कुछ लोग IAS बनने के लिए उच्च सैलरी वाली नौकरी क्यों छोड़ देते हैं?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका पसंद है कुछ लोग आईएएस बनने के बाद उच्च सैलरी वाली नौकरी को छोड़ देते हैं देखिए मेरे अपने अनुभव में कुछ आईएएस ऑफिसर आए हैं सच में एक बात तो माननी पड़ेगी की आईएएस ऑफिसर का जो योग्यता है यदि उनके सोचने की शक्ति है वह सामान्य व्यक्तियों से बहुत बहुत आगे होती है इसलिए कई बार वह आगे की दृष्टि से अपने जीवन में और अच्छा कुछ प्राप्त कर सकें इसलिए आइए छोड़कर आगे बढ़ते हैं और उन्हें सफलता भी मिलती है इसलिए आईएएस ऑफिसर जो भी कार्य करता है वह बहुत ही सोच समझकर करता है धन्यवाद

namaskar aapka pasand hai kuch log IAS banne ke baad ucch salary wali naukri ko chhod dete hain dekhiye mere apne anubhav me kuch IAS officer aaye hain sach me ek baat toh maanani padegi ki IAS officer ka jo yogyata hai yadi unke sochne ki shakti hai vaah samanya vyaktiyon se bahut bahut aage hoti hai isliye kai baar vaah aage ki drishti se apne jeevan me aur accha kuch prapt kar sake isliye aaiye chhodkar aage badhte hain aur unhe safalta bhi milti hai isliye IAS officer jo bhi karya karta hai vaah bahut hi soch samajhkar karta hai dhanyavad

नमस्कार आपका पसंद है कुछ लोग आईएएस बनने के बाद उच्च सैलरी वाली नौकरी को छोड़ देते हैं देखि

Romanized Version
Likes  113  Dislikes    views  3398
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
5:39
Play

Likes  3  Dislikes    views  105
WhatsApp_icon
user

Ap ✔️✴️⚡

Education And Life Coach , 5 Years Experince In Education And Motivation

1:40
Play

Likes  145  Dislikes    views  1631
WhatsApp_icon
user

B San

Entrepreneur | Management | Consultant | Advisor

2:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन कुछ लोग आईएएस बनने के लिए अच्छी सैलरी वाली नौकरी क्यों छोड़ देते हैं देखिए इस संबंध में प्रत्येक नागरिक प्रत्येक व्यक्ति स्वतंत्र है उसकी अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है उसे सदा संविधान द्वारा उसे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता प्राप्त है कि वह आईएएस बनने के लिए उच्च सैलरी वाली नौकरी छोड़ देता है या आईएएस बनने के बाद उच्च न्यायालय की नौकरी में जाता यह तो पक्ष से बनते हैं लेकिन कोई व्यक्ति जाता है कि मैं समाज सेवा करूं समाज के प्रत्येक इकाई से जुड़े समाज के एक बार भी से जुड़े तो मैं अपना योगदान कैसे प्रस्तुत करूंगा देश की तरक्की में अपनी भागीदारी कैसे दे पाऊंगा तो उसके लिए यह एक विश्वसनीय माध्यम और उचित माध्यम रहता है कि सिविल सर्विसेज परीक्षा के माध्यम से आईएएस में चयन के बाद बच्चे द्वारा योग किया जा सकता है इसमें क्यों नहीं कह सकते कि सितम सैलरी छोड़ कर आया क्या है यहां पर उनकी कार्यप्रणाली के प्रति व्यक्तिगत रुझान बौद्धिक क्षमता उसका निरूपण यह ज्यादा महत्व रखता है कि वह उस पर क्या सोचते हैं क्या विचार जा रहा है कैसे उसको समाज के प्रति देश के प्रति प्रस्तुत करते हैं तो यही संभवत यही कारण है कि आईएएस बनने के लिए बड़े-बड़े पद बड़ी-बड़ी नौकरियां छोड़ने के बाद व्यक्ति आईएएस की परीक्षा में प्रतिभाग करता है और उसमें युक्त प्राप्त करता है धन्यवाद

lekin kuch log IAS banne ke liye achi salary wali naukri kyon chhod dete hain dekhiye is sambandh me pratyek nagarik pratyek vyakti swatantra hai uski abhivyakti ki swatantrata hai use sada samvidhan dwara use abhivyakti ki swatantrata prapt hai ki vaah IAS banne ke liye ucch salary wali naukri chhod deta hai ya IAS banne ke baad ucch nyayalaya ki naukri me jata yah toh paksh se bante hain lekin koi vyakti jata hai ki main samaj seva karu samaj ke pratyek ikai se jude samaj ke ek baar bhi se jude toh main apna yogdan kaise prastut karunga desh ki tarakki me apni bhagidari kaise de paunga toh uske liye yah ek viswasniya madhyam aur uchit madhyam rehta hai ki civil services pariksha ke madhyam se IAS me chayan ke baad bacche dwara yog kiya ja sakta hai isme kyon nahi keh sakte ki sitam salary chhod kar aaya kya hai yahan par unki Karya Pranali ke prati vyaktigat rujhan baudhik kshamta uska nirupan yah zyada mahatva rakhta hai ki vaah us par kya sochte hain kya vichar ja raha hai kaise usko samaj ke prati desh ke prati prastut karte hain toh yahi sambhavat yahi karan hai ki IAS banne ke liye bade bade pad badi badi naukriyan chodne ke baad vyakti IAS ki pariksha me pratibhag karta hai aur usme yukt prapt karta hai dhanyavad

लेकिन कुछ लोग आईएएस बनने के लिए अच्छी सैलरी वाली नौकरी क्यों छोड़ देते हैं देखिए इस संबंध

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  729
WhatsApp_icon
user

Pushpendra Rajput

Soft Skill Trainer

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखे आईएस की जो एक पहचान है वह देश की सबसे सर्वोत्तम सेवा में से एक है और आईएएस हमारे देश में एसडीएम लेवल का जो होता है और जो भी उचित दुनिया में जितनी भी सिलेक्शन होते हैं जो यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन के थ्रू होते हैं उसमें एक सबसे उच्चतम कितना जो होता है वह आईएएस रैंक ही होता है तू सम्मान जो होता है वह पैसे से कहीं अधिक बढ़कर होता है इसलिए कोई भी व्यक्ति अगर आईएस बनता है तो उसे एक वह सम्मान मिलता है जो पैसे से नहीं हासिल किया जा सकता इसलिए लोग पैसे से अधिक सम्मान को प्राथमिकता देते हैं इसलिए वह अपनी उच्चतम सैलरी वाली नौकरी छोड़कर आए उसको सुनना पसंद करते हैं

likhe ias ki jo ek pehchaan hai vaah desh ki sabse sarvottam seva me se ek hai aur IAS hamare desh me sdm level ka jo hota hai aur jo bhi uchit duniya me jitni bhi selection hote hain jo union public service commision ke through hote hain usme ek sabse ucchatam kitna jo hota hai vaah IAS rank hi hota hai tu sammaan jo hota hai vaah paise se kahin adhik badhkar hota hai isliye koi bhi vyakti agar ias banta hai toh use ek vaah sammaan milta hai jo paise se nahi hasil kiya ja sakta isliye log paise se adhik sammaan ko prathamikta dete hain isliye vaah apni ucchatam salary wali naukri chhodkar aaye usko sunana pasand karte hain

लिखे आईएस की जो एक पहचान है वह देश की सबसे सर्वोत्तम सेवा में से एक है और आईएएस हमारे देश

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  154
WhatsApp_icon
user

vivek sharma

BANK PO| Astrologer | Mutual Fund Advisor। Career Counselor

1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं विवेक शर्मा आपका प्रश्न है कुछ लोग आईएएस बनने के लिए उचित सैलरी वाली नौकरी क्यों छोड़ देते हैं क्योंकि आईएस एक बहुत बड़ा सम्मान की बात है यहां पर सम्मान के साथ साथ जो लोग हमारे देश में निचले स्तर पर काम करना चाहते हैं इस देश की इकॉनमी को उठाना चाहते हैं निचले तबके के लोग हैं गरीब लोग हैं उनको अपलिफ्ट करना चाहते हैं वे लोगों का जो वह जब भी अच्छी चल रहे हो तो वह खुद के लिए काम कर रहे होते हैं लेकिन जब वे कलेक्टर के रूप में कुछ लोगों का जीवन स्तर उठाते हैं तो यह सबसे बड़ी संतुष्टि की बात होती है या मानवता के बाद अपने देश के लिए काम करने का इसमें जज्बात उसी देश के लिए काम करने के लिए और कुछ लोगों की जिंदगी में कुछ परिवर्तन ला सकें इसके लिए और एक सम्मान की नौकरी है जब सब बड़ा नौकरी है आइए सबसे बड़ी जो सेवा है वह यह सब बातों के लिए कोई व्यक्ति अच्छी सैलरी छोड़कर आईएस बनता है धन्यवाद

namaskar main vivek sharma aapka prashna hai kuch log IAS banne ke liye uchit salary wali naukri kyon chhod dete hain kyonki ias ek bahut bada sammaan ki baat hai yahan par sammaan ke saath saath jo log hamare desh me nichle sthar par kaam karna chahte hain is desh ki economy ko uthana chahte hain nichle tabke ke log hain garib log hain unko apalift karna chahte hain ve logo ka jo vaah jab bhi achi chal rahe ho toh vaah khud ke liye kaam kar rahe hote hain lekin jab ve collector ke roop me kuch logo ka jeevan sthar uthate hain toh yah sabse badi santushti ki baat hoti hai ya manavta ke baad apne desh ke liye kaam karne ka isme jazbaat usi desh ke liye kaam karne ke liye aur kuch logo ki zindagi me kuch parivartan la sake iske liye aur ek sammaan ki naukri hai jab sab bada naukri hai aaiye sabse badi jo seva hai vaah yah sab baaton ke liye koi vyakti achi salary chhodkar ias banta hai dhanyavad

नमस्कार मैं विवेक शर्मा आपका प्रश्न है कुछ लोग आईएएस बनने के लिए उचित सैलरी वाली नौकरी क्य

Romanized Version
Likes  109  Dislikes    views  1512
WhatsApp_icon
user

MRI

Retired Executive (PSU), Electrical Engineer, AUTHOR, हिंदी भषा में चार पुस्तकें प्रकाशित. जल्द ही तीन और प्रकाशित होने वाली हैं ।

2:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुछ लोग उत्तर दे पाने के लिए आईएएस बनने के लिए उत्तरी वाली नौकरी छोड़ दे आईएएस अधिकार ज्यादा रखता है भले पैसे जैसे आप इंडस्ट्री के मालिक हैं हो सकता है आप करोड़पति होंगे आईएएस में इतनी ताकत होती है अधिकार होता है तो आपके बैटरी को कुछ कार्ड में बसाकर बिना कारण बताए बंद करने का आदेश दे सकता इसलिए आईएएस की सेवा बिना ज्यादा पर जाने की हो जाती है पैसे नहीं मिलते पैसे के रूप में सेवा मिल जाती है लेकिन ज्यादातर जो हो रहा है देश में यही है कि जैसे आप हमारे शहर में आए हुए हैं क्या किसी कंपनी के डायरेक्टर और जी लोग भी ऐसे होते हैं जो अधिकार के भूखे होते हैं पैसे के भूखे भूखे हैं चाहते हैं

kuch log uttar de paane ke liye IAS banne ke liye uttari wali naukri chhod de IAS adhikaar zyada rakhta hai bhale paise jaise aap industry ke malik hain ho sakta hai aap crorepati honge IAS me itni takat hoti hai adhikaar hota hai toh aapke battery ko kuch card me basakar bina karan bataye band karne ka aadesh de sakta isliye IAS ki seva bina zyada par jaane ki ho jaati hai paise nahi milte paise ke roop me seva mil jaati hai lekin jyadatar jo ho raha hai desh me yahi hai ki jaise aap hamare shehar me aaye hue hain kya kisi company ke director aur ji log bhi aise hote hain jo adhikaar ke bhukhe hote hain paise ke bhukhe bhukhe hain chahte hain

कुछ लोग उत्तर दे पाने के लिए आईएएस बनने के लिए उत्तरी वाली नौकरी छोड़ दे आईएएस अधिकार ज्

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  238
WhatsApp_icon
user

Shobit Dixit

Motivational Speaker | Writer | Counsellor | Social Worker | Program Coordinator

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अपनी अपनी रुचि की बात है क्योंकि आईएस जो है इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस चार्ज अलग ही होता है एक प्रशासनिक अधिकारी जो सर्वोच्च अधिकारी होता है किसी विभाग का उसमें आईएस जाते हैं इस वजह से सैलरी को लोग तवज्जो वहां पर नहीं रहते हैं पैसे को तवज्जो नहीं देते हैं बल्कि मान और सम्मान को तवज्जो देते हैं इस वजह से लोग आईएएस में जाने के लिए उत्सुक रहते हैं जब तक कि वह कोशिश कर सकते हैं धन्यवाद

dekhiye apni apni ruchi ki baat hai kyonki ias jo hai indian administrative service charge alag hi hota hai ek prashaasnik adhikari jo sarvoch adhikari hota hai kisi vibhag ka usme ias jaate hain is wajah se salary ko log tavajjo wahan par nahi rehte hain paise ko tavajjo nahi dete hain balki maan aur sammaan ko tavajjo dete hain is wajah se log IAS me jaane ke liye utsuk rehte hain jab tak ki vaah koshish kar sakte hain dhanyavad

देखिए अपनी अपनी रुचि की बात है क्योंकि आईएस जो है इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस चार्ज अलग

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  183
WhatsApp_icon
user

डाॅ. देवेन्द्र जोशी उज्जैन म प्र

पत्रकार, साहित्यकार शिक्षाविद

1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस को पाने के लिए लोग अपने अच्छी से अच्छी नौकरी छोड़कर उच्च सैलरी वाली नौकरी छोड़कर लोग इस सेवा में आने के लिए लालायित रहते हैं असल में ऐसा इसलिए है कि क्योंकि यह नौकरी एक पद के साथ-साथ प्रतिष्ठा की नौकरी है और धन पैसा ही सब कुछ नहीं होता है यह एक मान सम्मान और अपने देश और समाज की सेवा करने का अवसर होता है किसी भी व्यक्ति के लिए इससे बड़े गौरव का कल दूसरा नहीं हो सकता कि वह आईएएस बनकर अपने समाज और देश की सेवा के लिए अपने कर्तव्य जाएगी करें इसलिए अगर किसी को जीवन में आईएएस बनकर देश और समाज की प्रशासनिक सेवाओं की नौकरी में आने का अवसर मिलता है तो उनके की सबसे बड़े सौभाग्य की बात है इसके लिए वह ऊंची सैलरी वाली नौकरी तो क्या किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार हो जाते जीवन में धन पैसा ही सब कुछ नहीं है कार्य से मिलने वाले आत्म संतुष्टि और आपको सम्मान भी बड़ी चीज है यही सोचकर लोग इस तरह का कदम उठाते

indian administrative service ko paane ke liye log apne achi se achi naukri chhodkar ucch salary wali naukri chhodkar log is seva me aane ke liye lalayit rehte hain asal me aisa isliye hai ki kyonki yah naukri ek pad ke saath saath prathishtha ki naukri hai aur dhan paisa hi sab kuch nahi hota hai yah ek maan sammaan aur apne desh aur samaj ki seva karne ka avsar hota hai kisi bhi vyakti ke liye isse bade gaurav ka kal doosra nahi ho sakta ki vaah IAS bankar apne samaj aur desh ki seva ke liye apne kartavya jayegi kare isliye agar kisi ko jeevan me IAS bankar desh aur samaj ki prashaasnik sewaon ki naukri me aane ka avsar milta hai toh unke ki sabse bade saubhagya ki baat hai iske liye vaah unchi salary wali naukri toh kya kisi bhi had tak jaane ke liye taiyar ho jaate jeevan me dhan paisa hi sab kuch nahi hai karya se milne waale aatm santushti aur aapko sammaan bhi badi cheez hai yahi sochkar log is tarah ka kadam uthate

इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस को पाने के लिए लोग अपने अच्छी से अच्छी नौकरी छोड़कर उच्च सैल

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  276
WhatsApp_icon
user

Nidheesh Vats

Career Counsellor

1:40
Play

Likes  4  Dislikes    views  69
WhatsApp_icon
user
0:18
Play

Likes  41  Dislikes    views  681
WhatsApp_icon
user

Ansh jalandra

Motivational speaker

0:32
Play

Likes  141  Dislikes    views  2749
WhatsApp_icon
user

Mukund

Counselor & Coach

4:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या लोग आईएएस बनने के लिए उचित सैलरी वाली नौकरी क्यों छोड़ देते बहुत अच्छा सवाल सर आप क्यों छोड़ देते हैं मतलब उनको ऐसा क्या प्रेम होता है बचपन से यह सर मैं कैसे बता सकता हूं मैंने अभी पीछे मैडम का इंटरव्यू पड़ा था आईपीएस का नाम है इलमा अफरोज वह किसी गांव देहात से आती हैं मेरे ख्याल हरियाणा के और बहुत संघर्ष किया है काबिले तारीफ है उनको शायद आईएस मिला था और उनको आईपीएस का शौक था आईपीएस किया वह भाई साहब इतनी पढ़ी लिखी है और वह इंडिया में नहीं अमेरिका में न्यूयॉर्क में यूनाइटेड नेशंस में काम कर रही थी या टैक्स की जॉब है भाई ठीक है और वह इतनी पढ़ी लिखी है इंडिया में भी उन्होंने ग्रेजुएशन किया स्टीफन से हकीकत मजाक तो है नहीं ठीक है ना और मेरे ख्याल से वह खुटा कैंडिडेट नहीं है जहां तक मेरी समझ है ठीक है ना फिर उसके बाद वह मास्टर्स करने का ही पता नहीं कहां इंग्लैंड या पत्नी कहां पर दिया हुआ है मेरी जान में नहीं वह उन्होंने इतना साल पुष्कर के 27 28 साल की उम्र में इंडिया वापस आएगी उन्होंने कहा कि मुझे लेना है और दिया उन्होंने आए शायद निकल गई आईपीएस सुना राज की जीत पर आईपीएस ऑफिसर हैं ऐसे जो मिसाल हैं उदाहरण है एक नहीं है कम से कम हजार कम से कम तो अब आप तैयार बेवकूफ हैं यह ठीक है भाई आपकी सोच है उनकी सोच ऐसी नहीं थी उनको करना था ऐसा इसलिए उनको उनको लगता था कि वह देश में परिवर्तन लाएंगे और इससे बढ़िया मौका इससे बढ़िया अवसर मतलब आपको एक न्यूज़ चाहिए ना एक प्लेटफार्म चाहिए जिससे आप देश में परिवर्तन ला सकते हो उससे बढ़िया क्या हो सकता है आईएएस कलेक्टर हो गया एसपी हो गया वह ला सकते ठीक है ना छोटे पैमाने तुम्हें तो हंड्रेड अब मैं किसी कॉलेज में एमबीए कॉलेज में पढ़ता हूं तो मैं सर मुश्किल से मेरी क्लास में दोनों मगर टी सी फर्स्ट ईयर में शायद पीस है सेकंड ईयर में 30 है तो इन 60 लोगों के इलावा में कोई परिवर्तन नहीं ला सकता किसी पर और इंसाफ लोगों को बेबी मैं परिवर्तन सिर्फ मेरे विषय में एमपी में तो कितने सब्जेक्ट अखाड़े थोड़ी बढ़ाता है ना उसमें उन्होंने वह अगर चाहे तो तो यह ऐसा सोचते हैं अब उनको क्या कहोगे यार तुमने किसी बढ़िया नौकरी छोड़ दी इससे पैसे मिल रहे थे कोई मुकाबला नहीं अपनी जगह है वह अपनी एक बात याद रखिए ऐसे लोगों को जिन्होंने बहुत पढ़ लिया होता है दुनिया लिखी होती है आईएएस निकालना यूपीएससी निकालना आसान हो जाता क्योंकि इनकी जो नियम है फाउंडेशन हॉट सॉन्ग अभी एक मालवा में सवाल किया मैं बीएससी किया है मुझे हमें करना है एक चीज कहां से हुआ तो वह 12वीं के बाद से उस क्लियर होते हैं कि मेरा विषय क्या है मैं उसी विषय में आगे जाके अनुसंधान करूंगा आगे उच्च स्तरीय शिक्षा पाऊंगा वगैरह ठीक है ना मैं आपको क्या बोलूं आप का सवाल है कि क्यों क्यों का किसी के पास जाओ और इनमें से भी लोग जो हैं सब के अलग-अलग जवाब है ठीक है ना चलिए

kya log IAS banne ke liye uchit salary wali naukri kyon chhod dete bahut accha sawaal sir aap kyon chhod dete hain matlab unko aisa kya prem hota hai bachpan se yah sir main kaise bata sakta hoon maine abhi peeche madam ka interview pada tha ips ka naam hai ilama afroj vaah kisi gaon dehaant se aati hain mere khayal haryana ke aur bahut sangharsh kiya hai kabile tareef hai unko shayad ias mila tha aur unko ips ka shauk tha ips kiya vaah bhai saheb itni padhi likhi hai aur vaah india me nahi america me new york me united nations me kaam kar rahi thi ya tax ki job hai bhai theek hai aur vaah itni padhi likhi hai india me bhi unhone graduation kiya stephen se haqiqat mazak toh hai nahi theek hai na aur mere khayal se vaah khuta candidate nahi hai jaha tak meri samajh hai theek hai na phir uske baad vaah masters karne ka hi pata nahi kaha england ya patni kaha par diya hua hai meri jaan me nahi vaah unhone itna saal pushkar ke 27 28 saal ki umar me india wapas aayegi unhone kaha ki mujhe lena hai aur diya unhone aaye shayad nikal gayi ips suna raj ki jeet par ips officer hain aise jo misal hain udaharan hai ek nahi hai kam se kam hazaar kam se kam toh ab aap taiyar bewakoof hain yah theek hai bhai aapki soch hai unki soch aisi nahi thi unko karna tha aisa isliye unko unko lagta tha ki vaah desh me parivartan layenge aur isse badhiya mauka isse badhiya avsar matlab aapko ek news chahiye na ek platform chahiye jisse aap desh me parivartan la sakte ho usse badhiya kya ho sakta hai IAS collector ho gaya SP ho gaya vaah la sakte theek hai na chote paimane tumhe toh hundred ab main kisi college me mba college me padhata hoon toh main sir mushkil se meri class me dono magar T si first year me shayad peace hai second year me 30 hai toh in 60 logo ke alawa me koi parivartan nahi la sakta kisi par aur insaaf logo ko baby main parivartan sirf mere vishay me MP me toh kitne subject akhade thodi badhata hai na usme unhone vaah agar chahen toh toh yah aisa sochte hain ab unko kya kahoge yaar tumne kisi badhiya naukri chhod di isse paise mil rahe the koi muqabla nahi apni jagah hai vaah apni ek baat yaad rakhiye aise logo ko jinhone bahut padh liya hota hai duniya likhi hoti hai IAS nikalna upsc nikalna aasaan ho jata kyonki inki jo niyam hai foundation hot song abhi ek malawa me sawaal kiya main bsc kiya hai mujhe hamein karna hai ek cheez kaha se hua toh vaah vi ke baad se us clear hote hain ki mera vishay kya hai main usi vishay me aage jake anusandhan karunga aage ucch stariy shiksha paunga vagera theek hai na main aapko kya bolu aap ka sawaal hai ki kyon kyon ka kisi ke paas jao aur inmein se bhi log jo hain sab ke alag alag jawab hai theek hai na chaliye

क्या लोग आईएएस बनने के लिए उचित सैलरी वाली नौकरी क्यों छोड़ देते बहुत अच्छा सवाल सर आप क्य

Romanized Version
Likes  535  Dislikes    views  6021
WhatsApp_icon
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

1:01
Play

Likes  121  Dislikes    views  4605
WhatsApp_icon
user

Harender Kumar Yadav

Career Counsellor.

1:00
Play

Likes  598  Dislikes    views  6134
WhatsApp_icon
user

S Bajpay

Yoga Expert | Beautician & Gharelu Nuskhe Expert

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमन कुछ लोग आईएएस बनने के लिए उसे सैलरी वाली नौकरी छोड़ देते वाली नौकरी प्राइवेट है उसमें जो है बंगला है गाड़ी है नौकर चाकर बहुत सुंदर है इसलिए लोग अपना मान सम्मान पाने के लिए अपनी सोच

naman kuch log IAS banne ke liye use salary wali naukri chhod dete wali naukri private hai usme jo hai bangla hai gaadi hai naukar chakar bahut sundar hai isliye log apna maan sammaan paane ke liye apni soch

नमन कुछ लोग आईएएस बनने के लिए उसे सैलरी वाली नौकरी छोड़ देते वाली नौकरी प्राइवेट है उसमें

Romanized Version
Likes  526  Dislikes    views  4544
WhatsApp_icon
user

Debidutta Swain

IAS Aspirant | Life Motivational Speaker,Daily Story Teller

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बीके पावर ब्रेक रिस्पांसिबिलिटी आफ रिस्पेक्ट अवर हमेशा लाइट चलाता है तो आपको रंग लाता है आपके पास ज्यादा पैसा होगा लेकिन आपके पास अगर पावर नहीं है और पावर नहीं है तो रेस्पॉन्सिविटी भी नहीं है और इस कंपनी है तो सलमान नहीं हमेशा सलमान की खोज कर दिखा कि बहुत बढ़िया तंत्र का व्यापक परिवर्तन के लिए अर्जुन का सट्टा

BK power break responsibility of respect avar hamesha light chalata hai toh aapko rang lata hai aapke paas zyada paisa hoga lekin aapke paas agar power nahi hai aur power nahi hai toh respansiviti bhi nahi hai aur is company hai toh salman nahi hamesha salman ki khoj kar dikha ki bahut badhiya tantra ka vyapak parivartan ke liye arjun ka satta

बीके पावर ब्रेक रिस्पांसिबिलिटी आफ रिस्पेक्ट अवर हमेशा लाइट चलाता है तो आपको रंग लाता है आ

Romanized Version
Likes  131  Dislikes    views  1505
WhatsApp_icon
user

Rakhi Saxena

Working Woman And Counseller

1:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जहां तक मेरे अपनी ऑपिनियन में आप कहीं भी जाएंगे एक आईटी कंपनी में एक बंदा होगा जो ₹200000 पर मंथ हमारा होगा यह देखा कि पैसे वाला है आर्मी का सीनियर ऑफिसर से निकलता है 4 लोगों को देखने के लिए जमा हो जाती है लेकिन उनकी जो आपने उनसे रिश्ता टॉकीज उनका विश्वास था वह हर किसी के नसीब में यही कारण है उसके लिए छोड़ देते हैं सम्मान जो रिश्ते चूंकि इस जॉब में मिलती है उसकी जॉब मिलेगा आपसे और आपकी कृपा की अच्छी होते हुए आर्मी ऑफिसर से प्लेयर को कॉपी करके देखें उनकी क्या रहती है उनके बीच में रहेंगे और आप हो आपको देखकर लगेगा एक बार जो रिश्ते पर

jaha tak mere apni opinion me aap kahin bhi jaenge ek it company me ek banda hoga jo Rs par month hamara hoga yah dekha ki paise vala hai army ka senior officer se nikalta hai 4 logo ko dekhne ke liye jama ho jaati hai lekin unki jo aapne unse rishta talkies unka vishwas tha vaah har kisi ke nasib me yahi karan hai uske liye chhod dete hain sammaan jo rishte chunki is job me milti hai uski job milega aapse aur aapki kripa ki achi hote hue army officer se player ko copy karke dekhen unki kya rehti hai unke beech me rahenge aur aap ho aapko dekhkar lagega ek baar jo rishte par

जहां तक मेरे अपनी ऑपिनियन में आप कहीं भी जाएंगे एक आईटी कंपनी में एक बंदा होगा जो ₹200000

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  395
WhatsApp_icon
user

PRAMOD KUMAR

Retired IFS Officer | Advisor to TRIFED

4:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपको पता है कुछ लोग आईएएस बनने के लिए उस समय सरकार किसका का फ्रिज से अलग बात है दोनों को कंपेयर करते हैं इंडियन आर्मी स्टेटस शरीर से को सरकारी सेवा है और सरकार का जन्म कैसे हुआ है उसका सबसे इंपॉर्टेंट पोजीशन में आपका डायरेक्ट होती है तो आप आपके पूरे कैरियर में 32 साल है तो 30 साल जीता साल आपको काम करने का मौका मिलेगा को रिटायरमेंट था आपने पूरा पब्लिक के साथ और सरकार के साथ जुड़े रहेंगे जपला जिला स्तर में हुसैन शब्द जन्म स्थान में हो चाहे संभागीय स्तर में हो चाहे राजस्थान में होता है भारत सरकार में काम रहेगा कि सरकार का चेहरा सरकारों भारत सरकार हो जितने प्रकार का प्रोग्राम से उनको कुछ मत करना और उसको जनता के पास पहुंचा था जिला कलेक्टर के रूप में अधिसूचित कुकुरमुत्ता का 40 वां जिला का बाद और आपके पास ही रहेगा उसमें क्लॉर्डर तू जब से अकेला डैड को मेंटेन करना विकास कार्यों को देखना विकास कार्यों को तुरंत करना उसको क्लिक करना फायदा लोगों को तो पहुंचना लोगों का समस्या सुनना डिस्ट्रिक्ट होती है उसका बैंजो मैनेजमेंट होती है जिला कलेक्टर के पास उसके होती है अजनबी पीपलोसिटी उसके सामने बहुत लोग सैलरी इतना प्रेशर नहीं देते इसमें आ जाते हैं और आपको जो भी क्वेश्चन पूछा जाता है कि आप किसके लिए काम कर जब आप उसे समय द्वारा प्राइवेट सेक्टर में काम करते हो तो युवा टीम पर प्राइवेट में कितना प्रतिशत बढ़ जाएगा तो आराम से बोलोगे हमें जनता के लिए काम कर रहा हूं मैं सरकार का प्ले काम कर रहा हूं तो यू आर ए गवर्मेंट स्कूल में आया लेकिन उसके साथ-साथ उसका प्रमोशन और सिक्योरिटी सब चीज बहुत ही इंपॉर्टेंट है चाहे कोई भी सिविल सर्वेंट्स व्हो इंवेंटेड बाय पोस्ट आ जाएगा कलेक्टर डिस्ट्रिक्ट कमिश्नर पोलार्ड पोस्ट पर कोई कंपनी में आप काम करते हो तो आपको कंपनी के हिसाब से मेरे कमीशन बनते ही नहीं इंफोसिस में काम करता हूं या यह फोन में काम करता हूं यहां काम करता हूं तो यहां आपका जिस पथ पर आओगे उस पद गाय को सोसाइटी में रिकॉग्निशन है उसका गरिमा है उसका स्टेटस तो यह तो मेरा ओपिनियन है वह भी ऐसा बाद में बिजी हो कब नौकरी होती है बहुत सारे हमारे मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट एआरएम उसके लड़के भी है उसमें कुछ करते गुस्से में शर्माते नहीं आते कोई विदेश चले जाते हैं तो तो आपने अपना जिसे उसने सती जी आपका फास्ट पर एनसीपी और इसके बारे में मुझे कुछ आ जाएगा तो मेरा प्रयास रहेगा सबसे पहले गवर्मेंट जॉब के बिना 36 साल नौकरी कर चुका हूं इंडियन फॉरेस्ट सर्विस वेरी सेटिस्फाइंग सूर्यांश मुझे लगा मैं जनता के लिए फॉरेस्ट के लिए रिमाइंड के लिए प्लांटेशन के लिए वनों का रखरखाव उसको सुरक्षा मैनेजमेंट बाईला का प्रदर्शन के लिए मैंने कुछ कर पाया हूं और बड़ा चैलेंज इन रहा पता चला रहा फिर भी वेरी गुड सर दूसरी गाड़ी की सर्विस आपने कुछ काम आपके द्वारा किया गया पटेल ईयर में आप 15 साल 20 साल के बाद आप देखोगे तो बड़ा अच्छा लगता है आपको तू सोता तुबिंग स्माइली फेस और मैन उनका कोई काम कपासिया पशु कर लिए तो उसका जो आपका पास जो सेटिस्फेक्शन मिलता है ऐसे दूसरे नौकरी में नहीं मिलेगा फिर भी उसी जोश में अपने आप चाय स्कूल साधते उलझन दिखाते आजकल बहुत सारे इंजीनियर से वह भी सिविल सर्विस के लिए तैयारी कर रहे हैं और नौकरी छोड़कर इस एग्जाम करें धन्यवाद

namaskar aapko pata hai kuch log IAS banne ke liye us samay sarkar kiska ka fridge se alag baat hai dono ko compare karte hain indian army status sharir se ko sarkari seva hai aur sarkar ka janam kaise hua hai uska sabse important position mein aapka direct hoti hai toh aap aapke poore carrier mein 32 saal hai toh 30 saal jita saal aapko kaam karne ka mauka milega ko retirement tha aapne pura public ke saath aur sarkar ke saath jude rahenge japala jila sthar mein hussain shabd janam sthan mein ho chahen sambhagiye sthar mein ho chahen rajasthan mein hota hai bharat sarkar mein kaam rahega ki sarkar ka chehra sarkaro bharat sarkar ho jitne prakar ka program se unko kuch mat karna aur usko janta ke paas pohcha tha jila collector ke roop mein adhisoochit kukurmutta ka 40 va jila ka baad aur aapke paas hi rahega usme klardar tu jab se akela dad ko maintain karna vikas karyo ko dekhna vikas karyo ko turant karna usko click karna fayda logo ko toh pahunchana logo ka samasya sunana district hoti hai uska banjo management hoti hai jila collector ke paas uske hoti hai ajnabee piplositi uske saamne bahut log salary itna pressure nahi dete isme aa jaate hain aur aapko jo bhi question poocha jata hai ki aap kiske liye kaam kar jab aap use samay dwara private sector mein kaam karte ho toh yuva team par private mein kitna pratishat badh jaega toh aaram se bologe hamein janta ke liye kaam kar raha hoon main sarkar ka play kaam kar raha hoon toh you R a government school mein aaya lekin uske saath saath uska promotion aur Security sab cheez bahut hi important hai chahen koi bhi civil servants vo invented bye post aa jaega collector district commissioner pollard post par koi company mein aap kaam karte ho toh aapko company ke hisab se mere commision bante hi nahi imfosis mein kaam karta hoon ya yah phone mein kaam karta hoon yahan kaam karta hoon toh yahan aapka jis path par aaoge us pad gaay ko society mein rikagnishan hai uska garima hai uska status toh yah toh mera opinion hai vaah bhi aisa baad mein busy ho kab naukri hoti hai bahut saare hamare management institute ARM uske ladke bhi hai usme kuch karte gusse mein sharmate nahi aate koi videsh chale jaate hain toh toh aapne apna jise usne sati ji aapka fast par ncp aur iske bare mein mujhe kuch aa jaega toh mera prayas rahega sabse pehle government ke bina 36 saal naukri kar chuka hoon indian forest service very setisfaing suryansh mujhe laga main janta ke liye forest ke liye remind ke liye plantation ke liye vano ka rakharakhav usko suraksha management baila ka pradarshan ke liye maine kuch kar paya hoon aur bada challenge in raha pata chala raha phir bhi very good sir dusri gaadi ki service aapne kuch kaam aapke dwara kiya gaya patel year mein aap 15 saal 20 saal ke baad aap dekhoge toh bada accha lagta hai aapko tu sota tubing smiley face aur man unka koi kaam kapasia pashu kar liye toh uska jo aapka paas jo setisfekshan milta hai aise dusre naukri mein nahi milega phir bhi usi josh mein apne aap chai school sadhte uljhan dikhate aajkal bahut saare engineer se vaah bhi civil service ke liye taiyari kar rahe hain aur naukri chhodkar is exam kare dhanyavad

नमस्कार आपको पता है कुछ लोग आईएएस बनने के लिए उस समय सरकार किसका का फ्रिज से अलग बात है दो

Romanized Version
Likes  267  Dislikes    views  5150
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुछ लोग आईएएस बनने के लिए उच्च सैलरी वाली नौकरी क्यों छोड़ देते हैं क्योंकि आईएएस बनना उनका गोल होता है ठीक है मान सम्मान इच्छा प्रतिष्ठा तू जो अगर वह सब कुछ आईएस से मिल रहा है तो सैलरी का क्या करें सैलरी तो आज है कल नहीं ठीक है इसलिए कुछ लोग अपने सपने अपने गोल को पूरा करने के लिए उच्च सैलरी वाली जॉब छोड़ देते और आईएस बनने का सपना पूरा करते हैं ठीक है आपका दिन शुभ हो धन्यवाद

kuch log IAS banne ke liye ucch salary wali naukri kyon chod dete hain kyonki IAS bana unka gol hota hai theek hai maan sammaan iccha prathishtha tu jo agar vaah sab kuch ias se mil raha hai toh salary ka kya kare salary toh aaj hai kal nahi theek hai isliye kuch log apne sapne apne gol ko pura karne ke liye ucch salary wali job chod dete aur ias banne ka sapna pura karte hain theek hai aapka din shubha ho dhanyavad

कुछ लोग आईएएस बनने के लिए उच्च सैलरी वाली नौकरी क्यों छोड़ देते हैं क्योंकि आईएएस बनना उनक

Romanized Version
Likes  332  Dislikes    views  4756
WhatsApp_icon
user

M S Aditya Pandit

Entrepreneur | Politician

2:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

असली वास्तविकता में यह कोई जगह से पोजीशन नहीं होता है कुछ लोग ऐसे भी हैं जो देश के लिए कुछ करना चाहते हैं उसके लिए कुछ करना चाहते हैं कैसे ठीक करता है वही चीज छत्तीसगढ़ देश के लिए और समाज के लिए कुछ कर पाते हैं जो भी अधिकारी बनने का कोशिश करता हूं उसको मालूम है कि नहीं कर पाया कुछ नहीं हुआ तुम से तो काम होगा वहीं 20% की वजह से देश शामिल है इस मुकाम पर हैं अगर हंड्रेड परसेंट दिन उनको काम करने का मौका मिल जाता हम दोनों के सस्ते में अटैक के सक्षम इल्जाम हम एक संदेश हो गए उन्हें सरकारी बबलू स्टार फेस्टिविटीज पूरी डिस्ट्रिक्ट में पावर पहचाने कार्डियोलॉजी के रूप में सेट कर दिया अधिकारी टू आईडियोलॉजी मेल सेट करना चाहिए आईडियोलॉजी हैं लाइफ टाइम थोड़ा तरीका लगे वह किस वजह से आते हैं या उनके ऊपर निर्भर तो खुद भी सोच सकते हो और उन लोगों से बात करके आप अपने लिस्ट

asli vastavikta mein yah koi jagah se position nahi hota hai kuch log aise bhi hai jo desh ke liye kuch karna chahte hai uske liye kuch karna chahte hai kaise theek karta hai wahi cheez chattisgarh desh ke liye aur samaj ke liye kuch kar paate hai jo bhi adhikari banne ka koshish karta hoon usko maloom hai ki nahi kar paya kuch nahi hua tum se toh kaam hoga wahi 20 ki wajah se desh shaamil hai is mukam par hai agar hundred percent din unko kaam karne ka mauka mil jata hum dono ke saste mein attack ke saksham illajam hum ek sandesh ho gaye unhe sarkari babaloo star festivitij puri district mein power pehchane cardiology ke roop mein set kar diya adhikari to aidiyolaji male set karna chahiye aidiyolaji hai life time thoda tarika lage vaah kis wajah se aate hai ya unke upar nirbhar toh khud bhi soch sakte ho aur un logo se baat karke aap apne list

असली वास्तविकता में यह कोई जगह से पोजीशन नहीं होता है कुछ लोग ऐसे भी हैं जो देश के लिए कुछ

Romanized Version
Likes  152  Dislikes    views  1945
WhatsApp_icon
play
user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

0:51

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डीपी बहुत स्टेटस कुछ लोग आईएस 25 जबकि यहां पर कुछ लोग पैसे देते हैं धन्यवाद

dipi bahut status kuch log ias 25 jabki yahan par kuch log paise dete hain dhanyavad

डीपी बहुत स्टेटस कुछ लोग आईएस 25 जबकि यहां पर कुछ लोग पैसे देते हैं धन्यवाद

Romanized Version
Likes  416  Dislikes    views  5211
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बिल्कुल सत्ता के कुछ लोग आईएएस बनने के लिए उच्च स्तर की नौकरी भी छोड़ देते हैं लेकिन नौकरी संतुष्टि है नौकरी केवल कमाई नहीं है कि तेल डाल दो लाख तनख्वा मिल रही है या बहुत सुविधाएं में नहीं है फ्लैट मिलना है लड़की नौकरी में तरक्की का दूसरा नाम हमारी भी तरक्की हो समाज की भी तरक्की हो जिस कार्यक्रम में जिस संस्था में काम कर रहे हैं उसकी भी तरक्की हो लेकिन वहां हमें संतुष्टि जनक की स्थिति में काम करने का ऑप्शन नहीं मिल रहा हम स्वतंत्र विचार नहीं ले सकते हम स्वतंत्र चेतना नहीं कर सकते वैसे सूची में कितनी ही सैलरी वाली नौकरी क्यों ना प्राया लो आईएएस बनने के लिए बिल्कुल नौकरी को छोड़ देते हैं क्योंकि आईएएस बनने के पीछे उनके अंदर एक स्वाभिमान एक सम्मान और एक कांक्षा होती है एक लालसा होती है और इस सब के पीछे एक गौरव होता है क्या अपने डीएम या इससे बड़ा पद या कोई और पद को आपने इसके चुकता किया

yah bilkul satta ke kuch log IAS banne ke liye ucch sthar ki naukri bhi chod dete hain lekin naukri santushti hai naukri keval kamai nahi hai ki tel daal do lakh tanakhwa mil rahi hai ya bahut suvidhaen mein nahi hai flat milna hai ladki naukri mein tarakki ka doosra naam hamari bhi tarakki ho samaj ki bhi tarakki ho jis karyakram mein jis sanstha mein kaam kar rahe hain uski bhi tarakki ho lekin wahan hamein santushti janak ki sthiti mein kaam karne ka option nahi mil raha hum swatantra vichar nahi le sakte hum swatantra chetna nahi kar sakte waise suchi mein kitni hi salary wali naukri kyon na praya lo IAS banne ke liye bilkul naukri ko chod dete hain kyonki IAS banne ke peeche unke andar ek swabhiman ek sammaan aur ek kanksha hoti hai ek lalasa hoti hai aur is sab ke peeche ek gaurav hota hai kya apne dm ya isse bada pad ya koi aur pad ko aapne iske chukata kiya

यह बिल्कुल सत्ता के कुछ लोग आईएएस बनने के लिए उच्च स्तर की नौकरी भी छोड़ देते हैं लेकिन नौ

Romanized Version
Likes  55  Dislikes    views  1099
WhatsApp_icon
user

Manish Bhargava

Trainer/ Mentor in Delhi education deptt.

1:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कुछ लोग आईएएस बनने के लिए उच्च सैलरी वाली नौकरी क्यों छोड़ देते हैं पहली बात तो यह कि आई एस ऑफिसर को भी एक अच्छी सैलरी मिलती है दूसरी बात यदि आप आईएस ऑफिसर की सुविधाएं देखें तो उस सैलरी से कई गुना सुविधाएं मिलती हैं जैसे आप कलेक्टर कलेक्टर का उदाहरण दूं मैं आपको एक कलेक्टर को लगभग लगभग 10 कर्मचारी एक्स्ट्रा होते हैं उसके पास गाड़ी बंगला गाड़ी से बड़ी सैलरी उसके सामने कम है कि उसको भी सुविधा दी जाती है वह बहुत ज्यादा होती है गवर्नमेंट की तरफ से देश-विदेश में ट्रेनिंग घूमना एक्स पूजा और एक पावर एक काम कराने का जुनून अच्छी सैलरी की नौकरी छोड़कर आईएएस बन जाते हैं उसके मेन कारण यही है कि आई इसमें उन्हें इनकम की कोई कमी नहीं है सैलरी तो है ही सैलरी के अलावा भी कई लोगों के पास इन कंप्यूटर खराब होना एक्स्पोज़र बहुत मिलना है सुविधाएं बहुत मिलेंगे तो उन सबको दे ग्रुप में जोड़ेंगे तो निश्चित रूप से सैलरी से ज्यादा ही पड़ेगी कम नहीं इसलिए लोग यहां पर आते हैं दूसरी चीज जहां पर 1 लोगों का एक लोगों में एक जुनून होता है पद के प्रति वहां पर एक पूर्ति हो जाती है उनकी इसलिए इन सब कारणों से लोग आईएएस ऑफिसर बनना ज्यादा पसंद करते कई प्रकार की नौकरी छोड़कर

aapka prashna hai kuch log IAS banne ke liye ucch salary wali naukri kyon chhod dete hain pehli baat toh yah ki I S officer ko bhi ek achi salary milti hai dusri baat yadi aap ias officer ki suvidhaen dekhen toh us salary se kai guna suvidhaen milti hain jaise aap collector collector ka udaharan doon main aapko ek collector ko lagbhag lagbhag 10 karmchari extra hote hain uske paas gaadi bangla gaadi se badi salary uske saamne kam hai ki usko bhi suvidha di jaati hai vaah bahut zyada hoti hai government ki taraf se desh videsh me training ghumana x puja aur ek power ek kaam karane ka junun achi salary ki naukri chhodkar IAS ban jaate hain uske main karan yahi hai ki I isme unhe income ki koi kami nahi hai salary toh hai hi salary ke alava bhi kai logo ke paas in computer kharab hona ekspozar bahut milna hai suvidhaen bahut milenge toh un sabko de group me jodenge toh nishchit roop se salary se zyada hi padegi kam nahi isliye log yahan par aate hain dusri cheez jaha par 1 logo ka ek logo me ek junun hota hai pad ke prati wahan par ek purti ho jaati hai unki isliye in sab karanon se log IAS officer banna zyada pasand karte kai prakar ki naukri chhodkar

आपका प्रश्न है कुछ लोग आईएएस बनने के लिए उच्च सैलरी वाली नौकरी क्यों छोड़ देते हैं पहली बा

Romanized Version
Likes  88  Dislikes    views  2188
WhatsApp_icon
user

Nakul Chauhan

P.hd ( Political Science)/LLB

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां यह बात सच है कि लोग आईएएस बनने की सैलरी वाली नौकरी छोड़ते क्योंकि जो आईएस वाली जो पद है वह बहुत बड़ी सर्विस है जिसके अंदर में बहुत सारे लोग आते हैं उस पर अधिकार उनके अंदर में काफी अधिकार होते हैं जी को अपने अधिकार के माध्यम से सभी लोगों पर हुकूमत कर सकते हैं और उनके सभी लोग सम्मान वह व्यक्ति आईएसबीटी सम्मानित व्यक्ति होता तो ऐसी इस पद के लिए सभी लोग अच्छी वाली नौकरी छोड़ देना चाहूंगा आईएएस ऑफिसर की सैलरी होती है तो उसके लिए और उसकी पद के लिए लोग आईएएस बनने के लिए कुछ सैनिक नौकरी छोड़ना पसंद करते विधायक भी अगर आईएस कि नहीं

haan yah baat sach hai ki log IAS banne ki salary wali naukri chodte kyonki jo ias wali jo pad hai vaah bahut badi service hai jiske andar mein bahut saare log aate hain us par adhikaar unke andar mein kaafi adhikaar hote hain ji ko apne adhikaar ke madhyam se sabhi logo par hukumat kar sakte hain aur unke sabhi log sammaan vaah vyakti isbt sammanit vyakti hota toh aisi is pad ke liye sabhi log achi wali naukri chod dena chahunga IAS officer ki salary hoti hai toh uske liye aur uski pad ke liye log IAS banne ke liye kuch sainik naukri chhodna pasand karte vidhayak bhi agar ias ki nahi

हां यह बात सच है कि लोग आईएएस बनने की सैलरी वाली नौकरी छोड़ते क्योंकि जो आईएस वाली जो पद ह

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  122
WhatsApp_icon
user

Yogesh Chaudhary

OFFICER AT AIRPORTS AUTHORITY OF INDIA

1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या आईएस ए कैसी जॉब है कि आईएसी ऐसा बंदा है जो समाज से डायरेक्टली जुड़ा रहता है और जो भी हो डिसीजन मेकिंग करता है उससे कहीं ना कहीं वह एक समाज में बदलाव ला पाता है और यह बदलाव सोसाइटी में लोगों के अच्छाई भलाई के लिए होता है तो बड़ी-बड़ी देखे पैसे कमाना एक अलग चीज है लेकिन लोगों के जीवन में कंटेंट दाल पाना लोगों का अच्छा करना लोगों से जुड़ना लोगों के मन में एक पॉजिटिव इंपैक्ट लेकर आना एक चेंज लेकर आना यह सब एक ऐसी चीज है जो आपके मन में सेटिस्फेक्शन लेकर आते हैं आपको एक्शन से बस स्टेशन बनाते हैं और डाउन द रेन कभी कभी कभी ना कभी जवाब शाम को घर आते हैं और सोचते हैं कि आप आज आप लोगों से मिले आप इतनी जनता के बीच में गए और आपके डिसीजन से लोगों की लाइफ में पैक पर लोग खुश हो रहे लोगों की जिंदगी बदल रही है तो आपके अंदर एक सेटिस्फेक्शन द किलिंग होता है और यह जो चीज है जहां पर आप डायरेक्टली समाज के लिए कंट्रीब्यूट कर पाते हो या इसके अलावा और किसी भी जॉब में नहीं आ सकती तो इसीलिए लोग बड़ी-बड़ी पैकेजेस छोड़कर बड़ी-बड़ी नौकरियां छोड़कर जा करो कि व्यक्ति विशेष या किसी आर्गेनाइजेशन या किसी कंपनी के लिए काम कर रहे हैं और जितना वह काम कर रहे हैं उस आदमी के लिए उसको उस हिसाब से पैसे दे रहा है लेकिन इसमें ऐसा नहीं है मैं आपको जो भी सैलरी मिल रही है वह तो ठीक है लेकिन आप कहीं ना कहीं सुसाइड सुसाइड भाई सैलरी वाली पैकेजेस छोड़कर आईएस की चौक को ज्वाइन करते हैं और पेपर करते हैं

kya ias a kaisi job hai ki IAC aisa banda hai jo samaj se directly juda rehta hai aur jo bhi ho decision making karta hai usse kahin na kahin vaah ek samaj me badlav la pata hai aur yah badlav society me logo ke acchai bhalai ke liye hota hai toh badi badi dekhe paise kamana ek alag cheez hai lekin logo ke jeevan me content daal paana logo ka accha karna logo se judna logo ke man me ek positive impact lekar aana ek change lekar aana yah sab ek aisi cheez hai jo aapke man me setisfekshan lekar aate hain aapko action se bus station banate hain aur down the rain kabhi kabhi kabhi na kabhi jawab shaam ko ghar aate hain aur sochte hain ki aap aaj aap logo se mile aap itni janta ke beech me gaye aur aapke decision se logo ki life me pack par log khush ho rahe logo ki zindagi badal rahi hai toh aapke andar ek setisfekshan the killing hota hai aur yah jo cheez hai jaha par aap directly samaj ke liye kantribyut kar paate ho ya iske alava aur kisi bhi job me nahi aa sakti toh isliye log badi badi packages chhodkar badi badi naukriyan chhodkar ja karo ki vyakti vishesh ya kisi organisation ya kisi company ke liye kaam kar rahe hain aur jitna vaah kaam kar rahe hain us aadmi ke liye usko us hisab se paise de raha hai lekin isme aisa nahi hai main aapko jo bhi salary mil rahi hai vaah toh theek hai lekin aap kahin na kahin suicide suicide bhai salary wali packages chhodkar ias ki chauk ko join karte hain aur paper karte hain

क्या आईएस ए कैसी जॉब है कि आईएसी ऐसा बंदा है जो समाज से डायरेक्टली जुड़ा रहता है और जो भी

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  233
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार कुछ लोग आईएएस बनने के लिए कुछ नौकरियां मतलब उजवा सैलरी वाली नौकरी के छोड़ देते सॉरी आपके सवाल ही था बिल्कुल भी है कि आईएएस बनना और सैलरी कमाना डिफरेंस आईएस की सैलरी के लिए नहीं बनते हैं हां यह बात जरूर है कि दैनिक जीवन में सैलरी एक बहुत बड़ी भूमिका निभाती है लेकिन आज सिविल सर्वेंट भारत की भविष्य एक सिविल सर्वेंट पर टिका होता है आईएस इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस रिस्पांसिबिलिटी हाउ टू द डेवलपमेंट ऑफ अ कंट्री नोट कंट्री भाई साहब रिस्पांसिबिलिटी टो हाउ थे इनकरेजमेंट इन द सोसाइटी ऑफ इंडिया व्हायनोट कि वह बड़ी से बड़ी सैलरी को छोड़ देते हैं और बहुत बड़ी सम्मान मिलती है जब आप एक आईएस बनते हैं अब बड़ी सैलरी करके सीमित जगहों पर रह सकते हैं सीमित सम्मान मिल सकता है लेकिन आईएस बनने के बाद से मोहन इन दोनों ही कहीं ना कहीं मिलता है सो थैंक यू

namaskar kuch log IAS banne ke liye kuch naukriyan matlab ujava salary wali naukri ke chod dete sorry aapke sawaal hi tha bilkul bhi hai ki IAS bana aur salary kamana difference ias ki salary ke liye nahi bante hain haan yah baat zaroor hai ki dainik jeevan mein salary ek bahut badi bhumika nibhati hai lekin aaj civil servant bharat ki bhavishya ek civil servant par tika hota hai ias indian administrative service responsibility how to the development of a country note country bhai saheb responsibility toe how the inakarejment in the society of india vayanot ki vaah badi se badi salary ko chod dete hain aur bahut badi sammaan milti hai jab aap ek ias bante hain ab badi salary karke simit jagaho par reh sakte hain simit sammaan mil sakta hai lekin ias banne ke baad se mohan in dono hi kahin na kahin milta hai so thank you

नमस्कार कुछ लोग आईएएस बनने के लिए कुछ नौकरियां मतलब उजवा सैलरी वाली नौकरी के छोड़ देते सॉर

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  132
WhatsApp_icon
user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां आईएएस की नौकरी के लिए सरकारी नौकरियां छोड़ देते हैं डेजिग्नेटिड पोस्ट पाने के लिए ऑफ कोर्स कोई भी अगर का महोदय पर है अभिषेक सरकारी नहीं है तो देख ली बिकॉज़ प्रमोशन लिस्ट बाय एवरीवन इंग्लिश वर्ड्स

haan IAS ki naukri ke liye sarkari naukriyan chhod dete hain dejignetid post paane ke liye of course koi bhi agar ka mahoday par hai abhishek sarkari nahi hai toh dekh li because promotion list bye everyone english words

हां आईएएस की नौकरी के लिए सरकारी नौकरियां छोड़ देते हैं डेजिग्नेटिड पोस्ट पाने के लिए ऑफ क

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
user

Pragti Tripathi

UPSC Aspirant

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आईएएस बनना एक गौरवपूर्ण वासुदेव के लिए ठीक है कि हम देश के कुछ काम हो जाए जहां इंसान जो इंसान उचित सैलरी छोड़ दे आप खुद ही अंदाजा लगा लो कि उसकी सोच कितनी बड़ी होगी कि वह पैसों के पीछे नहीं वह देश की सेवा करने के पीछे भाग रहा है ठीक है ठीक है तो आप सोच ही सकते हो कि जिसने इतने ज्यादा पैसों की परवाह नहीं कि दिन-रात मेहनत करने वाली नौकरी का पीछा किया कि हमें देश का सेवा करूंगा ठीक है उसमें इतनी बड़ी वाली सैलरी की नौकरी को ठोकर मार दिया तो उसका मेन मकसद है कि वह लोगों को सुख सुविधा दे सके लोगों को लोगों की सेवा कर सके ठीक है तो उसका मेन रीजन यह निकलता है

IAS banna ek gauravpurn vasudev ke liye theek hai ki hum desh ke kuch kaam ho jaaye jaha insaan jo insaan uchit salary chhod de aap khud hi andaja laga lo ki uski soch kitni badi hogi ki vaah paison ke peeche nahi vaah desh ki seva karne ke peeche bhag raha hai theek hai theek hai toh aap soch hi sakte ho ki jisne itne zyada paison ki parvaah nahi ki din raat mehnat karne wali naukri ka picha kiya ki hamein desh ka seva karunga theek hai usme itni badi wali salary ki naukri ko thokar maar diya toh uska main maksad hai ki vaah logo ko sukh suvidha de sake logo ko logo ki seva kar sake theek hai toh uska main reason yah nikalta hai

आईएएस बनना एक गौरवपूर्ण वासुदेव के लिए ठीक है कि हम देश के कुछ काम हो जाए जहां इंसान जो इं

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  153
WhatsApp_icon
user

Meenu Gupta

Full Time Homemaker

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार है बेसिक अपना एक सपना होता है कि उसे जीवन में आगे क्या बोलना है क्या नहीं बनना है उसकी प्राथमिकताएं क्या जिस व्यक्ति के उस व्यक्ति पर निर्भर करता है और उसकी शिक्षा पर निर्भर करता है कि वह कितना काबिले आईएएस परीक्षा एक बहुत ही कठिन परीक्षा होती है जिसको पिक करना हरेक के बस की बात ही नहीं होती है लेकिन फिर भी बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो डॉक्टर इंजीनियर ऑफिस पोस्ट पर जॉब करने का सपना होता है कि मुझे अपनी नौकरी को जानकारी यूपी में जिसका शुमार होता है इसलिए लोगों की सैलरी की नौकरी छोड़कर आईएस जोड़ कर लेते हैं

namaskar hai basic apna ek sapna hota hai ki use jeevan me aage kya bolna hai kya nahi banna hai uski prathamiktaen kya jis vyakti ke us vyakti par nirbhar karta hai aur uski shiksha par nirbhar karta hai ki vaah kitna kabile IAS pariksha ek bahut hi kathin pariksha hoti hai jisko pic karna harek ke bus ki baat hi nahi hoti hai lekin phir bhi bahut se log aise hote hain jo doctor engineer office post par job karne ka sapna hota hai ki mujhe apni naukri ko jaankari up me jiska shumaar hota hai isliye logo ki salary ki naukri chhodkar ias jod kar lete hain

नमस्कार है बेसिक अपना एक सपना होता है कि उसे जीवन में आगे क्या बोलना है क्या नहीं बनना है

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  138
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!