अभिजीत बनर्जी जैसे और भी लोग है जो ग़रीबों के लिए काम करते है। क्यूँ उन सभी को किसी भी तरह का पुरस्कार नहीं दिया जाता?...


user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

1:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत अच्छा प्रश्न है अभिजीत बनर्जी जैसे और भी लोग हैं जो गरीबों के लिए काम करते हैं क्यों उन सभी को किसी भी तरह का पुरस्कार नहीं दिया जाता वह लोग जो काम करते वह दिखावा नहीं करते सिर्फ काम कर देते हैं ठीक है उनका काम धीरे-धीरे फेमस होता है तो ठीक है नहीं तो वह अपने आप ही काम कर लेते हैं उनको प्रमोशन की कोई जरूरत नहीं है जो काम करते हैं लेकिन वह कभी आशा नहीं रखते कि उनको इसको कोई पुरस्कार मिलेगा ठीक है काफी सालों से काम करते हैं अभी तक बस वह काम ही करते हैं उनको वह बड़े बड़े वाले नहीं करते बस इतना ही है नॉर्मल ही काम नहीं बहुत सारे फूल हेल्प करते हैं जैसे कि किसी को खाने की जरूरत है तो खाना देना कपड़े की जरूरत है कपड़े देना काम की जरूरत है तुमको काम आते हैं काम करवाते हैं जिसको घर की जरूरत हो तो उसका भी बनवा देते हैं इतने सर काम करते हो मेरी नजर में है काफी लोग है

bahut accha prashna hai abhijeet banerjee jaise aur bhi log hain jo garibon ke liye kaam karte hain kyon un sabhi ko kisi bhi tarah ka puraskar nahi diya jata vaah log jo kaam karte vaah dikhawa nahi karte sirf kaam kar dete hain theek hai unka kaam dhire dhire famous hota hai toh theek hai nahi toh vaah apne aap hi kaam kar lete hain unko promotion ki koi zarurat nahi hai jo kaam karte hain lekin vaah kabhi asha nahi rakhte ki unko isko koi puraskar milega theek hai kaafi salon se kaam karte hain abhi tak bus vaah kaam hi karte hain unko vaah bade bade waale nahi karte bus itna hi hai normal hi kaam nahi bahut saare fool help karte hain jaise ki kisi ko khane ki zarurat hai toh khana dena kapde ki zarurat hai kapde dena kaam ki zarurat hai tumko kaam aate hain kaam karwaate hain jisko ghar ki zarurat ho toh uska bhi banwa dete hain itne sir kaam karte ho meri nazar mein hai kaafi log hai

बहुत अच्छा प्रश्न है अभिजीत बनर्जी जैसे और भी लोग हैं जो गरीबों के लिए काम करते हैं क्यों

Romanized Version
Likes  407  Dislikes    views  5811
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

2:46

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभिजीत बनर्जी जैसे और भी लोग हैं जो गरीबों के लिए काम करते हैं उन सभी को किसी भी तरह का पुष्कर नहीं दिया जाता है बहुत अच्छा सवाल है क्योंकि कल के समाचार में हमने जाना मूलता भारती भारत में उनका कोलकाता में जो अभिजीत बनर्जी हैं उनका जन्म हुआ था उनकी उम्र 58 वर्ष है और जन्म कब हुआ था लेकिन वह अमेरिकन इकोनामी अमेरिका में और वहां के को नमस्ते और उनको नोबेल मेमोरियल प्राइज मिला है वह इकोनॉमिक साइंस में मिला है और इको प्राइस शेयर करना है कि छल्लो माइकल प्रेम मतलब तीन लोगों को मिला है इस पर डॉ माइकल फिल्म और अभिजीत अभिजीत बनर्जी इन दोनों को मिला है वह इसके बारे में मिला है क्योंकि उन्होंने ग्लोबल गरीबी पूरे विश्व में जो गरीबी है पार्टी जो है उसके विषय में उन्होंने बहुत अच्छा काम किया है इसलिए इस मूर्खता भारती और अमेरिकन इकोनॉमिक्स को नोबेल पुरस्कार इन तीनों को दिया गया है 2019 के चुनाव पर जो जो कांग्रेस की तरफ से एक कन्या योजना आई थी या योजना का बहुत जोर शोर से प्रचार हुआ था वह न्याय नाचे जो जनक से जाने की जो विचार था वह इसी महानुभाव जो है अभिजीत बनर्जी का ही था और राहुल गांधी ने भी ट्वीट में लिखा हुआ है कि अभिजीत बनर्जी विचार सभी कर्मचारी मैंने योजना देश के सामने रखा था बहुत-बहुत शुभकामनाएं और तीनों को हम भारत देश की तरफ से हर देशवासी यह नोबेल पुरस्कार पाने के उपलक्ष में बहुत सारी शुभकामनाएं देते ऑल द बेस्ट एंड मोर

abhijeet banerjee jaise aur bhi log hain jo garibon ke liye kaam karte hain un sabhi ko kisi bhi tarah ka pushkar nahi diya jata hai bahut accha sawaal hai kyonki kal ke samachar mein humne jana multa bharati bharat mein unka kolkata mein jo abhijeet banerjee hain unka janam hua tha unki umr 58 varsh hai aur janam kab hua tha lekin vaah american economy america mein aur wahan ke ko namaste aur unko nobel memorial prize mila hai vaah economic science mein mila hai aur iko price share karna hai ki challo michael prem matlab teen logo ko mila hai is par Dr. michael film aur abhijeet abhijeet banerjee in dono ko mila hai vaah iske bare mein mila hai kyonki unhone global garibi poore vishwa mein jo garibi hai party jo hai uske vishay mein unhone bahut accha kaam kiya hai isliye is murkhta bharati aur american economics ko nobel puraskar in tatvo ko diya gaya hai 2019 ke chunav par jo jo congress ki taraf se ek kanya yojana I thi ya yojana ka bahut jor shor se prachar hua tha vaah nyay nache jo janak se jaane ki jo vichar tha vaah isi mahanubhav jo hai abhijeet banerjee ka hi tha aur rahul gandhi ne bhi tweet mein likha hua hai ki abhijeet banerjee vichar sabhi karmchari maine yojana desh ke saamne rakha tha bahut bahut subhkamnaayain aur tatvo ko hum bharat desh ki taraf se har deshvasi yah nobel puraskar paane ke uplaksh mein bahut saree subhkamnaayain dete all the best and mor

अभिजीत बनर्जी जैसे और भी लोग हैं जो गरीबों के लिए काम करते हैं उन सभी को किसी भी तरह का पु

Romanized Version
Likes  61  Dislikes    views  1170
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!