क्या सिविल सेवाओं ने अपना महत्व खो दिया है ऐसा क्यों है की बहुत से लोग अब VRS का चयन कर रहे हैं?...


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब राजनीति का दुष्प्रभाव प्रशासन में पड़ता है और प्रशासन जनता के पास अपने सारी समस्याओं के समाधान करने के अतिरिक्त उनके ऊपर जबरदस्ती बोल डालने के लिए आता है क्योंकि समाज की प्रक्रिया मशीनरी जो बनाई गई है शासन कानून बनाने के लिए और प्रशासन कानून का पालन कराने के लिए शासन और प्रशासन और सख्त कानून को अपने हाथ में लेकर के प्रशासन को भी अपने हाथ में ले लेता तो सच्चे ईमानदार लेते हैं

jab raajneeti ka dushprabhav prashasan me padta hai aur prashasan janta ke paas apne saari samasyaon ke samadhan karne ke atirikt unke upar jabardasti bol dalne ke liye aata hai kyonki samaj ki prakriya machinery jo banai gayi hai shasan kanoon banane ke liye aur prashasan kanoon ka palan karane ke liye shasan aur prashasan aur sakht kanoon ko apne hath me lekar ke prashasan ko bhi apne hath me le leta toh sacche imaandaar lete hain

जब राजनीति का दुष्प्रभाव प्रशासन में पड़ता है और प्रशासन जनता के पास अपने सारी समस्याओं के

Romanized Version
Likes  252  Dislikes    views  2109
KooApp_icon
WhatsApp_icon
11 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!