क्या आप प्रधान मंत्री मोदी से सहमत हैं कि 70 साल पहले कांग्रेस ने भारत को विभाजित किया था? समझाइए?...


play
user

Awdhesh Singh

Former IRS, Top Quora Writer, IAS Educator

0:52

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं बिल्कुल इस बात से सहमत नहीं हूं कि 70 साल पहले कांग्रेस ने भारत को विभाजित किया था| देखिए कांग्रेस तो बिल्कुल ही विभाजन के खिलाफ थी और महात्मा गांधी ने तो यहां तक कहा था कि पाकिस्तान मेरे डेड बॉडी पर बनेगा, मृत्य शरीर पर बनेगा| लेकिन उस समय जैसे हालात थे जिस तरीके से दंगे शुरू हो गए पुरे देश में, मुस्लिम लीग के वजह से| और ब्रिटिश का समय शासन था और वह लोग नाकाम रहे उन दंगों को कंट्रोल करने में वोइलेंस कंट्रोल करने में| तो इस टाइप कि सिचुएशन क्रिएट हो गयी कि कांग्रेस को डिवीजन को एक्सेप्ट करना पड़ा इसलिए यह बिल्कुल ही गलत इल्जाम है कि जो है 70 साल पहले जो है कांग्रेस ने भारत को विभाजित किया था| कांग्रेस ने भारत के विभाजन को रोकने की पूरी कोशिश की थी और वह उस समय के हालात कि वजह से कामयाब नहीं हो पाए थे|

main bilkul is baat se sahmat nahi hoon ki 70 saal pehle congress ne bharat ko vibhajit kiya tha dekhie chahiye congress to bilkul hi vibhajan ke khilaf thi aur mahatma gandhi ne to yahan tak kaha tha ki pakistan mere dead body par banega mritya sharir par banega lekin us samay jaise halaat the jis tarike se denge shuru ho gaye poore desh mein muslim league ke wajah se aur british ka samay shasan tha aur wah log nakam rahe un dango ko control karne mein voilens control karne mein to is type ki situation create ho gayi ki congress ko division ko except karna pada isliye yeh bilkul hi galat illajam hai ki jo hai 70 saal pehle jo hai congress ne bharat ko vibhajit kiya tha congress ne bharat ke vibhajan ko rokne ki puri koshish ki thi aur wah us samay ke halaat ki wajah se kamyab nahi ho paye the

मैं बिल्कुल इस बात से सहमत नहीं हूं कि 70 साल पहले कांग्रेस ने भारत को विभाजित किया था| दे

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  462
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यश मोदी साहब की बात में जान है पर क्यों लॉजिक पूर्ण है क्योंकि विभाजन का कारण उस सभी बन गया था जब मिस्टर जिन्ना और नेहरू दोनों की महत्वाकांक्षा रखने के लिए गांधी जी के द्वारा यह फैसला स्वीकार कर लिया गया कि भारत के दो भाग कर दिया एक पाकिस्तान और एक भारत का समय में गांधीजी ने अपने शिक्षक के नेहरू जी के मोह को त्याग दिया होता और उस समय उस समय सरदार बल्लभ भाई पटेल को भारत का प्रधानमंत्री बना दिया गया होता मैं सो जाऊं कई समस्याएं नहीं चल पाती ना पाकिस्तान का न मानो पता न कश्मीर की समस्या की बलवान हो पाती कि आज 70 सालों से हम जूझ रहे हैं तब जाकर खरीदनी समस्या से मुक्ति मिलेगी और आज भी जो देख रहे हो आप यह एकीकरण किया मिस्टर सरदार वल्लभभाई पटेल यह देश उनके योगदान को हमेशा याद करता रहेगा कोई वाकई लोग ब्लॉक पुरुष थे बाकी स्ट्रांगमैन है उनको मैं बार-बार सबूत करता हूं उसमें तो यह जो अंग्रेजो के द्वारा विभाजन वाली जूती चाहिए अंग्रेजों की फूट डालो राज करो ठीक उसी का अनुसरण किया है इसी उसके कारण से आदमी देख लो देश की यह दयनीय हालत है

yash modi saheb ki baat mein jaan hai par kyon logic purn hai kyonki vibhajan ka karan us sabhi ban gaya tha jab mister jinnah aur nehru dono ki mahatwakanksha rakhne ke liye gandhi ji ke dwara yah faisla sweekar kar liya gaya ki bharat ke do bhag kar diya ek pakistan aur ek bharat ka samay mein gandhiji ne apne shikshak ke nehru ji ke moh ko tyag diya hota aur us samay us samay sardar ballabh bhai patel ko bharat ka pradhanmantri bana diya gaya hota main so jaaun kai samasyaen nahi chal pati na pakistan ka na maano pata na kashmir ki samasya ki balwan ho pati ki aaj 70 salon se hum joojh rahe hai tab jaakar kharidani samasya se mukti milegi aur aaj bhi jo dekh rahe ho aap yah ekikaran kiya mister sardar vallabhbhai patel yah desh unke yogdan ko hamesha yaad karta rahega koi vaakai log block purush the baki strangamain hai unko main baar baar sabut karta hoon usme toh yah jo angrejo ke dwara vibhajan wali juti chahiye angrejo ki foot dalo raj karo theek usi ka anusaran kiya hai isi uske karan se aadmi dekh lo desh ki yah dayaniye halat hai

यश मोदी साहब की बात में जान है पर क्यों लॉजिक पूर्ण है क्योंकि विभाजन का कारण उस सभी बन गय

Romanized Version
Likes  80  Dislikes    views  1595
WhatsApp_icon
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

1909 जब मार्ले मिंटो सुधार भारत में लागू किया गया था तो उसमें मुस्लिम के लिए पृथक वोट की जो प्रथा थी वह शुरू हो गई, उसमें यह था कि अगर किसी सीट को मुस्लिम सीट कहां गया है तो वहां केवल मुस्लिम ही खड़े हो सकते हैं| उसमें एक चीज और थी कि मुस्लिम सीट पर केवल मुस्लिम व्यक्ति ही वोट डाल सकेगा और कोई नहीं, यानी कि जो व्यक्ति खड़ा होगा वह मुसलमान और जो वोट डालेगा वो भी मुसलमान| तो इस से देश को विभाजित की राजनीति शुरु हो गई थी| तो मुझे लगता है कि इस चीज से जब उस समय का ऐसा दौर था ही कि धर्म के नाम पर बांटा जा रहा था और हमारे देश में नहीं पूरी दुनिया में, धर्मों के नाम पर बांटा जा रहा था, चाहे वह जापान में हो, चाहे वह इंडिया में हो, चाहे वह चाइना में हो सब कहीं ऐसा चल रहा था, सब जगह पूरी दुनिया में| तो उस समय इस चीज का फायदा उठाकर कुछ लोगों ने अपनी राजनीतिक फायदा उठाया शासन करने के लिए उन्होंने अपने अलग अलग देश की मांग की| छोटे-छोटे राजाओं ने जिन्होंने अंग्रेजों की आदिपथ्य स्वीकार कर लिया था तो वह भी कहने लगे कि हमें भी अलग होना है लेकिन वह तो भारत सरकार में एक बेहद ही कह सकते हैं एक ऐसी राजनीतिग्य की हुए जिनकी वजह से हमारा देश एक हो पाया सरदार वल्लभभाई पटेल| उनकी वजह से हमारा देश एक तो पाया लेकिन फिर भी मोहम्मद अली जीना अड़े रहे मुसलमानों की बात करते रहे और उस समय की राजनीति ऐसी थी कि धर्म के नाम पर लड़ते थे| आज के समय में ऐसा नहीं है केवल आज के समय में हिंदुस्तान की राजनीति में ऐसा है और कंही नहीं है| तो उस समय उन्होंने बोला कि अलग राष्ट्र की मांग की, तो मुझे लगता नहीं है कि इसमें कहीं से कहीं कांग्रेस का कोई हाथ है या कांग्रेस ने विभाजित किया ऐसा बिल्कुल भी नहीं है| हां यह जरूर हो सकता है कि उन्होंने उनकी बात को माना, उसके जो दंगे हुए उस पर ढंग से ध्यान नहीं दिया| लेकिन कुछ चीजें ऐसी होती है कि नहीं रोकना लगभग संभव होता है| तो उसमें कांग्रेस का कहीं से कहीं तक कोई हाथ मुझे समझ में नहीं आता और मोदी जी का जो विचार है मुझे लगता है बहुत गलत है कांग्रेस ने बिल्कुल देश को डिवाइड नहीं किया उस समय डिवाइड नहीं किया हो सकता है बाद में उन्होंने वोट बैंक की राजनीति के लिए इसका इस्तेमाल किया धन्यवाद|

1909 jab marley minto sudhaar bharat mein laagu kiya gaya tha to usamen chahiye muslim ke liye prithak vote ki jo pratha thi wah shuru ho gayi usamen chahiye yeh tha ki agar kisi seat ko muslim seat Kahan chahiye gaya hai to wahan kewal muslim hi khade ho sakte hai usamen chahiye ek cheez aur thi ki muslim seat par kewal muslim vyakti hi vote dal sakega aur koi nahi yani ki jo vyakti khada hoga wah musalman aur jo vote dalega vo bhi musalman to is se desh ko vibhajit ki rajneeti shuru ho gayi thi to mujhe lagta hai ki is cheez se jab us samay ka aisa daur tha hi ki dharm ke naam par baata ja raha tha aur hamare desh mein nahi puri duniya mein dharmon ke naam par baata ja raha tha chahe wah japan mein ho chahe wah india mein ho chahe wah china mein ho sab kahin aisa chal raha tha sab jagah puri duniya mein to us samay is cheez ka fayda uthaakar kuch logo chahiye ne apni rajnitik fayda uthaya shasan karne ke liye unhone apne alag alag desh ki maang ki chote chote rajao ne jinhone angrejo ki adipathya sweekar kar liya tha to wah bhi kehne lage ki hume bhi alag hona hai lekin wah to bharat sarkar mein ek behad hi keh sakte hai ek aisi rajnitigya ki hue jinaki wajah se hamara desh ek ho paya sardar vallabhbhai patel unki wajah se hamara desh ek to paya lekin phir bhi mohammed ali jeena ade rahe musalmano ki baat karte rahe aur us samay ki rajneeti aisi thi ki dharm ke naam par ladte the aaj ke samay mein aisa nahi hai kewal aaj ke samay mein hindustan ki rajneeti mein aisa hai aur kanhi nahi hai to us samay unhone bola ki alag rashtra ki maang ki to mujhe lagta nahi hai ki isme kahin se kahin congress ka koi hath hai ya congress ne vibhajit kiya aisa bilkul bhi nahi hai haan yeh jarur ho sakta hai ki unhone unki baat ko mana uske jo denge hue us par dhang se dhyan nahi diya lekin kuch cheezen aisi hoti hai ki nahi rokna lagbhag sambhav hota hai to usamen chahiye congress ka kahin se kahin tak koi hath mujhe samajh mein nahi aata aur modi ji ka jo vichar hai mujhe lagta hai bahut galat hai congress ne bilkul desh ko divide nahi kiya us samay divide nahi kiya ho sakta hai baad mein unhone vote bank ki rajneeti ke liye iska istemal kiya dhanyavad

1909 जब मार्ले मिंटो सुधार भारत में लागू किया गया था तो उसमें मुस्लिम के लिए पृथक वोट की ज

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  211
WhatsApp_icon
user

Manmohan paliwal

political thinker

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं प्रधानमंत्री मोदी की इस बात से सहमत हूं 70 साल पहले कांग्रेस ने भारत को विभाजित किया था और इस विभाजन का सबसे बड़ा कारण यह था कि उस समय पर जिन्ना और पंडित नेहरू दोनों में सत्ता की बहुत ज्यादा गलत थी और वो सत्ता के लिए किसी भी हद तक जाने को तैयार थे इसलिए उन्होंने देश के विभाजन को स्वीकार किया

main pradhanmantri modi ki is baat se sahmat hoon 70 saal pehle congress ne bharat ko vibhajit kiya tha aur is vibhajan ka sabse bada karan yah tha ki us samay par jinnah aur pandit nehru dono me satta ki bahut zyada galat thi aur vo satta ke liye kisi bhi had tak jaane ko taiyar the isliye unhone desh ke vibhajan ko sweekar kiya

मैं प्रधानमंत्री मोदी की इस बात से सहमत हूं 70 साल पहले कांग्रेस ने भारत को विभाजित किया थ

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  113
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिये मैं प्रधानमंत्री मोदी जी की यह बात से सहमत बिल्कुल नहीं हूँ जिस प्रकार से उन्होंने कहा कि 70 साल पहले से ही कांग्रेस ने जो है भारत को विभाजित कर दिया था तो मेरे हिसाब से यह बिल्कुल गलत है कहाँ ना कहाँ मोदी जी जो बोल रहे हो वह बिल्कुल सही नहीं है उन्हें जो है देश के बारे में यह सब बातें नहीं बोलनी चाहिए जिस प्रकार कांग्रेस ने जो है भारत को 70 साल पहले जो है विभाजित किया था क्योंकि अगर हम देखा जाए तो कहाँ ना कहाँ पर भारत पाकिस्तान का बंटवारा हो या हिंदू मुसलमान के झगड़े हो या फिर हम कह सकते हैं अलग-अलग धर्मों के बीच में कोई भी लड़ाई हो जाए और सिख दंगे हो तो कहाँ ना कहाँ पर यह सब चीज के लिए कांग्रेस जिम्मेदार नहीं है यह सब चीज के लिए जो है ना बाकी सब लोग जिम्मेदार है और वह लोग ज्यादा जिम्मेदार है जिन्होंने यह आग लगाई लोगों के बीच में| और हमने देखा है कि इसके पीछे सिर्फ कांग्रेस नहीं काफी सारी राजनीतिक पार्टीज है जो कि अपना समर्थन देते इस चीज को| उन्होंने जो है कुछ वोट बैंक के लिए जो है दंगे भी करा सकते हैं, तो कहाँ ना कहाँ प्रधानमंत्री मोदी जी ने कहा है कि 70 साल पहले से जो है कांग्रेस ने भारत को विभाजित कर दिया वह बिल्कुल सही नहीं है| कहाँ ना कहाँ पर मोदी जी जो है कांग्रेस पर बे मतलब या बे बुनियाद हमले कर रहे है| और फालतू का जो है कांग्रेस पर निशाना बना रहे है| तो कहाँ ना कहाँ पर मोदी जी ने जो कहा है वो सही नहीं कहा है उन्हें ऐसी सब बातों से बच के रहना चाहिए और अगर उनके पास पुख्ता सबूत है तो ही उन्हें बात बतानी चाहिए लेकिन ऐसे कोई पक्का सबूत नहीं है जो कि कहते कि 70 साल में कांग्रेस ने ही भारत को विभाजित किया है सिर्फ कांग्रेस ने ही नहीं ऐसे और भी लोग पीछे थे जिन्होंने भारत को विभाजित किया था|

dekhiye main pradhanmantri modi ji ki yeh baat se sahmat bilkul nahi hoon jis prakar se unhone kaha ki 70 saal pehle se hi congress ne jo hai bharat ko vibhajit kar diya tha to mere hisab se yeh bilkul galat hai kahan chahiye na kahan modi ji jo bol rahe ho wah bilkul sahi nahi hai unhen chahiye jo hai desh ke baare mein yeh sab batein nahi bolani chahiye jis prakar congress ne jo hai bharat ko 70 saal pehle jo hai vibhajit kiya tha kyonki agar hum dekha jaye to kahan chahiye na kahan par bharat pakistan ka batwara ho ya hindu musalman ke jhagde ho ya phir hum keh sakte hain alag alag dharmon ke beech mein koi bhi ladai ho jaye aur sikh denge ho to kahan chahiye na kahan par yeh sab cheez ke liye congress zimmedar nahi hai yeh sab cheez ke liye jo hai na baki sab log zimmedar hai aur wah log jyada zimmedar hai jinhone yeh aag lagai logo chahiye ke beech mein aur chahiye humne dekha hai ki iske piche sirf congress nahi kaafi saree rajnitik parties hai jo ki apna samarthan dete is cheez ko unhone jo hai kuch vote bank ke liye jo hai denge bhi kra sakte hain to kahan chahiye na kahan pradhanmantri modi ji ne kaha hai ki 70 saal pehle se jo hai congress ne bharat ko vibhajit kar diya wah bilkul sahi nahi hai kahan chahiye na kahan par modi ji jo hai congress par be matlab ya be buniyad hamle kar rahe hai aur faltu ka jo hai congress par nishana bana rahe hai to kahan chahiye na kahan par modi ji ne jo kaha hai vo sahi nahi kaha hai unhen chahiye aisi sab baaton se bach ke rehna chahiye aur agar unke paas pukhta sabut hai to hi unhen chahiye baat batani chahiye lekin aise koi pakka sabut nahi hai jo ki kehte ki 70 saal mein congress ne hi bharat ko vibhajit kiya hai sirf congress ne hi nahi aise aur bhi log piche the jinhone bharat ko vibhajit kiya tha

देखिये मैं प्रधानमंत्री मोदी जी की यह बात से सहमत बिल्कुल नहीं हूँ जिस प्रकार से उन्होंने

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  173
WhatsApp_icon
user

Ekta

Researcher and Writer

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैसे कि भारत को विभाजित करने के बाद 1962 चल रही थी जबकि इस देश के वायसराय लॉर्ड कर्जन थे यह मिली 3 स्टेट्स को अलग करने की बात की जा रही थी आसाम बंगाल और पंजाब इन तीनों तीनों स्टेट में एक बात खास थी जिसमें हिंदू और मुस्लिमों को अलग किया जा रहा था जैसे कि यह कहना सही नहीं है कि कांग्रेस ने भारत को विभाजित किया है इसका समर्थन किया था उस हालात ऐसे थे कि 200 साल ब्रिटिश ईस्ट के रोल करने के बाद ऐसी कंडीशन आनी ही थी और भारत को अलग करने के बाद सबसे पहले मोहम्मद अली जिन्ना ने की थी जोकि चलते-चलते आखिर 1947 24 देश के अंतिम वायसराय ब्रिटिश कौशल आउट लॉर्ड माउंटबेटन थे तब हुई थी महात्मा गांधी ने पूरा प्रयास भारत को विभाजित ना किया जाए पर वह मोहम्मद अली जिन्ना की जो हिंदुस्तान में मुस्लिमों के प्रति भावना थी और वह खुद एक अलग देश बनाना चाहते तो मुस्लिमों के लिए उसने ऐसा होने नहीं दिया और फाइनली उस समय भारत को विभाजित कर दिया क्या भारत और पाकिस्तान में जो बाद में जाकर पाकिस्तान और बांग्लादेश की अब अलग हो गए तो इसमें यह कहना कि इसमें कांग्रेस का हाथ है या कांग्रेस ने इसमें बहुत ज्यादा योगदान दिया सही नहीं है उस समय किस देश की सबसे अच्छी डिसीजंस लिए गए और ऐसे डिसिशन हुए और इसके रिस्पॉन्सिबल हम किसी को नहीं रह सकते

jaise ki bharat ko vibhajit karne ke baad 1962 chal rahi thi jabki is desh ke viceroy lord karjan the yeh mili 3 states ko alag karne ki baat ki ja rahi thi aassam bengal aur punjab in tatvo teenon state mein ek baat khaas thi jisme hindu aur muslimo ko alag kiya ja raha tha jaise ki yeh kehna sahi nahi hai ki congress ne bharat ko vibhajit kiya hai iska samarthan kiya tha us halaat aise the ki 200 saal british east ke roll karne ke baad aisi condition aani chahiye hi thi aur bharat ko alag karne ke baad sabse pehle mohammed ali jinna ne ki thi joki chalte chalte aakhir 1947 24 desh ke antim viceroy british kaushal out lord mountbatten the tab hui thi mahatma gandhi ne pura prayas bharat ko vibhajit na kiya jaye par wah mohammed ali jinna ki jo hindustan mein muslimo ke prati bhavna thi aur wah khud ek alag desh banana chahte to muslimo ke liye usne aisa hone nahi diya aur finally us samay bharat ko vibhajit kar diya kya bharat aur pakistan mein jo baad mein jaakar pakistan aur bangladesh ki ab alag ho gaye to isme yeh kehna ki isme congress ka hath hai ya congress ne isme bahut jyada yogdan diya sahi nahi hai us samay kis desh ki sabse acchi disijans liye gaye aur aise decision hue aur iske responsible hum kisi ko nahi rah sakte

जैसे कि भारत को विभाजित करने के बाद 1962 चल रही थी जबकि इस देश के वायसराय लॉर्ड कर्जन थे य

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  150
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां देखिये विभाजित तो जरूर हुआ था लेकिन वह उस समय के जो लीडर थे उनको जो सही लगा उन्होंने किया था और जो उन्होंने समझा कि वह जरूरी है हमारे भारतीय लोगों के लिए वह उन्होंने किया| भारत को जो है वह दो हिस्सों में बांटा पाकिस्तान और भारत में और सब को चॉइस दे दिया कि लोग जिस कंट्री में चाहे उस कंट्री में जाकर रह सकते हैं| तो मैं समझता हूं कि मोदी जी को हिस्ट्री में जाकर जो है वह चीजें नहीं पिक्क करनी चाहिए| उनको जो प्रजेंट में चल रहा है और फ्यूचर में क्या करना चाहिए उस पर ज्यादा फोकस करना चाहिए ना के पास्ट में जाकर|

ji haan dekhiye vibhajit to jarur hua tha lekin wah us samay ke jo leader the unko jo sahi laga unhone kiya tha aur jo unhone samjha ki wah zaroori hai hamare bhartiya logo chahiye ke liye wah unhone kiya bharat ko jo hai wah do hisso mein baata pakistan aur bharat mein aur sab ko choice de diya ki log jis country mein chahe us country mein jaakar rah sakte hain to main samajhata hoon ki modi ji ko history mein jaakar jo hai wah cheezen nahi pikk karni chahiye unko jo present mein chal raha hai aur future mein kya karna chahiye us par jyada focus karna chahiye na ke past mein jaakar

जी हां देखिये विभाजित तो जरूर हुआ था लेकिन वह उस समय के जो लीडर थे उनको जो सही लगा उन्होंन

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  177
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिप्रेशन के लिए अभी मोदी जी ने पार्लियामेंट अपने भाषण में कहा कि कांग्रेस ने देश को डिवाइड कर दिया कांग्रेस रीजेंसी देश के डिवीजन के लिए अच्छी कंपनी की अगली नहीं करती हूं क्योंकि उस टाइम के सोगं कैंसर जैसे थे राइट साइड में हो रहे थे लाखों बेगुनाह लोग मारे जा रहे थे बहुत सारे सो जाओ उसकी डेथ हो रही थी कि उस समय की रूलिंग पार्टी को विवश होकर यह स्टेप लेना पड़ा था आज की 1933 में चौधरी रहमत अली ने पाकिस्तान नाम क्रिएट किया था जो idea का पाकिस्तान को क्रिएट करने का वह अल्लामा इकबाल का था जिन्होंने 1929 में मुस्लिम लीग के सेक्शन में यह idea दिया था कि पाकिस्तान बनाया जाए और फिर उसके बाद और चौधरी रहमत अली ने यह जो पाकिस्तान बनाने का जो आईडिया था उसको कंप्लीट लिए सपोर्ट किया हर तरीके से उन्हें बुलाया पाकिस्तान और इंडिया से पाकिस्तान अलग करके वैष्णो बनाया जाए बंगिस्तान लिस्ट में और उस्मान स्थान साउथ में और उसके बाद फिर ऐसा हुआ भी उसके बाद फिर जिंदा थे वह मुस्लिम लीग के लिख रहे थे उन्होंने यह बैटरी शुरू कर दी मुस्लिम लोगों की तरफ से और वह भी कोंटेक्ट में तू जो उनका पसंद आने का सपना था वह पूरा वैसे भी होना ही था उसके बाद जो यह नेहरू और जिन्ना के बीच का जो यह खबर थी यह काफी फेमस रही है उस टाइम पर और यह रीजन दे कि क्योंकि मैं जो IT माइनॉरिटी वाला सिस्टम शुरू हो गया था तो पाकिस्तान तो बनना ही था देश अलग होना ही था बट बारा होना ही था तुम मुझे लगता है कि मोदी जी की यह बात कंप्लीटली सच नहीं है

depression ke liye abhi modi ji ne parliament apne bhashan mein kaha ki congress ne desh ko divide kar diya congress regency desh ke division ke liye acchi company ki agli nahi karti hoon kyonki us time ke sogn cancer jaise the right side mein ho rahe the laakhon begunaah log maare ja rahe the bahut sare so jao uski death ho rahi thi ki us samay ki ruling party ko vivash hokar yeh step lena pada tha aaj ki 1933 mein choudhary rahmat ali ne pakistan naam create kiya tha jo idea ka pakistan ko create karne ka wah allama iqbal ka tha jinhone 1929 mein muslim league ke section mein yeh idea diya tha ki pakistan banaya jaye aur phir uske baad aur choudhary rahmat ali ne yeh jo pakistan banane ka jo idea tha usko complete liye support kiya har tarike se unhen chahiye bulaya pakistan aur india se pakistan alag karke vaishno banaya jaye bangistan list mein aur usmaan sthan south mein aur uske baad phir aisa hua bhi uske baad phir zinda the wah muslim league ke likh rahe the unhone yeh battery shuru kar di muslim logo chahiye ki taraf se aur wah bhi contact mein tu jo unka pasand aane ka sapna tha wah pura waise bhi hona hi tha uske baad jo yeh nehru aur jinna ke beech ka jo yeh khabar thi yeh kaafi famous rahi hai us time par aur yeh reason de ki kyonki main jo IT minority wala system shuru ho gaya tha to pakistan to banana hi tha desh alag hona hi tha but bara hona hi tha tum mujhe lagta hai ki modi ji ki yeh baat completely sach nahi hai

डिप्रेशन के लिए अभी मोदी जी ने पार्लियामेंट अपने भाषण में कहा कि कांग्रेस ने देश को डिवाइड

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  134
WhatsApp_icon
user

Ishita Seth

Obstinate Programmer

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए जो प्रधानमंत्री मोदी जी ने कहा है इसे अपने पास की है कि 70 साल पहले कांग्रेस से भारत को विभाजित किया था इस से मैं बिल्कुल सहमत नहीं रखती हूं क्योंकि देखा जाए तो 70 साल पहले जब विभाजन का टाइम था तो कांग्रेस विभाजन के बिल्कुल ही अगेंस्ट थी और रवि बिल्कुल नहीं चाहती थी कि विभाजन हो और तब प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री की छोरी तू महात्मा गांधी जी थे उन्होंने इतना तो कहा था कि जो पाकिस्तान है मैं उनकी डेड बॉडी पर बनेगा पर और ऐसा हुआ था कि पूरे भारत में जो है वह पूरे दंगे हो गए थे और जो सिचुएशन कैसे आ गई थी कि वह ब्रिटिश कंट्रोल नहीं कर पाया था और वह और उस टाइम पर विभाजन हो गया था तो कांग्रेस को सपोर्ट नहीं कर रहा था इस चीज को कि भारत का विभाजन हो और इसीलिए मैं आज मोदी जी ने देश एक मंडी है कि 17 साल पहले कांग्रेस से भारत को विभाजित किया था मैं इस चीज से बिल फ्री नहीं करती हूं

dekhie chahiye jo pradhanmantri modi ji ne kaha hai ise apne paas ki hai ki 70 saal pehle congress se bharat ko vibhajit kiya tha is se main bilkul sahmat nahi rakhti hoon kyonki dekha jaye to 70 saal pehle jab vibhajan ka time tha to congress vibhajan ke bilkul hi against thi aur ravi bilkul nahi chahti thi ki vibhajan ho aur tab pradhanmantri pradhanmantri ki chhori tu mahatma gandhi ji the unhone itna to kaha tha ki jo pakistan hai unki dead body par banega par aur aisa hua tha ki poore bharat mein jo hai wah poore denge ho gaye the aur jo situation kaise aa gayi thi ki wah british control nahi kar paya tha aur wah aur us time par vibhajan ho gaya tha to congress ko support nahi kar raha tha is cheez ko ki bharat ka vibhajan ho aur isliye main aaj modi ji ne desh ek mandi hai ki 17 saal pehle congress se bharat ko vibhajit kiya tha main is cheez se bill chahiye free nahi karti hoon

देखिए जो प्रधानमंत्री मोदी जी ने कहा है इसे अपने पास की है कि 70 साल पहले कांग्रेस से भारत

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  132
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!