लगभग हर व्यक्ति जो UPSC की तैयारी कर रहा है, वही पुस्तकें और समान अध्ययन सामग्री का अनुसरण करता है। तो फिर सबसे महत्वपूर्ण फ़ैक्टर क्या है जो UPSC में आपकी सफलता तय करता है?...


user

Ansh jalandra

Motivational speaker & criminal lawyer

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रिया को काफी बढ़िया कृष्ण आपने सही बोला कि नहीं कर रहा है इंसान को मुझे तो आपकी कुछ हटके करना है क्या करते हैं कि खुदाई चल रही हो पढ़ रही हूं फिर भी ना हो और अपने दोस्तों को खुश रखने की कोशिश करते हैं ऐसे मत कीजिए आप ही कीजिए कि खुद अपने इलेक्ट्रिक लिए खुद के नोट चले बनाइए खुद की जो वकील है वो सारी करते हैं गांव कुछ हटके करोगी तभी आपका आवे सिलेक्शन होगा वहां पर लाखों लोग पर एग्जाम देते हैं और उसमें से आपको घर निकालना है तो आपकी बहुत ज्यादा घंटे में 15 घंटे पढ़ाई जरूरी है आपकी पढ़ाई करो पढ़ाई कर सट्टा की चाट

riya ko kaafi badhiya krishna aapne sahi bola ki nahi kar raha hai insaan ko mujhe toh aapki kuch hatake karna hai kya karte hain ki khudai chal rahi ho padh rahi hoon phir bhi na ho aur apne doston ko khush rakhne ki koshish karte hain aise mat kijiye aap hi kijiye ki khud apne electric liye khud ke note chale banaiye khud ki jo vakil hai vo saari karte hain gaon kuch hatake karogi tabhi aapka aawe selection hoga wahan par laakhon log par exam dete hain aur usme se aapko ghar nikalna hai toh aapki bahut zyada ghante me 15 ghante padhai zaroori hai aapki padhai karo padhai kar satta ki chat

रिया को काफी बढ़िया कृष्ण आपने सही बोला कि नहीं कर रहा है इंसान को मुझे तो आपकी कुछ हटके क

Romanized Version
Likes  87  Dislikes    views  1475
WhatsApp_icon
15 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Liyakat Ali Gazi

Motivational Speaker, Life Coach & Soft Skills Trainer 📲 9956269300

2:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

1 ईयर स्टूडेंट वही मटेरियल वही बुक्स वही सिलेबस वही चैप्टर वही कीजिए स्टडी करता है यह किसी की तैयारी में लेकिन फिर क्या डिफरेंट है जिससे कि हर स्टूडेंट्स का जो है अलग-अलग मार्किंग आता है कुछ सक्सेस होते हैं कुछ नहीं हो जाती तो उसके लिए मैं आपको कुछ मुख्य पॉइंट में रहता हूं जो स्टूडेंट सक्सेस होते हैं वह अलग क्या करते हैं जो बच्चे जो स्टूडेंट्स सतसई होते हैं आईएएस की तैयारी में प्लानिंग वध योजनाबद्ध तरीके से पढ़ाई करते हैं प्लानिंग योजनाबद्ध का मतलब ही हो गया कि वह स्टूडेंट्स हर सब्जेक्ट को गाली देती है हर सब्जेक्ट को टाइमली टाइम टेबल के अनुसार जो है स्टडी करते हैं और तभी सफल होते हैं दूसरा तरीका यह होता है कि वो स्टूडेंट्स कंटिन्यू पढ़ाई करते ही हैं मतलब यह नहीं कि कुछ स्टूडेंट्स ऐसा भी करते हैं कि 6 महीने लगातार हमने हद से ज्यादा चौक 18 घंटे पढ़ाई किया फिर उसके बाद में सोचते हैं चलिए ठीक है एक-दो महीने का रेस्ट ले लेते हैं उसके बाद पढ़ाई करते हैं तो सफल होते हॉस्टल से काम नहीं करते हैं वह स्टूडेंट चाहे दिन में भले ही 5 घंटे कर पढ़ाई करें लेकिन जब तक उनका सिलेक्शन नहीं होता तब तक पढ़ाई करते रहते हैं इसके साथ ही साथ में ज्योति से ज्योति बहुत ही सबसे बेहतरीन मोटिवेशन की कि जो स्टूडेंट सिलेक्ट होते हैं वह कई बार ट्राई करते हैं अगर नहीं भी हो पाते हैं तो हार नहीं मानते हैं यह चीज होता है चौथी जी की जो होती है बहुत ही सेल्फ कॉन्फिडेंस की जो भी बच्चे जो स्टूडेंट सफल होते हैं उनके अंदर आत्मविश्वास बहुत ज्यादा होता है जो पांचवा पॉइंट है वह यह है कि मैं कल पढ़ने का तरीका कुछ स्टूडेंट्स सिर्फ पढ़ते ही पढ़ते ही कुछ स्टूडेंट्स डिप्ली पढ़ते हैं कुछ स्टूडेंट्स क्या करते हैं कि जो रीडिंग हैबिट होती है जो रीडिंग कभी भी होता है वह सभी का डिफरेंट होता है इसलिए जो स्टूडेंट से सिलेक्ट होते हैं वह जो है हर एक चीज को डिप्ली समरी वॉइस पढ़ते हैं और पढ़ाई के साथ साथ में अपने शिल्प प्रिपरेशंस के जो नोट्स होते हैं वह भी प्रेरित करते हुए चलते हैं उसी तरीके होते हैं

1 year student wahi material wahi books wahi syllabus wahi chapter wahi kijiye study karta hai yah kisi ki taiyari me lekin phir kya different hai jisse ki har students ka jo hai alag alag marking aata hai kuch success hote hain kuch nahi ho jaati toh uske liye main aapko kuch mukhya point me rehta hoon jo student success hote hain vaah alag kya karte hain jo bacche jo students satsai hote hain IAS ki taiyari me planning vadh yojnabadh tarike se padhai karte hain planning yojnabadh ka matlab hi ho gaya ki vaah students har subject ko gaali deti hai har subject ko timely time table ke anusaar jo hai study karte hain aur tabhi safal hote hain doosra tarika yah hota hai ki vo students continue padhai karte hi hain matlab yah nahi ki kuch students aisa bhi karte hain ki 6 mahine lagatar humne had se zyada chauk 18 ghante padhai kiya phir uske baad me sochte hain chaliye theek hai ek do mahine ka rest le lete hain uske baad padhai karte hain toh safal hote hostel se kaam nahi karte hain vaah student chahen din me bhale hi 5 ghante kar padhai kare lekin jab tak unka selection nahi hota tab tak padhai karte rehte hain iske saath hi saath me jyoti se jyoti bahut hi sabse behtareen motivation ki ki jo student select hote hain vaah kai baar try karte hain agar nahi bhi ho paate hain toh haar nahi maante hain yah cheez hota hai chauthi ji ki jo hoti hai bahut hi self confidence ki jo bhi bacche jo student safal hote hain unke andar aatmvishvaas bahut zyada hota hai jo panchava point hai vaah yah hai ki main kal padhne ka tarika kuch students sirf padhte hi padhte hi kuch students dipli padhte hain kuch students kya karte hain ki jo reading habit hoti hai jo reading kabhi bhi hota hai vaah sabhi ka different hota hai isliye jo student se select hote hain vaah jo hai har ek cheez ko dipli summary voice padhte hain aur padhai ke saath saath me apne shilp pripareshans ke jo notes hote hain vaah bhi prerit karte hue chalte hain usi tarike hote hain

1 ईयर स्टूडेंट वही मटेरियल वही बुक्स वही सिलेबस वही चैप्टर वही कीजिए स्टडी करता है यह किसी

Romanized Version
Likes  567  Dislikes    views  5109
WhatsApp_icon
user

Porshia Chawla Ban

Psychologist

1:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एटीट्यूड एटीट्यूड एक ऐसी चीज है जो सभी सबसे ज्यादा मैटर करता है इंटरव्यू में भी मेट्रो करता है आपके मेंस के पेपर में भी मैटर करता है और आपकी फिल्म्स में भी मैटर करता है पता है कैसे इंटरव्यू मैटर करता है क्योंकि पूरा का पूरा जो टेस्ट होता है इंटरव्यू में वह आपके एटीट्यूट का ही होता है आप किस चीज का जवाब कैसे दें आपके लिए क्या चीज महत्वपूर्ण है तो मेंस में भी जवाब कोई जान देखो दो चीज होती है एक होता जानकारी पैक तथ्य और दूसरा होता है उसको प्रेजेंट करने का तरीका बताता है आपका एटीट्यूड क्या प्रेजेंटेशन कैसे कर रहे हो किस बात को कैसे कह रहे हो किस बात को किस एंगल से देख रहे हो कैसे आता है जंगल तभी आ सकता है जब आप ऑलरेडी अपने आपको सिविल सर्वेंट समझने लग जाए सिविल सर्वेंट खुद को समझ कर कि आप अगर उस पोस्ट पर हो आपको बन चुके हो तो आप पढ़ाई कैसे करोगे कैसे आंसर लिखोगे आप आप बात करोगे कैसे चीजें कैसी होंगी आपके लिए तो क्या वैसे ही होंगी जैसे बाकी लोगों के लिए टेक्स्ट बुक तो मेटेरियल यस सेम होता है चीजें वही होती है साथ तो वही है ना आप थोड़ी बदल गए हैं सभी के लिए वही है काट तथ्य वही हैं आप लिखते कैसे हो बता दे कैसे हो वह डिसाइड करता है क्या आप यूपीएससी क्लियर करोगे या नहीं क्योंकि हम यहां बात तो नहीं कर रहे हैं इसकी जो हम फिल्म्स निकाल ले लिए हैं जो तथ्यों के आधार पर तो एटीट्यूड क्या ऐसा है आपका व्हाट्सएप करते हैं हम जीतेंगे या नहीं धन्यवाद

attitude attitude ek aisi cheez hai jo sabhi sabse zyada matter karta hai interview me bhi metro karta hai aapke mains ke paper me bhi matter karta hai aur aapki films me bhi matter karta hai pata hai kaise interview matter karta hai kyonki pura ka pura jo test hota hai interview me vaah aapke etityut ka hi hota hai aap kis cheez ka jawab kaise de aapke liye kya cheez mahatvapurna hai toh mains me bhi jawab koi jaan dekho do cheez hoti hai ek hota jaankari pack tathya aur doosra hota hai usko present karne ka tarika batata hai aapka attitude kya presentation kaise kar rahe ho kis baat ko kaise keh rahe ho kis baat ko kis Angle se dekh rahe ho kaise aata hai jungle tabhi aa sakta hai jab aap already apne aapko civil servant samjhne lag jaaye civil servant khud ko samajh kar ki aap agar us post par ho aapko ban chuke ho toh aap padhai kaise karoge kaise answer likhoge aap aap baat karoge kaise cheezen kaisi hongi aapke liye toh kya waise hi hongi jaise baki logo ke liye text book toh material Yes same hota hai cheezen wahi hoti hai saath toh wahi hai na aap thodi badal gaye hain sabhi ke liye wahi hai kaat tathya wahi hain aap likhte kaise ho bata de kaise ho vaah decide karta hai kya aap upsc clear karoge ya nahi kyonki hum yahan baat toh nahi kar rahe hain iski jo hum films nikaal le liye hain jo tathyon ke aadhar par toh attitude kya aisa hai aapka whatsapp karte hain hum jitenge ya nahi dhanyavad

एटीट्यूड एटीट्यूड एक ऐसी चीज है जो सभी सबसे ज्यादा मैटर करता है इंटरव्यू में भी मेट्रो करत

Romanized Version
Likes  380  Dislikes    views  5306
WhatsApp_icon
user

Raushan Priya

Director at PERFECTION IAS

4:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बहुत ही अच्छा प्रश्न आपने पूछा है और यह एक सवाल जो लगभग जितने भी स्टूडेंट तैयारी करते हैं या तो उनको एक्सपीरियंस हो गया तो उनको इसकी जानकारी हो जाती है इसका नॉलेज हो जाता है लेकिन जो लोग नहीं होते उनको हर लोगों को यह दिक्कत होता है ऐसा कि आपका प्रश्न था मैं एक बार फिर छोड़ देता हूं लगभग हर व्यक्ति की तैयारी कर रहा है वहीं पुस्तकें और सामान्य अध्ययन सामग्री का अनशन करता है सबसे महत्वपूर्ण फैक्टर क्या है जो यूपीएससी में सफलता दिलाता है तो मैं अपने हर आंसर में वह बताता हूं सबसे इंपोर्टेंट चीज क्या आप के हाल-चाल है अगर आपकी उत्तर लेखन शैली बहुत ही अच्छी है तो आपका सिलेक्शन बहुत ही अच्छे तरीके से होगा अगर आपके उत्तर लिखनी नहीं आती है या अपने किसी तरह से प्रैक्टिस में कमी रह गई है और एग्जाम से पहले आ प्रैक्टिस कर के नहीं गए हैं या किसी वजह से आपके वहां पर आंसर चाची नहीं हो पाई जबकि सिलेक्शन की इसलिए सबसे इंपॉर्टेंट फेक्टर जो है यूपी में आंसर आई थी और इसके लिए आपको क्या-क्या करना होगा सबसे पहले तो आप जवान सेटिंग करने चलते सबसे पहले की जाती है कि आपको कंटेंट की भी नॉलेज होनी चाहिए और साथ ही साथ आपको आंसर लिखने के तरीके भी पत्र लिखने का तरीका बिना मीटर के थोड़ा मुश्किल होता है क्योंकि टाइम थोड़ा ज्यादा लगे आपको 1 मिनट ऑनलाइन टेस्ट कहीं का भी हो ज्वाइन कर सकते हैं जो भी ऑनलाइन टेस्ट हो उसको जॉइन करें उससे पहले आप कुछ कंटेंट की जानकारी देते और कंटेंट की जानकारी कहां से लें इसके लिए या इंपॉर्टेंट की कौन-कौन सी ई आर टी बुक्स है जिससे हमको पार्टिकुलर सब्जेक्ट की जानकारी मिल जाए जैसे एग्जांपल के लिए मैं आप से परेशान थे मेडिवाल हिस्ट्री आफ सतीश चंद्र से पढ़ सकते हैं मॉडर्न हिस्ट्री ऑफ बिपिन चंद्रा से भर सकते हैं आर्ट एंड कल्चर नितिन सिंघानिया से पढ़ सकते हैं इसके अलावा इंडियन इकॉनमी की बात की जाए संजीव वर्मा की बुक आपके लिए काफी अच्छी रहेगी इंडियन पालिटी की बात की जाए तो एम लक्ष्मीकांत या डीडी बसु की बुक को फॉलो कर सकते हैं उसके उसके लिए आपको क्या करना होगा उसके लिए आपको रेगुलर न्यूज़ पेपर पढ़ना पड़ेगा बात आती है कि कौन-कौन से सब्जेक्ट है क्योंकि आर्मी इंडियन इकोनामी जातिवाद किया मैंने बताया कि उसके लिए बेसिक के लिए तो आपको रमेश सिंह या संजीव वर्मा की बुक को पढ़ सकते हैं लेकिन जब तक हिंदू हो रहा है हर दिन चेंज हो रहा है उसके लिए क्या करना होगा किसी के साथ साथ दो तीन सब्जेक्ट और हैं जैसे इंटरनल सिक्योरिटी इंटरनेशनल रिलेशंस इत्यादि जितने भी सब्जेक्ट इन कि जब तक आपने उस पर नहीं पड़ेंगे न्यूज़पेपर से सब्जेक्ट वाइज आप नोट नहीं बनाएंगे तब तक आपको इसकी तैयारी अच्छे से नहीं आई इसके लिए कुछ सब्जेक्ट किन को किन को फॉलो किया जाए इसके अलावा आंसर राइटिंग कि जातिवाद की जा जवाब दो कंटेंट की जानकारी हो जाए तो आप ऐसा कीजिए कि प्रीवियस क्वेश्चन से आप कहीं से भी ले कर आइए और उनको सेंस को अच्छे से सॉल्व कीजिए सॉल्व करके जो भी आपके नॉलेज में जो भी आपके कंसल्ट में जो लोग हो जो पहले यूपीएससी एग्जामिनेशन दे चुके हैं उनको दिखाइए कौन से स्टेशन दीजिए उनसे बताइए कि कैसे कौन से पूछेगी कैसे कैसे लिखना चाहिए वह आपको इंस्ट्रक्शन देंगे तो काफी इंप्रूवमेंट हो जाएगा पटना के आसपास में है तो हमारे कोचिंग में आंसर राइटिंग प्रोग्राम चलता है ऑनलाइन ऑनलाइन टेस्ट चलता है ऑनलाइन या किसी और से भी जुड़ सकते हैं जहां पर आपकी संतुष्टि हो इस तरीके से पूरी की पूरी यूपी की आरती जो तैयारी है वह हो सकती है इसके अलावा जो भी आकर बस नाइट में आते हैं आप निश्चित रूप से डालें हमारी आंखें देख रही मिलते रहेंगे यदि आपके और भी प्रश्न हो तो आप ऐसा कर सकते हैं कि हमारे प्रिय जितने भी प्रश्न किए हैं उनको फॉलो करते रहेंगे

yah bahut hi accha prashna aapne poocha hai aur yah ek sawaal jo lagbhag jitne bhi student taiyari karte hain ya toh unko experience ho gaya toh unko iski jaankari ho jaati hai iska knowledge ho jata hai lekin jo log nahi hote unko har logo ko yah dikkat hota hai aisa ki aapka prashna tha main ek baar phir chhod deta hoon lagbhag har vyakti ki taiyari kar raha hai wahi pustakein aur samanya adhyayan samagri ka anshan karta hai sabse mahatvapurna factor kya hai jo upsc me safalta dilata hai toh main apne har answer me vaah batata hoon sabse important cheez kya aap ke haal chaal hai agar aapki uttar lekhan shaili bahut hi achi hai toh aapka selection bahut hi acche tarike se hoga agar aapke uttar likhani nahi aati hai ya apne kisi tarah se practice me kami reh gayi hai aur exam se pehle aa practice kar ke nahi gaye hain ya kisi wajah se aapke wahan par answer chachi nahi ho payi jabki selection ki isliye sabse important fektar jo hai up me answer I thi aur iske liye aapko kya kya karna hoga sabse pehle toh aap jawaan setting karne chalte sabse pehle ki jaati hai ki aapko content ki bhi knowledge honi chahiye aur saath hi saath aapko answer likhne ke tarike bhi patra likhne ka tarika bina meter ke thoda mushkil hota hai kyonki time thoda zyada lage aapko 1 minute online test kahin ka bhi ho join kar sakte hain jo bhi online test ho usko join kare usse pehle aap kuch content ki jaankari dete aur content ki jaankari kaha se le iske liye ya important ki kaun kaun si E R T books hai jisse hamko particular subject ki jaankari mil jaaye jaise example ke liye main aap se pareshan the medival history of satish chandra se padh sakte hain modern history of bipin chandra se bhar sakte hain art and culture nitin singhaniya se padh sakte hain iske alava indian economy ki baat ki jaaye sanjeev verma ki book aapke liye kaafi achi rahegi indian polity ki baat ki jaaye toh M lakshmikant ya DD basu ki book ko follow kar sakte hain uske uske liye aapko kya karna hoga uske liye aapko regular news paper padhna padega baat aati hai ki kaun kaun se subject hai kyonki army indian economy jaatiwad kiya maine bataya ki uske liye basic ke liye toh aapko ramesh Singh ya sanjeev verma ki book ko padh sakte hain lekin jab tak hindu ho raha hai har din change ho raha hai uske liye kya karna hoga kisi ke saath saath do teen subject aur hain jaise internal Security international rileshans ityadi jitne bhi subject in ki jab tak aapne us par nahi padenge Newspaper se subject wise aap note nahi banayenge tab tak aapko iski taiyari acche se nahi I iske liye kuch subject kin ko kin ko follow kiya jaaye iske alava answer writing ki jaatiwad ki ja jawab do content ki jaankari ho jaaye toh aap aisa kijiye ki previous question se aap kahin se bhi le kar aaiye aur unko sense ko acche se solve kijiye solve karke jo bhi aapke knowledge me jo bhi aapke Consult me jo log ho jo pehle upsc examination de chuke hain unko dikhaiye kaun se station dijiye unse bataiye ki kaise kaun se puchegi kaise kaise likhna chahiye vaah aapko instruction denge toh kaafi improvement ho jaega patna ke aaspass me hai toh hamare coaching me answer writing program chalta hai online online test chalta hai online ya kisi aur se bhi jud sakte hain jaha par aapki santushti ho is tarike se puri ki puri up ki aarti jo taiyari hai vaah ho sakti hai iske alava jo bhi aakar bus night me aate hain aap nishchit roop se Daalein hamari aankhen dekh rahi milte rahenge yadi aapke aur bhi prashna ho toh aap aisa kar sakte hain ki hamare priya jitne bhi prashna kiye hain unko follow karte rahenge

यह बहुत ही अच्छा प्रश्न आपने पूछा है और यह एक सवाल जो लगभग जितने भी स्टूडेंट तैयारी करते ह

Romanized Version
Likes  135  Dislikes    views  5096
WhatsApp_icon
user

fighter

Counselor & Coach

7:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लगभग हर व्यक्ति जो यूपीएससी की तैयारी कर रहा है वहीं पुस्तकें और समान अध्ययन सामग्री की अनुसरण करता है तो फिर ऐसा क्या है जिसको हम कह सकते हैं कि अगर यह करें तो आए ऐसी रहती है इस सवाल के 50000 सवाल मैंने देखा है मैं इस बात को मानता हूं मैं इंग्लिश में बोलूंगा प्रोग्रेशन कंसिस्टिंग क्या है इसकी जो पढ़ाई है तकरीबन आपकी नवी दसवीं से ही शुरू हो जाती है आप दसवीं लेकर चली नदी बीच में पास होना नहीं मैं तो दसवीं में आप को वोट देना है फिर आपकी 2 साल और हिना 11वीं बार फिर आपकी वह ग्रेजुएशन है तीन से चार साल कभी कोई 3 साल की 4 साल फिर मास्टर से कम से कम 2 या 3 साल अगर आपने पूरा यह जो जर्नी देखें यह सच तो प्रोग्रेस हो रहा है दसवीं के बाद दीवारों पर आप चल रहे हैं नहीं यह सवाल तू कंसिस्टिंग प्रोग्रेशन क्या होता है कि हम कंसिस्टेंसी कंसेशन का क्या मतलब है कि उसका नाम क्या समांतर ऊपर नीचे बहुत ज्यादा नहीं देना तो एक तरह से सामान तरह से आप जो भी कर रहे हैं कंसिस्टेंटली उसको वह प्रिडिक्टेबल हो अगर आप कंसिस्टेंट रहेंगे तो प्रिडिक्टिबिलिटी जो है अपने आप तो अब दसवीं में आपके स्कूल नंबर आए 6070 योगी 12वीं के ऊपर आने के लिए ग्रेजुएशन में 55 से ऊपर आना चाहिए फर्स्ट ईयर फर्स्ट ईयर 55 सेकंड ईयर 55 ईयर की एडमिशन होनी चाहिए यह कंसेशन प्रोग्रेशन इस बीच में जितने और सरकारी प्रवेश परीक्षा है वह आपने दिया होना चाहिए और उसको जो है आप अपने पास किया होना चाहिए जॉइन करे ना करे और दूसरी बात बताओ ठीक है 12वीं के बाद काफी प्रवेश परीक्षा है वह आपको दिया होना चाहिए जरूरी नहीं है साइंस में हो 8 सालों के लिए भी है b.a. B.Ed का वह है कंबाइन इंटीग्रेटेड बी ए एलएलबी इंटीग्रेटेड तो कहीं कहीं बी बी ए बी गेम का एंट्रेंस एग्जाम में रहे हैं ठीक है ना और यह जो भी मैं आपको कहा मास्टर तक वापस नहीं तो कोई प्रोफेशनल डिग्री कली प्लान ए प्लान भी इस तरह से करके चले यह एक तरीका है एक बार दसवीं से अखबार पढ़ना शुरू किया जब तक आप ग्रेजुएशन के बीच में पड़ जाते हैं तो तीन-चार साल तक रोज एक बार पढ़ ले कम से कम 2 बार पढ़ अखबार की पढ़ने से 2 सबसे बड़े इंपॉर्टेंट क्या है एक है एडिटोरियल का तो विश्लेषण है उससे आपको भाषा में किस तरह से उपयोग हुआ है वह आपको एक तो वह मिल जाएगा एक ही बात को लोगों ने अलग-अलग अखबार में एडिटोरियल में किस तरह से उन्हें बताया है ठीक है ना लिखा है और इस बार पढ़ रहे हो करंट अफेयर जनरल नॉलेज सामान्य ज्ञान कहां से मिल जाता है लोगों ने जी आपको कंसिस्टेंटली अगर आप पढ़ रहे होंगे तभी आपको समझ आएगा और फिर आप कहेंगे अच्छा ही है एक टाइम्स ऑफ इंडिया वाले इस तरह से विश्लेषण करते हैं और उसी बात की और हिंदुस्तान कंसिस्टेंट प्रोग्रेशन मेरे हिसाब से इस द की टू सक्सेस तो आप कैंटीन प्रोग्रेशन के लिए एक और बात है आपने कंसिस्टेंट मेहनत करी होती है और जैसे-जैसे पढ़ते स्पीड रीडिंग आर्ट साइंस नहीं है तो जो यह करते हैं जैसे डॉक्टर एमबीबीएस एडवांस में पढ़ाई करते हैं तो हूं स्पीड रीडिंग रीडिंग कहां कहां से आ गया आप ने 10वीं में जिस तरह से पढ़ाई कर रहे थे वह ग्रेजुएशन में भी करेंगे उसका मतलब आपने सीखा क्या इसका मतलब आपने प्रोग्रेस क्या किया जी पता नहीं किसको क्रैक कैसे करें किसको एक टॉपिक को एक किताब को समझ गया सौ बात की एक बात प्रोग्रेस आउट कम है और इसका क्या है कंसिस्टेंट ऑफ असिस्टेंट प्रोफेसर और बेटा चार लोग 50,000 पाती बताएंगे प्लीज उनकी भी सुनिए अल्टीमेट मेरा जवाब यह है

lagbhag har vyakti jo upsc ki taiyari kar raha hai wahi pustakein aur saman adhyayan samagri ki anusaran karta hai toh phir aisa kya hai jisko hum keh sakte hain ki agar yah kare toh aaye aisi rehti hai is sawaal ke 50000 sawaal maine dekha hai main is baat ko maanta hoon main english me boloonga Progression consisting kya hai iski jo padhai hai takareeban aapki navi dasavi se hi shuru ho jaati hai aap dasavi lekar chali nadi beech me paas hona nahi main toh dasavi me aap ko vote dena hai phir aapki 2 saal aur heena vi baar phir aapki vaah graduation hai teen se char saal kabhi koi 3 saal ki 4 saal phir master se kam se kam 2 ya 3 saal agar aapne pura yah jo journey dekhen yah sach toh progress ho raha hai dasavi ke baad deewaaron par aap chal rahe hain nahi yah sawaal tu consisting Progression kya hota hai ki hum kansistensi concession ka kya matlab hai ki uska naam kya samantar upar niche bahut zyada nahi dena toh ek tarah se saamaan tarah se aap jo bhi kar rahe hain kansistentali usko vaah predictable ho agar aap kansistent rahenge toh pridiktibiliti jo hai apne aap toh ab dasavi me aapke school number aaye 6070 yogi vi ke upar aane ke liye graduation me 55 se upar aana chahiye first year first year 55 second year 55 year ki admission honi chahiye yah concession Progression is beech me jitne aur sarkari pravesh pariksha hai vaah aapne diya hona chahiye aur usko jo hai aap apne paas kiya hona chahiye join kare na kare aur dusri baat batao theek hai vi ke baad kaafi pravesh pariksha hai vaah aapko diya hona chahiye zaroori nahi hai science me ho 8 salon ke liye bhi hai b a B Ed ka vaah hai combine integrated be a llb integrated toh kahin kahin be be a be game ka entrance exam me rahe hain theek hai na aur yah jo bhi main aapko kaha master tak wapas nahi toh koi professional degree kalee plan a plan bhi is tarah se karke chale yah ek tarika hai ek baar dasavi se akhbaar padhna shuru kiya jab tak aap graduation ke beech me pad jaate hain toh teen char saal tak roj ek baar padh le kam se kam 2 baar padh akhbaar ki padhne se 2 sabse bade important kya hai ek hai editorial ka toh vishleshan hai usse aapko bhasha me kis tarah se upyog hua hai vaah aapko ek toh vaah mil jaega ek hi baat ko logo ne alag alag akhbaar me editorial me kis tarah se unhe bataya hai theek hai na likha hai aur is baar padh rahe ho current affair general knowledge samanya gyaan kaha se mil jata hai logo ne ji aapko kansistentali agar aap padh rahe honge tabhi aapko samajh aayega aur phir aap kahenge accha hi hai ek times of india waale is tarah se vishleshan karte hain aur usi baat ki aur Hindustan kansistent Progression mere hisab se is the ki to success toh aap canteen Progression ke liye ek aur baat hai aapne kansistent mehnat kari hoti hai aur jaise jaise padhte speed reading art science nahi hai toh jo yah karte hain jaise doctor MBBS advance me padhai karte hain toh hoon speed reading reading kaha kaha se aa gaya aap ne vi me jis tarah se padhai kar rahe the vaah graduation me bhi karenge uska matlab aapne seekha kya iska matlab aapne progress kya kiya ji pata nahi kisko crack kaise kare kisko ek topic ko ek kitab ko samajh gaya sau baat ki ek baat progress out kam hai aur iska kya hai kansistent of assistant professor aur beta char log 50 000 pati batayenge please unki bhi suniye ultimate mera jawab yah hai

लगभग हर व्यक्ति जो यूपीएससी की तैयारी कर रहा है वहीं पुस्तकें और समान अध्ययन सामग्री की अन

Romanized Version
Likes  500  Dislikes    views  4729
WhatsApp_icon
user

Anil Ramola

Yoga Instructor | Engineer

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपी एग्जाम होता है इसका जो सिलेबस होता है वह बिल्कुल आता है होता है लेकिन बहुत कम लोगों के एग्जाम के पेपर के मुख्य को इन तीनों का तो सामग्री आपके मकसद से साफ-साफ का खर्चा होता है तू स्लेबस को कॉल करने से ही आपका ही पार नहीं पड़ेगी आपको मेंस और इंटरव्यू में जो अच्छे लोगों में एक अज्ञात अदा करती है कि एक हफ्ता

up exam hota hai iska jo syllabus hota hai vaah bilkul aata hai hota hai lekin bahut kam logo ke exam ke paper ke mukhya ko in tatvo ka toh samagri aapke maksad se saaf saaf ka kharcha hota hai tu slebas ko call karne se hi aapka hi par nahi padegi aapko mains aur interview me jo acche logo me ek agyaat ada karti hai ki ek hafta

यूपी एग्जाम होता है इसका जो सिलेबस होता है वह बिल्कुल आता है होता है लेकिन बहुत कम लोगों क

Romanized Version
Likes  301  Dislikes    views  2410
WhatsApp_icon
user

S Bajpay

Yoga Expert | Beautician & Gharelu Nuskhe Expert

2:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपकी पसंद तो मैं यही कहूंगा कि बहुत से लोग तैयारी करते हैं और आपका कहना सही और वही सामान अध्ययन का निरीक्षण करते हैं तो सबकी एक जैसी होती हैं पूरी बात हो सकती है सबसे महत्वपूर्ण फैक्टर क्या होता है कि यहां अंतर आ जाता है सबसे महत्वपूर्ण करता रुकता है टाइम कटता है ठीक है 4 घंटे पहले ही पैसे निकालनी है लेकिन मैं आपको बता दूं इसमें आप जितनी गहराई से घुस आएंगे उतना आपको बढ़िया मोदी मिलेंगे क्या दो अक्षर रूप क्या करती है ऊपर ऊपर का सिलेबस द्वारा दीजिए अंदर तक नहीं जाते अंदर तो दूसरा पड़ता है इसी इसी शरीर को किसी भी प्रश्न को किसी भी मैटर को इतना अच्छी तरह समझना पड़ता है कि उस पर घुमा के किसी तरह के प्रश्न दे दिए यह अंदर की बिटवीन बहुत गहराई से पढ़ते हैं वह द प्राप्त करते हैं जो ऊपर ऊपर भर्ती हैं उसका प्राप्त नहीं करती तो मैं तो आपको ही करूंगा जिसे भी पैसे निकालना है बहुत गहराई से बहुत बारीकी से उसी को समझे उस गहराई में जाए तभी वह चित्र सकता है यूपीएससी जो है वह जितने समुद्र में

aapki pasand toh main yahi kahunga ki bahut se log taiyari karte hain aur aapka kehna sahi aur wahi saamaan adhyayan ka nirikshan karte hain toh sabki ek jaisi hoti hain puri baat ho sakti hai sabse mahatvapurna factor kya hota hai ki yahan antar aa jata hai sabse mahatvapurna karta rukata hai time katata hai theek hai 4 ghante pehle hi paise nikaalanee hai lekin main aapko bata doon isme aap jitni gehrai se ghus aayenge utana aapko badhiya modi milenge kya do akshar roop kya karti hai upar upar ka syllabus dwara dijiye andar tak nahi jaate andar toh doosra padta hai isi isi sharir ko kisi bhi prashna ko kisi bhi matter ko itna achi tarah samajhna padta hai ki us par ghuma ke kisi tarah ke prashna de diye yah andar ki between bahut gehrai se padhte hain vaah the prapt karte hain jo upar upar bharti hain uska prapt nahi karti toh main toh aapko hi karunga jise bhi paise nikalna hai bahut gehrai se bahut baareekee se usi ko samjhe us gehrai me jaaye tabhi vaah chitra sakta hai upsc jo hai vaah jitne samudra me

आपकी पसंद तो मैं यही कहूंगा कि बहुत से लोग तैयारी करते हैं और आपका कहना सही और वही सामान अ

Romanized Version
Likes  341  Dislikes    views  2872
WhatsApp_icon
user

Umesh kumar

Lecturer & Brain Guru ,Finger Prints Consultant

1:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका क्वेश्चन ने लगभग हर व्यक्ति जो यूपीएससी की तैयारी कर रहे हैं वहीं पुस्तक है और सामान अध्ययन सामग्री का अनुसरण करता है तो फिर सबसे महत्वपूर्ण फैक्टर क्या है जो यूपीएससी में आपकी सफलता के लिए जिम्मेदार है या आपको सफलता दिलाता है इसके लिए मैं बताना चाहूंगा कि मार्केट में और आजकल तो सोशल मीडिया पर भी इतना जबरदस्त मैट्रिक पड़ा हुआ है मैटर की कोई कमी नहीं है वह जमाना था जब मैं तो नहीं मिलता था बैटरी की कोई कमी नहीं है लेकिन जैसे-जैसे मैट्रिकी अवेलेबिलिटी बैठी है तो अब उसको गेन करने का तरीका मुख्य है कि उसको मैटर इतना अवेलेबल लेकिन उसको दहन कैसे किया जाए तो इसके लिए चाहे सबसे बढ़िया क्या है कि मैंने पहले वीडियो में मैं बता चुका हूं पहले प्रश्न बता चुका हूं कि जो फ्रेंड साइंस की जो टेक्निक से से पढ़ने की आवश्यकता है वह मैं तो को बचा नहीं जा सकता तो बचाने के लिए हमें कुछ टेक्निक का उपयोग करना पड़ेगा रे टेक्निक आज की जो ब्रेंस हैंड से उसके द्वारा मिल सकती इससे संबंधित बैंक साइन से संबंधित कुछ वीडियो हमने हमारे यूट्यूब चैनल माय फ्रेंड स्कूल यूट्यूब चैनल पर भी डाल रखे और अन्य जगह से भी आप इस तरह की टेक्निक को सील कर और आप जो मैटर है उसको बचाने की प्रक्रिया से 1 गए तो इसका मतलब आप सफल है बस में परीक्षा देते समय कौन कितना करता है उस पर डिपेंड करता है ऐसा हमारा धन्यवाद

namaskar aapka question ne lagbhag har vyakti jo upsc ki taiyari kar rahe hain wahi pustak hai aur saamaan adhyayan samagri ka anusaran karta hai toh phir sabse mahatvapurna factor kya hai jo upsc me aapki safalta ke liye zimmedar hai ya aapko safalta dilata hai iske liye main batana chahunga ki market me aur aajkal toh social media par bhi itna jabardast metric pada hua hai matter ki koi kami nahi hai vaah jamana tha jab main toh nahi milta tha battery ki koi kami nahi hai lekin jaise jaise maitriki avelebiliti baithi hai toh ab usko gain karne ka tarika mukhya hai ki usko matter itna available lekin usko dahan kaise kiya jaaye toh iske liye chahen sabse badhiya kya hai ki maine pehle video me main bata chuka hoon pehle prashna bata chuka hoon ki jo friend science ki jo technique se se padhne ki avashyakta hai vaah main toh ko bacha nahi ja sakta toh bachane ke liye hamein kuch technique ka upyog karna padega ray technique aaj ki jo brens hand se uske dwara mil sakti isse sambandhit bank sign se sambandhit kuch video humne hamare youtube channel my friend school youtube channel par bhi daal rakhe aur anya jagah se bhi aap is tarah ki technique ko seal kar aur aap jo matter hai usko bachane ki prakriya se 1 gaye toh iska matlab aap safal hai bus me pariksha dete samay kaun kitna karta hai us par depend karta hai aisa hamara dhanyavad

नमस्कार आपका क्वेश्चन ने लगभग हर व्यक्ति जो यूपीएससी की तैयारी कर रहे हैं वहीं पुस्तक है औ

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  793
WhatsApp_icon
user

डाॅ. देवेन्द्र जोशी उज्जैन म प्र

पत्रकार, साहित्यकार शिक्षाविद

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बात तो सही है कि बातें करो सबके लिए एक जैसा होता है अध्ययन करने की कार्यप्रणाली सबकी एक जैसी होती है तो ऐसे में ऐसी क्या विशिष्टता हो कि कोई एक यूपीएससी की परीक्षा भी सिलेक्ट हो जाए सबसे पहली बात तो यह है कि परिश्रम ही सफलता की कुंजी है तो किसी भी कार्य के लक्ष्य को पाने के लिए निगम का होना नितांत आवश्यक प्रश्न उत्तर का होना चाहिए सही दिशा में हो तो भी बता सकते हैं जो कि पहले से ही डॉक्टरों का अनुभव जानकर उनकी तैयारी करने की कार्यशैली को अपनाकर और किस तरह से आप प्रश्नों का और विषयों का अध्ययन कर रहे हैं उसको जानकर इस तरह से आप सामान्य ज्ञान प्राप्त कर रहे आप करंट अगर से अवगत हैं या नहीं आ समाचार पत्र कितने समय पढ़ते हैं आप अपनी जानकारियों को कितना रखते हैं आप विभिन्न विषयों के अध्ययन की गहराई में उतर जाते हैं और आपने परीक्षा के पुराने क्वेश्चन पेपर की किस तरह से तैयारी की है यह सब बातें करती है कि आप अपनी यूपीएससी परीक्षा के प्रति निष्ठावान और इसी से आपका भविष्य का होता है तो बेहतर होगा आपके लिए कि जो कोचिंग पर मार्गदर्शन दिया जाता है जो बीएसपी के टॉपर्स रहे हैं यूपीएससी के डॉक्टर से उनके अनुभव को जानकर उनकी कार्यप्रणाली को देखकर आप अपने दिशा का निर्धारण करते हैं और तभी आगे की तैयारी में और उनके तैयारी में क्या अंतर है

yah baat toh sahi hai ki batein karo sabke liye ek jaisa hota hai adhyayan karne ki Karya Pranali sabki ek jaisi hoti hai toh aise me aisi kya wishishta ho ki koi ek upsc ki pariksha bhi select ho jaaye sabse pehli baat toh yah hai ki parishram hi safalta ki kunji hai toh kisi bhi karya ke lakshya ko paane ke liye nigam ka hona nitant aavashyak prashna uttar ka hona chahiye sahi disha me ho toh bhi bata sakte hain jo ki pehle se hi doctoron ka anubhav jaankar unki taiyari karne ki karyashaili ko apnakar aur kis tarah se aap prashnon ka aur vishyon ka adhyayan kar rahe hain usko jaankar is tarah se aap samanya gyaan prapt kar rahe aap current agar se avgat hain ya nahi aa samachar patra kitne samay padhte hain aap apni jankariyon ko kitna rakhte hain aap vibhinn vishyon ke adhyayan ki gehrai me utar jaate hain aur aapne pariksha ke purane question paper ki kis tarah se taiyari ki hai yah sab batein karti hai ki aap apni upsc pariksha ke prati nisthawan aur isi se aapka bhavishya ka hota hai toh behtar hoga aapke liye ki jo coaching par margdarshan diya jata hai jo bsp ke toppers rahe hain upsc ke doctor se unke anubhav ko jaankar unki Karya Pranali ko dekhkar aap apne disha ka nirdharan karte hain aur tabhi aage ki taiyari me aur unke taiyari me kya antar hai

यह बात तो सही है कि बातें करो सबके लिए एक जैसा होता है अध्ययन करने की कार्यप्रणाली सबकी एक

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  183
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

व्हाट्सएप याद हर व्यक्ति विशेष जाई पराए होते हैं उसकी सामग्री भी वही है जो सबसे महत्वपूर्ण फैक्टर क्या है एक ही पूछ के सभी पढ़ते हैं सभी क्या ही नहीं करते हैं लेकिन किसने गहन अध्ययन के दान सामग्री को इकट्ठा किया और उसे पढ़ा है और किसका पंचारी की जब तक आपने अपनी अध्ययन को समय नहीं दिया और उस जंक्शन के लिए आपने पूर्ण रूप से प्यार नहीं किया सफलता कैसे मिलेगी सबसे महत्वपूर्ण करें कठोर परिश्रम समस्त विषयों का गहन अध्ययन छोटी-छोटी बातों पर बनाए गए मोक्ष और उसके बाद उनका प्रॉपर एक दूसरे सेंटर कनेक्शन और पिछले 5 से 10 साल के पेपरों की प्रैक्टिस और जो हमारी शक्ल यूपीएससी के विद्यार्थी नहीं उनकी इंटरव्यू इन सबका अच्छा हमें हौसला भी देता है हमारी सफलता में कामयाबी विजेता मूल दोष के चपलता में किन कैप्टन अबकी लगन आपका परिश्रम और आपका अच्छा यह तीन चीजें ऐसी हैं जो आपको सफलता के बाद

whatsapp yaad har vyakti vishesh jaii parae hote hain uski samagri bhi wahi hai jo sabse mahatvapurna factor kya hai ek hi poochh ke sabhi padhte hain sabhi kya hi nahi karte hain lekin kisne gahan adhyayan ke daan samagri ko ikattha kiya aur use padha hai aur kiska panchari ki jab tak aapne apni adhyayan ko samay nahi diya aur us junction ke liye aapne purn roop se pyar nahi kiya safalta kaise milegi sabse mahatvapurna karen kathor parishram samast vishyon ka gahan adhyayan choti choti baaton par banaye gaye moksha aur uske baad unka proper ek dusre center connection aur pichhle 5 se 10 saal ke peparon ki practice aur jo hamari shakl upsc ke vidyarthi nahi unki interview in sabka accha hamein hausla bhi deta hai hamari safalta mein kamyabi vijeta mul dosh ke chaplata mein kin captain abki lagan aapka parishram aur aapka accha yah teen cheezen aisi hain jo aapko safalta ke baad

व्हाट्सएप याद हर व्यक्ति विशेष जाई पराए होते हैं उसकी सामग्री भी वही है जो सबसे महत्वपूर्ण

Romanized Version
Likes  67  Dislikes    views  1342
WhatsApp_icon
play
user

Ashish Kumar Maurya

Indian Railway

1:01

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड आपका स्वागत है हमारे चैनल न्यूबिगिन में कि लोगों का यूपीएससी में होता है और नहीं होता है और यही एक सवाल है जो कि लोगों को यूपीएससी में तो सभी अच्छे समय से और अच्छे नियम से पढ़ाई करते हैं वह जल्दी पढ़ाई करते हैं उस पर फोकस करते हैं मिल सकता है

hello friend aapka swaagat hai hamare channel nyubigin mein ki logon ka upsc mein hota hai aur nahi hota hai aur yahi ek sawaal hai jo ki logon ko upsc mein toh sabhi acche samay se aur acche niyam se padhai karte hain vaah jaldi padhai karte hain us par focus karte hain mil sakta hai

हेलो फ्रेंड आपका स्वागत है हमारे चैनल न्यूबिगिन में कि लोगों का यूपीएससी में होता है और नह

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  165
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

2:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लगभग हर व्यक्ति को पेशी है वही पुस्तकें और समान मंत्र सामग्री अनुसरण करता है तो फिर सबसे महत्वपूर्ण फैक्टर क्या है तो यूबीसीआर किस किस देते हैं बता दो कौन कह रहा है कि वही सामग्रियों की वहीं पुस्तकों से छोटे-छोटे कंटेंट लिया जाता मैंने बताया कि कभी-कभी पूरी बुक से यूपीसीएल बस में हमेशा डायनेमिक होता हमेशा बदलाव होता रहता किताब वही होगी उसके कंट्रोल तेनु अपनी नजर की से आपको देख रहा हूं मैंने बताया कि यह कानून सपोज कर लीजिए कि सीए का कानून पास हुआ है उसमें सर्क घर का के नजरिया किताबों में क्या लिखा है उससे कोई मतलब यहां पर यूपी में आपका नजरिया क्या आप उसमें जैसे आप कैसे डिसीजन लेंगे आप किस तरह से बर्बाद करेंगे या नहीं करेंगे गिरता है तो आप कैसे कह दिया कि हमेशा नयापन होता है और जब तक नयापन नहीं होगा तो आप इस यूपीएससी एग्जामिनेशन को क्वालीफाई नहीं कर पाएंगे इनकी क्वेश्चन बैंक रेडियोलॉजी बदलती रहती होगी किया जाता है तो निश्चित तौर पर यहां पर बेहतरीन ढंग से अपना प्रजेंटेशन ऑफर कैसा होगा कितने ढंग से आप कर पाएंगे वह मायने रखता है करना कि वह सारी कंट्री जिसको आप लोग पुराना मेरा बना करके ढूंढ रहे हो

lagbhag har vyakti ko pepsi hai wahi pustakein aur saman mantra samagri anusaran karta hai toh phir sabse mahatvapurna factor kya hai toh UBCR kis kis dete hain bata do kaun keh raha hai ki wahi saamagriyon ki wahin pustakon se chhote chhote content liya jata maine bataya ki kabhi kabhi puri book se UPCL bus mein hamesha daynemik hota hamesha badlav hota rehta kitab wahi hogi uske control tenu apni nazar ki se aapko dekh raha hoon maine bataya ki yah kanoon suppose kar lijiye ki ca ka kanoon paas hua hai usmein cirque ghar ka ke najariya kitabon mein kya likha hai usse koi matlab yahan par up mein aapka najariya kya aap usmein jaise aap kaise decision lenge aap kis tarah se barbad karenge ya nahi karenge girta hai toh aap kaise keh diya ki hamesha nayapan hota hai aur jab tak nayapan nahi hoga toh aap is upsc examination ko qualify nahi kar payenge inki question bank radiology badalti rehti hogi kiya jata hai toh nishchit taur par yahan par behtareen dhang se apna prajenteshan offer kaisa hoga kitne dhang se aap kar payenge vaah maayne rakhta hai karna ki vaah saree country jisko aap log purana mera bana karke dhundh rahe ho

लगभग हर व्यक्ति को पेशी है वही पुस्तकें और समान मंत्र सामग्री अनुसरण करता है तो फिर सबसे म

Romanized Version
Likes  218  Dislikes    views  2454
WhatsApp_icon
user

Neeraj Shukla

Philosopher || Avid Reader.

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत ही उम्दा प्रश्न है आपका की लगभग हर व्यक्ति जो यूपीएससी की तैयारी कर रहा है वहीं पुस्तके और सामान अध्ययन सामग्री का अनुसरण करता है तो फिर सबसे महत्वपूर्ण फैक्टर क्या होता यूपी में आपकी सफलता लिखे सबसे पहली बात तो मैं आपको यह बताना चाहूंगा यूपीएससी ही नहीं आप किसी भी परीक्षा को जब तक कांसेप्चुअल बेस पर नहीं बनेंगे अपने कांसेप्ट क्लियर नहीं करेंगे तब तक आप किसी भी परीक्षा को नहीं कर सकते यूपी में जो किताबें आप बता रहे लगभग किताबे तो सही बात है वह किताब एस अभी तक अवेलेबल हो जाती है जो प्रॉपर से बड़ी होती है और टॉपर बनने के लिए टॉपर की तरह आपको पढ़ना भी आना चाहिए देखी सबसे पहले तो आप कौन से चल पड़ना चाहिए मैंने कई बार ऐसे में आपको कुछ उदाहरण दे सकता हूं कि जैसे हम मगर रसायन विज्ञान की बात करें वहां ऐसा लिखा हुआ कि किसी कार्बन को अभिकर्मक के साथ तो उस आदमी को कार्बन की नॉलेज तो है पर उसे यही नहीं पता अभिकर्मक क्या है तू दिखे सबसे पहले आपको अपनी कांसेप्ट क्लियर करने होंगे अगर आप की चीज को पढ़ रहे हैं दुकान सेक्सुअली होकर बड़े भाई जी कुवे में पढ़े लिखे और कौन से यह जो दो स्टडी के तरीके आप पहले तो उसे कॉन्सेप्टोल बनाई अपनी स्टडी को फिर उसे एक स्टडी में डाली थी कि यही तरीका होता है किसी भी एग्जाम को क्लियर करने का चाहे वो चाहे जैसी हो चाहे वह कोई भी एग्जाम

bahut hi umda prashna hai aapka ki lagbhag har vyakti jo upsc ki taiyari kar raha hai wahin pustake aur saamaan adhyayan samagri ka anusaran karta hai toh phir sabse mahatvapurna factor kya hota up mein aapki safalta likhe sabse pehli baat toh main aapko yah bataana chahunga upsc hi nahi aap kisi bhi pariksha ko jab tak kansepchual base par nahi banenge apne concept clear nahi karenge tab tak aap kisi bhi pariksha ko nahi kar sakte up mein jo kitaben aap bata rahe lagbhag kitaabe toh sahi baat hai vaah kitab s abhi tak available ho jaati hai jo proper se badi hoti hai aur topper banne ke liye topper ki tarah aapko padhna bhi aana chahiye dekhi sabse pehle toh aap kaun se chal padhna chahiye maine kai baar aise mein aapko kuch udaharan de sakta hoon ki jaise hum magar rasayan vigyan ki baat karen wahan aisa likha hua ki kisi carbon ko abhikarmak ke saath toh us aadmi ko carbon ki knowledge toh hai par use yahi nahi pata abhikarmak kya hai tu dikhen sabse pehle aapko apni concept clear karne honge agar aap ki cheez ko padh rahe hain dukaan sexual hokar bade bhai ji kuve mein padhe likhe aur kaun se yah jo do study ke tarike aap pehle toh use kanseptol banai apni study ko phir use ek study mein dali thi ki yahi tarika hota hai kisi bhi exam ko clear karne ka chahen vo chahen jaisi ho chahen vaah koi bhi exam

बहुत ही उम्दा प्रश्न है आपका की लगभग हर व्यक्ति जो यूपीएससी की तैयारी कर रहा है वहीं पुस्त

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  653
WhatsApp_icon
user

Pragti Tripathi

upsc Aspirant Motivational Speaker For Small Stages

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जितनी भी व्यक्ति हैं यूपीएससी की तैयारी कर रहे हैं ठीक है सब की स्टडी मैटेरियल सेम होती है तो सिम तरीके से फॉलो करते हैं फैक्ट्री या है कि बुक किस तरह से समझ रहे हैं ठीक है ना जैसे एक मंदिर है इसमें कई तरह के लोग जा रहे हैं सारे लोग नारियल चढ़ाने ठीक है लेकिन उन लोगों की मान्यता क्या है ठीक है उनकी मान्यता कैसी है उनकी श्रद्धा कैसी उस नारियल को चढ़ाने के लिए वह करता है

jitni bhi vyakti hain upsc ki taiyari kar rahe hain theek hai sab ki study material same hoti hai toh sim tarike se follow karte hain factory ya hai ki book kis tarah se samajh rahe hain theek hai na jaise ek mandir hai isme kai tarah ke log ja rahe hain saare log nariyal chadhane theek hai lekin un logo ki manyata kya hai theek hai unki manyata kaisi hai unki shraddha kaisi us nariyal ko chadhane ke liye vaah karta hai

जितनी भी व्यक्ति हैं यूपीएससी की तैयारी कर रहे हैं ठीक है सब की स्टडी मैटेरियल सेम होती है

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  128
WhatsApp_icon
user

sikh boy

Student

2:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार सर मैं आपको बताना चाहूंगा आपका सवाल है लगभग हर व्यक्ति जो यूपीएससी की तैयारी करता है वही पुस्तके सामान अध्ययन सामग्री का अनुसरण करता है तो फिर सबसे महत्वपूर्ण फैक्टर क्या है तो आपसे भी बताना जानू यूपीएससी के लिए सभी व्यक्ति होते हैं आप अच्छी-अच्छी किताबें अच्छे-अच्छे बुके खरीदना पसंद ज्यादा करते हैं जिससे कि आपको लगता है कि हम आपके तो हमारा नंबर अच्छी तरीके से ही जाएगा तो मैं आपको बताना चाहूंगा आप एक गलती कर देते हो वह गलती यह होती है कि आप जो पीछे कपड़ा होता है आपकी जो छोटी क्लास होती है मैच से लेकर 12 तक की होती हैं तो आप अच्छी तरीके से फॉलो नहीं कर पाते हो आप जो बड़ी-बड़ी पिता बजाओ हाई लेवल के होते आप उनको फॉलो करने लगते तो आपको बताना चाहूंगा आप जो हिस्ट्री है और सोशल फौजी है आप उसे ज्यादा से ज्यादा फॉलो करने की कोशिश करें आप लाइट 12th की किताबें उन्हें अच्छी तरीके से पढ़ने की कोशिश करें उसमें छोटे-छोटे क्वेश्चन अच्छा-अच्छा खोल खोल के बताया जाता है तो यानी के अंदर के जो बड़ी किताबें होती हैं उनमें थोड़ा अलग से बताने लगते तो आप छोटी बातों को भूलने के कारण आप अच्छी तरीके से यूपीएससी क्लीन करने में थोड़ा वक्त लग जाता है तो इससे मैं आपको बताना चाहूंगा कि आप लाइक से लेकर 12 तक की क्लास का सिलेबस जो होता है आप इतिहास और सामाजिक शास्त्र ज्यादा पढ़ने की कोशिश करें आप इसी को पढ़ लीजिए और आपने जो पिक है आप ज्यादा भी नहीं मैं आपसे बोलूंगा कि आप लाइट का जो यह है ना इससे ट्वेल्थ की किताब है इन्हें आप 2 घंटे तक पढ़ लीजिए बस पांडे 2 घंटे पढ़ने से आपका बहुत ही अच्छा माइंड हो जाएगा अच्छी तरीके से क्वेश्चन समझ में आएंगे आप फाइलें की किताब पढ़ोगे तो आप सबसे अच्छे दिखने लगाओगे आपका जो क्वेश्चन होगा आप अच्छे फटाफट बताओगे तो आप कुछ अलग है मेरे अंदर

namaskar sir main aapko batana chahunga aapka sawaal hai lagbhag har vyakti jo upsc ki taiyari karta hai wahi pustake saamaan adhyayan samagri ka anusaran karta hai toh phir sabse mahatvapurna factor kya hai toh aapse bhi batana janu upsc ke liye sabhi vyakti hote hain aap achi achi kitaben acche acche Buke kharidna pasand zyada karte hain jisse ki aapko lagta hai ki hum aapke toh hamara number achi tarike se hi jaega toh main aapko batana chahunga aap ek galti kar dete ho vaah galti yah hoti hai ki aap jo peeche kapda hota hai aapki jo choti class hoti hai match se lekar 12 tak ki hoti hain toh aap achi tarike se follow nahi kar paate ho aap jo badi badi pita bajao high level ke hote aap unko follow karne lagte toh aapko batana chahunga aap jo history hai aur social fauji hai aap use zyada se zyada follow karne ki koshish kare aap light 12th ki kitaben unhe achi tarike se padhne ki koshish kare usme chote chote question accha accha khol khol ke bataya jata hai toh yani ke andar ke jo badi kitaben hoti hain unmen thoda alag se batane lagte toh aap choti baaton ko bhulne ke karan aap achi tarike se upsc clean karne me thoda waqt lag jata hai toh isse main aapko batana chahunga ki aap like se lekar 12 tak ki class ka syllabus jo hota hai aap itihas aur samajik shastra zyada padhne ki koshish kare aap isi ko padh lijiye aur aapne jo pic hai aap zyada bhi nahi main aapse boloonga ki aap light ka jo yah hai na isse twelfth ki kitab hai inhen aap 2 ghante tak padh lijiye bus pandey 2 ghante padhne se aapka bahut hi accha mind ho jaega achi tarike se question samajh me aayenge aap failen ki kitab padhoge toh aap sabse acche dikhne lagaoge aapka jo question hoga aap acche phataphat bataoge toh aap kuch alag hai mere andar

नमस्कार सर मैं आपको बताना चाहूंगा आपका सवाल है लगभग हर व्यक्ति जो यूपीएससी की तैयारी करता

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  247
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!