एक IAS अधिकारी के रूप में आपका जीवन कितना दिलचस्प है?...


user

Dr Devansh Yadav

Additional Deputy Commissioner at ADC Bordumsa, Government of Arunachal Pradesh

4:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एन आई एस ऑफिसर ग्राम बात करें कि जीवन कितना आया फिल्म work-life कितना इंटरेस्ट रेट होगा कितना नहीं होगा डिटेल पूरी तरह से बिजली डिपार्टमेंट पर्सन वेरी करता है बट बिकॉज जॉब प्रोफाइल फॉर ड्राइवर होता है और आप एक लिस्ट जिला स्तर पर बड़े ही सारी चीजों को एक साथ हैंडल करते हैं चाहे वह हेल्थ एजुकेशन हो लॉ एंड ऑर्डर सिचुएशन हो या फिर आपका डिजास्टर मैनेजमेंट हो इलेक्शन तो आपके पास बहुत सारी की गलती है जिसको कि आप सीखते हैं समाज के लोगों के साथ मिलकर सोलूशंस निकालते हैं मेरा मानना है कि ऑफिस में भी कई तरह के होते हैं और अपने वैल्यू द अपने जो लाइफ पर गोल सोते-सोते उस हिसाब से वह उन्हीं ड्यूटीज को अलग-अलग तरह से करते हैं तो आपने देखा होगा एक ही पद पर एक ऑफिसर बहुत अच्छा काम करता है तो वहीं दूसरा ऑप्शन आता है और इतना अच्छा रिजल्ट नहीं कर पाता तो जीवन कितना दिन तक गूगल वर्क लाइफ कितना अच्छा होगा इंटरेस्टिंग को पूरी तरह आप किस तरह से अपने काम को अंजाम दे रहे हैं उसको अप्रोच कर रहे हैं जिला स्तर पर बात करूंगा जहां पर की शुरुआत में ऑफिसर पोस्ट होते हैं तो वह बहुत ही इंटरेस्टिंग लाइफ होता है आपके पास कंफर्ट रहता है साइट पर साइट आपका लाइफ की चैलेंज नहीं होता है अगर हम कुछ नॉर्दन स्टेट की बात करते हैं जैसे यूपी-बिहार तो वहां पर एक काफी हेक्टिक भी रहता है हो सकता है कि आपको अपनी पर्सनल लाइफ में काफी सैक्रिफाइस करना पड़ेगा अगर आप नॉर्थ ईस्ट की बात करेंगे आप हमारे काफी सारे ऑफिसर पोस्टेड होते हैं अरुणा चलोगे नागालैंड मणिपुर हो गया तो आप काफी दूर अपने घर से जाकर रहते हैं बट उसके बाद एक अलग सेटिस्फेक्शन आता है काम करके मैं यही कहूंगा कि पूरी तरह पर्सेंट परसेंट पेंट होता है लाइफ का पिंटरेस्ट होती है आगे जाकर सीखे पदों पर भी किया जैसे जैसे आगे जाते रहते हैं भले ही आप थोड़ा स्पेशलाइज करते हैं सचिवालय में जाते हैं आपके पास एक स्पेसिफिक पोर्टफोलियो होता है यानी कि आप हेल्प में होंगे या एजुकेशन में या फिर आप फाइनेंस देखेंगे अभी आपको स्पेशलाइज करने का मौका मिलता है यही स्पेशलाइजेशन आकर जाकर आप किसी इंडियन फॉरेन यूनिवर्सिटी कोर्स करके डिग्री लेकर और उसको आप ग्रुप कर सकते हैं आगे जाकर जैसे-जैसे 23 स्पेशलाइजेशन यानी कि ऑफिस किसी स्पेसिफिक सब्जेक्ट किसी स्पेसिफिक मिनिस्ट्री के लिए स्पेशलाइज होते जाएंगे इस चीज को और बढ़ावा मिलेगा और मुझे लगता है इससे एक इंडिविजुअल सेटिस्फेक्शन भी आएगा जब आप एक चीज में स्पेशलाइज करेंगे तो उस चीज में आप ज्यादा बेहतर परफॉर्म कर पाएंगे आपको दो नॉलेज होगी आपकी कम जरूरत पड़ेगी आप खुद ही उस सेक्टर के बारे में कुछ जानकारी रखेंगे उसके साथ-साथ जंतु लिस्ट वाला एक मैनेजमेंट का रोल है वह भी बहुत जरूरी है उसको आप खत्म नहीं कर सकते हैं वह एक आईएस की खूबी है कि वह सब अलग-अलग विभागों के साथ एक साथ उनको कसमस करता है उनसे बेस्ट रिजल्ट निकल जाता है भले ही वह किसी एक चीज में स्पेशलाइज ना करें हो सकता है आगे जाकर सीख ले उसको किसी चीज में स्पेशल एस करना पड़ेगा जैसे कि हम देखते हैं एमबीए के ग्रेजुएट हो या फिर आपके दो कंपनी किसी भी होते हैं जरूरी नहीं कंप्लीट कर रहे हैं उनको एक जनरलिस्ट एबिलिटीज का टेस्ट होता है और वही एक विलन क्वालिटी होती है जो कि आईएस में जिला स्तर पर जरूरी होती है इन सभी एक्सपीरियंस एस को अगर मिला दें और इसके साथ-साथ अगर हम पीएसयू जा फिर शायद यही कारण है कि अभी भी काफी सारे हमारे यह लोग हैं जो युवा लोग हैं जो अपने प्राइवेट जॉब को छोड़ कर अभी भी सिविल सर्विस की तरफ आकर्षित होते हैं इसमें आपको जो प्लेटफार्म मिलता है जो सेटिस्फेक्शन शायद किसी और जगह आपको नहीं मिलेगा और इसीलिए लाइफ बहुत इंटरेस्टिंग होती है और जो ऑफिसर होते हैं और अपनी जॉब सेटिस्फाइड

en I s officer gram baat kare ki jeevan kitna aaya film work life kitna interest rate hoga kitna nahi hoga detail puri tarah se bijli department person very karta hai but because job profile for driver hota hai aur aap ek list jila sthar par bade hi saree chijon ko ek saath handle karte hai chahen vaah health education ho law and order situation ho ya phir aapka disaster management ho election toh aapke paas bahut saree ki galti hai jisko ki aap sikhate hai samaj ke logo ke saath milkar solushans nikalate hai mera manana hai ki office mein bhi kai tarah ke hote hai aur apne value the apne jo life par gol sote sote us hisab se vaah unhi duties ko alag alag tarah se karte hai toh aapne dekha hoga ek hi pad par ek officer bahut accha kaam karta hai toh wahi doosra option aata hai aur itna accha result nahi kar pata toh jeevan kitna din tak google work life kitna accha hoga interesting ko puri tarah aap kis tarah se apne kaam ko anjaam de rahe hai usko approach kar rahe hai jila sthar par baat karunga jaha par ki shuruat mein officer post hote hai toh vaah bahut hi interesting life hota hai aapke paas comfort rehta hai site par site aapka life ki challenge nahi hota hai agar hum kuch northern state ki baat karte hai jaise up bihar toh wahan par ek kaafi hectic bhi rehta hai ho sakta hai ki aapko apni personal life mein kaafi sacrifice karna padega agar aap north east ki baat karenge aap hamare kaafi saare officer posted hote hai aruna chaloge nagaland manipur ho gaya toh aap kaafi dur apne ghar se jaakar rehte hai but uske baad ek alag setisfekshan aata hai kaam karke main yahi kahunga ki puri tarah percent percent paint hota hai life ka pintarest hoti hai aage jaakar sikhe padon par bhi kiya jaise jaise aage jaate rehte hai bhale hi aap thoda specialize karte hai sachivalaya mein jaate hai aapke paas ek specific portfolio hota hai yani ki aap help mein honge ya education mein ya phir aap finance dekhenge abhi aapko specialize karne ka mauka milta hai yahi specialisation aakar jaakar aap kisi indian foreign university course karke degree lekar aur usko aap group kar sakte hai aage jaakar jaise jaise 23 specialisation yani ki office kisi specific subject kisi specific ministry ke liye specialize hote jaenge is cheez ko aur badhawa milega aur mujhe lagta hai isse ek individual setisfekshan bhi aayega jab aap ek cheez mein specialize karenge toh us cheez mein aap zyada behtar perform kar payenge aapko do knowledge hogi aapki kam zarurat padegi aap khud hi us sector ke bare mein kuch jaankari rakhenge uske saath saath jantu list vala ek management ka roll hai vaah bhi bahut zaroori hai usko aap khatam nahi kar sakte hai vaah ek ias ki khoobi hai ki vaah sab alag alag vibhagon ke saath ek saath unko kasmas karta hai unse best result nikal jata hai bhale hi vaah kisi ek cheez mein specialize na kare ho sakta hai aage jaakar seekh le usko kisi cheez mein special s karna padega jaise ki hum dekhte hai mba ke graduate ho ya phir aapke do company kisi bhi hote hai zaroori nahi complete kar rahe hai unko ek journalist ebilitij ka test hota hai aur wahi ek vilen quality hoti hai jo ki ias mein jila sthar par zaroori hoti hai in sabhi experience s ko agar mila de aur iske saath saath agar hum PSU ja phir shayad yahi karan hai ki abhi bhi kaafi saare hamare yah log hai jo yuva log hai jo apne private job ko chod kar abhi bhi civil service ki taraf aakarshit hote hai isme aapko jo platform milta hai jo setisfekshan shayad kisi aur jagah aapko nahi milega aur isliye life bahut interesting hoti hai aur jo officer hote hai aur apni job setisfaid

एन आई एस ऑफिसर ग्राम बात करें कि जीवन कितना आया फिल्म work-life कितना इंटरेस्ट रेट होगा कि

Romanized Version
Likes  76  Dislikes    views  1742
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं पिक्चर जितनी से पूछा गया है कि एक आईएएस अधिकारी के रूप में आपका जीवन मृत्यु आईएस अधिकारी होता है उसका जीवन सुख में ही होता है इसलिए इसमें इसमें पढ़ने बहुत बहुत ज्यादा मेहनत करना पड़ता उसके बाद इतना तलाश में सफलता प्राप्त करते हुए आते जाते हैं इसलिए इसमें दिलचस्प होगा कि आदमी को हार्दिक शुभकामनाएं बड़े कार्ड की सुविधा हर संसाधन का उपयोग मिलता है रेहान एक व्यक्ति पावरफुल होता है नाइस पिक्चर बनने के बाद

main picture jitni se poocha gaya hai ki ek IAS adhikari ke roop mein aapka jeevan mrityu ias adhikari hota hai uska jeevan sukh mein hi hota hai isliye isme isme padhne bahut bahut zyada mehnat karna padta uske baad itna talash mein safalta prapt karte hue aate jaate hain isliye isme dilchasp hoga ki aadmi ko hardik subhkamnaayain bade card ki suvidha har sansadhan ka upyog milta hai rehan ek vyakti powerful hota hai nice picture banne ke baad

मैं पिक्चर जितनी से पूछा गया है कि एक आईएएस अधिकारी के रूप में आपका जीवन मृत्यु आईएस अधिका

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  5
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!