एक सरकारी अधिकारी बनने के बाद आपका सबसे यादगार अनुभव कौन सा रहा है?...


user

Anil Ramola

Yoga Instructor | Engineer

0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सरकारी अधिकारी बनने के बाद यात्रा रहता है वह है कि आप जब अपनी सीट पर बैठते हैं उसका याद करके उसको बहुत ही गौरव का अनुभव

sarkari adhikari banne ke baad yatra rehta hai vaah hai ki aap jab apni seat par baithate hain uska yaad karke usko bahut hi gaurav ka anubhav

सरकारी अधिकारी बनने के बाद यात्रा रहता है वह है कि आप जब अपनी सीट पर बैठते हैं उसका याद कर

Romanized Version
Likes  421  Dislikes    views  4119
WhatsApp_icon
14 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Ansh jalandra

Motivational speaker

0:20
Play

Likes  132  Dislikes    views  2272
WhatsApp_icon
user

Dinesh Mishra

Theosophists | Accountant

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक सरकारी अधिकारी बनने के बाद आपका सबसे यादगार अनुभव कौनसा रहा जिस दिन आप सरकारी अधिकारी बने उस दिन आपने जो ज्वाइन किया वह सबसे बड़ा यादगार का अनुभव हुआ करता है

ek sarkari adhikari banne ke baad aapka sabse yaadgaar anubhav kaunsa raha jis din aap sarkari adhikari bane us din aapne jo join kiya vaah sabse bada yaadgaar ka anubhav hua karta hai

एक सरकारी अधिकारी बनने के बाद आपका सबसे यादगार अनुभव कौनसा रहा जिस दिन आप सरकारी अधिकारी ब

Romanized Version
Likes  214  Dislikes    views  1502
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

0:24
Play

Likes  582  Dislikes    views  6479
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गेम्स दो पल शेयर करूंगा एक तो जब ग्राउंड लेवल पर मुझे एड्रेस दिया मुझे मैप्स नहीं था इसमें के आने से पहले बाद में डीसी विच आईएस में आने के बाद मुझे काफी ऐसे लोगों को सेवा करने का मौका मिला जो बहुत गरीब थे बहुत ज्यादा पिछड़े वर्ग में सेक्स और वह मेरे ऑफिस आते थे किसी काम के लिए तो बहुत सालों से नहीं बात तो सबसे हसीन तब मिलती थी जब कोई बहुत पुराना उलझा मामला किसी गांव का जमीन का किसी भी चैनल का या किसी भी चीज को मैं और मेरी टीम उस को सॉल्व कर पाते थे उस गरीब आदमी को एक मिल जाता था जो उसकी को मिल जाती थी जबकि को पॉलिटिकल strong-willed जो सोसाइटी के खिलाफ है उसके तू मेरी तनी और उसमें तो मैं उसमें मुझे सेटिस्फेक्शन मिलाकर पॉलिटिकल एंड पैरंट्स की थी फिर भी हमने गरीब की मदद की दूसरा मुझे सबसे ज्यादा कॉल मिला जब मैं राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से तब तो मुखर्जी साहब के मौजूदगी में मुझे स्पीच देने का मौका मिला ऑन दिखाओ कुछ आईएएस ऑफिसर ट्रेनिंग के बाद पालन करने गए तो 30 कोटी के करीब लोग थे और मैं उन्हें उनको रेंट करते हुए मैंने 3:00 4 मिनट की स्पीच बिफोर र फ्रंट ऑफ इंडिया धोनी और बाद में उन्होंने मेरी स्पीच में से कुछ बात भी की अपनी स्पीच में यह सबसे बड़ी बात

games do pal share karunga ek toh jab ground level par mujhe address diya mujhe maps nahi tha isme ke aane se pehle baad mein dc which ias mein aane ke baad mujhe kafi aise logon ko seva karne ka mauka mila jo bahut garib the bahut zyada pichade varg mein sex aur vaah mere office aate the kisi kaam ke liye toh bahut salon se nahi baat toh sabse Haseen tab milti thi jab koi bahut purana uljha maamla kisi gaon ka jameen ka kisi bhi channel ka ya kisi bhi cheez ko main aur meri team us ko solve kar paate the us garib aadmi ko ek mil jata tha jo uski ko mil jaati thi jabki ko political strong willed jo society ke khilaf hai uske tu meri tani aur usmein toh main usmein mujhe setisfekshan milakar political and Parents ki thi phir bhi humne garib ki madad ki doosra mujhe sabse zyada call mila jab main rashtrapati pranab mukherjee se tab toh mukherjee saheb ke maujudgi mein mujhe speech dene ka mauka mila on dikhaao kuch IAS officer training ke baad palan karne gaye toh 30 koti ke kareeb log the aur main unhe unko rent karte hue maine 3 00 4 minute ki speech before r front of india dhoni aur baad mein unhone meri speech mein se kuch baat bhi ki apni speech mein yah sabse badi baat

गेम्स दो पल शेयर करूंगा एक तो जब ग्राउंड लेवल पर मुझे एड्रेस दिया मुझे मैप्स नहीं था इसमें

Romanized Version
Likes  68  Dislikes    views  2201
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आयुष में मुझे बहुत सारे अनुभव है इस नौकरी में ऐसा लगा कि गंगासागर मेला होता है मगर हजार लोग आते हैं रोज तो गंगासागर के टाइम में 27 दिन में छोटी सी जगह है जहां पर बहुत सारे लोग कंसंट्रेट होते हैं वहां पर हमें नहीं होता है रोज सेक्स नहीं है आपको समुद्र का स्तर पर जाना है सुबह ड्यूटी पर था वहां पर बहुत सारे लोग मर सकते हैं उस टाइम कंटिनयसली मैंने और हमारी पूरी टीम में तीन-चार दिन तक कंटीन्यूसली हम लोगों ने काम किया मतलब हम सो नहीं रहे हैं खाली रहे हैं कुछ बिल्कुल कड़ी धूप में खड़े गर्मी में हम लोग काम कर रहे हैं और पूरा काम कर सकते हैं ईश्वर की कृपा दुर्घटना नहीं हुई अब आराम से लोगों को निकाल पाए वहां से होती है तब आती है 24

aayush mein mujhe bahut saare anubhav hai is naukri mein aisa laga ki gangasagar mela hota hai magar hazaar log aate hain roj toh gangasagar ke time mein 27 din mein choti si jagah hai jahan par bahut saare log concentrate hote hain wahan par hamein nahi hota hai roj sex nahi hai aapko samudra ka sthar par jana hai subah duty par tha wahan par bahut saare log mar sakte hain us time kantinayasali maine aur hamari puri team mein teen char din tak kantinyusali hum logon ne kaam kiya matlab hum so nahi rahe hain khaali rahe hain kuch bilkul kadi dhoop mein khade garmi mein hum log kaam kar rahe hain aur pura kaam kar sakte hain ishwar ki kripa durghatna nahi hui ab aaram se logon ko nikaal paye wahan se hoti hai tab aati hai 24

आयुष में मुझे बहुत सारे अनुभव है इस नौकरी में ऐसा लगा कि गंगासागर मेला होता है मगर हजार लो

Romanized Version
Likes  229  Dislikes    views  4419
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक सरकारी अधिकारी बनने के बाद आपका सबसे यादगार अनुभव कंसराय यादगार अनुभव से यही रहता है कि पहले हम जो थे उससे अच्छा है कि अभी ऊपर वाले ने पोजीशन हमें अच्छी चीज का घमंड नहीं करना चाहिए नहीं करना चाहिए कि मान सम्मान खुशी का है हमारा नहीं तुम्हारा अपना नहीं रहता है उस टाइम पर जो अपना व्यवहार है वह हमें काम में लगता है ठीक है अगले शुभ हो धन्यवाद

ek sarkari adhikari banne ke baad aapka sabse yaadgaar anubhav kansray yaadgaar anubhav se yahi rehta hai ki pehle hum jo the usse accha hai ki abhi upar waale ne position hamein achi cheez ka ghamand nahi karna chahiye nahi karna chahiye ki maan sammaan khushi ka hai hamara nahi tumhara apna nahi rehta hai us time par jo apna vyavhar hai vaah hamein kaam mein lagta hai theek hai agle shubha ho dhanyavad

एक सरकारी अधिकारी बनने के बाद आपका सबसे यादगार अनुभव कंसराय यादगार अनुभव से यही रहता है कि

Romanized Version
Likes  397  Dislikes    views  4334
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

4:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने तो इस सरकारी अधिकारी बनने के बाद आपका सबसे यादगार अनुभव कौन सा मैं बताना चाहूंगा मेरे यादगार अनुभव की बात कहना चाहूंगा मेरा प्रमोशन हुआ था और प्रमोशन होने के बाद मैं मुंबई के लॉ कॉलेज नियर पॉइंट वाइज प्रोफेसर यंग था और चुकी यंग होने के कारण परिवार मिला जो था वह नाच इंडिया में रहता था मेरा ट्रांसफर वेस्ट इंडिया में हो गया था ऐसी स्थिति में टाटा का जो है वह कॉलेज पहुंचा और सब्जेक्ट को बड़े ध्यान से पढ़ा था बड़ी लगन चलाता और पानी के साथ मना विद्या ने जोधा को करीब 2:00 बजे कॉलेज बंद हो जाता था लेकिन मैं 6:00 बजे तक बॉडी बनाने का था और यकीन मनी कॉलेज में मेरे विद्यार्थी जो थे वह पढ़ते रहते थे वह क्लास नहीं छोड़ते थे जबकि कॉलेज में बच्चे टिकते नहीं है लेकिन बुक क्लास नहीं छोड़ते थे मन करता है बेटा आप का सब्जेक्ट हो गया है अब आप घर जा सकते नहीं सर आप हमारी प्रॉब्लम कि मेरी डेट तक कॉलेज में रहने की शिकायत प्रिंसिपल महोदय तक पहुंची और उनसे काव्या के कोडिंग में कोई घटना घट सकती है उसके लिए जिम्मेदार कौन होगा उन्होंने मराठी भाषा में मुझे समझाने की कोशिश की तो हिंदी कम बोल पाते थे और मराठी में और इंग्लिश में बात करें बाबा सोमनाथ क्यों जीवन खराब करता है हिंदी में बोले क्यों मेरा दिल हमारा जीवन खराब करता है अरे बाबा आपको क्या मांगता है आप क्या कहता है हमने एक ही बात करेंगे सनम कुछ नहीं चाहता है हम जहां हैं हम ठीक हैं आपको हम से क्या परेशानी होता है तो मेरी टोन पर वह मुस्कुराने लगे और कहने लगे ओमप्रकाश तुम जो हो वह जितने नहीं और जो दिखते हो उसे कोई पहचान नहीं पाता अब बोलो क्या बोलना चाहते हैं मैं उनका ट्रांसलेशन हिंदी अनुवाद मनी माना जाएगा प्रणामी हुआ बाबा तुम हमारी नौकरी मत लो आप बोलो क्या चाहते तो मैंने कर सर मैं जो चाय क्या हुआ आप करेंगे नहीं और अगर आप कर सकते हैं तो मैं आपको बताऊं आप बोलिए हम करेंगे मैंने कहा सर में जहां से आया हूं वही मेरा ट्रांसफर कर दीजिए आपका बड़ा उपकार होगा क्योंकि मूल कारण जो मुझे ट्रांसफर करके भेजा गया था वह मेरे मन मेरे जीवन में बहुत बड़ा मेरे लिए दुख का कारण था उन्होंने कहा हम आपको ट्रांसफर कर देंगे आपके यहां से हट जाइए वहां ज्वाइन की है उसके बाद कॉलेज में क्लास सेकंड की गैरकानूनी काम नहीं किया मैं मान के चलता हूं मेरी जिंदगी की राहों में तूने मुझे अपनी प्रैक्टिस का परिचय दिया अब से क्या हुआ मेरे अंदर एक मानवीय भावना ने जन्म दिया लेकिन सरकार ने अपने कितना सहयोग किया अगर भविष्य में कभी मैं पढ़ता हूं तो मुझे अपने स्टाफ के साथ अपने बच्चों के साथ बड़ी तो बड़ी नम्रता का परिचय देना चाहिए

apne toh is sarkari adhikari banne ke baad aapka sabse yaadgaar anubhav kaun sa main bataana chahunga mere yaadgaar anubhav ki baat kehna chahunga mera promotion hua tha aur promotion hone ke baad main mumbai ke law college near point wise professor young tha aur chuki young hone ke karan parivar mila jo tha vaah nach india mein rehta tha mera transfer west india mein ho gaya tha aisi sthiti mein tata ka jo hai vaah college pahuncha aur subject ko bade dhyan se padha tha badi lagan chalata aur paani ke saath mana vidya ne jodha ko kareeb 2 00 baje college band ho jata tha lekin main 6 00 baje tak body banaane ka tha aur yakin money college mein mere vidyarthi jo the vaah padhte rehte the vaah class nahi chodte the jabki college mein bacche tikte nahi hai lekin book class nahi chodte the man karta hai beta aap ka subject ho gaya hai ab aap ghar ja sakte nahi sir aap hamari problem ki meri date tak college mein rehne ki shikayat principal mahoday tak pahunchi aur unse kavya ke coding mein koi ghatna ghat sakti hai uske liye zimmedar kaun hoga unhone marathi bhasha mein mujhe samjhaane ki koshish ki toh hindi kam bol paate the aur marathi mein aur english mein baat karen baba somnath kyon jeevan kharaab karta hai hindi mein bole kyon mera dil hamara jeevan kharaab karta hai arre baba aapko kya mangta hai aap kya kahata hai humne ek hi baat karenge sanam kuch nahi chahta hai hum jahan hain hum theek hain aapko hum se kya pareshani hota hai toh meri tone par vaah muskurane lage aur kehne lage omprakash tum jo ho vaah jitne nahi aur jo dikhte ho use koi pehchaan nahi pata ab bolo kya bolna chahte hain main unka translation hindi anuvad money mana jaega pranami hua baba tum hamari naukri mat lo aap bolo kya chahte toh maine kar sir main jo chai kya hua aap karenge nahi aur agar aap kar sakte hain toh main aapko bataun aap bolie hum karenge maine kaha sir mein jahan se aaya hoon wahi mera transfer kar dijiye aapka bada upkar hoga kyonki mul karan jo mujhe transfer karke bheja gaya tha vaah mere man mere jeevan mein bahut bada mere liye dukh ka karan tha unhone kaha hum aapko transfer kar denge aapke yahan se hut jaiye wahan join ki hai uske baad college mein class second ki gairkanuni kaam nahi kiya main maan ke chalta hoon meri zindagi ki rahon mein tune mujhe apni practice ka parichay diya ab se kya hua mere andar ek manviya bhavna ne janam diya lekin sarkar ne apne kitna sahyog kiya agar bhavishya mein kabhi main padhata hoon toh mujhe apne staff ke saath apne bacchon ke saath badi toh badi namrata ka parichay dena chahiye

अपने तो इस सरकारी अधिकारी बनने के बाद आपका सबसे यादगार अनुभव कौन सा मैं बताना चाहूंगा मेरे

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  1174
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सरकारी अधिकारी बनने के बाद आपका सबसे अच्छा रखो और एक सरकारी अधिकारी बनने के बाद जो हमें पद मिलता है उसके तहत समय सत्ता दिसावर इसलिए वह सरकारी पद और वह सकता का हमें बहुत ही प्रभाव पड़ता है दूसरे लोगों पर खासकर हमारे नीचे काम करते हैं कहीं उसके ऊपर वह समय मान देने लगते हैं इज्जत देने लगते हैं चलिए जो हमारे आसपास के जो लोग हैं वह भी इज्जत देने लगते हैं यह होता है सरकारी अधिकारी बनने के प्रभाव लेकिन वह तभी तक रहना है जब तक वह पद पर हम अधीनस्थ रहेगी जब तक वह पद पर बैठा रहता है उसके बाद फिर जब से हम से वही रह जाते हैं इसलिए हमें सरकारी पद का अधिकारी का दुरुपयोग नहीं करना है और सबको अपने नीचे के कर्मचारियों को भी हमें प्रेम सौहार्द से अपने साथ लेकर चलना है वही अधिकारी सफल कहलाता है और वही बहुत ही लोगों में लोकप्रिय होता है यही आप कारण होता है कि जब सब लोग साथ में मिलकर काम करते हैं तो वह सफलता बहुत अच्छी मिलती है और लोग एक विशेष करते हैं अपने अधिकारी को धन्यवाद ईश्वर दर्शन

sarkari adhikari banne ke baad aapka sabse accha rakho aur ek sarkari adhikari banne ke baad jo hamein pad milta hai uske tahat samay satta disavar isliye vaah sarkari pad aur vaah sakta ka hamein bahut hi prabhav padta hai dusre logon par khaskar hamare neeche kaam karte hain kahin uske upar vaah samay maan dene lagte hain izzat dene lagte hain chaliye jo hamare aaspass ke jo log hain vaah bhi izzat dene lagte hain yah hota hai sarkari adhikari banne ke prabhav lekin vaah tabhi tak rehna hai jab tak vaah pad par hum adhinasth rahegi jab tak vaah pad par baitha rehta hai uske baad phir jab se hum se wahi reh jaate hain isliye hamein sarkari pad ka adhikari ka durupyog nahi karna hai aur sabko apne neeche ke karmachariyon ko bhi hamein prem sauhaard se apne saath lekar chalna hai wahi adhikari safal kehlata hai aur wahi bahut hi logon mein lokpriya hota hai yahi aap karan hota hai ki jab sab log saath mein milkar kaam karte hain toh vaah safalta bahut achi milti hai aur log ek vishesh karte hain apne adhikari ko dhanyavad ishwar darshan

सरकारी अधिकारी बनने के बाद आपका सबसे अच्छा रखो और एक सरकारी अधिकारी बनने के बाद जो हमें प

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1410
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक सरकारी अधिकारी बनने के बाद अपना फर्स्ट डे होता है ना वह जिंदगी का फर्स्ट डे अपने को इतना याद रहता है हम गए पहले वहां पर स्टाफ को देखा एक के साथ फील करोगे आप आप कुछ काबिल हो

ek sarkari adhikari banne ke baad apna first day hota hai na vaah zindagi ka first day apne ko itna yaad rehta hai hum gaye pehle wahan par staff ko dekha ek ke saath feel karoge aap aap kuch kaabil ho

एक सरकारी अधिकारी बनने के बाद अपना फर्स्ट डे होता है ना वह जिंदगी का फर्स्ट डे अपने को इतन

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  81
WhatsApp_icon
user

Pooja mahajan

Work At Bank

1:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका क्वेश्चन है एक सरकारी अधिकारी बनने के बाद आपका सबसे ज्यादा अनुभव कौन सा रहा है देखिए भवन सरकारी जॉब लिखते हैं शिकारी ऑफिसर बनते हैं तो सबसे ज्यादा कर पल्लो पल्लो ता है जब उसने अपनी लाइफ जितनी सारी स्टोरी स्ट्रगल मेहनत के दम पर उस मुकाम तक पहुंचते हैं सबसे अनुभव और जाट पर्पल वही होता है जब हम अपनी मेहनत के दम पर और नौकरी हासिल करते हैं और जॉब मिलने के बाद हम उच्च अधिकारी बनते हैं जिस सीट का में सपना देखा होता है वही सीट पर बैठे एग्जांपल के तौर पर मैं कहूंगी इस पोस्ट को राम जैसे एक जज बनने के लिए काफी स्ट्रगल करना पड़ता है पर जब जज की कुर्सी पर बैठे स्कूल कर मैं हूं जिसकी कुछ भी प्रार्थी हूं मोहे मेरी जिंदगी का सबसे ज्यादा कर पल्ला कि मैंने इतनी सारी मेहनत इतनी सारी दिक्कतें की जगह हासिल किया बट आज मैं ऑफिसर बन गई हूं जज बन गई हूं तो मुझको पुराने दुख से भूल जाएंगे जब मैं यह सीट पर आकर काम करूंगी वह भी अपनी ईमानदारी निष्ठा और लगन के साथ धन्यवाद

namaskar aapka question hai ek sarkari adhikari banne ke baad aapka sabse zyada anubhav kaun sa raha hai dekhiye bhawan sarkari job likhte hain shikaaree officer bante hain toh sabse zyada kar pallo pallo ta hai jab usne apni life jitni saari story struggle mehnat ke dum par us mukam tak pahunchate hain sabse anubhav aur jaat purple wahi hota hai jab hum apni mehnat ke dum par aur naukri hasil karte hain aur job milne ke baad hum ucch adhikari bante hain jis seat ka me sapna dekha hota hai wahi seat par baithe example ke taur par main kahungi is post ko ram jaise ek judge banne ke liye kaafi struggle karna padta hai par jab judge ki kursi par baithe school kar main hoon jiski kuch bhi prarthi hoon mohe meri zindagi ka sabse zyada kar palla ki maine itni saari mehnat itni saari dikkaten ki jagah hasil kiya but aaj main officer ban gayi hoon judge ban gayi hoon toh mujhko purane dukh se bhool jaenge jab main yah seat par aakar kaam karungi vaah bhi apni imaandaari nishtha aur lagan ke saath dhanyavad

नमस्कार आपका क्वेश्चन है एक सरकारी अधिकारी बनने के बाद आपका सबसे ज्यादा अनुभव कौन सा रहा ह

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  56
WhatsApp_icon
user

नरसिंह भाटी"कवि नीशू बीकानेरी"।

समाजसेवी,कवि,राजनीतिज्ञ प्रदेश महामंत्री प्र.मंत्री मन की बात राजस्थान।

2:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मित्र बहुत अच्छा प्रश्न किया आपने तो मैं आपके साथ शेयर करता हूं कि वैसे तो कई मौके आए अपने आपको अच्छा बिल्कुल करने के लिए मगर वह सब विशेषता जब एक बार कोड इस केस में मैंने किसी बड़ी मछली बना डाला और नीचे से लेकर ऊपर के मिले अधिकारियों ने तमाम शिकायतों के बावजूद मेरे पर विश्वास किया और मेरे को अपना किया मंत्रालय स्तोत्र बताते हुए उसमें भी मेरा मूलभूत नहीं देखा ऑल अंतर मंत्रालय में भी मेरी पहचान बनी और उसके बाद एक समय ऐसा भी आया जब मेरे अच्छे काम के लिए मुझे प्रशस्ति पत्र मिला मेरे लकड़ी को सबसे बेस्ट परफॉर्मर का अवार्ड ओके मुझे सम्मानित किया सबसे अच्छा मुझे लगा कि मेरे विभाग में मुझ पर तनिक भी संदेह नहीं किया ईमानदारी प्रति कोई प्रश्न नहीं होता है वह पल मेरे लिए आज भी यादगार पल है बस यह क्या बताऊंगा अपना काम हमेशा पूर्ण ईमानदारी से 19 से कीजिए अब अपने आप अपनी उपस्थिति दर्ज करवा लेंगे आपको कुछ भी एक्स्ट्रा प्रेस करने की जरूरत नहीं पड़ेगी ओके तो यह थी मेरे ओके उस पल जब मैं लगे तो शेयर किए थैंक्यू शुक्रिया शुभ हुआ अगर आपका मित्र कभी नहीं सुनता नहीं

mitra bahut accha prashna kiya aapne toh main aapke saath share karta hoon ki waise toh kai mauke aaye apne aapko accha bilkul karne ke liye magar vaah sab visheshata jab ek baar code is case me maine kisi badi machli bana dala aur niche se lekar upar ke mile adhikaariyo ne tamaam shikayaton ke bawajud mere par vishwas kiya aur mere ko apna kiya mantralay stotra batatey hue usme bhi mera mulbhut nahi dekha all antar mantralay me bhi meri pehchaan bani aur uske baad ek samay aisa bhi aaya jab mere acche kaam ke liye mujhe prashasti patra mila mere lakdi ko sabse best performer ka award ok mujhe sammanit kiya sabse accha mujhe laga ki mere vibhag me mujhse par tanik bhi sandeh nahi kiya imaandaari prati koi prashna nahi hota hai vaah pal mere liye aaj bhi yaadgaar pal hai bus yah kya bataunga apna kaam hamesha purn imaandaari se 19 se kijiye ab apne aap apni upasthitee darj karva lenge aapko kuch bhi extra press karne ki zarurat nahi padegi ok toh yah thi mere ok us pal jab main lage toh share kiye thainkyu shukriya shubha hua agar aapka mitra kabhi nahi sunta nahi

मित्र बहुत अच्छा प्रश्न किया आपने तो मैं आपके साथ शेयर करता हूं कि वैसे तो कई मौके आए अपन

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  98
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक सरकारी अधिकारी बनने के बाद आपको सच्चे याद करूं रुको जरा एक सरकारी और सरकारी अधिकारी बनने के बाद सबसे पहले तो मैं यह कहूंगा कि यदि आपका सरकारी पद में अनुभव कम है आपका पद नीचा है आपको हेड कॉस्टेबल या कौन सलमा लिया जाए तो आपका अनुभव हो यादगार कौन सा रहेगा यदि आप कॉन्स्टेबल हैं तो आपका अधिकार केवल आपके नीचे जो पद हैं उन्हें पर रहकर यदि आपको हैड कॉस्टेबल मान लिया जाए तो तुझे भी आपके हेड लॉस आपके ऐड के नीचे कॉस्ट होगा आपका वह माना जाएगा सदियां पोर्नस्टार है यदि आप इस तरह दिया थ्री स्टार है यदि आप पिए तो आपका अनुभव जगामा लगाएगा ज्यादा मानने के बावजूद भी आपका अनुभव ज्यादा होगा क्योंकि आप इजाजत दोगे सूट एंड फायर सूट एंड फाइव हेड कॉन्स्टेबल नॉट चला आएगा उसमें भी आपकी इजाजत होगी फरक आप समझ लीजिए जवाब आपको मिल जाएगा धन्यवाद

ek sarkari adhikari banne ke baad aapko sacche yaad karun ruko zara ek sarkari aur sarkari adhikari banne ke baad sabse pehle toh main yah kahunga ki yadi aapka sarkari pad mein anubhav kam hai aapka pad nicha hai aapko head kastebal ya kaun salma liya jaaye toh aapka anubhav ho yaadgaar kaun sa rahega yadi aap constable hain toh aapka adhikaar keval aapke neeche jo pad hain unhe par rahkar yadi aapko had kastebal maan liya jaaye toh tujhe bhi aapke head loss aapke aid ke neeche cost hoga aapka vaah mana jaega sadiyan pornastar hai yadi aap is tarah diya three star hai yadi aap piyen toh aapka anubhav jagama lagaega zyada manane ke bawajud bhi aapka anubhav zyada hoga kyonki aap ijajat doge suit and fire suit and five head constable not chala aayega usmein bhi aapki ijajat hogi farak aap samajh lijiye jawab aapko mil jaega dhanyavad

एक सरकारी अधिकारी बनने के बाद आपको सच्चे याद करूं रुको जरा एक सरकारी और सरकारी अधिकारी बनन

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  126
WhatsApp_icon
play
user

Kesharram

Teacher

1:01

Likes  9  Dislikes    views  309
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!