क्या UPSC ग्रुप ए अधिकारीयों को SSC CGL के माध्यम से आने वाले ग्रुप बी अधिकारीयों के मुक़ाबले में ज़्यादा महत्व दिया जाता है?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

व्हाट्सएप तो जाहिर सी बात है ना आप जो पूछ रहे थे इसमें भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों को ज्यादा महत्व किसके द्वारा दिया जाता है यह भी कंप्लीट सीनियर मेरा की मदद किया धन्यवाद

whatsapp toh jaahir si baat hai na aap jo puch rahe the isme bharatiya prashaasnik seva ke adhikaariyo ko zyada mahatva kiske dwara diya jata hai yah bhi complete senior mera ki madad kiya dhanyavad

व्हाट्सएप तो जाहिर सी बात है ना आप जो पूछ रहे थे इसमें भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  147
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Ashish Ogley

Owner OGLEY IAS MPPSC

1:49

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दुआ बिल्कुल पधारो केडी सरकार के प्रथम श्रेणी के राजपत्रित अधिकारियों के पदों के लिए भर्ती का कार्य करता है और इसी प्रकार से यूपीएससी के अलावा 10 कर्मचारी और संगठन के कृषि संगठन में कर्मचारी स्तर के पदों पर भर्ती के लिए आने के स्टाफ सिलेक्शन कमीशन की स्थापना सबसे पहले की गई थी और इस स्टाफ सिलेक्शन कमीशन की स्थापना लगभग और जहां तक मैं समझता हूं कि 1971 के दशक में प्रदान किया गया था स्थापित किया गया था और इसके लिए आरती एडमिशन के द्वारा की गई थी बाकी तो है क्या सुन क्लास की प्रथम अधिवेशन के लिए क्लास क्लास पढ़ने के लिए परीक्षा का आयोजन कराते हैं अपनी क्लास की कॉपी ग्रुप होते हैं लेकिन और तृतीय श्रेणी के कई ग्रुप होता है इनमें दिया ग्रुप डी ग्रुप एक ही बात करते हैं उधर तो यह दूसरी श्रेणी के पदाधिकारियों के अधीन है या प्रथम श्रेणी के अधिकारियों के ज्यादा होता है हमारा अपना एक युटुब चैनल चलता है वह दिए निवाई अगले आईएस के नाम से आप चाहे तो ऐसे ही कंटेंट के लिए आपको हमारे इस यूट्यूब पर चैनल को सब्सक्राइब कर सकते

dua bilkul padhaaro kaidi sarkar ke pratham shreni ke rajpatrit adhikaariyo ke padon ke liye bharti ka karya karta hai aur isi prakar se upsc ke alava 10 karmchari aur sangathan ke krishi sangathan mein karmchari sthar ke padon par bharti ke liye aane ke staff selection commision ki sthapna sabse pehle ki gayi thi aur is staff selection commision ki sthapna lagbhag aur jaha tak main samajhata hoon ki 1971 ke dashak mein pradan kiya gaya tha sthapit kiya gaya tha aur iske liye aarti admission ke dwara ki gayi thi baki toh hai kya sun class ki pratham adhiveshan ke liye class class padhne ke liye pariksha ka aayojan karate hain apni class ki copy group hote hain lekin aur tritiya shreni ke kai group hota hai inmein diya group d group ek hi baat karte hain udhar toh yah dusri shreni ke padadhikariyon ke adheen hai ya pratham shreni ke adhikaariyo ke zyada hota hai hamara apna ek yutub channel chalta hai vaah diye niwai agle ias ke naam se aap chahen toh aise hi content ke liye aapko hamare is youtube par channel ko subscribe kar sakte

दुआ बिल्कुल पधारो केडी सरकार के प्रथम श्रेणी के राजपत्रित अधिकारियों के पदों के लिए भर्ती

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  498
WhatsApp_icon
user

Deependra Singh

Competitive Exam Expert

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल सर बहुत ज्यादा महत्व दिया जाता है इनकी लो भी अलग हो जाती है सर एक आप एसएससी के थ्रू जाते हैं एक यूपीएससी के दूर जाते हैं तो बहुत ही सारे डिफरेंस जाते ऑफिस में यह लोग साथ लंच भी नहीं करते हैं ठीक नहीं होता अगर आप यूपीएससी के लाइट पोस्ट भी पहुंचने के लिए आपकी लाइफ लो मर जाती है प्रिंटर सर्विस लग जाती है लगभग 25 साल में आप उसे लाइट पोस्ट पर पहुंचते हैं तो वहां पर कोई एक नया प्रश्न आता है 25 साल का 23 साल का यंगस्टर जो जस्ट अब यूपीएससी क्लियर करके आ तो आप कैसे अपने आपको उससे कंपेयर कर पाएंगे कभी भी यह कंपैरिजन हो ही नहीं सकता अब इसमें काफी सारे डिफरेंस है आपका भी अगर आपने किसी ऑफिस में होंगे तो अपनी कलिक से पूछे फ्रेंड से पूछिए मैं खुद डिपार्टमेंट में हूं तो डिफरेंस मिलेंगे आपको

bilkul sir bahut zyada mahatva diya jata hai inki lo bhi alag ho jaati hai sir ek aap ssc ke through jaate hain ek upsc ke dur jaate hain toh bahut hi saare difference jaate office me yah log saath lunch bhi nahi karte hain theek nahi hota agar aap upsc ke light post bhi pahuchne ke liye aapki life lo mar jaati hai printer service lag jaati hai lagbhag 25 saal me aap use light post par pahunchate hain toh wahan par koi ek naya prashna aata hai 25 saal ka 23 saal ka youngster jo just ab upsc clear karke aa toh aap kaise apne aapko usse compare kar payenge kabhi bhi yah kampairijan ho hi nahi sakta ab isme kaafi saare difference hai aapka bhi agar aapne kisi office me honge toh apni kalik se pooche friend se puchiye main khud department me hoon toh difference milenge aapko

बिल्कुल सर बहुत ज्यादा महत्व दिया जाता है इनकी लो भी अलग हो जाती है सर एक आप एसएससी के थ्र

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  355
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!