क्या IAS अधिकारीयों को हमारे देश में कुछ ज़्यादा ही प्रशंसा मिलती है या बहुत कम?...


play
user

Adityavikram Hirani

IAS Officer Trainee at LBSNAA

3:27

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह सवाल जवाब तो यह तेरा सवाल है जो रचना हुई थी इस चीज की तरीका जो इंसान सेंटर ऑफ एडमिनिस्ट्रेशन है बेशक अभी नहीं किया जा सकता कि सेंटर ऑफिस कहां कहां जाता है कि मिक्स टू कराड ग्रुप की होती है पेट से जन्म होता है तो मैं कहूंगा क्या स्पेलिंग होगा डेकोरेटिव युटुब चैनल पर हो तो युद्ध इतने अच्छे से करते हैं और जो हमारे काम के हिसाब से जो होना चाहिए अपने डिस्ट्रिक्ट का उद्धार कर चुका स्टोर उत्तर में 1 तरीके से अपना कॉन्स्टिट्यूशन में यह काम अगर करते करते हैं आपको पब्लिक सराहना मिल जाती है आपकी पोस्ट को बहुत ज्यादा तबीयत खराब हो जाती है या फिर आपके शाम को मिलती है रामपुर तक नहीं निकलती सब पर चक चक मुझे ऐसा नहीं लगता कि आज की दिन की सैलरी कितनी है वह मैंने आंटी है कि नहीं सो वही प्रिंसिपल अप्लाई होता है कि हमारी जो सैलरी हमको जिंदगी है वह हमें जब तक हमें लगता नहीं समझा कि और तभी आता है जब हमारे पूरे होते हैं ना कि हमारी पब्लिकेशन कैसी है और पब्लिक लिमिटेड

yah sawaal jawab toh yah tera sawaal hai jo rachna hui thi is cheez ki tarika jo insaan center of administration hai beshak abhi nahi kiya ja sakta ki center office kahaan kahaan jata hai ki mix to karad group ki hoti hai pet se janam hota hai toh main kahunga kya spelling hoga decorative yutub channel par ho toh yudh itne acche se karte hain aur jo hamare kaam ke hisab se jo hona chahiye apne district ka uddhar kar chuka store uttar mein 1 tarike se apna Constitution mein yah kaam agar karte karte hain aapko public sarahana mil jaati hai aapki post ko bahut zyada tabiyat kharab ho jaati hai ya phir aapke shaam ko milti hai rampur tak nahi nikalti sab par chak chak mujhe aisa nahi lagta ki aaj ki din ki salary kitni hai vaah maine aunty hai ki nahi so wahi principal apply hota hai ki hamari jo salary hamko zindagi hai vaah hamein jab tak hamein lagta nahi samjha ki aur tabhi aata hai jab hamare poore hote hain na ki hamari publication kaisi hai aur public limited

यह सवाल जवाब तो यह तेरा सवाल है जो रचना हुई थी इस चीज की तरीका जो इंसान सेंटर ऑफ एडमिनिस्ट

Romanized Version
Likes  170  Dislikes    views  2778
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!