क्या क़ानून होना चाहिए जहां भारतीय मुसलमानों को पाकिस्तानी बुलाए जाने के लिए दंडित किया जाएगा? क्यों?...


play
user

साकेत कुमार

Senior Software Developer

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं इस बात से तो बिल्कुल सहमत हूं कि इस तरह के मजाक का एक सभ्य समाज में कोई स्थान नहीं इस तरह का बैंक स्टैटिक टिप्पणियां यह हमारी सभ्यता के परिचायक नहीं है और अपने कानून की बात करिए मुझे नहीं लगता कोई भी कानून आपको शिष्टाचार सिखा सकता है शिष्टाचार घर से अब के माहौल से आपके समाज से इन सबो की परवरिश से आता है तो या परिवर्तन आप अपने घर के बच्चों को अच्छी शिक्षा दे कर कर सकते हैं और आप अपना फ्यूचर जो है जो अपना भविष्य है वहां पर इस तरह की सोच को मारा जा सकता है कच्ची परवरिश से आप इस तरह का कोई भी कानून नल लादे कानून से कुछ नहीं होता सामाजिक समस्याएं किसी भी कानून से ठीक नहीं हो सकती सामाजिक समस्याओं के लिए एक मानसिक परिवर्तन की जरूरत है एक मोबाइल चाहिए तो मुझे भी लगता कि आप कोई भी कानून ला देंगे तो इस तरह की बदतमीजी है बंद हो जाएंगी इस तरह की बदतमीजी एक ही उपाय है कि आप सामाजिक स्तर पर से सुधारें ऐसे लोगों का 22 करण करें आप जी ने जानते हैं कि जी ने ऐसी आदत है उसे मिलता ना करें जैसे ही वह देखेंगे कि समाज मुझे बहिष्कार कर रहा है समाज मुझे ठुकरा रहा है तभी तो

main is baat se toh bilkul sahmat hoon ki is tarah ke mazak ka ek sabhya samaj mein koi sthan nahi is tarah ka bank Static tippaniyaan yeh hamari sabhyata ke parichayak nahi hai aur apne kanoon ki baat kariye mujhe nahi lagta koi bhi kanoon aapko shishtachar sikha sakta hai shishtachar ghar se ab ke maahaul se aapke samaj se in sabo ki parvarish se aata hai toh ya parivartan aap apne ghar ke baccho ko acchi shiksha de kar kar sakte hain aur aap apna future jo hai jo apna bhavishya hai wahan par is tarah ki soch ko mara ja sakta hai kachhi parvarish se aap is tarah ka koi bhi kanoon nal laade kanoon se kuch nahi hota samajik samasyaen kisi bhi kanoon se theek nahi ho sakti samajik samasyaon ke liye ek mansik parivartan ki zarurat hai ek mobile chahiye toh mujhe bhi lagta ki aap koi bhi kanoon la denge toh is tarah ki badatamiji hai band ho jayegi is tarah ki badatamiji ek hi upay hai ki aap samajik sthar par se sudhare aise logo ka 22 karan karein aap ji ne jante hain ki ji ne aisi aadat hai use milta na karein jaise hi wah dekhenge ki samaj mujhe bahishkar kar raha hai samaj mujhe thukara raha hai tabhi toh

मैं इस बात से तो बिल्कुल सहमत हूं कि इस तरह के मजाक का एक सभ्य समाज में कोई स्थान नहीं इस

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1286
KooApp_icon
WhatsApp_icon
10 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!