IAS अधिकारी कनन गोपीनाथन के इस्तीफे के बारे में आपका क्या विचार है?...


user

Dr. P. N. Jha

TOPPERS IAS app. Sr.Facuty, IAS Coaching.

4:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गोपीनाथन जी ने स्वीकार किया कई बार कई चैनलों पर और कई आज न्यूज़ पोर्टल ऊपर की बड़ी मशीन तो सेना ने आज तक का सफर तय किया और वह चाहते थे कि जो सेवा उनको मिली उसके बाद से वह जनकल्याण कर सके उनकी नजर में जो सबसे महत्वपूर्ण ताकत है वह है जनतंत्र और जनतंत्र के द्वारा ही वह सभी समस्याओं का हल खोजते हैं सरकार के जो कदम थे लगातार जो सरकार ने जो शो एक्टिव एक्शंस लिए जितेंद्र गाता 370 की समाप्ति और ट्रिपल तलाक ट्रिपल तलाक पर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की जो आज के दिन के कायदे कानून किया जाना और महिलाओं के हित में ट्रिपल तलाक ले जाना तलाक को मौके तलाक को अपराध घोषित करना उसके खिलाफ है रजिस्ट्री कराना इस तरह की जो बातें थी जहां पर कार्य करते हुए देखा आपकी यह बिना जनता की सलाह के बिना जनता से राय मशविरा कर किया गया है और अब जल्दी से लिया जाना फैसला था और वह फैसला कुल मिलाकर राजनीतिक फैसला था इसमें यह जनहित के करीब नहीं था हमको लगा कि आज स्थिति ऐसी बनी हुई है कि सरकार कैसे तंत्र विकसित है कि इसमें कोई अधिकारी या कोई व्यक्ति अपनी बात को रखना भी चाहे तुझको नहीं रख सकता सोशल 4th शोषण का माहौल है जो एक प्रकार की जो सोचना है वह आदान-प्रदान स्वतंत्र सूचनाओं का आदान-प्रदान संभव नहीं सरकार ने इस प्रकार से प्रयोजन की एक ही कोई व्यक्ति अपनी बातों को लेकर किसी मंच पर नहीं रह सकता उसके खिलाफ कार्रवाई की जाती है उसमें एक प्रकार का आप डिप्रेशन का बहुत डिवेलप हो रहा है इन सब तमाम परिस्थितियों को ध्यान में रखकर गोपीनाथन ने कहा कि मैं एक दायरे में रहकर अपनी बात को मन की बात को रत्नासागर सक्षम नहीं हूं तुम मुझे एक डायरी से निकल जाना चाहिए मैं जनहित में कार्य कर सकूं सरकार के अलावा भी बहुत सारी चीजें हैं जिससे आम जनता को रोजगार स्वास्थ्य और तमाम प्रकार की जुओं को उपलब्ध करा पाएंगे सरकार कितना कुछ कर पाएगी और सरकार नहीं कर पाने की स्थिति में भी यह बेसिक मूल्य संविधान के जो है उसका अनुपालन नहीं कर रही है उस को सम्मान नहीं दे रही है मेरा यह कर्तव्य बनता है कि मैं संविधान के रक्षार्थ आगे आए हैं आगे आ जाओ और यह प्रयास दिखाओ कि मैप सर इसलिए अपने निजी हित के लिए मैं आयुष की नौकरी नहीं करता मैं समाज के हित के लिए आयुष की नौकरी करता और समाज के हित करने से मुझे कोई नहीं रोक सकता न सरकार रोक सकती सरकार शोषणकारी सरकार इस संबंध में उन्होंने इस भाव से उन्होंने इस सेवा को छोरा और वह जनता के बीच काफी लोकप्रिय है नीला को मनोनीत सेवा प्रदान की काफी महत्वपूर्ण है उन्होंने कोस्टल बेल्ट में आज उनके काफी वॉलिंटियर्स जो बोतल के कार्यों को अंजाम दे रहे हैं वह मशवरा समाज उनका बहुत बड़ा फल और है स्वरोजगार को बढ़ावा दे रहे हैं इसके अतिरिक्त वह कई जगह पर के नीति के जरिए रोजगार उपलब्ध करवा रहे हैं शिक्षा और जागरूकता को बढ़ाते हुए और जनतांत्रिक मूल्यों को आगे लाकर समाज को समझाने सिखाने और जागरूक करने का जोगीरा उन्होंने उठाया उसके लिए उन्हें आईएएस की नौकरी से मुक्त होना स्वाभाविक ही था और वह मुक्त हो गए और वह पूर्ण रूप से अपने व अपने इंटरेस्ट के आधार पर अपनी पोजीशन है उसका घर पर वह समाज कार्य कर रहे हैं और वह उसमें काफी पसंद भी है

gopinathan ji ne sweekar kiya kai baar kai channelon par aur kai aaj news portal upar ki badi machine toh sena ne aaj tak ka safar tay kiya aur vaah chahte the ki jo seva unko mili uske baad se vaah jankalyan kar sake unki nazar me jo sabse mahatvapurna takat hai vaah hai jantantra aur jantantra ke dwara hi vaah sabhi samasyaon ka hal khojate hain sarkar ke jo kadam the lagatar jo sarkar ne jo show active ekshans liye jitendra gaata 370 ki samapti aur triple talak triple talak par muslim personal law board ki jo aaj ke din ke kayade kanoon kiya jana aur mahilaon ke hit me triple talak le jana talak ko mauke talak ko apradh ghoshit karna uske khilaf hai registry krana is tarah ki jo batein thi jaha par karya karte hue dekha aapki yah bina janta ki salah ke bina janta se rai mashvira kar kiya gaya hai aur ab jaldi se liya jana faisla tha aur vaah faisla kul milakar raajnitik faisla tha isme yah janhit ke kareeb nahi tha hamko laga ki aaj sthiti aisi bani hui hai ki sarkar kaise tantra viksit hai ki isme koi adhikari ya koi vyakti apni baat ko rakhna bhi chahen tujhko nahi rakh sakta social 4th shoshan ka maahaul hai jo ek prakar ki jo sochna hai vaah aadaan pradan swatantra suchanaon ka aadaan pradan sambhav nahi sarkar ne is prakar se prayojan ki ek hi koi vyakti apni baaton ko lekar kisi manch par nahi reh sakta uske khilaf karyawahi ki jaati hai usme ek prakar ka aap depression ka bahut develop ho raha hai in sab tamaam paristhitiyon ko dhyan me rakhakar gopinathan ne kaha ki main ek daayre me rahkar apni baat ko man ki baat ko ratnasagar saksham nahi hoon tum mujhe ek diary se nikal jana chahiye main janhit me karya kar sakun sarkar ke alava bhi bahut saari cheezen hain jisse aam janta ko rojgar swasthya aur tamaam prakar ki juon ko uplabdh kara payenge sarkar kitna kuch kar payegi aur sarkar nahi kar paane ki sthiti me bhi yah basic mulya samvidhan ke jo hai uska anupaalan nahi kar rahi hai us ko sammaan nahi de rahi hai mera yah kartavya banta hai ki main samvidhan ke raksharth aage aaye hain aage aa jao aur yah prayas dikhaao ki map sir isliye apne niji hit ke liye main ayush ki naukri nahi karta main samaj ke hit ke liye ayush ki naukri karta aur samaj ke hit karne se mujhe koi nahi rok sakta na sarkar rok sakti sarkar shoshankari sarkar is sambandh me unhone is bhav se unhone is seva ko chhora aur vaah janta ke beech kaafi lokpriya hai neela ko manonit seva pradan ki kaafi mahatvapurna hai unhone kostal belt me aaj unke kaafi valintiyars jo bottle ke karyo ko anjaam de rahe hain vaah mashwara samaj unka bahut bada fal aur hai swarojgar ko badhawa de rahe hain iske atirikt vaah kai jagah par ke niti ke jariye rojgar uplabdh karva rahe hain shiksha aur jagrukta ko badhate hue aur janatantrik mulyon ko aage lakar samaj ko samjhane sikhane aur jagruk karne ka jogira unhone uthaya uske liye unhe IAS ki naukri se mukt hona swabhavik hi tha aur vaah mukt ho gaye aur vaah purn roop se apne va apne interest ke aadhar par apni position hai uska ghar par vaah samaj karya kar rahe hain aur vaah usme kaafi pasand bhi hai

गोपीनाथन जी ने स्वीकार किया कई बार कई चैनलों पर और कई आज न्यूज़ पोर्टल ऊपर की बड़ी मशीन त

Romanized Version
Likes  175  Dislikes    views  2763
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr J B Tiwari

Chairman and Managing Director

1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं डॉक्टर जे पी तिवारी आपको प्रणाम करता हूं और आप का सवाल है कि आईएस कन्नन गोपीनाथन किस तरह के बारे में आपका क्या विचार है बता दो आईएस गोपीनाथ ने कलेक्टर से सिलवासा में और मेरी फैक्ट्री भी सिलवासा में है तो जहां तक मुझे मालूम है उनका के ईमानदार ऑफिसर से चला दो थोड़ा सा लेट हो गए थे कम्युनिस्ट विचारधारा के कारण और उन्होंने उसको एक रूप ले लिया क्योंकि वह पॉलिटिक्स ना चाहते थे और मुझे लगता है कि अब आने वाले समय में केरल से चुनाव लड़ेंगे गश्ती पर कुछ लेवल तक तो मैं ठीक मानता हूं कुछ करेक्शन तो वहां पर जरूर है और कैप्शन के केस में आवाज उठाना सबकी जिम्मेदारी है उन्होंने ऐसा किया भी लेकिन उसके बाद और जिन्होंने कश्मीर की बात शुरू कर दी उसके बाद उन्होंने सब दूसरी बात करती है तुमको नहीं करना चाहिए था कि कश्मीर भारत का एक अभिन्न अंग है 370 हटाने वहां लॉयन ऑर्डर में लाइफ में कुछ फर्क नहीं पड़ा है तो मुझे लगता है कि उनको पूरी ईमानदारी से काम की बात करनी चाहिए थी पोलिटिकल नहीं

main doctor je p tiwari aapko pranam karta hoon aur aap ka sawaal hai ki ias kannan gopinathan kis tarah ke bare me aapka kya vichar hai bata do ias gopinath ne collector se silvasa me aur meri factory bhi silvasa me hai toh jaha tak mujhe maloom hai unka ke imaandaar officer se chala do thoda sa late ho gaye the communist vichardhara ke karan aur unhone usko ek roop le liya kyonki vaah politics na chahte the aur mujhe lagta hai ki ab aane waale samay me kerala se chunav ladenge gashti par kuch level tak toh main theek maanta hoon kuch correction toh wahan par zaroor hai aur Caption ke case me awaaz uthana sabki jimmedari hai unhone aisa kiya bhi lekin uske baad aur jinhone kashmir ki baat shuru kar di uske baad unhone sab dusri baat karti hai tumko nahi karna chahiye tha ki kashmir bharat ka ek abhinn ang hai 370 hatane wahan layan order me life me kuch fark nahi pada hai toh mujhe lagta hai ki unko puri imaandaari se kaam ki baat karni chahiye thi political nahi

मैं डॉक्टर जे पी तिवारी आपको प्रणाम करता हूं और आप का सवाल है कि आईएस कन्नन गोपीनाथन किस त

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  632
WhatsApp_icon
play
user

PRAMOD KUMAR

Retired IFS Officer | Advisor to TRIFED

4:02

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपने पूछा है कि आईएएस अधिकारी का नाम गोपीनाथ की इस्तेमा के बारे में मेरा क्या विचार है उसका पर्सनल तक बत्ती का सवाल है मैं देना नहीं चाहता था बट मैं यहां थोड़ा मेरे हिसाब से मैं देख रहा हूं कि जिनको मैं जानता हूं खाना को सुनाते को ब्राइट ऑफिशल है वह बीआईटी मिश्रा एग्रोटेक्नोलॉजी मेष राशि को मैंने पासवर्ड है और उनको मैंने एक व्यक्तिगत मेरा रिलेशन कराओ बैचमेट है उसी हिसाब से मैं उनको जानता हूं और 20 जून को फॉलो करता था वह मुझे फॉलो करते थे तो हमारे बीच में अच्छा आदान-प्रदान होता जॉब इन का यूपी का डर था उनका पोस्टिंग कहां से आदमी जवाब में कहा कलेक्टर के रूप में तो उन्होंने कुछ काम करते थे फर्स्ट का साथ मिलकर वह मेरे पास भेजते थे मैं उनको सजेशन देता था और उनका बड़ा अच्छा तालमेल था और अभी कुछ दिन से सुना है कि उन्होंने स्तर कायम है तो और उसके बारे में तुम्हें कुछ कहना उचित नहीं समझता हूं एक संपूर्ण व्यक्तिगत है लेकिन मैंने तो क्या सोचकर उन्होंने इसके लिए उनके ऊपर डिपेंड करता है वो तो मेरे विचार में जवाब सिविल सिर्फ मारते हो तो आप एक कोड ऑफ कंडक्ट द्वारा परिचालित के ऑल इंडिया सर्विस में हो आपका ज्योति कालकूट से हो बिल्कुल well-defined उसको आप को फॉलो करना पड़ता है उसी दायरे में रहकर आप काम करेंगे सिस्टम्स का अंदर में रहते हुए आप रिबेलियन ग्रुप में रह नहीं पाएंगे क्योंकि हमारे पास तो पहले पब्लिक पब्लिक सर्वेंट के हिसाब से आप श्रीमान किया जाता है आप ही मुश्किल रिजल्ट बीकॉम में कमेंट पॉलिसीज एंड प्रोग्रामस महल एंट्री टिकट 22222 सिस्टम में उनको सेवा करें उनका दिमाग में ऐसा कुछ आया किस परिस्थिति में उचित आया उसको भी कह पाना मेरे लिए मुश्किल है और सिविल सर्विस के लिए जवाब सिस्टम बंधु रे तू तो आप कभी सिस्टम का कष्ट में जाकर आप आवाज नहीं उठाना चाहिए आवाज उठाना चाहते हो तो आप सभी सब कुछ और नहीं पड़ेगा एक बार सरपंच को जिसका सर्वेंट हो उसका काम कैसे करोगे आप लोगों के सर्वेंट हो आपको सरकार का सर्वेंट हो तो इसको तो मैं भी बनूंगा ने और जरूरत सिस्टम का दर में सुधार ला सकते हो सिस्टम के अंदर में रहते हुए आपके पॉजिटिव सोच के साथ बहुत सारी कमियां भी रहता है आपका महसूस करते हो बहुत सारे का प्रश्न आएगा कि हां क्योंकि आप कमेंट का एक और मेरे पति के रूप में काम करते हो लोगों का सरकार के बीच में कड़ी के रूप में काम करते हो आपके बड़ा इंपॉर्टेंट रोल रे तो उसे निभाने के टाइम में ऐसी इंपोर्टर है उसे सिटी पोस्ट में आपको पर बहुत प्रकार का प्रश्न आएगा उसी प्रेशर को आप कैसे संवेदनशील होकर सनसिटी भोकर इन इंटेलिजेंस टो पॉजिटिव सोचो सुहानी कत्ल करने के लिए आपको नौकरी छोड़ना पड़ेगा और बाहर जाकर पूछे कुछ भी कर सकते हो तो एक बार अच्छा काम कर लेते हैं उसके बारे में कोई दो राय नहीं है मैं जानता था मैं उनको मेरे पर्सनल में उनको जानता हूं और मैं आपको बोला है कि ट्यूटर में वह मुझे फॉलो करते थे आज सी चीज का आदान-प्रदान करते थे कि सब की दुआ का काम हो पाएगा उनका वहां जाकर किसी से हमको दिया है और किस परिस्थिति में रिश्ता का निर्णय लिया है

namaskar aapne poocha hai ki IAS adhikari ka naam gopinath ki istema ke bare mein mera kya vichar hai uska personal tak batti ka sawaal hai dena nahi chahta tha but main yahan thoda mere hisab se main dekh raha hoon ki jinako main jaanta hoon khana ko sunaate ko bright official hai vaah BIT mishra egroteknolaji mesh rashi ko maine password hai aur unko maine ek vyaktigat mera relation karao baichmet hai usi hisab se main unko jaanta hoon aur 20 june ko follow karta tha vaah mujhe follow karte the toh hamare beech mein accha aadaan pradan hota job in ka up ka dar tha unka posting kahaan se aadmi jawab mein kaha collector ke roop mein toh unhone kuch kaam karte the first ka saath milkar vaah mere paas bhejate the main unko suggestion deta tha aur unka bada accha talmel tha aur abhi kuch din se suna hai ki unhone sthar kayam hai toh aur uske bare mein tumhe kuch kehna uchit nahi samajhata hoon ek sampurna vyaktigat hai lekin maine toh kya sochkar unhone iske liye unke upar depend karta hai vo toh mere vichar mein jawab civil sirf marte ho toh aap ek code of conduct dwara parichalit ke all india service mein ho aapka jyoti kalkut se ho bilkul well defined usko aap ko follow karna padta hai usi daayre mein rahkar aap kaam karenge sistams ka andar mein rehte hue aap rebellion group mein reh nahi payenge kyonki hamare paas toh pehle public public servant ke hisab se aap shriman kiya jata hai aap hi mushkil result B.COM mein comment policies and programas mahal entry ticket 22222 system mein unko seva kare unka dimag mein aisa kuch aaya kis paristithi mein uchit aaya usko bhi keh paana mere liye mushkil hai aur civil service ke liye jawab system bandhu ray tu toh aap kabhi system ka kasht mein jaakar aap awaaz nahi uthana chahiye awaaz uthana chahte ho toh aap sabhi sab kuch aur nahi padega ek baar sarpanch ko jiska servant ho uska kaise karoge aap logo ke servant ho aapko sarkar ka servant ho toh isko toh main bhi banunga ne aur zarurat system ka dar mein sudhaar la sakte ho system ke andar mein rehte hue aapke positive soch ke saath bahut saree kamiyan bhi rehta hai aapka mehsus karte ho bahut saare ka prashna aayega ki haan kyonki aap comment ka ek aur mere pati ke roop mein kaam karte ho logo ka sarkar ke beech mein kadi ke roop mein kaam karte ho aapke bada important roll ray toh use nibhane ke time mein aisi importer hai use city post mein aapko par bahut prakar ka prashna aayega usi pressure ko aap kaise samvedansheel hokar suncity bhokar in intelligence toe positive socho suhani katl karne ke liye aapko naukri chhodna padega aur bahar jaakar pooche kuch bhi kar sakte ho toh ek baar accha kaam kar lete hain uske bare mein koi do rai nahi hai jaanta tha main unko mere personal mein unko jaanta hoon aur main aapko bola hai ki tuitor mein vaah mujhe follow karte the aaj si cheez ka aadaan pradan karte the ki sab ki dua ka kaam ho payega unka wahan jaakar kisi se hamko diya hai aur kis paristithi mein rishta ka nirnay liya hai

नमस्कार आपने पूछा है कि आईएएस अधिकारी का नाम गोपीनाथ की इस्तेमा के बारे में मेरा क्या विचा

Romanized Version
Likes  347  Dislikes    views  4065
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

2:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आईएएस अधिकारी कन्नन गोपीनाथन जी के इस्तीफे की विषय में यह उनका पहुंची उचित और नहीं मानते चलूंगा स्वाभिमान भरा निर्णय था कि सब जाए लेकिन स्वाभिमान ना जाए आप अगर परेशान में रहकर किसी कार्य को करेंगे अनैतिक रूप से कार्य करने के लिए बाध्य होंगे जिम्मेदारियों से आप को बंद किया जाएगा या आपकी अधिकार सिंह नहीं करते हैं सीमाएं बांधी जाएंगी और आपको आपकी ईमानदारी को और आप की सच्चाई को डॉग डिलीट किया जाने की प्रक्रिया चलेगी तो कोई भी अधिकारी कैसी क्वेश्चन कर सकता है और कैसे हो अपने स्वाभिमान को खो सकता है एक नहीं अनेक अधिकारियों ने इन्हीं बातों से प्रभावित होकर इस्तीफा दिया और एक चीज बताओ अगर अच्छी सरकार होती है तो किसी भी कीमत पर अपने अच्छे अधिकारियों को नहीं होती है अच्छे कार्यों को होने वाली है उसे इस्तीफा देने वाली हम को बर्खास्त करने वाली सरकार तो कभी अच्छी हो ही नहीं सकती मुझे एक बात बताइए कैसा होगा जो अपने शिष्यों को अपने से दूर करेगा हु इज मनुष्य अध्यापक से भ्रम बस गलतफहमी के कारण अलग होता है कभी भी अपनी सिस्को अच्छी शिक्षकों का बिल से उसको अपने से अलग नहीं करता बहुत से दूर हो गया लेकिन अलग नहीं करता क्यों क्योंकि आदर्श से कुछ विद्यार्थी से जुड़े हैं इसी तरह 1 लीटर से ज्यादा टिप्पणी करना मैं उचित नहीं समझा लूंगा क्योंकि यह सब जानते हैं कि उनके इस्तीफे के पीछे क्या कारण है

IAS adhikari kannan gopinathan ji ke isteefe ki vishay mein yah unka pahuchi uchit aur nahi maante chalunga swabhiman bhara nirnay tha ki sab jaaye lekin swabhiman na jaaye aap agar pareshan mein rahkar kisi karya ko karenge anaitik roop se karya karne ke liye badhya honge jimmedariyon se aap ko band kiya jaega ya aapki adhikaar Singh nahi karte hai simaye bandhi jayegi aur aapko aapki imaandaari ko aur aap ki sacchai ko dog delete kiya jaane ki prakriya chalegi toh koi bhi adhikari kaisi question kar sakta hai aur kaise ho apne swabhiman ko kho sakta hai ek nahi anek adhikaariyo ne inhin baaton se prabhavit hokar istifa diya aur ek cheez batao agar achi sarkar hoti hai toh kisi bhi kimat par apne acche adhikaariyo ko nahi hoti hai acche karyo ko hone wali hai use istifa dene wali hum ko barkhast karne wali sarkar toh kabhi achi ho hi nahi sakti mujhe ek baat bataye kaisa hoga jo apne shishyon ko apne se dur karega hoon is manushya adhyapak se bharam bus galatfahamee ke karan alag hota hai kabhi bhi apni Cisco achi shikshakon ka bill se usko apne se alag nahi karta bahut se dur ho gaya lekin alag nahi karta kyon kyonki adarsh se kuch vidyarthi se jude hai isi tarah 1 litre se zyada tippani karna main uchit nahi samjha lunga kyonki yah sab jante hai ki unke isteefe ke peeche kya karan hai

आईएएस अधिकारी कन्नन गोपीनाथन जी के इस्तीफे की विषय में यह उनका पहुंची उचित और नहीं मानते च

Romanized Version
Likes  53  Dislikes    views  1038
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!