एक डेडिकेटेड UPSC आकांक्षी और कैज़ूअल UPSC आकांक्षी के बीच क्या अंतर होता है?...


user

Dr. KRISHNA CHANDRA

Rehabilitation Psychologist

1:07
Play

Likes  161  Dislikes    views  10044
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr. Guddy Kumari

UPSC Coach / Ph.d

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नास्तिक आपका प्रश्न 11 डेडीकेटेड यूपीएससी आकांक्षी और रांची और कैजुअल यूपी से आकांक्षा के बीच क्या अंतर होता है एक डेडीकेटेड मतलब होता है कि एक समर्पित है ट्रेन से आने की तैयारी करता है आकांक्षी और जो एक आराम से तैयारी करता है तो दोनों में यह अंतर है कि जो डेडीकेटेड है अपने काम के प्रति वह अपनी मंजिल को जल्दी हासिल करेगा अर्जुन कैजुअल है तो उसके भी कैजुअली अपने काम करने का तरीका उसका भी हो सकता है अपना स्टाइल अपना तरीका हो सकता है लेकिन उसमें थोड़े से टाइम टेकिंग उसका प्रिपरेशन होगा धन्यवाद

nastik aapka prashna 11 dediketed upsc akankshi aur ranchi aur Casual up se aakansha ke beech kya antar hota hai ek dediketed matlab hota hai ki ek samarpit hai train se aane ki taiyari karta hai akankshi aur jo ek aaram se taiyari karta hai toh dono me yah antar hai ki jo dediketed hai apne kaam ke prati vaah apni manjil ko jaldi hasil karega arjun Casual hai toh uske bhi kaijuali apne kaam karne ka tarika uska bhi ho sakta hai apna style apna tarika ho sakta hai lekin usme thode se time taking uska preparation hoga dhanyavad

नास्तिक आपका प्रश्न 11 डेडीकेटेड यूपीएससी आकांक्षी और रांची और कैजुअल यूपी से आकांक्षा के

Romanized Version
Likes  298  Dislikes    views  5424
WhatsApp_icon
user

Liyakat Ali Gazi

Motivational Speaker, Life Coach & Soft Skills Trainer 📲 9956269300

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चित्र डेडीकेटेड यूपीएससी आकांक्षी और काजोल यूपीएससी आकांक्षी सिर्फ यही फर्क होता है कि उनकी प्लानिंग को ले करके उनकी पढ़ने की टाइम टेबल को ले करके स्टडी को लेकर के और उनके सीरियस में सीरियस पन को लेकर के सबसे महंगी होती है गंभीरता से जेपीएससी कैंडिडेट जो है वह गंभीर रुप से तैयार ही नहीं करता इसको गंभीरता से नहीं लेता और डेडिकेटेड यूपी कैंडिडेट के लिए सिर्फ और सिर्फ उसकी दुनिया उसकी जिंदगी और उसका सब कुछ यूपीएससी की तैयारी प्रिपरेशन उसमें क्वालीफाई हो ना उसमें सफलता पाना ही होता है उसके बाहर उसकी दुनिया ही नहीं होती

chitra dediketed upsc akankshi aur kajol upsc akankshi sirf yahi fark hota hai ki unki planning ko le karke unki padhne ki time table ko le karke study ko lekar ke aur unke serious me serious pan ko lekar ke sabse mehengi hoti hai gambhirta se JPSC candidate jo hai vaah gambhir roop se taiyar hi nahi karta isko gambhirta se nahi leta aur dedicated up candidate ke liye sirf aur sirf uski duniya uski zindagi aur uska sab kuch upsc ki taiyari preparation usme qualify ho na usme safalta paana hi hota hai uske bahar uski duniya hi nahi hoti

चित्र डेडीकेटेड यूपीएससी आकांक्षी और काजोल यूपीएससी आकांक्षी सिर्फ यही फर्क होता है कि उनक

Romanized Version
Likes  552  Dislikes    views  6596
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अरे साहब ने टेस्ट किया कि एक डेडीकेटेड यूपीएससी आकांक्षी कैंडिडेट मध्य प्रदेश यूपीएससी के बीच क्या अंतर है यूपीएससी आकांक्षी महादेश में आएगा तो अपना वह करेगा अगर उसको कोई हो नहीं अगर माल्या उसको आयोग यूपीएससी एक्जाम क्रैक नहीं कर पाएगा कैजुअल बैलेंस को कोई फर्क नहीं पड़ेगा लेकिन जो वास्तव में डेडीकेटेड है वह अपना तैयारी करेगा अगर वह सफल होगा तो उसे बहुत निराशा होगी और वह अगली अटेंड के लिए प्रयास करेगा जिसमें उसको सफलता मिलने की काफी संभावना रहेगी कैजुअल हमेशा कैजुअल रहता है जो डेडीकेटेड है वह एक बार में नहीं तो दूसरी बार दूसरी बार में रहती है सुबह के बारे में चौथी बार सफलता मिलेगी और किसी कारण से मुस्कुरा में सफलता न मिले तो उसके बराबर के एग्जाम में उसको सफलता जो डेडीकेटेड कैंडिडेट है उसको मिलने की प्रबल संभावना रहेगी नहीं परसेंट में कहीं ना कहीं उसको उसके लिए ज्ञान के हिसाब से सफलता अवश्य मिलेगी

are saheb ne test kiya ki ek dediketed upsc akankshi candidate madhya pradesh upsc ke beech kya antar hai upsc akankshi mahaadesh me aayega toh apna vaah karega agar usko koi ho nahi agar malya usko aayog upsc exam crack nahi kar payega Casual balance ko koi fark nahi padega lekin jo vaastav me dediketed hai vaah apna taiyari karega agar vaah safal hoga toh use bahut nirasha hogi aur vaah agli attend ke liye prayas karega jisme usko safalta milne ki kaafi sambhavna rahegi Casual hamesha Casual rehta hai jo dediketed hai vaah ek baar me nahi toh dusri baar dusri baar me rehti hai subah ke bare me chauthi baar safalta milegi aur kisi karan se muskura me safalta na mile toh uske barabar ke exam me usko safalta jo dediketed candidate hai usko milne ki prabal sambhavna rahegi nahi percent me kahin na kahin usko uske liye gyaan ke hisab se safalta avashya milegi

अरे साहब ने टेस्ट किया कि एक डेडीकेटेड यूपीएससी आकांक्षी कैंडिडेट मध्य प्रदेश यूपीएससी के

Romanized Version
Likes  56  Dislikes    views  888
WhatsApp_icon
user

Vinod uttrakhand Tiwari

Author,You Tuber(Thoght Of सक्सेस)

0:28
Play

Likes  64  Dislikes    views  1156
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

2:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस प्रश्न में बड़ा स्पष्ट उत्तर छिपा ए डेडीकेटेड यूपीएससी आकांक्षी और एक कैजुअल डेडीकेटेड के अंदर डिफरेंट शैतान रोशन बाकी सब स्पष्ट हो जाएगा जो सिर्फ यूपीएससी का फॉर्म बनना चाहते हैं कुछ मेहनत की जरूरत नहीं है जिसने फ्रॉम अपनी पढ़ाई पर ध्यान दें और अपनी पढ़ाई की सफलता के आधार पर वह बढ़ता चला जाता है टोटका समर्पण उसका डेडीकेशन 95 होता रहा है कक्षा कक्षा चेकिंग होती जा रही केशन तो वह भी डाल सकता है क्योंकि वह भी गिरे क्वेश्चन है वह प्लेलिस्ट है जिसके अंदर क्या भाव समर्पण भाव होता है वह कैजुअल की तुलना में से स्टार्ट है आगे से कुछ कर गुजरना होता है देश के लिए क्या-क्या होता है देश के लिए कुछ नया करना समाज समुदाय के अंदर भाईचारा चमत्कार करना होता है वह डेडीकेटेड है आज के ठीक विपरीत कैजुअल नौकरी कर सकते हैं कि यंत्र दोनों के बीच की कितनी गहरी खाई क्या करता है

is prashna mein bada spasht uttar chhipa a dediketed upsc akankshi aur ek Casual dediketed ke andar different shaitaan roshan baki sab spasht ho jaega jo sirf upsc ka form banna chahte hain kuch mehnat ki zarurat nahi hai jisne from apni padhai par dhyan de aur apni padhai ki safalta ke aadhaar par vaah badhta chala jata hai totaka samarpan uska dedikeshan 95 hota raha hai kaksha kaksha checking hoti ja rahi kaisan toh vaah bhi daal sakta hai kyonki vaah bhi gire question hai vaah playlist hai jiske andar kya bhav samarpan bhav hota hai vaah Casual ki tulna mein se start hai aage se kuch kar gujarana hota hai desh ke liye kya kya hota hai desh ke liye kuch naya karna samaj samuday ke andar bhaichara chamatkar karna hota hai vaah dediketed hai aaj ke theek viprit Casual naukri kar sakte hain ki yantra dono ke beech ki kitni gehri khai kya karta hai

इस प्रश्न में बड़ा स्पष्ट उत्तर छिपा ए डेडीकेटेड यूपीएससी आकांक्षी और एक कैजुअल डेडीकेटेड

Romanized Version
Likes  68  Dislikes    views  1361
WhatsApp_icon
user

PRAMOD KUMAR

Retired IFS Officer | Advisor to TRIFED

4:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा है कि एचडी कैसे ड्यूटी से स्प्रे और एक अर्जेंट में क्या फर्क होता है तो यह तो फिर अपने आप नजर आ जाता है आपका मैं जो क्वेश्चन सभी प्रकार के क्वेश्चन आंसर क्वेश्चन पूछते हैं जिनका सब्जेक्ट क्या है कितना घंटा पढ़ना पड़ेगा क्या क्या खिताब है कितना सब्जेक्ट है यह तो कुछ ग्रुप का स्टूडेंट पुस्तकम् का जवाब देते कोई पूछते साहित्यकार कितना मिलेगा आंसू कमाई कितना है इसमें आपके क्या रहेगा एक आईएएस अफसर ऑडी कार खरीद कर सकता है नहीं आई आपस में कमाई ज्यादा है आईएस में कमाई ज्यादा है तो यह दोनो टाइम डिफरेंस देखता हूं तो मुझे पता चलता है को डेडिकेट लिए शेयर करना चाहता है कोई उसको पूछता है क्योंकि इतना कंप्यूटर टेबल जाम है इसका और इससे हर साल 800 कैंडिडेट्स उसमें अप्लाई करते हैं और 45 लाख से एग्जाम में बैठते और फाइनली एक हजार के आसपास से सक्सेसफुल होती है और पूरे प्रोसेस 1 साल का लगता है 1 साल में कोई भी एक चैन बीच में बनी मिस मिस हो गया तो दोबारा को नया लाइन शुरू करना पड़ता है 1 साल तो कंटीन्यूअसली अभी तो नहीं ना व्हाट्सएप 79 लावा उसको आपको देखने किताब जितने पूरा मेहनत आपका हो लगाके आप उसको मेहनत करना चाहिए और आपके जो जो उसके साथ में कमियां होती है कौन सी किताब चाहिए आंसर कैसे लिखनी चाहिए मैं इंटरव्यू में क्या क्या क्वेश्चन पूछना चाहिए यह सब चीजें तो एक फोटो को बड़ा आराम से उसके उसके बदले में जब आप उससे एक शाम उसमें कितना तनखा नाम कार का पहिया नहीं बंगला का इंतजार डेकोरेटर कैसा होता है इसमें यह बड़ा काजू वाला पुरुष होते मुझे लगता है कि उसे मूर्त रूप देने का इंटेंशन नहीं रखते हैं और

aapne poocha hai ki hd kaise duty se spray aur ek urgent mein kya fark hota hai toh yah toh phir apne aap nazar aa jata hai aapka main jo question sabhi prakar ke question answer question poochhte hai jinka subject kya hai kitna ghanta padhna padega kya kya khitaab hai kitna subject hai yah toh kuch group ka student pustakam ka jawab dete koi poochhte sahityakaar kitna milega aasu kamai kitna hai isme aapke kya rahega ek IAS officer audi car kharid kar sakta hai nahi I aapas mein kamai zyada hai ias mein kamai zyada hai toh yah dono time difference dekhta hoon toh mujhe pata chalta hai ko dedicate liye share karna chahta hai koi usko poochta hai kyonki itna computer table jam hai iska aur isse har saal 800 candidates usme apply karte hai aur 45 lakh se exam mein baithate aur finally ek hazaar ke aaspass se successful hoti hai aur poore process 1 saal ka lagta hai 1 saal mein koi bhi ek chain beech mein bani miss miss ho gaya toh dobara ko naya line shuru karna padta hai 1 saal toh kantinyuasali abhi toh nahi na whatsapp 79 lava usko aapko dekhne kitab jitne pura mehnat aapka ho lagake aap usko mehnat karna chahiye aur aapke jo jo uske saath mein kamiyan hoti hai kaun si kitab chahiye answer kaise likhani chahiye main interview mein kya kya question poochna chahiye yah sab cheezen toh ek photo ko bada aaram se uske uske badle mein jab aap usse ek shaam usme kitna tankha naam car ka pahiya nahi bangla ka intejar decorator kaisa hota hai isme yah bada kaaju vala purush hote mujhe lagta hai ki use murt roop dene ka intention nahi rakhte hai aur

आपने पूछा है कि एचडी कैसे ड्यूटी से स्प्रे और एक अर्जेंट में क्या फर्क होता है तो यह तो फि

Romanized Version
Likes  368  Dislikes    views  4356
WhatsApp_icon
play
user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

0:54

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे जैसे क्या कपड़े स्नेक डेडीकेटेड यूपीएससी आकांक्षी और कैजुअल यूपीएससी आकांक्षी के बीच में क्या अंतर होता है तो यहां पर आपको बताना चाहेंगे कि दोनों के बीच में सबसे बड़ा अंतर सोच का है एक बस चाहता है कि वह आईएएस अधिकारी बन जाए और दूसरा मानता है और पूरे प्रयास करता है कि वह आईएएस ऑफिसर बनकर दिखाएं यहां पर एक पूरी डेडीकेशन के साथ पूरे वेल के साथ अपनी तैयारी करना पढ़ाई करना और अपने कार्यों के प्रति सजग रहना एक डेडीकेटेड यूपीएससी अब चंडीगढ़ जो होता है काशी होता है उसकी निशानी है जबकि कैजुअल आकांक्षी जो होता है उसका ऐसा रहता है कि अगर हो गया तो ठीक है नहीं हुआ तो कुछ और कर लेंगे और कुछ नहीं हुआ तो कुछ और कर लेंगे वह अपने लक्ष्य के प्रति भोजन समर्पित नहीं होता धन्यवाद

dekhe jaise kya kapde snake dediketed upsc akankshi aur Casual upsc akankshi ke beech mein kya antar hota hai toh yahan par aapko bataana chahenge ki dono ke beech mein sabse bada antar soch ka hai ek bus chahta hai ki vaah IAS adhikari ban jaaye aur doosra manata hai aur poore prayas karta hai ki vaah IAS officer bankar dikhaen yahan par ek puri dedikeshan ke saath poore well ke saath apni taiyari karna padhai karna aur apne karyo ke prati sajag rehna ek dediketed upsc ab chandigarh jo hota hai kashi hota hai uski nishani hai jabki Casual akankshi jo hota hai uska aisa rehta hai ki agar ho gaya toh theek hai nahi hua toh kuch aur kar lenge aur kuch nahi hua toh kuch aur kar lenge vaah apne lakshya ke prati bhojan samarpit nahi hota dhanyavad

देखे जैसे क्या कपड़े स्नेक डेडीकेटेड यूपीएससी आकांक्षी और कैजुअल यूपीएससी आकांक्षी के बीच

Romanized Version
Likes  385  Dislikes    views  5542
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

2:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक डेडीकेटेड कैसी आकांक्षी और कैजुअली के आकांक्षी की यात्रा डिग्गी पुरी तरह से समर्पण की भावना है जिसका लक्ष्य है कि यूपीएससी कन्फ़र्म ही करना है क्लियर ही करना यानी कि पूर्ण समर्पण की भावना कांगसिया मतलब है तो सिर्फ सोचता है कि भाई यूपी कर लूंगा सिर्फ सपने बनता है और जब मेहनत करने के बाद आती तो भूल जाता हूं दूसरा कैजुअल कैजुअल का मतलब है कि कभी यूपीएससी कर लिया कभी एसएससी कर लिया मतलब उसने ल निर्धारित नहीं कर पा रहा हूं क्या कुछ लोगों ने जब रिजल्ट बीएससी का कितने पास होते तो होते ही कर लेते हैं कभी दूसरे की यह अपने आप को डिसाइड ही नहीं कर पाता है कि क्या तो कुल मिलाकर हमेशा तत्पर है डेडीकेटेड का मतलब पूरा समर्पण यूपीसी को और यही व्यक्ति ही सफल होते आकांक्षी हर चौराहे पर हर गली मोहल्ले मिले हर कोचिंग सेंटर के बाहर मिलेंगे कोचिंग सेंटर भी ज्वाइन कर रहे होते हैं लेकिन फिर भी आकांक्षा और के जुर्म में भूल भी गई होती तो कुल मिलाकर डेडीकेटेड जो होते हैं वह चीज होते होते हैं और कैजुअल जो होते हैं वह 10:00 पर्सेंट

ek dediketed kaisi akankshi aur kaijuali ke akankshi ki yatra diggi puri tarah se samarpan ki bhavna hai jiska lakshya hai ki upsc confirm hi karna hai clear hi karna yani ki purn samarpan ki bhavna kangasiya matlab hai toh sirf sochta hai ki bhai up kar lunga sirf sapne banta hai aur jab mehnat karne ke baad aati toh bhool jata hoon doosra Casual Casual ka matlab hai ki kabhi upsc kar liya kabhi ssc kar liya matlab usne l nirdharit nahi kar paa raha hoon kya kuch logo ne jab result bsc ka kitne paas hote toh hote hi kar lete hain kabhi dusre ki yah apne aap ko decide hi nahi kar pata hai ki kya toh kul milakar hamesha tatpar hai dediketed ka matlab pura samarpan UPC ko aur yahi vyakti hi safal hote akankshi har chauraahe par har gali mohalle mile har coaching center ke bahar milenge coaching center bhi join kar rahe hote hain lekin phir bhi aakansha aur ke jurm mein bhool bhi gayi hoti toh kul milakar dediketed jo hote hain vaah cheez hote hote hain aur Casual jo hote hain vaah 10 00 percent

एक डेडीकेटेड कैसी आकांक्षी और कैजुअली के आकांक्षी की यात्रा डिग्गी पुरी तरह से समर्पण की भ

Romanized Version
Likes  214  Dislikes    views  2727
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!