क्या फेस किताब इन्स्टग्रैम और ट्विटर जैसे अन्य सोशल मीडिया ऐप ्स से ख़राब है? क्यों?...


user

Sefali

Media-Ad Sales

1:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए facebook इंस्टाग्राम या Twitter आजकल के जमाने में कहने के इंजन का इस्तेमाल काफी जो है रेगुलर है हमारी लाइफ में और और एक जरूर एक जरूरत भी बन गई है क्योंकि इसके माध्यम से हम अपडेटेड रहते हैं क्या चल रहा है क्या नहीं चल रहा है सोसाइटी में क्या केस हुआ है या फिर कोई जो इंफॉर्मेशन है जो हमें दूसरे कहीं से नहीं मिलती है हमें सोशल नेटवर्किंग साइट में मिल जाती है तो कहीं ना कहीं यह काफी ज्यादा जरूरी हो गया आज कल की दुनिया में इवेंट तक की ऐसा भी नहीं हो पाता कि आप दोस्तों से हमेशा फोन में बात करती है क्या या फिर रिलेटिव ग्रुप से हमेशा फोन में बात से बात कर सके तो कहीं इसके माध्यम से कनेक्टेड रहते हैं या फिर एक दूसरे की अपडेट मिलती रहती है मगर एक चीज यह भी है कि आप अपना सारा वक्त जो है सोशल मीडिया नेटवर्किंग में नहीं दे सकते आप इसका इस्तेमाल बहुत ज्यादा करेंगे तो आपके जो पर्सनल वाईफाई या फिर जो दोस्त हैं जो फैमिली है जो या फिर आपकी लाइफ वाटर है आप उनको टाइम नहीं दे पाएंगे जो कि एक बीमारी है यहां तो क्या इस्तेमाल इतना ज्यादा करेंगे तब अपने काम में भी ध्यान नहीं दे पाएंगे तो वह एक धीमा रेट है तू नहीं तू मेरी सब से एक बैलेंस होना चाहिए हां सोशल नेटवर्किंग का इस्तेमाल होना चाहिए पर एक लिमिट पर उसको ओवर यूज़ नहीं करना चाहिए

dekhiye facebook instagram ya Twitter aajkal ke jamane mein kehne ke engine ka istemal kaafi jo hai regular hai hamari life mein aur aur ek zaroor ek zarurat bhi ban gayi hai kyonki iske madhyam se hum updated rehte kya chal raha hai kya nahi chal raha hai society mein kya case hua hai ya phir koi jo information hai jo hamein dusre kahin se nahi milti hai hamein social networking site mein mil jaati hai toh kahin na kahin yah kaafi zyada zaroori ho gaya aaj kal ki duniya mein event tak ki aisa bhi nahi ho pata ki aap doston se hamesha phone mein baat karti hai kya ya phir relative group se hamesha phone mein baat se baat kar sake toh kahin iske madhyam se connected rehte hain ya phir ek dusre ki update milti rehti hai magar ek cheez yah bhi hai ki aap apna saara waqt jo hai social media networking mein nahi de sakte aap iska istemal bahut zyada karenge toh aapke jo personal wifi ya phir jo dost hain jo family hai jo ya phir aapki life water hai aap unko time nahi de payenge jo ki ek bimari hai yahan toh kya istemal itna zyada karenge tab apne kaam mein bhi dhyan nahi de payenge toh vaah ek dheema rate hai tu nahi tu meri sab se ek balance hona chahiye haan social networking ka istemal hona chahiye par ek limit par usko over use nahi karna chahiye

देखिए facebook इंस्टाग्राम या Twitter आजकल के जमाने में कहने के इंजन का इस्तेमाल काफी जो ह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  151
KooApp_icon
WhatsApp_icon
10 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
इन्स्टग्रैम ; इन्स्टग्रैम.काम ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!