play
user

Dr Devansh Yadav

Additional Deputy Commissioner at ADC Bordumsa, Government of Arunachal Pradesh

3:21

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देश में इस समय 3 से 4000 आईएएस ऑफिसर जिलों में राज्य सरकारों में और केंद्र सरकार में कार्यरत है और सभी अपनी अपनी जगह पर किसी ना किसी तरह से कंट्रीब्यूट करके देश के ग्रोथ में देश के विकास में अपना योगदान दे रहे हैं कुछ ऑफिसर सभी से ऐसे होते हैं जो कि लीक से हटकर काम करते हैं या फिर लोगों को समाज को इंवॉल्व करके ऐसे काम को कम समय में अंजाम देते हैं जिसको लोग सोचते हैं कि बहुत समय लगेगा या फिर करना बहुत मुश्किल है और इसीलिए उनको सम्मानित भी होते हैं वह फेमस भी होते हैं सब लोग उनको जानते भी हैं अगर हम पिछले कुछ एक-दो दिन साल की बात करें तो पिछले 2 साल में कुछ ऑफिसर थे जिन्होंने बहुत ही अच्छा अपने काम से सब सब जगह से सराहना बटोरी उसमें हमारी आशीष सिंह सर है जो कि इंदौर में मिली से पहले टीवी के इंचार्ज बहुत ही कम समय में डंपिंग ग्राउंड को पूरी तरह साफ करके वहां पर एक बार बनाया उनके नेतृत्व में इंदौर में 90 क्लीन सिटी ऑफ द कंट्री बना उसी तरह हमारे अवनीश चरण सर हैं जिन्होंने कि आपके ट्राईबल एरियाज में मोबाइल एंबुलेंस का कांसेप्ट शुरू किया जिससे कि जो प्रेग्नेंट महिला जो मरीज होते हैं उनको दूर दराज के इलाकों से भी कम से कम खर्चे में लेकर आया जा सके हॉस्पिटल में उनको सर मेडिकल सुविधाएं प्रदान की जा सके आपके राजा 10 के सिक्के में गांठ करके उनको इंटीग्रेटेड वे में कम्युनिटी इन बोल्ड करके डेवलप किया इस मॉडल को फिर सरकार ने बाकी जगह पर भी इंप्लीमेंट किया और मेरा मानना है कि कोई भी निषेटेक कभी सक्सेसफुल है जब वह एप्लीकेबल है जब उसको सरकार अप्रिशिएट करती है और और भी जगह इंप्लीमेंट करती है पिछले साल ही हमारे इलेक्शंस खत्म हुए जब इलेक्शंस की बात आती है तो टीएमसी सांसद का नाम बताएं जो कि हमारे इलेक्शन कमिश्नर थे जिन्होंने इलेक्शन कमिशन को एक होटल में स्वर इंडिपेंडेंट बॉडी के रूप में बनाया उन्होंने रियल आइज करवाया के इलेक्शन कमिशन अपने आप में कितना पावरफुल बॉडी हो सकता है और कितनी फैक्टिव लीव विदाउट एनी प्रेशर फ्रॉम एनी ऑफ द पॉलिटिकल पार्टीज आफ रिप्रेजेंटेटिव्स अपने काम को अंजाम दे सकता है उसी तरह सुकुमार सेन थे जो हमारे सर और 1952 में जिन्होंने जनरल इलेक्शंस करवाए थे पुराने समय में जब देश आजाद हुआ था और हमारे पास रिसोर्सेस की बहुत कमी थी यूनिवर्सल एडल्ट फ्रेंचाइजी देकर सब लोगों से वोट कराना एक हरक्यूलिन टास्क था और उस कार्य को इन्होंने बखूबी अंजाम दिया था और जब इलेक्शन धोते हैं उनको भी याद किया जाता है अगर हम और सम्मानित या फिर वरिष्ठ पदों पर कार्यरत अधिकारी आरबीआई गवर्नर शक्ति कांत दास अभी एक रिटायर्ड आईएएस ऑफिसर उसी तरह आपके कैबिनेट सेक्रेटरी हुए प्राइम मिनिस्टर जहां जहां पर पोस्टेड है दिमाग केवल काम कर रहे हैं समाज को बदलने की कोशिश कर रहे हैं और मुझे लगता है अभी जितना भी समाज आगे बढ़ रहे हैं अभी समाज बदल रहा है ऑफिसर चौकी काम करते हैं लोगों की बात सुनते हैं सबको साथ लेकर चलते हैं उनके लिए रिस्पेक्ट है और आगे भी ऐसे जो जंग ऑफिसर जाते हैं वह कौन से इंस्पिरेशन लेकर नए काम हो तो नहीं कठिनाइयों को पार करने के लिए नए-नए इनोवेटिक सलूशन टूटते हैं और उनको सरकार और सिविल सोसायटी अभिषेक और सम्मान भी करती है

desh mein is samay 3 se 4000 IAS officer jilon mein rajya sarkaro mein aur kendra sarkar mein karyarat hai aur sabhi apni apni jagah par kisi na kisi tarah se kantribyut karke desh ke growth mein desh ke vikas mein apna yogdan de rahe hain kuch officer sabhi se aise hote hain jo ki leak se hatakar kaam karte hain ya phir logo ko samaj ko invalwa karke aise kaam ko kam samay mein anjaam dete hain jisko log sochte hain ki bahut samay lagega ya phir karna bahut mushkil hai aur isliye unko sammanit bhi hote hain vaah famous bhi hote hain sab log unko jante bhi hain agar hum pichle kuch ek do din saal ki baat kare toh pichle 2 saal mein kuch officer the jinhone bahut hi accha apne kaam se sab sab jagah se sarahana batori usme hamari aashish Singh sir hai jo ki indore mein mili se pehle TV ke incharge bahut hi kam samay mein dumping ground ko puri tarah saaf karke wahan par ek baar banaya unke netritva mein indore mein 90 clean city of the country bana usi tarah hamare avnish charan sir hain jinhone ki aapke trible areas mein mobile ambulance ka concept shuru kiya jisse ki jo pregnant mahila jo marij hote hain unko dur daraj ke ilako se bhi kam se kam kharche mein lekar aaya ja sake hospital mein unko sir medical suvidhaen pradan ki ja sake aapke raja 10 ke sikke mein ganth karke unko integrated ve mein community in bold karke develop kiya is model ko phir sarkar ne baki jagah par bhi implement kiya aur mera manana hai ki koi bhi nishetek kabhi successful hai jab vaah applicable hai jab usko sarkar aprishiet karti hai aur aur bhi jagah implement karti hai pichle saal hi hamare elections khatam hue jab elections ki baat aati hai toh tmc saansad ka naam bataye jo ki hamare election commissioner the jinhone election commission ko ek hotel mein swar independent body ke roop mein banaya unhone real eyez karvaya ke election commission apne aap mein kitna powerful body ho sakta hai aur kitni faiktiv leave without any pressure from any of the political parties of riprejentetivs apne kaam ko anjaam de sakta hai usi tarah sukumar sen the jo hamare sir aur 1952 mein jinhone general elections karwaye the purane samay mein jab desh azad hua tha aur hamare paas resources ki bahut kami thi universal adult franchise dekar sab logo se vote krana ek harakyulin task tha aur us karya ko inhone bakhubi anjaam diya tha aur jab election dhote hain unko bhi yaad kiya jata hai agar hum aur sammanit ya phir varishtha padon par karyarat adhikari RBI governor shakti kaant das abhi ek retired IAS officer usi tarah aapke cabinet secretary hue prime minister jaha jahan par posted hai dimag keval kaam kar rahe hain samaj ko badalne ki koshish kar rahe hain aur mujhe lagta hai abhi jitna bhi samaj aage badh rahe hain abhi samaj badal raha hai officer chowki kaam karte hain logo ki baat sunte hain sabko saath lekar chalte hain unke liye respect hai aur aage bhi aise jo jung officer jaate hain vaah kaunsi Inspiration lekar naye kaam ho toh nahi kathinaiyon ko par karne ke liye naye naye inovetik salution tutate hain aur unko sarkar aur civil sociaty abhishek aur sammaan bhi karti hai

देश में इस समय 3 से 4000 आईएएस ऑफिसर जिलों में राज्य सरकारों में और केंद्र सरकार में कार्य

Romanized Version
Likes  71  Dislikes    views  1592
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!