UPSC क्लियर करने से पहले, UPSC की तैयारी के दौरान, और UPSC क्लियर करने के बाद - जीवन कैसा होता है?...


user

Ansh jalandra

Motivational speaker

0:37
Play

Likes  113  Dislikes    views  2814
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Ashish Kumar Maurya

Indian Railway

1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड आपका स्वागत है हमारे चैनल न्यू बिगिनिंग करने का मतलब और उसे क्लियर करने का मतलब यह होता है कि आपने बहुत मेहनत किया होगा आज के बाद अच्छी नॉलेज अच्छे टॉयलेट दूंगा आप समय से पढ़ाई की हो तो समझ गई होगी जब आप यूपीएससी क्लियर करते हैं इसके बहुत मेहनत करनी पड़ती बहुत मेहनत करनी पड़ती है अपने आपको हर दिन उठाना पड़ता है कि चलो तैयारी करो जरूर पाया पढ़ाई करो इस प्रकार से होता है बहुत खतरनाक जिंदगी में जिया जाता है और भाई और आप देश सेवा में योगदान देने लगेंगे तो वास्तविकता में यह करने के बाद जिंदगी बहुत अच्छी हो कि आप एक अच्छे स्टेटस क्यों हो जाएंगे आपका हो जाएगा आप भी समाज को कुछ कर दिखाने की चाहत रखेंगे उस समय और रखेंगे भी ओके तो वही बेसिक ले करने के बाद बहुत सारी होना होगा ओके बेस्ट ऑफ लक विद आशीष कुमार मौर्या बाय बाय

hello friend aapka swaagat hai hamare channel new beginning karne ka matlab aur use clear karne ka matlab yah hota hai ki aapne bahut mehnat kiya hoga aaj ke baad achi knowledge acche toilet dunga aap samay se padhai ki ho toh samajh gayi hogi jab aap upsc clear karte hain iske bahut mehnat karni padti bahut mehnat karni padti hai apne aapko har din uthana padta hai ki chalo taiyari karo zaroor paya padhai karo is prakar se hota hai bahut khataranaak zindagi mein jiya jata hai aur bhai aur aap desh seva mein yogdan dene lagenge toh vastavikta mein yah karne ke baad zindagi bahut achi ho ki aap ek acche status kyon ho jaenge aapka ho jaega aap bhi samaj ko kuch kar dikhane ki chahat rakhenge us samay aur rakhenge bhi ok toh wahi basic le karne ke baad bahut saree hona hoga ok best of luck with aashish kumar maurya bye bye

हेलो फ्रेंड आपका स्वागत है हमारे चैनल न्यू बिगिनिंग करने का मतलब और उसे क्लियर करने का मतल

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मित्र आप जानना चाहते हैं कि यूपीएससी की तैयारी के दौरान यूपीएससी जारी करने से पहले के बाद जीवन कैसा होता है उनको बता दो कि जिंदगी पहले भी झंड थी आदमी ठंडी ठंडी रहेगी जो मानव जीवन है ना इसमें संतुष्टि कभी नहीं आती 11 कभी भी नहीं आती उदाहरण के तौर पर भी बहुत बड़ा बिजनेसमैन था ना आज राष्ट्रपति बन गया तो संतोष है और कुछ और मिल जाएगा तो कभी मिलती नहीं जीवन में परिवर्तन होता है तो वह लाइफ ऑफ स्टैंडर्ड शिकार मिलेगी अच्छा यह होगा यह सरकारी नौकरी करनी है वही अमृतसर हो जाता है आप लिखी नहीं कर पाओगे कभी-कभी आप यकीन कर सकते हो ना सीधा प्राइम मिनिस्टर ऑफिस से फोन आता कई सारे लोग कैसे होते जिनके हाथ पैर कांप जाते हैं और कुछ और कुछ बात और कुछ बात नहीं होती ऑर्डर मिलता है कि यह घटना है मतलब करना है प्रिय दूसरा सवाल नहीं सोच रहा है कि सही है गलत है कानून के दायरे में रहकर करना है संविधान के दायरे में रहकर भी करना है किसी भी तरीके से करोगे वह आपकी प्रॉब्लम है किस तरीके से हैंडल करोगे वह डिपेंड करता है इंडिविजुअल किसी भी चीज को कैसे वोट कर सकते हम सबसे ज्यादा तैयारी के दौरान सारे उदाहरण की तैयारी के दौरान जिन की मशीन की जिंदगी हो जाती है वैसे जिंदगी हो जाती है कितने बजे पढ़ना है अपने बजे जागना है उसने मुझे सोना है सारे काम जाना है सीरियसली करो तैयारी के दौरान आपको बताऊंगा आपको ऐसे भोलाराम के जीव की तरह हो जाता है कि मुझे आप जानते हो यह मराठीत हो गए क्या दुनिया का सबसे बड़ा हुआ चाहिए लड़की की इच्छाओं का दमन कभी होता नहीं है इसमें कभी शांत नहीं होती संस्कृति किसी को भी मजा आ गया फिर आप ट्रांसपोर्ट पर कॉल करके अपनी लाइफ में लाइफ को दीदी का फंडा है एक गरीब से गरीब आदमी भी हो सकता है उदाहरण तो यह सारी चीजें बहुत ज्यादा मायने नहीं रखती बहुत ज्यादा मायने रखती है लेकिन बहुत ज्यादा आपकी जिंदगी आपकी 24 मिनट से मदद किया जाए धन्यवाद

namaskar mitra aap janana chahte hain ki upsc ki taiyari ke dauran upsc jaari karne se pehle ke baad jeevan kaisa hota hai unko bata do ki zindagi pehle bhi jhand thi aadmi thandi thandi rahegi jo manav jeevan hai na isme santushti kabhi nahi aati 11 kabhi bhi nahi aati udaharan ke taur par bhi bahut bada bussinessmen tha na aaj rashtrapati ban gaya toh santosh hai aur kuch aur mil jaega toh kabhi milti nahi jeevan mein parivartan hota hai toh vaah life of standard shikaar milegi accha yah hoga yah sarkari naukri karni hai wahi amritsar ho jata hai aap likhi nahi kar paoge kabhi kabhi aap yakin kar sakte ho na seedha prime minister office se phone aata kai saare log kaise hote jinke hath pair kamp jaate hain aur kuch aur kuch baat aur kuch baat nahi hoti order milta hai ki yah ghatna hai matlab karna hai priya doosra sawaal nahi soch raha hai ki sahi hai galat hai kanoon ke daayre mein rahkar karna hai samvidhan ke daayre mein rahkar bhi karna hai kisi bhi tarike se karoge vaah aapki problem hai kis tarike se handle karoge vaah depend karta hai individual kisi bhi cheez ko kaise vote kar sakte hum sabse zyada taiyari ke dauran saare udaharan ki taiyari ke dauran jin ki machine ki zindagi ho jaati hai waise zindagi ho jaati hai kitne baje padhna hai apne baje jagana hai usne mujhe sona hai saare kaam jana hai seriously karo taiyari ke dauran aapko bataunga aapko aise bholaram ke jeev ki tarah ho jata hai ki mujhe aap jante ho yah marathit ho gaye kya duniya ka sabse bada hua chahiye ladki ki ikchao ka daman kabhi hota nahi hai isme kabhi shaant nahi hoti sanskriti kisi ko bhi maza aa gaya phir aap transport par call karke apni life mein life ko didi ka fanda hai ek garib se garib aadmi bhi ho sakta hai udaharan toh yah saree cheezen bahut zyada maayne nahi rakhti bahut zyada maayne rakhti hai lekin bahut zyada aapki zindagi aapki 24 minute se madad kiya jaaye dhanyavad

नमस्कार मित्र आप जानना चाहते हैं कि यूपीएससी की तैयारी के दौरान यूपीएससी जारी करने से पहले

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  152
WhatsApp_icon
play
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

4:17

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपीएससी की तैयारी करने और यूपीएससी की तैयारी करने के दौरान और उसको क्लियर करने के बाद इंसान का जीवन कैसा होता है यह आपका एक प्रश्न है स्पष्ट है कि किसी भी परीक्षा को जारी करने से पहले इंसान को एक विद्यार्थी जीवन जीना पड़ता है विद्यार्थी जीवन बहुत तपस्वी जीवन होता है क्योंकि यही एक ऐसा जीवन होता है जहां इंसान को सब कुछ सीखने का ऑप्शन मिलता है इसलिए किसी भी परीक्षा को अपने जीवन के आखिरी परीक्षा मत मानो जीवन है तो ट्रैक्टर की परीक्षाएं आती रहती हैं चाहे वह शिक्षित हो चाहे वह यूपीएससी की हूं परीक्षा के दौरान विद्यार्थी तनाव में होता है जिसके सामने कुछ होता है और उस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए उसके अंदर एक तड़पन होती है तड़प होती है बेचैनी होती है जुनून होता है और संघर्ष करने की एक सीमा होती है और उसको जब वह सफल प्राप्त कर लेता है जब एग्जाम क्लियर कर लेता है और अपने लक्ष्य को प्राप्त कर लेता है शायद उसको जिंदगी की सभी खुशियां मिल जाती हैं अभी तो उसने परीक्षा पास की है ना कि जीवन की शुरुआत की परीक्षा पास करने के बाद उसे कैसा महसूस होता है संपूर्ण जीवन के 3 पहलू बचपन युवावस्था और हाई मींस जिम्मेदारी कहते हैं बचपन की और युवावस्था चुनाव आयुक्त चाहिए ग्रस्त जीवन आनंद में उत्तर दीजिएगा कि मैं क्या कहना चाहता हूं आर यू पी एस सी की परीक्षा के लिए करने के बाद जीवन की शुरुआत होती है उस जीवन को आप कैसे जिएंगे यह आप पर निर्भर अगर आप ने इमानदारी मेहनत परिश्रम कठोर अनुशासन के अंतर्गत अपने लक्ष्य को हासिल किया है तो मैं नहीं समझता क्या अपने जीवन में आप सिद्धांतों से समझौता करेंगे या किसी के आगे झुकेंगे या आप किसी के समस्त कमजोर पड़ेंगे क्योंकि जिस तरह हार से हाय आती है टकराकर चली जाती है कभी-कभी पहाड़ का एक टुकड़ा खिसक जाता है इसका मतलब यह नहीं होता कि पहाड़ कमजोर हो गया इसी तरह से जीवन में संघर्ष आएंगे और उन संघर्षों का आपको सामना करना पड़ेगा यह सोचकर सामना कीजिए तूफान आ रहा है आपके जीवन में उथल-पुथल करेगा और उस दुकान का आपको सामना करना है अगर एक बार तूफान को दबा दिया तूफान की हिम्मत नहीं होगी दोबारा आपको डगमगा सके तो जीवन के तीन चरण है बचपन से लेकर सफलता तक इसी तरह परीक्षा में शामिल होना के पहले शामिल होने के दौरान जारी करने का सफलता प्राप्त करने के बाद तीनों चरण आनंद में ही होते हैं बस नजरिया अपना अपना

upsc ki taiyari karne aur upsc ki taiyari karne ke dauran aur usko clear karne ke baad insaan ka jeevan kaisa hota hai yah aapka ek prashna hai spasht hai ki kisi bhi pariksha ko jaari karne se pehle insaan ko ek vidyarthi jeevan jeena padta hai vidyarthi jeevan bahut tapaswi jeevan hota hai kyonki yahi ek aisa jeevan hota hai jaha insaan ko sab kuch sikhne ka option milta hai isliye kisi bhi pariksha ko apne jeevan ke aakhiri pariksha mat maano jeevan hai toh tractor ki parikshaen aati rehti hain chahen vaah shikshit ho chahen vaah upsc ki hoon pariksha ke dauran vidyarthi tanaav mein hota hai jiske saamne kuch hota hai aur us lakshya ko prapt karne ke liye uske andar ek tadpan hoti hai tadap hoti hai bechaini hoti hai junun hota hai aur sangharsh karne ki ek seema hoti hai aur usko jab vaah safal prapt kar leta hai jab exam clear kar leta hai aur apne lakshya ko prapt kar leta hai shayad usko zindagi ki sabhi khushiya mil jaati hain abhi toh usne pariksha paas ki hai na ki jeevan ki shuruat ki pariksha paas karne ke baad use kaisa mehsus hota hai sampurna jeevan ke 3 pahaloo bachpan yuvavastha aur high means jimmedari kehte hain bachpan ki aur yuvavastha chunav aayukt chahiye grast jeevan anand mein uttar dijiyega ki main kya kehna chahta hoon R you p s si ki pariksha ke liye karne ke baad jeevan ki shuruat hoti hai us jeevan ko aap kaise jeeenge yah aap par nirbhar agar aap ne imaandari mehnat parishram kathor anushasan ke antargat apne lakshya ko hasil kiya hai toh main nahi samajhata kya apne jeevan mein aap siddhanto se samjhauta karenge ya kisi ke aage jhukenge ya aap kisi ke samast kamjor padenge kyonki jis tarah haar se hi aati hai takraakar chali jaati hai kabhi kabhi pahad ka ek tukda khisak jata hai iska matlab yah nahi hota ki pahad kamjor ho gaya isi tarah se jeevan mein sangharsh aayenge aur un sangharshon ka aapko samana karna padega yah sochkar samana kijiye toofan aa raha hai aapke jeevan mein uthal puthal karega aur us dukaan ka aapko samana karna hai agar ek baar toofan ko daba diya toofan ki himmat nahi hogi dobara aapko dagmaga sake toh jeevan ke teen charan hai bachpan se lekar safalta tak isi tarah pariksha mein shaamil hona ke pehle shaamil hone ke dauran jaari karne ka safalta prapt karne ke baad tatvo charan anand mein hi hote hain bus najariya apna apna

यूपीएससी की तैयारी करने और यूपीएससी की तैयारी करने के दौरान और उसको क्लियर करने के बाद इंस

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1256
WhatsApp_icon
user

Salil Bijur

Civil servant (IRS)

0:47
Play

Likes  89  Dislikes    views  2111
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं गफ्फार अहमद यूपीएससी की तैयारी कर रहा हूं इलाहाबाद से मैंने हाईस्कूल छिबरामऊ कन्नौज से किया इंटरमीडिएट विद छिबरामऊ कन्नौज से की है ग्रेजुएशन फर्रुखाबाद से की है

main gaffar ahmad upsc ki taiyari kar raha hoon allahabad se maine highschool chibramau kannauj se kiya intermediate with chibramau kannauj se ki hai graduation farrukhabad se ki hai

मैं गफ्फार अहमद यूपीएससी की तैयारी कर रहा हूं इलाहाबाद से मैंने हाईस्कूल छिबरामऊ कन्नौज स

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  73
WhatsApp_icon
user
0:22
Play

Likes  2  Dislikes    views  100
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!