते हैं कि बी आई एस की तैयारी कर रहे हैं इस तथ्य को छिपाने वाले अधिकांश लोग होते हैं जो कुछ वर्ष किसी चीज में असफल हो चुके होते हैं जो बच्चा डायरेक्ट ट्वेल्थ के बाद अग्रेशन के साथ ही तैयारी करता है वह तो सबसे हर जगह ज्यादातर बोलता कि मैं आईएस की तैयारी कर रहा हूं मैं दिल्ली में कोचिंग ले रहा हूं नहीं छुपाता भी सफलता सफलता से अनजान है उसे लगता है कि मेरा यह बताने में भी मेरी इमेज बढ़ेगी एक व्यक्ति जो कई जगह सफल हो चुका होता है उसे लगता है कि मैं बताऊंगा तो लोग मेरा मजाक उड़ाएंगे उसके अंदर इस दर को लेकर वह किसी को नहीं पता था कि ऐसा ना हो में सफल नहीं हो पाया तो क्या होगा किंतु कई बार कई प्रकार के एग्जाम में असफल हो चुका है तो उसका उसे लगता लोग मजाक उड़ाते हैं तो इन चीजों से बचने के लिए व्यक्ति किसी को बताते नहीं है कि वाई एस की तैयारी कर रहे हैं पर यह कुछ लोग होते हैं जो कि जिन असफलता का डर लगता है और जो एक दो बार कई असफल हो चुके हैं बाकी जो लोग नई-नई तैयारी करने जा चिल्ला चिल्ला कर बताते अपने स्टेटस पर अपलोड करते हैं कि प्रिपेयरिंग फ्राई है तो उन्हें इस चीज से ज्यादा फर्क नहीं पड़ता कि मैं भी चीज का स्वाद चखा ही नहीं है क्या सफलता होती है उन्हें तो लगता है तैयारी करूंगा और आईएस बन ही जाऊंगा तो जरूर हो चुके होते हैं मजाक नहीं कर रहे हैं हमारे सिलेक्शन में जो भी कुछ करना है वह हमें ही करना है तो दूसरे का कोई रोल है नहीं तो गोपनीय तरीके से अपनी तैयारी में लगे हुए रहते हैं जुटे हुए रहते हो इन सब चीजों से दूर

aapka prashna hai kuch log is tatva ko kyon chhupaate hain ki be I S ki taiyari kar rahe hain is tathya ko chipane waale adhikaansh log hote hain jo kuch varsh kisi cheez me asafal ho chuke hote hain jo baccha direct twelfth ke baad aggression ke saath hi taiyari karta hai vaah toh sabse har jagah jyadatar bolta ki main ias ki taiyari kar raha hoon main delhi me coaching le raha hoon nahi chhupata bhi safalta safalta se anjaan hai use lagta hai ki mera yah batane me bhi meri image badhegi ek vyakti jo kai jagah safal ho chuka hota hai use lagta hai ki main bataunga toh log mera mazak udaenge uske andar is dar ko lekar vaah kisi ko nahi pata tha ki aisa na ho me safal nahi ho paya toh kya hoga kintu kai baar kai prakar ke exam me asafal ho chuka hai toh uska use lagta log mazak udate hain toh in chijon se bachne ke liye vyakti kisi ko batatey nahi hai ki why S ki taiyari kar rahe hain par yah kuch log hote hain jo ki jin asafaltaa ka dar lagta hai aur jo ek do baar kai asafal ho chuke hain baki jo log nayi nayi taiyari karne ja chilla chilla kar batatey apne status par upload karte hain ki pripeyring fry hai toh unhe is cheez se zyada fark nahi padta ki main bhi cheez ka swaad chakha hi nahi hai kya safalta hoti hai unhe toh lagta hai taiyari karunga aur ias ban hi jaunga toh zaroor ho chuke hote hain mazak nahi kar rahe hain hamare selection me jo bhi kuch karna hai vaah hamein hi karna hai toh dusre ka koi roll hai nahi toh gopaniya tarike se apni taiyari me lage hue rehte hain jute hue rehte ho in sab chijon se dur

आपका प्रश्न है कुछ लोग इस तत्व को क्यों छुपाते हैं कि बी आई एस की तैयारी कर रहे हैं इस तथ्

Romanized Version
Likes  113  Dislikes    views  2856
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

0:39
Play

Likes  306  Dislikes    views  2294
WhatsApp_icon
user
0:48
Play

Likes  123  Dislikes    views  1243
WhatsApp_icon
user

Ansh jalandra

Motivational speaker

0:38
Play

Likes  135  Dislikes    views  2710
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं बोलूंगा कि जो लोग तैयारी तो नहीं कर रहे हैं पूरी दुनिया में सब कुछ दिनों बाद अपना चेंज कर देना चाहते हैं या अपना जो स्पेसिफिकेशन है वह चेंज कर देना चाहते हैं और जो सबसे अच्छी और होता है वह यहां भी है

main boloonga ki jo log taiyari toh nahi kar rahe hain puri duniya mein sab kuch dino baad apna change kar dena chahte hain ya apna jo specification hai vaah change kar dena chahte hain aur jo sabse achi aur hota hai vaah yahan bhi hai

मैं बोलूंगा कि जो लोग तैयारी तो नहीं कर रहे हैं पूरी दुनिया में सब कुछ दिनों बाद अपना चेंज

Romanized Version
Likes  230  Dislikes    views  4519
WhatsApp_icon
user

Anil Ramola

Yoga Instructor | Engineer

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुछ तो अपनी होती

kuch toh apni hoti

कुछ तो अपनी होती

Romanized Version
Likes  458  Dislikes    views  2868
WhatsApp_icon
user

Dr. P. N. Jha

TOPPERS IAS app. Sr.Facuty, IAS Coaching.

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बात बिल्कुल सत्य है कि कुछ लोग आईएएस की तैयारी करते वक्त नहीं चाहते हैं कि उनके बारे में कोई जाने वह उनकी इच्छा यह होती है कि वह यथाशीघ्र फटीमा परीक्षा को पास करके समाज के सामने में अचानक से आए सरप्राइस दें और साथ में यह भी उनके साथ जुड़ा होता है कि वह नाकामी को बर्दाश्त करने में सक्षम नहीं होते तो बिल्कुल टूट जाते हैं हमको लगता है कि अगर मैं नहीं कर पाऊंगा तो मैं किसी काम का नहीं सबकी नजरों से गिर जाऊंगा और मेरी जिंदगी का जो यह लक्ष्य है आईएस यही एक जीवन का अंतिम लक्ष्य है जैसे कि लोग डरते हैं और नहीं बताते हैं क्योंकि यह कुछ ऐसी परीक्षा है जो कि जब तक आप आप बिल्कुल सफल होकर समाज के सामने नहीं आते लोग इस बात को मानने को स्वीकार नहीं होंगे कि आप टैक्सी लिस्ट कैंडिडेट हैं आपने क्या सुनता है और यह शिविर उसकी परीक्षा जो दिखने वाली ऊपर की क्षमता होती है उससे कहीं अधिक है वापी हिडेन रैली उसको आपके हिडेन टैलेंट्स को उभर कर सामने लाता है वह अपने तीनों परीक्षाओं के जरिए तो बहुत है जो समाज में जिस व्यक्ति का अंकन अगर वह वह वही यूपीएससी का भी मापन हो जाए कोई जरूरी नहीं इसलिए कई बार ऐसा होता है कि लोग जब पास करते हैं तो समझ रही इसकी ने तो हमें कभी सोचा भी नहीं था कि यह सब से बंद है यह तो एक बुरी औसत किस्म के बच्चे थे तो इस तरह की जो चीजें होती है बहुत खुशी देती है बहुत इनाम देता है बहुत ही सुंदर एटी केटी इसलिए कई लोग अपने बाप को छुपा कर रखते हैं और वह चाहते हैं कि क्योंकि आप बिना किसी मोहभंग हुए वह अपना कार्य करते रहें और चुपचाप अपनी तैयारी करके समाज के सामने अचानक से एक सरप्राइज दे

yah baat bilkul satya hai ki kuch log IAS ki taiyari karte waqt nahi chahte hain ki unke bare mein koi jaane vaah unki iccha yah hoti hai ki vaah yathashighra fatima pariksha ko paas karke samaj ke saamne mein achanak se aaye saraprais de aur saath mein yah bhi unke saath jinko hota hai ki vaah nakami ko bardaasht karne mein saksham nahi hote toh bilkul toot jaate hain hamko lagta hai ki agar main nahi kar paunga toh main kisi kaam ka nahi sabki nazro se gir jaunga aur meri zindagi ka jo yah lakshya hai ias yahi ek jeevan ka antim lakshya hai jaise ki log darte hain aur nahi batatey hain kyonki yah kuch aisi pariksha hai jo ki jab tak aap aap bilkul safal hokar samaj ke saamne nahi aate log is baat ko manne ko sweekar nahi honge ki aap taxi list candidate hain aapne kya sunta hai aur yah shivir uski pariksha jo dikhne wali upar ki kshamta hoti hai usse kahin adhik hai vaapee hiden rally usko aapke hiden talents ko ubhar kar saamne lata hai vaah apne tatvo parikshao ke jariye toh bahut hai jo samaj mein jis vyakti ka ankan agar vaah vaah wahi upsc ka bhi maapan ho jaaye koi zaroori nahi isliye kai baar aisa hota hai ki log jab paas karte hain toh samajh rahi iski ne toh hamein kabhi socha bhi nahi tha ki yah sab se band hai yah toh ek buri ausat kism ke bacche the toh is tarah ki jo cheezen hoti hai bahut khushi deti hai bahut inam deta hai bahut hi sundar eighty KT isliye kai log apne baap ko chupa kar rakhte hain aur vaah chahte hain ki kyonki aap bina kisi mohabhang hue vaah apna karya karte rahein aur chupchap apni taiyari karke samaj ke saamne achanak se ek surprise de

यह बात बिल्कुल सत्य है कि कुछ लोग आईएएस की तैयारी करते वक्त नहीं चाहते हैं कि उनके बारे मे

Romanized Version
Likes  122  Dislikes    views  2585
WhatsApp_icon
user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

1:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रसिया का प्रश्न कुछ लोग इस तथ्य को क्यों छुपाते हैं कि वे आईएस की तैयारी कर रहे हैं तक बता जाएंगे आजकल समाज में क्या होता है कि लोग अपने गम से दुखी नहीं बल्कि दूसरे के सुख से दुखी होते हैं तो यहां पर क्या होता है कई बार कोई व्यक्ति अगर यहां पर आईएस कोटेशन कर रहा है उसको बताता है और किसी दिन से अगर उसका यह मतलब नहीं होता तो उसको प्रताड़ित करने के लिए उसको टीजर कमेंट करने के लिए पूरा समाज खड़ा हो जाता है कि हमने तो पहले ही कहा था तुम कर नहीं सकते हो यह है बोलना लिखना बहुत सारी बातें यहां पर आती है ऐसे में व्यक्ति अगर छुपाता है तो उसमें बुरा मानने वाली कोई बात नहीं है क्योंकि वह चाहता है कि अगर उसको कॉलीफाई करें तो अपने आप ही लोगों को पता चल जाएगा कि जाता है ना कि आपकी जो वर्किंग होनी चाहिए इतनी शानदार इतनी ज्यादा छुपी में गुप्त होनी चाहिए कि आपकी कामयाबी शोर मचा दे तो इसलिए लोग कहीं रईस की फिल्म करते हैं लेकिन वह जाहिर नहीं करते हैं तो क्या उस में लगे रहते हैं और जब वह सिलेक्ट हो जाते हैं तब लोगों को पता चलता है कि अच्छा यह तो इसकी प्रिपरेशन कर रहे थे वह आईएएस ऑफिसर के बन गए हैं ना उसको क्वालीफाई कर लिया है तो यहां पर कोई बुरा मानने वाली चीज नहीं है बल्कि समाज की जो व्यवस्था है उसे लोग डर करके या उसको नजरअंदाज करके तरह की चीजें करते हैं धन्यवाद

rasiya ka prashna kuch log is tathya ko kyon chhupaate hain ki ve ias ki taiyari kar rahe hain tak bata jaenge aajkal samaj mein kya hota hai ki log apne gum se dukhi nahi balki dusre ke sukh se dukhi hote hain toh yahan par kya hota hai kai baar koi vyakti agar yahan par ias quotation kar raha hai usko batata hai aur kisi din se agar uska yah matlab nahi hota toh usko pratarit karne ke liye usko teaser comment karne ke liye pura samaj khada ho jata hai ki humne toh pehle hi kaha tha tum kar nahi sakte ho yah hai bolna likhna bahut saree batein yahan par aati hai aise mein vyakti agar chhupata hai toh usme bura manne wali koi baat nahi hai kyonki vaah chahta hai ki agar usko kalifai kare toh apne aap hi logo ko pata chal jaega ki jata hai na ki aapki jo working honi chahiye itni shandar itni zyada chhupee mein gupt honi chahiye ki aapki kamyabi shor macha de toh isliye log kahin raees ki film karte hain lekin vaah jaahir nahi karte hain toh kya us mein lage rehte hain aur jab vaah select ho jaate hain tab logo ko pata chalta hai ki accha yah toh iski preparation kar rahe the vaah IAS officer ke ban gaye hain na usko qualify kar liya hai toh yahan par koi bura manne wali cheez nahi hai balki samaj ki jo vyavastha hai use log dar karke ya usko najarandaj karke tarah ki cheezen karte hain dhanyavad

रसिया का प्रश्न कुछ लोग इस तथ्य को क्यों छुपाते हैं कि वे आईएस की तैयारी कर रहे हैं तक बता

Romanized Version
Likes  363  Dislikes    views  6790
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

2:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुछ लोग इस चर्च को क्यों छुपाते हैं कि भाई इसकी चैटिंग करना है भाई एक सीधी सी बात है पानी जाता जो लोग ध्यान मग्न होते हैं जोलो कठोर परिश्रम करते हैं जो लोग संत धनी होते हैं दृढ़ निश्चय ही होते हैं काम का जुनून में होता है पुरुष सारी दुनिया से कटे हुए क्योंकि सफलता का सबसे बड़ा राज एकांत और एकाग्र चित्त ईदो एक्सट्रैक्शन जैसे आप ही मान लेते हैं केवट कुछ बातें छुपाने से क्या मिलेगा टेरा फितूर चढ़ गया जब वो सफल नहीं हुए तो लोग क्या कहेंगे शायद अच्छाई जितनी जल्दी नहीं फैंसी बुराई करती है और मैं कहता हूं की बुराई की लटक कुछ देर के लिए होती है लेकिन अच्छाई की बरसात सबके मन को शीतल परदेसी कोई मुद्दा नहीं है कि वाईएस की शादी करते हैं कि चोर परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं और ध्यान मग्न होकर तैयारी कर रहे हैं इसलिए वह दिखावे से दूर रहते हैं और अपना संपूर्ण समय संपूर्ण चिंतन अपने अध्ययन में लगाते हैं जैसे साथ कुछ लोग ही मान लेते हैं क्यों छुपाते एक बात ध्यान रखिएगा खांसी खुशी गरीबी अमीरी मेंढक पानी के नीचे अपने आप प्रकट हो जाता है सीता माता को अपने अंदर आया

kuch log is church ko kyon chhupaate hain ki bhai iski chatting karna hai bhai ek seedhi si baat hai paani jata jo log dhyan magn hote hain jolo kathor parishram karte hain jo log sant dhani hote hain dridh nishchay hi hote hain kaam ka junun mein hota hai purush saree duniya se kate hue kyonki safalta ka sabse bada raj ekant aur ekagra chitt ido extraction jaise aap hi maan lete hain kevat kuch batein chhupaane se kya milega tera fitoor chad gaya jab vo safal nahi hue toh log kya kahenge shayad acchai jitni jaldi nahi fancy burayi karti hai aur main kahata hoon ki burayi ki latak kuch der ke liye hoti hai lekin acchai ki barsat sabke man ko shital pardesi koi mudda nahi hai ki YS ki shadi karte hain ki chor pariksha ki taiyari kar rahe hain aur dhyan magn hokar taiyari kar rahe hain isliye vaah dikhaave se dur rehte hain aur apna sampurna samay sampurna chintan apne adhyayan mein lagate hain jaise saath kuch log hi maan lete hain kyon chhupaate ek baat dhyan rakhiega khansi khushi garibi amiri mendak paani ke niche apne aap prakat ho jata hai sita mata ko apne andar aaya

कुछ लोग इस चर्च को क्यों छुपाते हैं कि भाई इसकी चैटिंग करना है भाई एक सीधी सी बात है पान

Romanized Version
Likes  57  Dislikes    views  1158
WhatsApp_icon
play
user

Ashish Ogley

Owner OGLEY IAS MPPSC

1:51

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपीएससी आईएएस की तैयारी में एक गहन अध्ययन सर्वाधिक होती है हमारी किसी को किसी भी तरीके से अनावश्यक अननेसेसरी गार्डन आवश्यक मार्गदर्शन को नहीं लेना चाहिए कि जब यहां पर अपने प्रचार-प्रसार करते हैं या कपिल ऊपर के बारे में जानकारी होती है तो आवश्यक या अनावश्यक रूप से कई प्रकार के सुझाव और मार्गदर्शन परामर्श मिलना शुरू हो जाते हैं जो आपको कहने कहीं भटकाव प्रदान करते हैं दरअसल आपको भी मोड़ लेने की कह सकते हैं कि कहीं ना कहीं आपका जो मधुबन हो तो कम करने का प्रयास किया जाता है यह कहकर के लिए परीक्षा बहुत बड़ी आज सेंपू से क्वालीफाई कर पाने की स्थिति में नहीं होंगे जो कुछ अच्छे होते हैं जिनका एनवायरनमेंट या किसी के बाहर आसपास के लोग कुछ इस तरीके से होते हैं वह चाहते हैं कि उन्हें इस प्रकार की जानकारी बताइए कृपया उसे छुपाने का प्रयास करें यूट्यूब पर हम लोग का उगले मोती एलईडीआईएस नाम से यूट्यूब चैनल चलता है कि कपिल

upsc IAS ki taiyari mein ek gahan adhyayan sarvadhik hoti hai hamari kisi ko kisi bhi tarike se anavashyak unnecessary garden aavashyak margdarshan ko nahi lena chahiye ki jab yahan par apne prachar prasaar karte hai ya kapil upar ke bare mein jaankari hoti hai toh aavashyak ya anavashyak roop se kai prakar ke sujhaav aur margdarshan paramarsh milna shuru ho jaate hai jo aapko kehne kahin bhatkaav pradan karte hai darasal aapko bhi mod lene ki keh sakte hai ki kahin na kahin aapka jo madhuban ho toh kam karne ka prayas kiya jata hai yah kehkar ke liye pariksha bahut baadi aaj sempu se qualify kar paane ki sthiti mein nahi honge jo kuch acche hote hai jinka environment ya kisi ke bahar aaspass ke log kuch is tarike se hote hai vaah chahte hai ki unhe is prakar ki jaankari bataye kripya use chhupaane ka prayas kare youtube par hum log ka ugale moti LEDIS naam se youtube channel chalta hai ki kapil

यूपीएससी आईएएस की तैयारी में एक गहन अध्ययन सर्वाधिक होती है हमारी किसी को किसी भी तरीके से

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  470
WhatsApp_icon
user

Debidutta Swain

IAS Aspirant | Life Motivational Speaker,Daily Story Teller

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिएगा यह बात तो मैं खुद के ऊपर से ज्यादा स्क्रेंटों स्टूडेंट हूं पर मैं कभी तथ्यों को छुपाया नहीं क्योंकि मैं ऑफिस की कंप्लीट कैरी करता हूं किन-किन तो जान तो मेरे को कोई फायदा नहीं है आपने की एप्लीकेशन एप्लीकेशन खान नहीं है जितनी की तो मैं इसलिए छुपा तो नहीं तो लोग बात है तो मैं आपको बता सकता हूं और एक बात अगर किसी को भी अपने हाथ से अफ्रीका कार हो अपनी जीभ से शादी हो सकता हूं छुपा रहे हो एक वजह बताया है फिर दूसरा बजे यह भी हो सकता है कि उनका कोई व्यक्तिगत कारण हो जिसके बंद करते हो और क्या है कि हमारी समाज में बहुत समय है लोगों को नेगेटिविटी की तरफ उलझा देता है कि अगर हम बोल रही है कि यूपीसीपी प्यार करेंगे लोग यह सब लड़की बेटे यह तो तेरा होगा चलो कपड़े आपके मनोबल रखने के लिए सिर ऊंचा करके पूछ कर आपको पेमेंट नहीं होना चाहिए जीत हार जिंदगी का और इसमें धन्यवाद

dekhiega yah baat toh main khud ke upar se zyada skrenton student hoon par main kabhi tathyon ko chupaya nahi kyonki main office ki complete carry karta hoon kin kin toh jaan toh mere ko koi fayda nahi hai aapne ki application application khan nahi hai jitni ki toh main isliye chupa toh nahi toh log baat hai toh main aapko bata sakta hoon aur ek baat agar kisi ko bhi apne hath se africa car ho apni jeebh se shadi ho sakta hoon chupa rahe ho ek wajah bataya hai phir doosra baje yah bhi ho sakta hai ki unka koi vyaktigat karan ho jiske band karte ho aur kya hai ki hamari samaj mein bahut samay hai logo ko negativity ki taraf uljha deta hai ki agar hum bol rahi hai ki UPCP pyar karenge log yah sab ladki bete yah toh tera hoga chalo kapde aapke manobal rakhne ke liye sir uncha karke puch kar aapko payment nahi hona chahiye jeet haar zindagi ka aur isme dhanyavad

देखिएगा यह बात तो मैं खुद के ऊपर से ज्यादा स्क्रेंटों स्टूडेंट हूं पर मैं कभी तथ्यों को छु

Romanized Version
Likes  86  Dislikes    views  854
WhatsApp_icon
user

Yogesh Chaudhary

OFFICER AT AIRPORTS AUTHORITY OF INDIA

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए एक बहुत अच्छी सही है लड़कियों सक्सेस मेक द नॉइज़ तो अगर आप सारे लोग की यह धारणा होती है कि वह जो भी चीज की प्रिपरेशन कर रहे होता है वह आउट नहीं करते हैं उसके लिए किसी को बताओगे कि आप कोशिश की प्रिपरेशन कर रहा है तो आपको बहुत सारे नेगेटिव कमेंट मिलेंगे और बहुत सारे पोस्ट पर कमेंट भी मिलेंगे और जब आप उसमें 12 अटेंड में असफल रहते हो तो पूरा समाज पार्टी के कुछ ऐसे भी लोग होते हैं जो बात बात में आए तो कमेंट देंगे और सुनाएंगे और आपका मजाक उड़ाएंगे जी कहीं लेकर आता है और आपको उसको पाने के लिए एक बाधा बनकर आता है तो लोग पृथल करते हैं कि अकेले में सुनसान ही में प्रिपरेशन करें और जब सिलेक्शन हो जाए उसके बाद ही बताया था कि जो वह नेगेटिव वाइफ है जो नेगेटिव लोगों से आएंगी तो नहीं चाहते हैं जो खुद तो कुछ करते हैं नहीं और अगर आप कुछ करेंगे तो आपको देखने नेगेटिविटी क्या होरा में डाली गई अरे यह नहीं हो सकता कि तो बहुत मुश्किल है इसमें तो इतनी कम स्वीट से लिमिटेड सीट्स फॉर ऑपरेशन कर नहीं निकला या घर में बैठा हुआ है तो इससे आपको सुनने को ना मिले आपके पास भक्ति में तो लोग चाहते हैं कि इसको अपने अपने तक ही सीमित रखें तैयारी करें पेपर देना उसके बाद सफलता उसके बाद तो दुनिया को जानना ही है कि आप सक्सेसफुल हो गए हो तो इस वजह से लोग शेयर नहीं करते हैं काफी सारे लोग

dekhiye ek bahut achi sahi hai ladkiyon success make the noise toh agar aap saare log ki yah dharana hoti hai ki vaah jo bhi cheez ki preparation kar rahe hota hai vaah out nahi karte hain uske liye kisi ko bataoge ki aap koshish ki preparation kar raha hai toh aapko bahut saare Negative comment milenge aur bahut saare post par comment bhi milenge aur jab aap usme 12 attend me asafal rehte ho toh pura samaj party ke kuch aise bhi log hote hain jo baat baat me aaye toh comment denge aur sunaenge aur aapka mazak udaenge ji kahin lekar aata hai aur aapko usko paane ke liye ek badha bankar aata hai toh log prithal karte hain ki akele me sunsaan hi me preparation kare aur jab selection ho jaaye uske baad hi bataya tha ki jo vaah Negative wife hai jo Negative logo se aayengi toh nahi chahte hain jo khud toh kuch karte hain nahi aur agar aap kuch karenge toh aapko dekhne negativity kya hora me dali gayi are yah nahi ho sakta ki toh bahut mushkil hai isme toh itni kam sweet se limited seats for operation kar nahi nikala ya ghar me baitha hua hai toh isse aapko sunne ko na mile aapke paas bhakti me toh log chahte hain ki isko apne apne tak hi simit rakhen taiyari kare paper dena uske baad safalta uske baad toh duniya ko janana hi hai ki aap successful ho gaye ho toh is wajah se log share nahi karte hain kaafi saare log

देखिए एक बहुत अच्छी सही है लड़कियों सक्सेस मेक द नॉइज़ तो अगर आप सारे लोग की यह धारणा होती

Romanized Version
Likes  44  Dislikes    views  542
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका सवाल यह है कि कुछ लोग एक क्यों छुपाते हैं को एक आईएएस की तैयारी कर रहे थे प्रतिभागी जो आईएएस की तैयारी करने जाते हैं जब पहला कदम होता है तो दिल में बहुत ज्यादा डर होता है शरीर में कंपन सी मस्ती है कि यद्यपि हम विफल हो गए तो क्या होगा और आजकल आप जानते हैं कि अगर आपके पड़ोस वाले या किसी ने कहा कि भाई ऐसा है कि हम आईएस की तैयारी कर रहे हैं और बेचारा किसी ने किसी ने लोगों को प्लस कर देते हैं जिसकी वजह से वह अपने आपको महसूस तो करते हैं लेकिन अपने आप को कमजोर महसूस करना शुरू करते थे इसीलिए हर आईएएस की तैयारी करने वाले पिटारी करने वाले जो होते हैं वह पहले किसी से कुछ शेयर नहीं करते हैं ठीक है क्योंकि वह सोचते हैं कि यदि हम सफल हो जाएंगे उनके दिल में ऐसा नहीं होता है कि वह मैसेज नहीं करते कि हम सफल रहा तो लोग हमारे बारे में क्या सोचेंगे इसीलिए अच्छा आदमी एक बहुत बुद्धिमान आदमी को अपने बारे में किसी को चिड़िया होती हैं पहला कदम होता है जिसके वजह से थोड़ा सा सामना करना पड़ता है

namaskar aapka sawaal yah hai ki kuch log ek kyon chhupaate hain ko ek IAS ki taiyari kar rahe the pratibhagi jo IAS ki taiyari karne jaate hain jab pehla kadam hota hai toh dil mein bahut zyada dar hota hai sharir mein kampan si masti hai ki yadyapi hum vifal ho gaye toh kya hoga aur aajkal aap jante hain ki agar aapke pados waale ya kisi ne kaha ki bhai aisa hai ki hum ias ki taiyari kar rahe hain aur bechaara kisi ne kisi ne logo ko plus kar dete hain jiski wajah se vaah apne aapko mehsus toh karte hain lekin apne aap ko kamjor mehsus karna shuru karte the isliye har IAS ki taiyari karne waale pitari karne waale jo hote hain vaah pehle kisi se kuch share nahi karte hain theek hai kyonki vaah sochte hain ki yadi hum safal ho jaenge unke dil mein aisa nahi hota hai ki vaah massage nahi karte ki hum safal raha toh log hamare bare mein kya sochenge isliye accha aadmi ek bahut buddhiman aadmi ko apne bare mein kisi ko chidiya hoti hain pehla kadam hota hai jiske wajah se thoda sa samana karna padta hai

नमस्कार आपका सवाल यह है कि कुछ लोग एक क्यों छुपाते हैं को एक आईएएस की तैयारी कर रहे थे प्र

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  114
WhatsApp_icon
user

Niraj Yadav

Study for Healthy Bharat...

0:17
Play

Likes  4  Dislikes    views  105
WhatsApp_icon
user
4:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है कि कुछ लोग इस तथ्य को क्यों छुपाते हैं कि वह आईएएस की तैयारी कर रहे हैं देखिए ऐसा है वह उनका पर्सनल मैटर है और वैसे भी एक बात सीखने लायक है कि शास्त्रों में कहा गया है कि आप अपने जो भी पर्सनल लाइफ जो है आपकी आप उसको जितना पर्दे में रखेंगे उतना अच्छा है कहते हैं कि किसी को अपना शरीर में दिखाना चाहिए केवल लेडी हो चाहे वह जेंट्स को बता लगता है ना कहते हैं कि भोजन किसी के सामने नहीं करना चाहिए अपने परिवार के सामने करो अलग बात है लेकिन लोगों की भीड़ में ऐसे खाते हैं तो अच्छा नहीं लगता है ऊपर दे में वह चीज अच्छी लगती है मैटिक तरीका होता है बैठकर ई बुक्स फॉर सब कुछ तो वह चीज पैसे वैसे ही पढ़ाई आप कर रहे हो किसी टारगेट को लेकर और उस टारगेट को आप लोगों के सामने एक बार बता देते हो तो उसमें फिर आप की तैयारी में वह लोग बाधा बनना शुरू कर देते हैं जरूरी नहीं है कि आप किसी चीज की तैयारी कर रहे हो आप का फर्स्ट स्टेप में सिलेक्शन हो जाए तो रीजन होते हैं बात पढ़ाई से रिलेटेड बात छुपाने की पहला यह कि जरूरी नहीं है कि फर्स्ट टाइम सेट में आपका सिलेक्शन हो जाए हो सकता है आप जिस की तैयारी कर रहे हो उससे उससे छोटे पद में भी आपको लगना पड़ जाए और आप उसमें लगने के बाद आगे तैयारी ना कर पाए उसको चेक कर पाए नहीं कर पाएंगे लोगों को पहले बता दिया क्या बन गया यह कलेक्टर बनने चला था लोग करते हैं से अगर उनको पता होता है तो इसलिए लोगों को नहीं बोला कुछ क्लोज फ्रेंड सर्किट होता है उन सबको पता होता है ऐसा नहीं है कि हम सब से छुपा के रखते हैं सब से कोई नहीं छुपाता है बट अपना तो टारगेट है वह नहीं बताया जाता वैसे भी देखो फेलियर को लोग नहीं पूछते हैं आप कितनी बार फेल हुई है और लास्ट में आप चमक गए तब लोग आपका एंट्री लेते हैं यह सब आपको यहां तक पहुंचने में क्या क्या कठिनाइयां आए तब आप बताते हो कि मैं इतनी बार इस तरह से मछुआरों पासवान में यह कठिन आएंगे आएंगे वह तो पूरी दुनिया सुनती है बना देती है लेकिन तब तक आपके पास कोई नहीं आता पूछने के लिए इसलिए ऐसी चीजें साइड में रखकर छुपा के रखना ही ज्यादा बेहतर होता है तैयारी करो एक सितारे की तरह चमकू स्लोगन ट्री मिले तब अपनी स्थिति सारी बताओ उससे पहले नॉर्मल मैंने अपनी लाइफ जिओ दूसरों को उल्टी सीधी बातें करने का जहां तक हो सकता है मौका नहीं देना चाहिए क्योंकि उससे अपन डिस्ट्रिक्ट होते हैं अगला अगले में तो कमेंट करके छोड़ दिया बन गया आज अपने दिमाग में घंटी बजने लग जाती है ना रेस कैसे बना मार्केट है आप तैयारी में तो लगे हैं लक्ष्य है आपका तभी आपने उस चीज के बारे में सोचा वरना लोग सोचते भी नहीं है इसलिए अपना अपना खुद का पर्सनल मेटर है कोई बता भी देता है कोई नहीं बताता है दोनों सी बातें होती है बताता है उसको उस तरह के सामना करना पड़ता नहीं बताता है उस तरह से अपनी लाइफ में जो जिससे खुश रहे उसको खुश रहने दो मेरा मानना यह है कि किसी दूसरे के लाइफ में ताका झांकी मत करो हमसे किसी तरह की हेल्प मांग रहा है अगर अपन हेल्प के काबिल है तो बिल्कुल करिए नहीं है तो हाथ जोड़कर तुरंत मना कर दिए नहीं क्या पगले को लटका के छोड़ रहे हैं आप अगले की बात ले रहे हैं फिर उसका मजाक उड़ा रहा है बहुत गलत होती है आपकी नजर में गिरते ही दिमाग खराब होता है भगवान ने हमें पैदा किया है कोई मायने नहीं रखता आपकी योग में इतनी बड़ी पोस्ट पर रख दो कोई मायने नहीं रखता मेरी मेरी नजर में कोई मायने नहीं रखता हर आदमी की अपनी संतुष्टि है किसी को rs.1 की संतुष्टि मिलती है किसी को टीचर बनकर संतुष्टि मिलती है तो किसी को डॉक्टर बनकर संतुष्टि मिलती है जिसको जो बनके संतुष्टि मिलती है वह बन जाए तैयारी करें बन जाए किसी की लाइफ में खुश धन्यवाद

namaskar aapka prashna hai ki kuch log is tathya ko kyon chhupaate hain ki vaah IAS ki taiyari kar rahe hain dekhiye aisa hai vaah unka personal matter hai aur waise bhi ek baat sikhne layak hai ki shastron me kaha gaya hai ki aap apne jo bhi personal life jo hai aapki aap usko jitna parde me rakhenge utana accha hai kehte hain ki kisi ko apna sharir me dikhana chahiye keval lady ho chahen vaah gents ko bata lagta hai na kehte hain ki bhojan kisi ke saamne nahi karna chahiye apne parivar ke saamne karo alag baat hai lekin logo ki bheed me aise khate hain toh accha nahi lagta hai upar de me vaah cheez achi lagti hai matic tarika hota hai baithkar E books for sab kuch toh vaah cheez paise waise hi padhai aap kar rahe ho kisi target ko lekar aur us target ko aap logo ke saamne ek baar bata dete ho toh usme phir aap ki taiyari me vaah log badha banna shuru kar dete hain zaroori nahi hai ki aap kisi cheez ki taiyari kar rahe ho aap ka first step me selection ho jaaye toh reason hote hain baat padhai se related baat chhupaane ki pehla yah ki zaroori nahi hai ki first time set me aapka selection ho jaaye ho sakta hai aap jis ki taiyari kar rahe ho usse usse chote pad me bhi aapko lagna pad jaaye aur aap usme lagne ke baad aage taiyari na kar paye usko check kar paye nahi kar payenge logo ko pehle bata diya kya ban gaya yah collector banne chala tha log karte hain se agar unko pata hota hai toh isliye logo ko nahi bola kuch close friend circuit hota hai un sabko pata hota hai aisa nahi hai ki hum sab se chupa ke rakhte hain sab se koi nahi chhupata hai but apna toh target hai vaah nahi bataya jata waise bhi dekho failure ko log nahi poochhte hain aap kitni baar fail hui hai aur last me aap chamak gaye tab log aapka entry lete hain yah sab aapko yahan tak pahuchne me kya kya kathinaiyaan aaye tab aap batatey ho ki main itni baar is tarah se machhuaron paswan me yah kathin aayenge aayenge vaah toh puri duniya sunti hai bana deti hai lekin tab tak aapke paas koi nahi aata poochne ke liye isliye aisi cheezen side me rakhakar chupa ke rakhna hi zyada behtar hota hai taiyari karo ek sitare ki tarah chamaku slogan tree mile tab apni sthiti saari batao usse pehle normal maine apni life jio dusro ko ulti seedhi batein karne ka jaha tak ho sakta hai mauka nahi dena chahiye kyonki usse apan district hote hain agla agle me toh comment karke chhod diya ban gaya aaj apne dimag me ghanti bajne lag jaati hai na race kaise bana market hai aap taiyari me toh lage hain lakshya hai aapka tabhi aapne us cheez ke bare me socha varna log sochte bhi nahi hai isliye apna apna khud ka personal mater hai koi bata bhi deta hai koi nahi batata hai dono si batein hoti hai batata hai usko us tarah ke samana karna padta nahi batata hai us tarah se apni life me jo jisse khush rahe usko khush rehne do mera manana yah hai ki kisi dusre ke life me taka jhanki mat karo humse kisi tarah ki help maang raha hai agar apan help ke kaabil hai toh bilkul kariye nahi hai toh hath jodkar turant mana kar diye nahi kya pagle ko Latka ke chhod rahe hain aap agle ki baat le rahe hain phir uska mazak uda raha hai bahut galat hoti hai aapki nazar me girte hi dimag kharab hota hai bhagwan ne hamein paida kiya hai koi maayne nahi rakhta aapki yog me itni badi post par rakh do koi maayne nahi rakhta meri meri nazar me koi maayne nahi rakhta har aadmi ki apni santushti hai kisi ko rs 1 ki santushti milti hai kisi ko teacher bankar santushti milti hai toh kisi ko doctor bankar santushti milti hai jisko jo banke santushti milti hai vaah ban jaaye taiyari kare ban jaaye kisi ki life me khush dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न है कि कुछ लोग इस तथ्य को क्यों छुपाते हैं कि वह आईएएस की तैयारी कर रहे

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  189
WhatsApp_icon
user

GPD

Teacher

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वे अपनी असफलता से डरते हैं कि यदि हम असफल हो गए तो समाज उन्हें चढ़ आएगा कि वह देखो वह आईएएस की तैयारी कर रहा था और अब यह काम कर रहा है इसीलिए लोग अपनी आईएस की तैयारियों को छुपाते हैं और समाज में लोग एक दूसरे को कहते छोड़ते नहीं है खुद भी उसी केटेगरी में आ जाते हैं जो व्यक्ति आईएस की तैयारी कर रहा है और वह समाज से डरा वह खुद भी दूसरे को कहेगा और दूसरा व्यक्ति जो उसको कह रहा है कभी ना कभी उसके ऊपर भी कोई ना कोई तंग जरूर करेगा समाज से व्यक्ति किसी भी छुपाते हैं क्योंकि अगर वह सफल हो गया क्योंकि यह आसान परीक्षा नहीं है असफल होने के बाद अगर लोग उसे ताने देंगे तो उसे बर्दाश्त नहीं होगा और उसकी जो क्षमता है मतलब उसका नाम लिखा रहे मूवी का मेला

ve apni asafaltaa se darte hain ki yadi hum asafal ho gaye toh samaj unhe chad aayega ki vaah dekho vaah IAS ki taiyari kar raha tha aur ab yah kaam kar raha hai isliye log apni ias ki taiyariyon ko chhupaate hain aur samaj me log ek dusre ko kehte chodte nahi hai khud bhi usi category me aa jaate hain jo vyakti ias ki taiyari kar raha hai aur vaah samaj se dara vaah khud bhi dusre ko kahega aur doosra vyakti jo usko keh raha hai kabhi na kabhi uske upar bhi koi na koi tang zaroor karega samaj se vyakti kisi bhi chhupaate hain kyonki agar vaah safal ho gaya kyonki yah aasaan pariksha nahi hai asafal hone ke baad agar log use tane denge toh use bardaasht nahi hoga aur uski jo kshamta hai matlab uska naam likha rahe movie ka mela

वे अपनी असफलता से डरते हैं कि यदि हम असफल हो गए तो समाज उन्हें चढ़ आएगा कि वह देखो वह आईएए

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  95
WhatsApp_icon
user

Rashmi Gupta

Professor

1:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुछ लोग इस तथ्य को क्यों छुपाते हैं कि बी आई एस की तैयारी कर रहे हैं यह आपको मैं बता दूं कि इस तथ्य को ही नहीं कई बार बहुत से लोगों की आदत होती की भी अगर कुछ तैयारी कर रहे हो तब कुछ प्लानिंग कर रहे होते हैं जीवन में कुछ करने जा रहे होते हैं तो किसी को भी नहीं बताते हैं क्योंकि उनका ऐसा विश्वास होता है ऐसा मानना होता है कि पहले मैं इसे कर लो और फिर मैं करके दूसरे लोगों को बताऊं उसकी वजह बहुत सारी दूसरे प्रैक्टिस भी होते हैं बहुत सारे दोस्त रिश्तेदार यह बहुत लोग होते हैं उनको ऐसा लगता है वह बार-बार सवाल पूछते रहते हैं और तुम्हारी तैयारी कैसी चल रही है तुम्हारे सिलेक्शन नहीं हुआ इस बार तुम्हारा एग्जाम कैसा हुआ तो इस तरह के प्रश्नों से बचने के लिए दूसरे कुछ लोग में कितने भी बोलते करने लगते हैं यह बड़ा इंटेलिजेंट समझ रहा है अपने आप को आईएस की तैयारी करेगा यह देखो इतनी बार से एग्जाम दे रहा है इसका तो सिलेक्शन ही नहीं हुआ तो इससे क्या होता है नेगेटिव एनर्जी हमें मिलती है तो ऐसे लोग नेगेटिव एनर्जी से बचने के लिए ताकि उनके बारे में कोई भी नेगेटिव ना सोचे अभी तक सोचना पॉजिटिव सोच है वह इस बात को छुपा कर रखते हैं और उनका मानना ही होता है कि जब समय आएगा वक्त आएगा जब हम इसको पास कर लेंगे तब हम लोगों को बताएंगे जब अभी कुछ हुआ ही नहीं है तो क्या बताना तैयारी करने की यह भी सच है ना कि देखे बहुत लोग तैयारी करते हैं बहुत लोग किसी न किसी एग्जाम की तैयारी करते हैं बहुत से लोग प्लानिंग करते हैं बिजनेस की प्लानिंग करते हैं हम जितने कामों की प्लानिंग करते हैं जिन चीजों की तैयारी करते जरूरी तो नहीं ना कि हर कार्य पूर्ण हो ही जाता है तो बेवजह लोगों को बता के उस चीज का ढिंढोरा पीट कर भी कोई फायदा नहीं है इसलिए उनका मकसद होता है किस बात को छिपा की ही रखा जाए लेकिन अगर वह बहुत ज्यादा छिपा देंगे आप पूछ रहे हैं तो भी नहीं बता रहे हैं तालम सुन कर सकते कुछ लोग होते हैं थोड़ा सा जिससे वह अपनी चीजों को सीक्रेट रखना चाहते हैं बुरी बात नहीं है

kuch log is tathya ko kyon chhupaate hain ki be I S ki taiyari kar rahe hain yah aapko main bata doon ki is tathya ko hi nahi kai baar bahut se logo ki aadat hoti ki bhi agar kuch taiyari kar rahe ho tab kuch planning kar rahe hote hain jeevan me kuch karne ja rahe hote hain toh kisi ko bhi nahi batatey hain kyonki unka aisa vishwas hota hai aisa manana hota hai ki pehle main ise kar lo aur phir main karke dusre logo ko bataun uski wajah bahut saari dusre practice bhi hote hain bahut saare dost rishtedar yah bahut log hote hain unko aisa lagta hai vaah baar baar sawaal poochhte rehte hain aur tumhari taiyari kaisi chal rahi hai tumhare selection nahi hua is baar tumhara exam kaisa hua toh is tarah ke prashnon se bachne ke liye dusre kuch log me kitne bhi bolte karne lagte hain yah bada Intelligent samajh raha hai apne aap ko ias ki taiyari karega yah dekho itni baar se exam de raha hai iska toh selection hi nahi hua toh isse kya hota hai Negative energy hamein milti hai toh aise log Negative energy se bachne ke liye taki unke bare me koi bhi Negative na soche abhi tak sochna positive soch hai vaah is baat ko chupa kar rakhte hain aur unka manana hi hota hai ki jab samay aayega waqt aayega jab hum isko paas kar lenge tab hum logo ko batayenge jab abhi kuch hua hi nahi hai toh kya batana taiyari karne ki yah bhi sach hai na ki dekhe bahut log taiyari karte hain bahut log kisi na kisi exam ki taiyari karte hain bahut se log planning karte hain business ki planning karte hain hum jitne kaamo ki planning karte hain jin chijon ki taiyari karte zaroori toh nahi na ki har karya purn ho hi jata hai toh bewajah logo ko bata ke us cheez ka dhindhora peat kar bhi koi fayda nahi hai isliye unka maksad hota hai kis baat ko chhipa ki hi rakha jaaye lekin agar vaah bahut zyada chhipa denge aap puch rahe hain toh bhi nahi bata rahe hain talam sun kar sakte kuch log hote hain thoda sa jisse vaah apni chijon ko secret rakhna chahte hain buri baat nahi hai

कुछ लोग इस तथ्य को क्यों छुपाते हैं कि बी आई एस की तैयारी कर रहे हैं यह आपको मैं बता दूं क

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  153
WhatsApp_icon
user

अशोक कुमार मिश्र

शिक्षाविद्

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी भी कार्य के संपन्न होने से पहले उसे छिपाना ही अच्छा रहता है अगर हम पहले ही अपने उद्देश्य को प्रसारित करते हो सफलता नहीं मिलने पर हंसी का पात्र होना पड़ता है समाज में इसलिए आवश्यक है कि हम मनोयोग पूर्वक अपने कार्य को एक निश्चित योजना के माध्यम से का है और सफल हो जाने के बाद तो सब लोग ऐसे ही हमारे कार्य को या हमारी तैयारी को या हमारी सफलता को जान पाएंगे इसलिए बहुत सारे लोग जो आईएएस की तैयारी करते हैं अपनी कृपा करके रखते हैं और अपनी प्लानिंग को पाले नहीं किसी से बताते हैं इसमें घबराने की कोई बात नहीं है यह बहुत अच्छा सूत्र है अगर आप जीवन में किसी काम को करने का प्रयास कर रहा है तो उसे निश्चित रूप से छिपा करके रखना चाहिए जब उद्देश्य पूरा हो जाए तो निश्चित रूप से लोग आपके बारे में जान जाएंगे इसीलिए लोग आईएएस की तैयारी कर रहे हैं इस वाक्य को छुपाते हैं

kisi bhi karya ke sampann hone se pehle use chipana hi accha rehta hai agar hum pehle hi apne uddeshya ko prasarit karte ho safalta nahi milne par hansi ka patra hona padta hai samaj me isliye aavashyak hai ki hum manoyog purvak apne karya ko ek nishchit yojana ke madhyam se ka hai aur safal ho jaane ke baad toh sab log aise hi hamare karya ko ya hamari taiyari ko ya hamari safalta ko jaan payenge isliye bahut saare log jo IAS ki taiyari karte hain apni kripa karke rakhte hain aur apni planning ko pale nahi kisi se batatey hain isme ghabrane ki koi baat nahi hai yah bahut accha sutra hai agar aap jeevan me kisi kaam ko karne ka prayas kar raha hai toh use nishchit roop se chhipa karke rakhna chahiye jab uddeshya pura ho jaaye toh nishchit roop se log aapke bare me jaan jaenge isliye log IAS ki taiyari kar rahe hain is vakya ko chhupaate hain

किसी भी कार्य के संपन्न होने से पहले उसे छिपाना ही अच्छा रहता है अगर हम पहले ही अपने उद्दे

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  108
WhatsApp_icon
user

Poonamgupta

housewife

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुछ लोग इस देश को इस गीत से प्राथमिकी में आईएस की तैयारी करें क्योंकि आज के नाम से ही लोग उनका मजाक बना देते हैं कि तुम इतनी बड़ी पढ़ाई तुम एक कर ही नहीं सकते ऐसा हुआ वैसा वह उनके पीछे विभिन्न प्रकार की बातें करते हैं इसलिए जो लोग आगे की तैयारी कर दूंगा सभी इंसान 9 व्यक्तियों से अपने घर वालों से ज्यादा तारीफ करते हैं क्योंकि कुछ लोग घर में ही रहकर आप घर की ही बात बाहर फैलाते जो व्यक्ति तैयारी कर रहा था उसका सब लोग मजाक उड़ाते हैं

kuch log is desh ko is geet se prathmiki mein ias ki taiyari kare kyonki aaj ke naam se hi log unka mazak bana dete hain ki tum itni badi padhai tum ek kar hi nahi sakte aisa hua waisa vaah unke peeche vibhinn prakar ki batein karte hain isliye jo log aage ki taiyari kar dunga sabhi insaan 9 vyaktiyon se apne ghar walon se zyada tareef karte hain kyonki kuch log ghar mein hi rahkar aap ghar ki hi baat bahar failate jo vyakti taiyari kar raha tha uska sab log mazak udate hain

कुछ लोग इस देश को इस गीत से प्राथमिकी में आईएस की तैयारी करें क्योंकि आज के नाम से ही लोग

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  208
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!