भारत में IAS अधिकारियों का सामाजिक जीवन कैसा होता है?...


user

Anil Ramola

Yoga Instructor | Engineer

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी शादी करेगा करेगा

abhi shaadi karega karega

अभी शादी करेगा करेगा

Romanized Version
Likes  363  Dislikes    views  3165
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Ansh jalandra

Motivational speaker

0:27
Play

Likes  115  Dislikes    views  2016
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे सोशल लाइफ आयुष जैसा आदमी के नीचे सोता है उसके बाद मतलब मांगने दिनभर जमके काम किया है आप जरूर रहेगा कि आपको जानते हैं आपका अगर आप सोशल नहीं रखना चाहते हैं दूसरा ऑप्शन बिल्कुल आपके पास होता है अगर आप प्राइवेसी रहना चाहते आपके बहुत काम करता है बहुत बिजी रहता है उसके बाद बचे हुए समय में आप पढ़ाई करना चाहते हैं आप अपने परिवार के साथ रहना चाहते हैं आप सोचिए एक्टिव रहना चाहते हैं

mujhe social life ayush jaisa aadmi ke niche sota hai uske baad matlab mangne dinbhar jamake kaam kiya hai aap zaroor rahega ki aapko jante hai aapka agar aap social nahi rakhna chahte hai doosra option bilkul aapke paas hota hai agar aap privacy rehna chahte aapke bahut kaam karta hai bahut busy rehta hai uske baad bache hue samay mein aap padhai karna chahte hai aap apne parivar ke saath rehna chahte hai aap sochiye active rehna chahte hain

मुझे सोशल लाइफ आयुष जैसा आदमी के नीचे सोता है उसके बाद मतलब मांगने दिनभर जमके काम किया है

Romanized Version
Likes  218  Dislikes    views  4162
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फायरफॉक्स उसकी सोशल लाइफ ऐसे जैसे किसी की भी सोशल लाइफ होती है इसी तरह होती है जिनके ऊपर जो काम होते हैं ज्यादा एक मॉडल को लेकर आ से उनका होता है जिसे भी जितना मिक्स पीलीभीत सोसाइटी ज्यादातर हमने देखा नहीं है कि वह सोशल लाइफ रखते स्तर के कब्ज आईएस ऑफिसर नहीं होते हैं कहीं भी किसी शादी में किसी पार्टी में या किसी के बारे में जान सकते हैं लेकिन एक व्यक्ति के साथ सोच समझ कर करना अगर कोई आपको लगता है कि कोई दर्द से कोटेशन वाले लोग हैं सोसाइटी के या को लगता है कि कोई मतलब से आपको इनवाइट कर रहा है कोई आपसे कोई फेवरेट करने वाला है वहां पर जाहिर सी बात है कि आप नहीं जाएंगे नहीं जाना चाहिए और अगर कोई ऑफिस ज्यादा मिल जाते हैं जो उनका फायदा उठा सकते हैं फॉर इंपॉर्टेंट पोजीशन वाले ऑफिस नोट गुड इन कभी होता है कि हमें तो बड़े बने हुए हैं और बड़े अपराइट बने हुए जबरदस्त शाम को हम सोशल लाइफ में किसी के साथ बाहर में बैठे ड्रिंक कर रहे हैं फिर ज्यादा ड्रिंक कर रहे और फिर हम अजीब से बिहेव कर रहे तो भी नहीं हो सकता

firefox uski social life aise jaise kisi ki bhi social life hoti hai isi tarah hoti hai jinke upar jo kaam hote hain zyada ek model ko lekar aa se unka hota hai jise bhi jitna mix pilibhit society jyadatar humne dekha nahi hai ki vaah social life rakhte sthar ke kabz ias officer nahi hote hain kahin bhi kisi shadi mein kisi party mein ya kisi ke bare mein jaan sakte hain lekin ek vyakti ke saath soch samajh kar karna agar koi aapko lagta hai ki koi dard se quotation waale log hain society ke ya ko lagta hai ki koi matlab se aapko invite kar raha hai koi aapse koi favourite karne vala hai wahan par jaahir si baat hai ki aap nahi jaenge nahi jana chahiye aur agar koi office zyada mil jaate hain jo unka fayda utha sakte hain for important position waale office note good in kabhi hota hai ki hamein toh bade bane hue hain aur bade upright bane hue jabardast shaam ko hum social life mein kisi ke saath bahar mein baithe drink kar rahe hain phir zyada drink kar rahe aur phir hum ajib se behave kar rahe toh bhi nahi ho sakta

फायरफॉक्स उसकी सोशल लाइफ ऐसे जैसे किसी की भी सोशल लाइफ होती है इसी तरह होती है जिनके ऊपर ज

Romanized Version
Likes  77  Dislikes    views  2572
WhatsApp_icon
play
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

3:52

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वास्तव में एक आईएएस अधिकारी का सामाजिक जीवन समान प्राणियों की तरह होता है वह भी परिवार है उनका भी परिवार है वह भी समाज की एक प्राणी है एक विद्वान हैं 1 का क्वेश्चन प्रशासनिक है प्रशासनिक अधिकारी ने यह सब कुछ समाज में उनको सम्मान देता है लेकिन दुर्भाग्य है हमारे देश के राजनीतिक नेता उन्हें केवल एक व्यक्ति समझते और जब कि देश उनके प्रयासों से चलता है लेकिन राजनीतिक राजनीतिक जो नेता है कूटनीति राजनीति का प्रयोग करते हुए एक अच्छे से अच्छे इंसान को मैं अधिकारी नहीं दूंगा इंसानियत से रिमूव कर देते हैं बहुत दर्द होता है जब एक व्यक्ति कठोर परिश्रम करके इस पद को हासिल करता है तो पूरा देश पूरा समाज उनकी तरफ देखता कि अब देश में कुछ बदलाव होगा लेकिन हमारे देश की कूटनीतिक राजनीतिक नेता उन को कुचल देते हैं तो उनको उनका सामाजिक जीवन कैसा हो सकता है जैसे दूध में मक्खी कई उदाहरण है हरियाणा की आईएएस अधिकारी का एग्जांपल दुनिया जानती है जम्मू एंड कश्मीर की आईएएस अधिकारी के साथ भी क्या हुआ अभी वर्तमान में भारत में बहुत से आईएएस अधिकारियों ने इस पद से त्यागपत्र देकर दूसरी सीमा में जाना उचित समझा वह घबरा गए उन्हें चिंतन करना चाहिए कैंसिल होना चाहिए उन्हें यह सूचना चाहिए विचार करना चाहिए कि समस्त सरकारी पूरी जीवन नहीं रहती तक आने बदलती रहती हैं लेकिन आपको जो सर मिलाइए बदलने वाला नहीं है आप अपने कर्तव्यों और अधिकारों से अपनी सेवाओं से दुनिया को बदल दीजिए इन सरकारों का क्या है यह तो आज है कल नहीं तो आप उनके आगे दिख गए इसलिए सामाजिक जीवन की अगर बात करो तो संघर्ष करो जियो और जीने दो और दूसरों को हिम्मत दो और यह साबित करो कि वास्तव में आप एक देशभक्त हैं इन नेताओं की तरह ने जो नारे लगाते हैं बल्कि अपने कर्तव्य से जैसे हमारे देश के सैनिक सीमा पर अपना कर्तव्य निभाते हैं और इन अधिकारियों का करतब अपनी ड्यूटी को निभाते हुए देश सेवा करने का उनको जो अवसर मिलता है वो जज्बे के साथ सब को पराजित करते हुए समाज में उनको आदर्श प्रस्तुत करना है जीवन तो बहुत अच्छा होता है

vaastav mein ek IAS adhikari ka samajik jeevan saman praniyo ki tarah hota hai vaah bhi parivar hai unka bhi parivar hai vaah bhi samaj ki ek prani hai ek vidhwaan hain 1 ka question prashaasnik hai prashaasnik adhikari ne yah sab kuch samaj mein unko sammaan deta hai lekin durbhagya hai hamare desh ke raajnitik neta unhe keval ek vyakti samajhte aur jab ki desh unke prayaso se chalta hai lekin raajnitik raajnitik jo neta hai kootneeti raajneeti ka prayog karte hue ek acche se acche insaan ko main adhikari nahi dunga insaniyat se remove kar dete hain bahut dard hota hai jab ek vyakti kathor parishram karke is pad ko hasil karta hai toh pura desh pura samaj unki taraf dekhta ki ab desh mein kuch badlav hoga lekin hamare desh ki kutanitik raajnitik neta un ko kuchal dete hain toh unko unka samajik jeevan kaisa ho sakta hai jaise doodh mein makkhi kai udaharan hai haryana ki IAS adhikari ka example duniya jaanti hai jammu and kashmir ki IAS adhikari ke saath bhi kya hua abhi vartaman mein bharat mein bahut se IAS adhikaariyo ne is pad se tyagpatra dekar dusri seema mein jana uchit samjha vaah ghabara gaye unhe chintan karna chahiye cancel hona chahiye unhe yah soochna chahiye vichar karna chahiye ki samast sarkari puri jeevan nahi rehti tak aane badalti rehti hain lekin aapko jo sir milaiye badalne vala nahi hai aap apne kartavyon aur adhikaaro se apni sewaon se duniya ko badal dijiye in sarkaro ka kya hai yah toh aaj hai kal nahi toh aap unke aage dikh gaye isliye samajik jeevan ki agar baat karo toh sangharsh karo jio aur jeene do aur dusro ko himmat do aur yah saabit karo ki vaastav mein aap ek deshbhakt hain in netaon ki tarah ne jo nare lagate hain balki apne kartavya se jaise hamare desh ke sainik seema par apna kartavya nibhate hain aur in adhikaariyo ka kartab apni duty ko nibhate hue desh seva karne ka unko jo avsar milta hai vo jajbe ke saath sab ko parajit karte hue samaj mein unko adarsh prastut karna hai jeevan toh bahut accha hota hai

वास्तव में एक आईएएस अधिकारी का सामाजिक जीवन समान प्राणियों की तरह होता है वह भी परिवार ह

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  1355
WhatsApp_icon
user

MonuTiwari

Little Businessman And Motivational Teacher

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है भारत में आईएएस अधिकारी का सामाजिक जीवन कैसा होता है हम आपको बता दे रहे हैं अगर भारत में कोई भी आईएएस अधिकारी है उसका सामाजिक दिमाग समानता और अच्छा होता है क्योंकि एक ऐसा दर्जा एक ऐसी नौकरी अधिकारी नौकरी है जो भारत की सबसे ऊंची सामान्य नौकरी है यह भारत की सबसे ऊंची नौकरी है आईएएस अधिकारी जो बन जाता है वह भारत की टॉप हंड्रेड नौकरी में से एक नौकरी के आता है आईएएस अधिकारी का सामाजिक जीवन भरत क्या स्थानों पर देश के लिए समय अच्छा होता है क्योंकि आईएएस अधिकारी बनना आसान काम नहीं है जो आईएएस अधिकारी बन जाता है समझ लीजिए और शिक्षित है और वह समझदार है आईएएस अधिकारी बनने का दर्जा प्राप्त हुआ है अधिकारी बनना और इसको निभाना बहुत ही मुश्किल काम है लेकिन को पूरा करता है वह समझ लीजिए कि जगजीत गया है तो अधिकारी का समय होता है

aapka prashna hai bharat me IAS adhikari ka samajik jeevan kaisa hota hai hum aapko bata de rahe hain agar bharat me koi bhi IAS adhikari hai uska samajik dimag samanata aur accha hota hai kyonki ek aisa darja ek aisi naukri adhikari naukri hai jo bharat ki sabse unchi samanya naukri hai yah bharat ki sabse unchi naukri hai IAS adhikari jo ban jata hai vaah bharat ki top hundred naukri me se ek naukri ke aata hai IAS adhikari ka samajik jeevan Bharat kya sthano par desh ke liye samay accha hota hai kyonki IAS adhikari banna aasaan kaam nahi hai jo IAS adhikari ban jata hai samajh lijiye aur shikshit hai aur vaah samajhdar hai IAS adhikari banne ka darja prapt hua hai adhikari banna aur isko nibhana bahut hi mushkil kaam hai lekin ko pura karta hai vaah samajh lijiye ki jagjeet gaya hai toh adhikari ka samay hota hai

आपका प्रश्न है भारत में आईएएस अधिकारी का सामाजिक जीवन कैसा होता है हम आपको बता दे रहे हैं

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  195
WhatsApp_icon
user

Sarita Prasad

House Wife And Study

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में आईएएस अधिकारियों का सामाजिक जीवन बहुत ही सरल होता है और वह दूसरों के जिम्मेदारियों को अच्छी तरह से निभाता है और हमें ऐसे ही निभाना चाहिए क्योंकि आईएस जो अधिकारी होती है वह बहुत ही उच्च पद होती है उसकी और हमें इसलिए बनाया जाता है आईएएस अधिकारी क्योंकि हम किसी को इस पोजीशन के अंदर ऐसा सेवा करने का मौका मिलता है जो हमें किसी भी जॉब में इस तरह का सेवा करने का मौका नहीं मिलता है हमें हर किसी के दुख दर्द को समझना उनकी गहराई तक जाना और उनकी बेझिझक बेशुमार उनको हेल्प करना और उनकी मदद करना यही एक आईएएस अधिकारी की जीवन का कर्तव्य

bharat me IAS adhikaariyo ka samajik jeevan bahut hi saral hota hai aur vaah dusro ke jimmedariyon ko achi tarah se nibhata hai aur hamein aise hi nibhana chahiye kyonki ias jo adhikari hoti hai vaah bahut hi ucch pad hoti hai uski aur hamein isliye banaya jata hai IAS adhikari kyonki hum kisi ko is position ke andar aisa seva karne ka mauka milta hai jo hamein kisi bhi job me is tarah ka seva karne ka mauka nahi milta hai hamein har kisi ke dukh dard ko samajhna unki gehrai tak jana aur unki bejhijhak beshumar unko help karna aur unki madad karna yahi ek IAS adhikari ki jeevan ka kartavya

भारत में आईएएस अधिकारियों का सामाजिक जीवन बहुत ही सरल होता है और वह दूसरों के जिम्मेदारियो

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  52
WhatsApp_icon
user

Rihan Shah

I want to become An IAS Officer (Love Realationship Full Experience)

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिक जीवन में 2018 में समाज के हिसाब से अपने देश के संविधान के साथ एक भारत के ऐसे नागरिक जिम्मेदार होने के नाते चलते हैं क्योंकि सुबह इतनी बड़ी पोस्ट लेकर बैठे हैं और अगर वे अपने समाज के प्रति उनका सम्मान उनके तो आप जो है एक अधिकारी होने के रूप में जो कुछ नहीं कर पा रहे हैं और दूसरे देश को अपने से कोई बेनिफिट

lick jeevan mein 2018 mein samaj ke hisab se apne desh ke samvidhan ke saath ek bharat ke aise nagarik zimmedar hone ke naate chalte hain kyonki subah itni badi post lekar baithe hain aur agar ve apne samaj ke prati unka sammaan unke toh aap jo hai ek adhikari hone ke roop mein jo kuch nahi kar paa rahe hain aur dusre desh ko apne se koi benefit

लिक जीवन में 2018 में समाज के हिसाब से अपने देश के संविधान के साथ एक भारत के ऐसे नागरिक जि

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  735
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में सामाजिक आईएसओ का जीवन बहुत ही अच्छा होता कि नौकरी मिलती है जिसके तहत उनको जनता की जनता की सेवा करते रहते

bharat mein samajik iso ka jeevan bahut hi accha hota ki naukri milti hai jiske tahat unko janta ki janta ki seva karte rehte

भारत में सामाजिक आईएसओ का जीवन बहुत ही अच्छा होता कि नौकरी मिलती है जिसके तहत उनको जनता की

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  107
WhatsApp_icon
user

Poonamgupta

housewife

0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में आईएएस अधिकारियों का साम्राज्य एवं कई उतार-चढ़ाव से भरपूर है उनके जीवन में अनेक प्रकार की मुसीबत आती रहती है और वहां उनका सामना करते रहते हैं

bharat mein IAS adhikaariyo ka samrajya evam kai utar chadhav se bharpur hai unke jeevan mein anek prakar ki musibat aati rehti hai aur wahan unka samana karte rehte hain

भारत में आईएएस अधिकारियों का साम्राज्य एवं कई उतार-चढ़ाव से भरपूर है उनके जीवन में अनेक प्

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  176
WhatsApp_icon
user

Pragti Tripathi

UPSC Aspirant

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में आईएएस अधिकारियों को सामाजिक जीवन नॉर्मल ही होता है ज्यादा नहीं होता उनको समाज में इज्जत मान सम्मान की नजरों से देखा जाता है बिकॉज़ पहले वही लड़का उसी समाज के एक बोले तो जैसे कि वही समाज उसका मजाक उड़ाता है बट वो अगर एक आईएएस अधिकारी बनता है तो वहीं समाज उसको इज्जत मान सम्मान देता है और हर जगह उसको आदर मान सम्मान से हर जगह उसको बुलाता है तो फर्क सिर्फ इतना है कि पहले वह सिंपल का तो सही समय उसकी बुराइयां करती थी और जब वह एक आईएएस ऑफिसर में ट्रांसफर हो जाता है तो वही समाज उसकी इज्जत मान सम्मान करता है तो यहां पर एक बात यह होती है कि हमारे समाज में ना लोगों की वैल्यू कम और जो हमारा स्टेटस है उसकी वैल्यू ज्यादा होती है

bharat me IAS adhikaariyo ko samajik jeevan normal hi hota hai zyada nahi hota unko samaj me izzat maan sammaan ki nazro se dekha jata hai because pehle wahi ladka usi samaj ke ek bole toh jaise ki wahi samaj uska mazak udata hai but vo agar ek IAS adhikari banta hai toh wahi samaj usko izzat maan sammaan deta hai aur har jagah usko aadar maan sammaan se har jagah usko bulata hai toh fark sirf itna hai ki pehle vaah simple ka toh sahi samay uski buraiyan karti thi aur jab vaah ek IAS officer me transfer ho jata hai toh wahi samaj uski izzat maan sammaan karta hai toh yahan par ek baat yah hoti hai ki hamare samaj me na logo ki value kam aur jo hamara status hai uski value zyada hoti hai

भारत में आईएएस अधिकारियों को सामाजिक जीवन नॉर्मल ही होता है ज्यादा नहीं होता उनको समाज में

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  73
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!