#AbdulKalamBirthday: अब्दुल कलाम द्वारा कही गयी वो कौन सी बातें हैं जो एक आम आदमी की ज़िंदगी बदल सकती है?...


user
3:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गिया तीन बातें हो गाना चाहूंगा जो काफी महत्वपूर्ण है और काफी इंस्पिरेशनल है जिसे हम सबको जाना चाहिए वास्तु जैसे अगर आप सूर्य बनना चाहते हैं तो सूर्य की तरह जलना आशिकी भोजपुरी की तरह आप विशाल और प्रकाश चौहान और ऐसा चाहते हैं पूरा दुनिया दुनिया में छा जाए और दुनिया को प्रकाश पूनिया को जीवन दे तो आपको भी सूर्य की तरह जलना होगा यह बहुत बड़ी बात और दूसरी अगर एक बात है कि अगर आपको अगर आपको किसी अगर आप अपने कार्य को चालू करते हैं अपनी ड्यूटी को चालू करते हैं तो आपको किसी को टाइप करने की जरूरत नहीं पड़ती है और अगर आप अपने ड्यूटी को चालू नहीं करते हैं बॉलीवुड करते हैं अगर आप का वीडियो दिखाइए नहीं करते तो सबको सेंड करने का हो सकता पड़ती है एक स्वाभिमान से जुड़ा हुआ है जिसमें आप जो हैं अगर आपको अपना जीवन को सही से जी अपने काम को कर रहे हैं तो खुश रहेंगे और यदि आप स्वयं का जीवन अच्छा से नहीं देंगे लोग परेशान करेंगे अपना काम अच्छा सही करेंगे तो आप फिर कितने वापिस और प्रार्थना कीजिए ईश्वर सुनने वाले भी नहीं है और ऐसे लोग कैसे सहायता भी नहीं करते तो यह तो वैसे ही साधारण जिंदगी अगर किसी आप ड्यूटी कर रहे हैं भाई साहब ड्यूटी कर रहे हैं अच्छे से आप ड्यूटी कर रहे तो फिर दुनिया की कोई ताकत नहीं है जो आपको को उस कार्य क्षेत्र में मैं आपको बदनाम कर सके आपको यह पिक और किसी की मानी की आपको जरूरत नहीं जाती है तो फिर तो आपको अपनी ड्यूटी बचाने के लिए और अपना ड्यूटी बचाने के लिए उसे जुड़े हुए सभी लोगों का जो है हमेशा खुशी करना ही पड़ेगा तू ही एक बात और और और एक है कि हमें कभी छोटा छोटा सपना देखा छोटा सपना देखना गुनाह है हमें हमेशा कुछ अच्छा बनने का कुछ बड़ा करने का क्योंकि हमें समझना चाहिए कि यह जीवन जो है हमें मनुष्य जीवन जो है काफी महत्वपूर्ण है या जीवन जी वह काफी दुनिया में मनुष्य की तरह इंटेलिजेंट और मनुष्य शरीर किसी भी जीव के पास नहीं है इसलिए हमें इस शरीर को पाते हुए हमें अगर अच्छी तरह से घरवालों से माता पिता श्री और लोगों से सपोर्ट मिल रहा है समाज से सपोर्ट मिल रहा है जब सपना देखना है कुछ करना है तो कुछ पढ़ा सोचना चाहिए छोटा सपना देखना होना है यह धन्यवाद आशा है कि यह तीन चीजें इसके अलावा बहुत सारी चीजें हैं जो काफी स्पेशल लेकिन यह तीन चीजें हमारे मन में रहता है कभी-कभी और मैं पता करता हूं तो और हमें आगे बढ़ने धन्यवाद

giya teen batein ho gaana chahunga jo kaafi mahatvapurna hai aur kaafi inspirational hai jise hum sabko jana chahiye vastu jaise agar aap surya banna chahte hain toh surya ki tarah jalna aashiqui bhojpuri ki tarah aap vishal aur prakash Chauhan aur aisa chahte hain pura duniya duniya me cha jaaye aur duniya ko prakash pooniya ko jeevan de toh aapko bhi surya ki tarah jalna hoga yah bahut badi baat aur dusri agar ek baat hai ki agar aapko agar aapko kisi agar aap apne karya ko chaalu karte hain apni duty ko chaalu karte hain toh aapko kisi ko type karne ki zarurat nahi padti hai aur agar aap apne duty ko chaalu nahi karte hain bollywood karte hain agar aap ka video dikhaiye nahi karte toh sabko send karne ka ho sakta padti hai ek swabhiman se juda hua hai jisme aap jo hain agar aapko apna jeevan ko sahi se ji apne kaam ko kar rahe hain toh khush rahenge aur yadi aap swayam ka jeevan accha se nahi denge log pareshan karenge apna kaam accha sahi karenge toh aap phir kitne vaapas aur prarthna kijiye ishwar sunne waale bhi nahi hai aur aise log kaise sahayta bhi nahi karte toh yah toh waise hi sadhaaran zindagi agar kisi aap duty kar rahe hain bhai saheb duty kar rahe hain acche se aap duty kar rahe toh phir duniya ki koi takat nahi hai jo aapko ko us karya kshetra me main aapko badnaam kar sake aapko yah pic aur kisi ki maani ki aapko zarurat nahi jaati hai toh phir toh aapko apni duty bachane ke liye aur apna duty bachane ke liye use jude hue sabhi logo ka jo hai hamesha khushi karna hi padega tu hi ek baat aur aur aur ek hai ki hamein kabhi chota chota sapna dekha chota sapna dekhna gunah hai hamein hamesha kuch accha banne ka kuch bada karne ka kyonki hamein samajhna chahiye ki yah jeevan jo hai hamein manushya jeevan jo hai kaafi mahatvapurna hai ya jeevan ji vaah kaafi duniya me manushya ki tarah Intelligent aur manushya sharir kisi bhi jeev ke paas nahi hai isliye hamein is sharir ko paate hue hamein agar achi tarah se gharwaalon se mata pita shri aur logo se support mil raha hai samaj se support mil raha hai jab sapna dekhna hai kuch karna hai toh kuch padha sochna chahiye chota sapna dekhna hona hai yah dhanyavad asha hai ki yah teen cheezen iske alava bahut saari cheezen hain jo kaafi special lekin yah teen cheezen hamare man me rehta hai kabhi kabhi aur main pata karta hoon toh aur hamein aage badhne dhanyavad

गिया तीन बातें हो गाना चाहूंगा जो काफी महत्वपूर्ण है और काफी इंस्पिरेशनल है जिसे हम सबको ज

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  157
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Rasbihari Pandey

लेखन / कविता पाठ

0:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सपने में नहीं जो हम सोते समय देखते हैं सपने में हैं जो हमें सोने नहीं देते

sapne mein nahi jo hum sote samay dekhte hain sapne mein hain jo hamein sone nahi dete

सपने में नहीं जो हम सोते समय देखते हैं सपने में हैं जो हमें सोने नहीं देते

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  262
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

1:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब्दुल कलाम बर्थडे अब्दुल कलाम द्वारा कही गई वह कौन सी बातें हैं जो एक आम आदमी की जिंदगी बदल सकती है एक बात मुझे उनकी अच्छी याद है कि जब कोई एम्पलाई काम करता है कर्मचारी काम करता है तो उन्हें वक्त पर आना है और वक्त पर जाना है ठीक है उन्हें नौकरी के टाइम पर नौकरी ही करनी है और नौकरी का ही काम कर रहा है और जब घर पर आते हैं तो नौकरी का कुछ भी याद नहीं करना है सबको परिवार को ही टाइम देना है कि नौकरी में जितनी सैलरी तनखा मिलती है उसके ऊपर आपको कुछ नहीं मिलने वाला है ठीक है तो ज्यादा टाइम बिताने वाले जो जल्दी जाते हैं और जो देर से वापस आते हैं घर पर वह सबसे बड़े महान मूर्ख होते हैं यह अब्दुल कलाम जी ने कहा था ठीक है जब जॉब करने जाओ बिजनेस करो तो वक्त जाइए और बाकी का समय अपने परिवार के साथ बताइए और कुछ समय सिर्फ और सिर्फ अपने साथ बताइए कि यह पल दोबारा लौट के नहीं आते हैं अब्दुल कलाम जी ने बताया था तो ज्यादा समय जब पर देने की कोई जरूरत नहीं अगर वह एक्स्ट्रा पैसे देते हैं तो ठीक है आप करिए लेकिन नहीं देने वाले हैं दुनिया का सबसे बड़ा मूर्ख आदमी है और यह बात मुझे बहुत अच्छे से याद है और मैं इसको बहुत अच्छे से फॉलो करते हो जब मैं स्कूल सॉरी कॉलेज में थी तब मैंने यह पढ़ा था और तब से जब मैंने जॉब मेरी स्टार्ट हुई तब से मैं वक्त पर आना है वक्त जाना है कुछ ज्यादा समय नहीं देना है ठीक है हां कुछ काम आ गए मीटिंग है तो ठीक है दे दिया वरना नहीं देना है एक्स्ट्रा काम वर्क नहीं देने वाले और बाकी का समय अपने परिवार के साथ बिताओ दोस्तों के साथ बिताओ अर्थ के साथ भी बताओ बस अब्दुल कलाम जी का यही जो था वह मुझे बहुत अच्छे से और मैं कॉल करती हूं तहे दिल से दूसरों को भी यही बोलते हो क्या अब भी यही फॉलो कीजिए आंसर क्या किशन जी बहुत अच्छे से बदल जाएगी ठीक है

abdul kalam birthday abdul kalam dwara kahi gayi vaah kaun si batein hain jo ek aam aadmi ki zindagi badal sakti hai ek baat mujhe unki achi yaad hai ki jab koi employee kaam karta hai karmchari kaam karta hai toh unhe waqt par aana hai aur waqt par jana hai theek hai unhe naukri ke time par naukri hi karni hai aur naukri ka hi kaam kar raha hai aur jab ghar par aate hain toh naukri ka kuch bhi yaad nahi karna hai sabko parivar ko hi time dena hai ki naukri mein jitni salary tanakha milti hai uske upar aapko kuch nahi milne vala hai theek hai toh zyada time bitane waale jo jaldi jaate hain aur jo der se wapas aate hain ghar par vaah sabse bade mahaan murkh hote hain yah abdul kalam ji ne kaha tha theek hai jab job karne jao business karo toh waqt jaiye aur baki ka samay apne parivar ke saath bataiye aur kuch samay sirf aur sirf apne saath bataiye ki yah pal dobara lot ke nahi aate hain abdul kalam ji ne bataya tha toh zyada samay jab par dene ki koi zaroorat nahi agar vaah extra paise dete hain toh theek hai aap kariye lekin nahi dene waale hain duniya ka sabse bada murkh aadmi hai aur yah baat mujhe bahut acche se yaad hai aur main isko bahut acche se follow karte ho jab main school sorry college mein thi tab maine yah padha tha aur tab se jab maine job meri start hui tab se main waqt par aana hai waqt jana hai kuch zyada samay nahi dena hai theek hai haan kuch kaam aa gaye meeting hai toh theek hai de diya varana nahi dena hai extra kaam work nahi dene waale aur baki ka samay apne parivar ke saath bitao doston ke saath bitao arth ke saath bhi batao bus abdul kalam ji ka yahi jo tha vaah mujhe bahut acche se aur main call karti hoon tahe dil se dusron ko bhi yahi bolte ho kya ab bhi yahi follow kijiye answer kya kishan ji bahut acche se badal jayegi theek hai

अब्दुल कलाम बर्थडे अब्दुल कलाम द्वारा कही गई वह कौन सी बातें हैं जो एक आम आदमी की जिंदगी ब

Romanized Version
Likes  382  Dislikes    views  4376
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्वर्गीय डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम साहब ने एक स्टेटमेंट बोला था कि स्वप्न हमेशा खुली आंखों से देखना चाहिए बंद आंखों से कभी शौक में नहीं देखना चाहिए खुली आंखों से जो पत्नी आप देखोगे उस सपने को पूरा करने के लिए आप दिन रात एक कर के मेहनत करोगे तो दिन-रात एक करके मेहनत करोगे तो आपकी सफलता बड़ी होगी जो सफलता बड़ी होगी तो आपके जीवन में बहुत खुशहाली आएगी धन्यवाद

swargiya doctor apj abdul kalam saheb ne ek statement bola tha ki swapn hamesha khuli aakhon se dekhna chahiye band aakhon se kabhi shauk mein nahi dekhna chahiye khuli aakhon se jo patni aap dekhoge us sapne ko pura karne ke liye aap din raat ek kar ke mehnat karoge toh din raat ek karke mehnat karoge toh aapki safalta badi hogi jo safalta badi hogi toh aapke jeevan mein bahut khushahali aaegi dhanyavad

स्वर्गीय डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम साहब ने एक स्टेटमेंट बोला था कि स्वप्न हमेशा खुली आंखों

Romanized Version
Likes  225  Dislikes    views  4439
WhatsApp_icon
play
user

Liyakat Ali Gazi

Motivational Speaker, Life Coach & Soft Skills Trainer 📲 9956269300

0:46

Likes  77  Dislikes    views  1495
WhatsApp_icon
user

Rihan Shah

I want to become An IAS Officer (Love Realationship Full Experience)

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन डॉ एपीजे अब्दुल कलाम का बात कहते हैं वह कहते हैं कि अगर आप लाइफ में सक्सेस नहीं हो पाए तो आपकी लाइफ में सक्सेस होने कारण है कि आपकी गलतियां कहा आपने की है वह आप जैसे सही तरीके से समझ नहीं पाया और देख नहीं पाए जिस कारण दो यार अपनी लाइफ को चेंज नहीं कर पाए और नहीं सकती हो पर दूसरी बात यह है कि आप एक एग्जाम के लिए अपना पूरा फ्यूचर ब्राइट कर सकते हैं या एग्जाम आपका पूरा पिक एडिट कर सकता है तो आप को डिसाइड करना है वह आपका मन और आपके ऊपर डिपेंड करता है आपका एग्जाम आपको पैसे नहीं कर सकता उसके लिए भी आपको किसी और चीज के प्रति यह जिस चीज को आप स्ट्रगल करना चाहते हैं जिस चीज से भर दिया पिस्टल करने जाते हैं अजीब करना चाहते हैं उसमें आपको हर बार करने की जरूरत पड़ेगी

lekin Dr. apj abdul kalam ka baat kehte hain vaah kehte hain ki agar aap life mein success nahi ho paye toh aapki life mein success hone karan hai ki aapki galtiya kaha aapne ki hai vaah aap jaise sahi tarike se samajh nahi paya aur dekh nahi paye jis karan do yaar apni life ko change nahi kar paye aur nahi sakti ho par dusri baat yah hai ki aap ek exam ke liye apna pura future bright kar sakte hain ya exam aapka pura pic edit kar sakta hai toh aap ko decide karna hai vaah aapka man aur aapke upar depend karta hai aapka exam aapko paise nahi kar sakta uske liye bhi aapko kisi aur cheez ke prati yah jis cheez ko aap struggle karna chahte hain jis cheez se bhar diya pistol karne jaate hain ajib karna chahte hain usmein aapko har baar karne ki zaroorat padegi

लेकिन डॉ एपीजे अब्दुल कलाम का बात कहते हैं वह कहते हैं कि अगर आप लाइफ में सक्सेस नहीं हो प

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  731
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

5:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब्दुल कलाम का बर्थडे है और अब्दुल कलाम द्वारा कही गई वह कौन सी बातें हैं जो एक आम आदमी की जिंदगी बदल सकती है अब्दुल कलाम साहब का जन्म 1932 या 35 में हुआ था रामेश्वरम में साउथ पाउडर रामेश्वरम के पहले आता है वहां पर हुआ था और बहुत ही गरीब घर में उनका जन्म हुआ था उनके जो पिताजी है वह नाव जो होती है उसको रिपेयर करने का काम करते थे अब्दुल कलाम साहब ने जो अपनी प्रारंभिक शिक्षा है वह बहुत ही मुश्किल से ली थी और वह आगे पढ़कर वह जिंदगी में अपना एक पायलट बनना चाहते थे हवाई जहाज उड़ाना चाहते थे उनकी इसलिए वह बहुत मेहनत करते थे और संयोग देखिए कि 1 से 8 तक आने वाले पायलट में पास हुए थे उस समय उसमें वही इतनी वैकेंसी और अब्दुल कलाम साहब का नंबर 9 आया था अब वह फिर उन्होंने अपनी जीवनी में लिखा है कि मेरा नंबर जब नवा आया तो मैं यह सोचकर थोड़ा अब तो शायद हुआ था लेकिन मैंने समझ लिया कि शायद ऊपर वाले ने मुझे किसी और कार्य के लिए बनाया है तो उन्होंने उसको जो एक शहर था उसको उन्होंने एक के रूप में स्वीकार कर लूंगा ठीक है अगर मैं हवाई जहाज उड़ा नहीं सका तो उड़ने वाली चीज को तो मैं बना सकता हूं फिर उसके बाद उन्होंने एरोनॉटिकल इंजीनियर बनने के लिए और इंजीनियरिंग की और उन्होंने फिर बाद में उड़ने वाली चीजें जो है उसको टेक्निकल सपा से अभ्यास करके फिर बाद में मिसाइल की बनाई फिर बाद में प्लेन के वह उड़ने वाले 2 पार्ट से उसका भी अध्ययन किया और बहुत सारी इसलिए अब्दुल कलाम साहब का जो रोल है वह असफलताओं से आने के बाद सफलता को प्राप्त हुई और वह आगे बढ़ते गए तब उन्होंने उनकी जीवनी से जो लिखा है कि हमें असफलताओं को एक चैलेंज के रूप में स्वीकार कर और उसे एक मौके के रूप में देखना चाहिए और जिंदगी में हमें उन और सफलताओं पर विजय प्राप्त करके सफलता अवश्य प्राप्त होती इसलिए असफलताओं से क्या नहीं तभी जाकर हम आगे बढ़ सकती हैं हमें उन कठिनाइयों का सामना करके और अपना जीवन कर्तव्य करना है बहुत ही मौत हो गया था क्योंकि विल पावर होता है मजबूत इंसान कुछ भी कर सकता है इसलिए वह राष्ट्रपति पद तक पहुंचे थे और उन्होंने बच्चों के साथ इतनी घुलमिल कर दो बातें की थी उनको बच्चे बहुत प्यारे थे वह कहते थे कि मैं बच्चों में जीवन होता है ऐसे में संभावना है देखता हूं कि यह बच्चे आगे चलकर भविष्य के अच्छे नागरिक बनेंगे इसलिए बच्चों से बहुत कम बात करते थे और जहां भी जाते थे उनकी सादगी देखने लायक ओपीसी वह सादगी से रहना ही पसंद करते थे उन्होंने जो राष्ट्रपति भवन में भी बहुत ही सादगी अपनाई हुई थी और बहुत ही सादगी से रहते थे और हमेशा जो बुद्धिमान और साहित्यकार ऐसे जो लेखक लेखिका और ट्रांसलेटर इन सब का बहुत सम्मान करते थे वह बोल में जल्दी उठ जाते से और अपना पूरा दिन वह प्राकृतिक बगीचों में भी जाकर इतनी बातें करते इसलिए इस तरह से प्राकृतिक जिंदगी जी और उन्होंने कई ऐसे ऐसे काम कि तुमको मिसाइल मैन के नौ रूप में हमारे भारत के लोग जानते हैं यह तो उनको ऐसे लिख सकता है ऐसे मिसाइल में इसलिए उनकी जिंदगी से हमें बहुत कुछ सीखने जैसा है और हमेशा याद रखना चाहिए कि ऐसे इंसान अब्दुल कलाम साहब जैसे इंसान 100 साल में एक बार मिलते हैं होते हैं जन्म लेते हैं और हमारा सौभाग्य है कि हमारे देश में उन्होंने जन्म लिया और भारत देश का नाम रोशन किया मैं आज के दिन उनके जन्म जयंती के अवसर पर बधाई देता हूं और शुभकामनाएं देता हूं और याद करने की जरूरत है उनकी बहुत कुछ सीखना चाहिए धन्यवाद जय हिंद

abdul kalam ka birthday hai aur abdul kalam dwara kahi gayi vaah kaun si batein hain jo ek aam aadmi ki zindagi badal sakti hai abdul kalam saheb ka janam 1932 ya 35 mein hua tha rameshwaram mein south powder rameshwaram ke pehle aata hai wahan par hua tha aur bahut hi garib ghar mein unka janam hua tha unke jo pitaji hai vaah nav jo hoti hai usko repair karne ka kaam karte the abdul kalam saheb ne jo apni prarambhik shiksha hai vaah bahut hi mushkil se li thi aur vaah aage padhakar vaah zindagi mein apna ek pilot banna chahte the hawai jahaj udana chahte the unki isliye vaah bahut mehnat karte the aur sanyog dekhiye ki 1 se 8 tak aane waale pilot mein paas hue the us samay usmein wahi itni vacancy aur abdul kalam saheb ka number 9 aaya tha ab vaah phir unhone apni jeevni mein likha hai ki mera number jab nava aaya toh main yah sochkar thoda ab toh shayad hua tha lekin maine samajh liya ki shayad upar waale ne mujhe kisi aur karya ke liye banaya hai toh unhone usko jo ek shehar tha usko unhone ek ke roop mein sweekar kar lunga theek hai agar main hawai jahaj uda nahi saka toh udane waali cheez ko toh main bana sakta hoon phir uske baad unhone Aeronautical engineer banne ke liye aur Engineering ki aur unhone phir baad mein udane waali cheezen jo hai usko technical sapa se abhyas karke phir baad mein missile ki banai phir baad mein plane ke vaah udane waale 2 part se uska bhi adhyayan kiya aur bahut saree isliye abdul kalam saheb ka jo roll hai vaah asafaltaon se aane ke baad safalta ko prapt hui aur vaah aage badhte gaye tab unhone unki jeevni se jo likha hai ki hamein asafaltaon ko ek challenge ke roop mein sweekar kar aur use ek mauke ke roop mein dekhna chahiye aur zindagi mein hamein un aur safalataon par vijay prapt karke safalta avashya prapt hoti isliye asafaltaon se kya nahi tabhi jaakar hum aage badh sakti hain hamein un kathinaiyon ka samana karke aur apna jeevan kartavya karna hai bahut hi maut ho gaya tha kyonki will power hota hai mazboot insaan kuch bhi kar sakta hai isliye vaah rashtrapati pad tak pahuche the aur unhone bacchon ke saath itni ghulmil kar do batein ki thi unko bacche bahut pyare the vaah kehte the ki main bacchon mein jeevan hota hai aise mein sambhavna hai dekhta hoon ki yah bacche aage chalkar bhavishya ke acche nagarik banenge isliye bacchon se bahut kam baat karte the aur jahan bhi jaate the unki saadgi dekhne layak OPC vaah saadgi se rehna hi pasand karte the unhone jo rashtrapati bhawan mein bhi bahut hi saadgi apnai hui thi aur bahut hi saadgi se rehte the aur hamesha jo buddhiman aur sahityakaar aise jo lekhak lekhika aur translator in sab ka bahut sammaan karte the vaah bol mein jaldi uth jaate se aur apna pura din vaah prakirtik bagichon mein bhi jaakar itni batein karte isliye is tarah se prakirtik zindagi ji aur unhone kai aise aise kaam ki tumko missile man ke nau roop mein hamare bharat ke log jante hain yah toh unko aise likh sakta hai aise missile mein isliye unki zindagi se hamein bahut kuch seekhne jaisa hai aur hamesha yaad rakhna chahiye ki aise insaan abdul kalam saheb jaise insaan 100 saal mein ek baar milte hain hote hain janam lete hain aur hamara saubhagya hai ki hamare desh mein unhone janam liya aur bharat desh ka naam roshan kiya main aaj ke din unke janam jayanti ke avsar par badhai deta hoon aur subhkamnaayain deta hoon aur yaad karne ki zaroorat hai unki bahut kuch sikhna chahiye dhanyavad jai hind

अब्दुल कलाम का बर्थडे है और अब्दुल कलाम द्वारा कही गई वह कौन सी बातें हैं जो एक आम आदमी क

Romanized Version
Likes  71  Dislikes    views  1360
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!